Informational

Traffic Rules Signs Meanings | New Traffic Rules 2020-20 Fine List

traffic_rules_in_hindi

भारत सरकार ने लोगो की सुरक्षा के लिए यातायात के नियम बनाये हैं जिससे वे सावधानी पूर्वक ड्राइविंग कर सकते हैं।आजकल न्यूज़ पर, newspaper में आप लोग रोड एक्सीडेंट के बारे में ज़रूर पढ़ते होंगे य सुनते होंगे। एक्सीडेंट बढ़ने की वजह सिर्फ खराब ड्राइविंग य यातायात के नियम का उलंघन करना है।

Traffic Signs in hindi hd images 2020-2020

traffic_rule_meanings_in_hindi

 

Traffic Rules Signs, Meanings(भारत के यातायात के नियम व चिन्ह का मतलब)

traffic rules 2020-20 penalty list
ध्यान देने योग्य बाते जिससे आप सुरक्षित रहेंगे :-

  • अपने वाहन की पार्किंग का ध्यान रखे।
  • सड़क पर ड्राइव करते समय ओवेरटेक ना करे।
  • लगातार हॉर्न का उपयोग न करें।
  • एक तरफा रोड का ध्यान रखे।
  • लेन अनुशासन को फॉलो करे।
  • यू – टर्न ध्यान से ले।
  • हाथ सिग्नल पर नज़र डाले।
  • यातायात संकेत और यातायात नीति।
  • गति पर नियंत्रण रखे।

भारत में यातायात के मुख्य संकेत (Traffic signals Meaning )

यातायात के तीन मुख्य संकेत हैं को की किसी भी शहर के चोरहों में आपको मिलेंगे ये संकेत तीन रंग के होते है जो की निम्नलिखित है :-

  • लाल लाइट (Red Light) : लाल लाइट का मतलब होता है, रुकना अर्थात् जब भी आप किसी चोराहें से गुजरते हैं तो आपको वहाँ जब लाल लाइट जलती हुई नजर आये तो आपको वहाँ रुकना होगा।
  • पीली लाइट (Yellow Light) : पीली लाइट का मतलब होता है चलने के तैयार हो जाना यह आपको चलने के लिए तैयार हो जाने का संकेत देती है।
  • हरी लाइट (Green Light) : हरी लाइट का मतलब होता है जाना अर्थात जब सिग्नल में हरी लाइट जलती है तो इसका अर्थ यह है कि आपको इस पर चलना है।

इस प्रकार आप इस संकेतों को फॉलो करके दुर्घटना होने से अपनी हिफाजत  कर सकते हैं।

आप इस pdf को download कर  के ज्यादा information ले सकते है |

भारत के  महत्वपूर्ण यातायात चिन्ह (Important Traffic Signs in hindi language pdf)

कुछ एरिया जैसे अस्पताल के आस पास, स्कूल के पास हॉर्न नहीं बजाना चाहिए यह वर्जित होता है।

  • एक तरफा ट्रैफिक (One Way Traffic) – इस जगह मे गलत साइड मे वाहन का ले जाना अपराध है।
  • दोनों दिशा में वाहन चलाना वर्जित है (Vehicles prohibited in both directions) – इस एरिया मे कोई भी वाहन नहीं चलाया जा सकता।
  • .बाएँ हाथ में नहीं मुड़ना है (No Left Turn) – इस साइन का मतलब होता है की आप बाएँ हाथ में न मुड़े।.
  • दाएँ हाथ में नहीं मुड़ना है (No Right Turn) – इस साइन का मतलब होता है की आप दाएँ हाथ में न मुड़े।
  • नो ओवरटेकिंग (No Overtaking) – इस साइन का मतलब होता है की आप किसी भी वाहन से आगे निकलने की कोशिश न करें।
  • नो पार्किंग (No Parking) – इस एरिया मे किसी को भी अपने वाहन खड़े करने की अनुमति नही होती है।
  • नो स्टॉपिंग (No Stopping) – इस एरिया मे किसी भी वाहन को चलते समय रुकने की अनुमति नही होती है।
  • यू टर्न निषेध (U Turn Prohibited) – इस जगह पर आप किसी भी वाहन को वापस यू – टर्न नहीं ले सकते।
  • ट्रक वर्जित हैं (Truck Prohibited) – इस जगह पर ट्रक का चलना वर्जित होता है।
  • साइकिल वर्जित हैं (Cycle Prohibited) – इस जगह पर साइकिल जैसे वाहन का आना वर्जित होता है।
  • पैदल चलने वाले व्यक्ति वर्जित हैं (Pedestrians Prohibited) – इस जगह पर पैदल चलने वाले व्यक्ति का आना निषेध है।
  • सभी मोटर वाहन वर्जित हैं (All vehicles Prohibited) – इसका अर्थ यह होता है कि इस जगह पर किसी भी तरह के मोटर वाहन का आना मना हैं।

भारत में यातायात के प्रतीक (Traffic symbols in hindi)traffic_symbols_in_india

भारत में यातायात के चिन्ह हैं जो आपको रास्ते में चलते समय सावधानी के तौर पर दर्शाये जाते हैं जो इस प्रकार है :-

  1. हाई लिमिट (Speed Limit) – इस साइन का मतलब होता है की इस एरिया मे दी गई लिमिट से ज्यादा के वाहन नही निकल सकते।
  2. बयां मोड़ (Left Turn) – इस साइन का मतलब होता है की आगे आपको बाएँ ओर मुड़ना है।
  3. पशु चिन्ह (Animal Road Traffic Sign) – इसका मतलब यह होता है कि यहां पशुओं का डेरा हैं।
  4. साइकिल क्रासिंग (Cycle Crossing) – इस प्रतीक का मतलब आगे साइकिल क्रासिंग हैं।
  5. चट्टानों का गिरना (Falling of Rocks) – इसका मतलब यह होता हैं कि आगे के रास्ते में मौसम के कारण चट्टानें रोड पर गिर सकती हैं।
  6. नौका (Boat or Ferry Sign) – यह संकेत ड्राईवर को एक नदी के पार नाव पार करने की स्थिति के बारे में बताने के लिए होता हैं।
  7. हेयर पिन टर्न (Left Hairpin Turn) – जब दिशा में परिवर्तन महत्वपूर्ण होता हैं तब यह तब उपयोग किया जाता है ।
  8. हाथ का कर्व (Hand Curve) – गति को कम करने और सावधानी से चलने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।
  9. रिवर्स मोड़ (Reverse Curve sign) – रिवर्स मोड़ की प्रकृति आवागमन तक पहुँचने के लिए स्पष्ट नहीं हैं तब इसका उपयोग तब होता है।
  10. खुली बजरी – तेजी से आने वाले वाहनों द्वारा बजरी को फेंका जाए इसका उपयोग तब किया जाता है जब दिया जा सकता है।
  11. पुरुष काम पर है या काम प्रगति पर है (Man at Work) – इसका उपयोग पुरुषों या मशीनों के द्वारा सड़क पर कोई काम चलते वक़्त होता है।
  12. पुल संकरा चिन्ह (Narrow Bridge Sign) – यह चिन्ह पुल आने के पहने लगाया जाता हैं। इसका अर्थ होता है पुल सकरा या पतला होने वाला है |
  13. सड़क संकरी चिन्ह (Narrow Road Sign) – यह संकेत अधिकतर ग्रामीण क्षेत्र में मिलता है। इसका मतलब होता है की सड़क संकीर्ण (तंग) होने वाली है |
  14.  चलने वालों की क्रासिंग या पैदल यात्री क्रासिंग (Pedestrian Crossing sign) – यह प्रतीक ज़ेबरा क्रासिंग के पहले बनाया जाता हैं जिससे वाहन की स्पीड कम की जा सकें।
  15. दाएँ हैर्पिन मोड़ (Right Hairpin Turn) – यह दिशा में परिवर्तन ज़रूरी होता है तब इसका उपयोग किया जाता है।
  16. दाएँ रिवर्स मोड़ (Right Reverse Curve) – इसका उपयोग रिवर्स मोड़ की प्रकृति आवागमन तक पहुँचने के लिए किया जाता है जब वह स्पष्ट नहीं होती।
  17. दाएँ हाथ का कर्व (Right Hand Curve) –इसका उपयोग गति को कम करने और सावधानी से चलने के लिए होता है।
  18. सड़क मार्ग – यह संकेत अधिकतर ग्रामीण क्षेत्र में पाया जाता है।
  19. जहाँ स्कूल की इमारतें व मैदान सड़क के आस (School Ahead Area)– पास होते हैं वहाँ यह प्रतीक लगाया जाता है ताकि स्कूल से बच्चे सुरक्षित रहें।
  20. सड़क में फिसलन (Slippery Road Sign) – इसका उपयोग फिसलन वाली सड़क आने के पहले किया जाता है।
  21. खड़ी चढ़ाई (Steep Hill) – यह प्रतीक तेजी से आने वाले वाहनों के लिए चढ़ाई आने वाली रोड के पहले लगाया जाता हैं।
  22. ढलान (Low Gear) – यह प्रतीक तेजी से आने वाले वाहनों के लिए उतार आने वाली रोड के पहले लगाया जाता हैं।

Traffic Rules Fine List 2020-20:-

सरकार द्वारा बनाये गए किसी भी नियम का उलंघन करना क़ानूनी अपराध है।जिसके लिए व्यक्ति को सजा का सामना करना पड़ता है या उसका चालान भी हो सकता है ।सजा की गंभीरता किये गए अपराध पर निर्भर करती है की जुर्म किस प्रकार का है।
नियमो का पालन न करने पर अंकुश लगाने के लिए हर वर्ष जुरमाना राशि अपडेट की जाती है।भारत में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने से दुर्घटनाएं होती हैं और गंभीर मामलों में मौत भी हो सकती है।

आइए भारत में यातायात नियम पालन न करने के दंड की सूचि देखे (new traffic rules in india 2020):-

  1. बिना लाइसेंस के ड्राइविंग:
  2.  बीमा के बिना ड्राइविंग:
  3. अयोग्यता की परवाह किए बिना ड्राइविंग:
  4. शराब या नशीले पदार्थों के प्रभाव में ड्राइविंग:
  5. हेलमेट नहीं पहनना:
  6. रेसिंग और गति:
  7. जुवेनाइल द्वारा अपराध:

Indian traffic rules and fines 2020-2020:

भारत में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने देश भर में यातायात नियम का उल्लंघन करने के लिए सरकार ने अपराध बताये हैं:-
भारत में सालाना 5 लाख से अधिक सड़क दुर्घटनाएं होती हैं। जिसमें डेढ़ लाख लोग मारे गए और अन्य 3 लाख अपंग हैं।
संशोधित अधिनियम के तहत,शराबी ड्राइविंग जैसे उल्लंघन पर आपको ट्रैफ़िक police Rs 10000 का जुर्माना है और 6 महीने से 2 साल तक की jail दे सकती है | लाइसेंस के ड्राइविंग पर Rs 5000 का जुरमाना है और ३ महीने की जैल।
बिना हेलमेट के मोटरसीसीले चलने पे Rs 1000 का जुर्माना और 3 months के लिए लाइसेंस रद्द।
ओवरस्पीडिंग में light motor व्हीकल पर  Rs 1000 -Rs 2000।
मध्यम पैसेंजर or गुड्स व्हीकल्स Rs 2000 -Rs 4000।

Road Safety Rules in Hindi Language:-

Traffic Rules in Hindi -पेट्रोल और डीज़ल से चलने वाले साधनो के अविष्कारों के बाद जब सड़को पर वाहनो की भीड़ बढ़ती दिखाई दी तब ट्रेफिक को कंट्रोल करने के लिए ट्रैफिक रूल्स बनाये गए जिससे एक्सीडेंट्स से बचा जा सके।Traffic rules follow करने से ना केवल यातायात बढ़िया बना रहेता है बल्कि accidents भी कमी होते है क्योकि ज़्यादातर accidents traffic rules follow ना करने की वजह से ही होते है और भारतदेश मे accidents बड़ी संख्या मे ट्रैफिक रूल्स फॉलो न करने से होते है।कुछ लोगो को तो ट्रैफिक नियम पता ही नहीं होते और वो भी हादसे का शिकार होते है। आप (latest traffic rules in hindi ) जानकर दुर्घटनाओं से बच सकते है ।

वन वे (एक तरफ) – One वे मतलब जब आप एक दिशा मे गाड़ी मे चला रहे हो तो ध्यान रखे की गाड़ी सही दिशा में चल रही हो क्योकि गलत साइड चलने से आप और सड़क पर चलने वाले बाकि लोग भी हादसे का शिकार हो सकते है और साथ ही इससे आपका और बाकियों का भी समय खराब होगा ।
ओवेरटेक ना करे – Don’t Overtake
कभी भी किसी को जल्दी पहुँचने की वजह से ओवेरटेक न करे और इससे हम एक्सीडेंट से भी बच सकेंगे। क्योकि आपकी और अगले व्यक्ति दोनों का जीवन ही बहुत महत्वपूर्ण है।
No हॉन्किंग-लगातार हॉर्न का इस्तेमान ना करें, ज़रूरत पड़ने पर ही उपयोग करे।
U टर्न-U turn traffic clear होने पर ही ले ,बीच सड़क मे U turn लेने से दुर्घटना हो जाती है।
गति प्रतिबंध (स्पीड रेस्ट्रिक्शन)-हमेशा स्पीड लिमिट्स पर ही ड्राइविंग करे और सेफ रहे।
हाथ के संकेत और संकेतक चिह्न (Hand Signals और इंडीकेटर्स)-रोड change करते समय hand signal देना या indicator देना ज़रूरी होता है, अगर आप right साइड मे जा रहे है तो right इंडिकेटर या right hand का use करें ओर अगर लेफ्ट साइड मे जा रहे है तो लेफ्ट इंडिकेटर या लेफ्ट hand का use करें। इससे आपके पीछे वाले वाहन चालको को ये समझने मे आसानी रहेगी की आप किस दिशा मे मुड़ने वाले है ओर इस तरह आप ओर वे पूरी तरह से सुरक्षित रहेंगे।
लेन अनुशासन (Lane डिसिप्लिन)-अपनी लेन को फॉलो करें अगर आप lane को तोड़ेंगे तो एक्सीडेंट के चान्सेस है।
वाहन को पार्किंग एरिया मे ही पार्क करें (Vehicle पार्किंग)
वाहन को पार्क करते समय जाँच ले की आप उसे पार्किंग एरिया मे पार्क कर रहे है या नही।वाहन को सही जगह पार्क करें ओर इस तरह से पार्क करें की वहे दूसरे के लए परेशानी ना बन सके ।

ट्राफिक सिग्नल आने वाले जगहों और रास्तो की स्थिति के बारे में जानकारी प्रदान करते हैं।बिना ट्रैफिक सिग्नल्स को जाने या यातायात के नियमो को जाने बगैर रास्ते पर कोई वाहन लेकर निकलना नहीं चाहिए। पूरी तरह से अभ्यास होने पर ही गाड़ी सड़क पर लेकर चले या फिर किसी अनुभवी व्यक्ति की देखरेख में वाहन का प्रयोग करे,और साथ ही आप अपना ड्राइविंग लाइसेंस बनवाकर ही घर से बाहर अपने वाहन को लेकर जाये।
हमेशा व्हीकल चलते वक़्त उसकी फोटोकॉपी अपने पास रखे और लम्बे समय तक उसका उपयोग करने के लिए lambinate करवा ले।

रोड सेफ्टी चिन्ह तीन प्रकार के होते हैं | 3 Types of Road Safety Signs

1. अनिवार्य संकेत : इन चिन्हों का उपयोग सडको के हादसों को काम करने के लिए किया जाता हैं ।जिसमे कानून की भी सहायत ली जाती हैं और इसी कारण रोड के नियम तोड़ने वालो को जेल भी कभी जाना पड़ता है ,क्यूंकि यातायात के नियमो का पालन ना करते हुवे लोग अपने साथ साथ ऑरो  को भी खतरे में डालते है।

2. चेतावनी के संकेत : चेतावनी के संकेत उपयोग करने का कारण होता हैं की इससे किसी भी वाहन चालाक को आगे की सड़क की स्थिति पता चल जाती हैं और वो पहले से ज्यादा रस्ते को जान जाता है और यदि सही समय पर सही कदम उठाने से लोगो का जीवन बच जाता है।

3. सूचक संकेत : ये चिन्ह या संकेत वाहन चालाक को विभिन्न प्रकार की सूचना प्रदान करते हैं जैसे उन्हें कितना दूर जाना हैं, किस दिशा में जाना हैं, पास में कोई खाने पिने की जगह हैं या नहीं आदि।

Leave a Comment