Hindi Lekh

Manch Sanchalan Script in Hindi – मंच संचालन स्क्रिप्ट

मंच संचालन की कला एक बहुत ही आसान कला है| जिसको भी इस कला में महारत प्राप्त हो गई वे सामने वाले को अपनी बातो से आकर्षित कर सकता है| मंच संचालन कला के कारण आप लोगो का मनोरंजन कर सकते है| यह कला आपके हर छेत्र में काम आती है| बहुत बार ऐसा होता है की मंच संचालन करने में कुछ लोगो को कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है| पर एक बार इस हुनर को सीख गए तो आप किसी के भी सामने अपनी बात रखने में शक्षम हो जाएगी| आज के इस पोसर में हम आपको मंच संचालन स्क्रिप्ट, कार्यक्रम का संचालन, आदि से सम्बंधित जानकारी देंगे|

मंच संचालन स्क्रिप्ट इन हिंदी

तो आइये अब हम आपको इस पोस्ट के ज़रिये संगीत कार्यक्रम के मंच संचालन की स्क्रिप्ट की जानकारी, Mach Sanchalan Tips in Hindi, anchoring script in hindi, एंकरिंग टिप्स हिंदी में प्रदान करवाते है टाइटिल, मंच सञ्चालन गीत आदि जिन्हे आप अपने school व college functions, party, ceremony पर एंकरिंग करते समय प्रयोग कर सकते हैं|साथ ही आप मंच संचालन के लिए शायरी व मंच संचालन कैसे करे भी देख सकते हैं

-नमस्कार दोस्तो, संस्कारधानी कला परिषद् द्वारा होली मिलन के सुअवसर पर आयोजित इस सुरों से गुनगुनाती हुई शाम में मैं अमित ‘मौलिक’ आज के कार्यक्रम के अतिथि गण, विशिष्ट जन एवम आप सब संगीत प्रेमियों का बहुत बहुत स्वागत करता हूँ-एहतराम करता हूँ । आज की इस सुरीली शाम को सुर बद्ध करने वाली हमारे शहर की जानी मानी आरकेस्ट्रा मेलोडी एंड रिदम एवं उनके सभी ख्यातनाम कलाकारों का भी स्वागत करता हूँ। आप से अनुरोध है कि एक बार जोरदार तालियां संस्कारधानी कला परिषद् के लिये बजा दे।
-ऐसी ही जोरदार तालियां एक बार हमारी आरकेस्ट्रा मेलोडी एंड रिदम के स्वागत में भी बजा दें। धन्यबाद
-दोस्तो, तमाम तरह की मानवीय प्रतिक्रियाओं में एक काबिले जिक्र प्रतिक्रिया है मुग्ध हो जाना। और मुग्धता एक रूहानी स्थिति है जो किसी भी प्रकार की रुचिकर क्रिया से उत्पन्न होती है। हमारी रूह-हमारी आत्मा को कोई क्रिया जब लुभाती है तो हम मन्त्रमुग्ध हो जाते हैं और यह स्थिति किसी ध्यान से कम नहीं होती, ध्यान जहाँ हम स्वयं को भूल जाएं, खो जाएँ। निःसंदेह संगीत के माध्यम से भी ईश्वर के निकट जाया जा सकता है। तो आइये आज हम इन सुरों के संसार में खो कर, मन्त्र मुग्ध हो कर स्वयं को भूलें और एक आनंद यात्रा आरम्भ करें।
-मित्रो, जैसी कि हमारी भारतीय संस्कृती की विशेषता है किसी भी सांस्कृतिक आयोजन के पहले हम श्री गणेश वंदना करते हैं। मैं मेलोडी एंड रिदम की गायिका सुश्री गीता ठाकुर से अनुरोध करता हूँ कि वो मंच पर आयें और श्री गणेश वंदना के क्रम को पूर्ण करें ।
बहुत ही सुमधुर ईश वंदना। धन्यवाद गीता जी । सारा प्रेक्षाग्रह ऊर्जामयी प्रतीत होता हुआ।
-दोस्तो, चूँकि यह एक संगीत का कार्यक्रम है अतः हम माँ सरस्वती को पुष्प अर्पण करते हुए उनके चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन करेंगे ।
-मैं आज के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री ……………………………………………जो कि …………………………………हैं, मैं उनके जादुई व्यक्तित्व को दो पंक्तियाँ अर्पित करते हुए दीप प्रज्ज्वलन के लिए मंच पर आमंत्रित करना चाहता हूँ…

इसके बाद एक एक करके सभी संगीतकार्यो को मंच पर बुलाकर उनका स्वागत करे और उनके परफॉरमेंस के बाद उनका धन्यवाद दे|

बहुत ही धमाकेदार प्रस्तुति। जोरदार तालियां दोस्तो।
निश्चित रूप से संस्कार धानी कला परिषद् के हम सब बहुत बहुत आभारी हैं जिन्होंने ऐसे मधुर गीत संगीत का जादुई संसार यहाँ रचा। हम उनको धन्यबाद प्रेषित करते हुए उनसे विनम्र आग्रह करते हैं कि वो इस पुनीत सिलसिले को अनवरत जारी रखें। उनके लिए एकबार जोरदार तालियां । साथ ही हम आरकेस्ट्रा मेलोडी और रिदम के गायक कलाकार एवं वादक कलाकारों को बधाइयाँ प्रेषित करते हैं कि उन्होंने अपनी सांगीतिक निपुणता से इस कार्यक्रम को सफल से सफलतम की श्रेणी में पहुँचाया। सभी संगीत के जानकार और सुधीजनों को भी बहुत बहुत धन्यबाद। निश्चित रूप से एक कार्यक्रम तभी सफल और सार्थक होता है जब आप जैसे संगीत रसिक और संगीत विज्ञ लोग श्रोताओं के रूप में मिलते हैं। आप सभी को बहुत बहुत धन्यबाद।

Manch Sanchalan Script in Hindi Pdf

मंच संचालन स्क्रिप्ट

अब हम आपको स्कूल के फेयरवेल पार्टी के फंक्शन की मंच संचालन स्क्रिप्ट की जानकारी देते है|

Female Anchor – परम आदरणीय Principal Sir एवम हमारे सभी आदरणीय गुरुजन, आप सबके चरणों में सादर वंदन करती हूँ। आज के इस कार्यक्रम में उपस्थित, हमारे विद्यालय के सभी वरिष्ठ जनों को सादर नमन करती हूँ।

एवम, हम सभी juniors के well-wishers, हमारे सभी seniors को सादर प्रणाम करते हुये, हमारे सभी साथियों का भी यथायोग्य अभिवादन करती हूँ। मेरा नाम………..है और मैं class…..की student हूँ। आज हमारे school…………के इस कार्यक्रम में मैं आप सबका हार्दिक-हार्दिक स्वागत करती हूँ।

साथियो किसी शायर ने क्या खूब कहा है कि…
सुख-चैन की छाँव से आगे निकल गए,

हम ख़्वाबों के गाँव से आगे निकल गए।
जी हाँ दोस्तो, आज का कार्यक्रम भी इसी तरह का कार्यक्रम है। एक कशमकश, एक जद्दोजहद एवम उलझनों के रंग हम सब juniors के चेहरे पर झलक रहे हैं।

आज हमें इस बात का एहसास हो रहा है कि अपने आत्मीय जनों को विदाई देना और स्वजनों से विदाई लेना, दुनिया का सबसे दुरूह कार्य है।
दोस्तो, आज का दिन उनके नाम है

जो क़िस्मत से मिलते है, क़ीमत से नहीं

जी हाँ मित्रो, हमारा आज का आयोजन भी विदाई (farewell ) का आयोजन है। हमारे दिल में अपने अग्रजों ( seniors) से विछोह की पीड़ा तो है लेकिन हम इस पीड़ा अनदेखा करते हुए आज के इस आयोजन को एक उत्सव की तरह की तरह मनायेंगे- farewell party की तरह मनायेंगे।

हम आज अपने seniors को भाव भीनी विदाई देंगें, उनके bright future के लिए प्रार्थना करेंगे। साथ ही हम उनका आशीर्वाद प्राप्त करेंगें, उनका स्नेह प्राप्त करेंगे।

दो पंक्तयाँ कहना चाहती हूँ कि…
ख्वाहिशें आली होंगी, आसमान बन जांयेंगीं
ये उदासीयां गर्क होकर, मुस्कान बन जांयेंगीं
आप तालियाँ बजाकर, हौसलों को हवा देते रहें
आप की तालियाँ महफ़िल की, जान बन जांयेंगीं
तो एक बार हमारे सभी सीनियर्स के लिये ज़ोरदार तालियाँ हो जायें

इसके बाद सभी परफॉरमेंस की एक एक करके शुरुवात करे और कलाकारों का या उनके ग्रुप का स्वागत करे|
परफॉरमेंस होने के बाद उनका धन्यवाद करे|

आप सबके जज़्बे को मैं शत-शत नमन करती हूँ

आपके सहयोग के बिना यह उत्सव आसान नहीं था

ज़ोरदार तालियाँ आप सभी के लिये।
मैं प्रिंसिपल सर…….को कोटिशः धन्यवाद-आभार कहती हूँ। उनकी प्रेरणा, उनका अमूल्य सहयोग, उनके मार्गदर्शन और आशीर्वाद के बिना यह आयोजन एक दिवास्वप्न की तरह था।
मैं ………..सर का कोटिशः आभार करती हूँ जिन्होंने हमें अपनी बट बृक्ष जैसी शीतल छाँव आज के कार्यक्रम की अध्यक्षता करके हमें प्रदान की।
मैं अपने सभी गुरुजनों को कोटिशः आभार करना चाहती हूँ। ढेरों मुश्किलें थीं, बहुत सारी उलझनें थीं, लेकिन सबने हमारी मदद की, हमें अमूल्य मार्गदर्शन दिया।
मैं अपने seniors को धन्यवाद कहती हूँ कि उन्होंने सदा हम juniors को स्नेह दिया, हमें जब-जब भी मुश्किल हुई उन्होंने सदा ही हमें guide किया। हम सब उनके अप्रतिम स्नेह के आभारी हैं।
मैं अपने सभी साथी सहपाठियों को मंच से बहुत ही बड़ा शुक्रिया कहना चाहती हूँ। हमारे मित्रों ने दिन-रात परिश्रम करके इस भव्य आयोजन की तैयारी की। मैं उनकी बहुत-बहुत आभारी हूँ।
बहुत-बहुत शुक्रिया। Thank you very much।

मंच संचालन टिप्स

अगर आपको मंच संचालन करना है और आप यह पहली बार करने जा रहे है तो आपको स्टेज पर जाने से पहले इन कुछ बातो का ख़ास ध्यान रखना होगा|

  • मंच संचालन करते समय सबसे पहले अपने पहनावे का ख़ास ध्यान रखे क्युकी कपडे हमारे शरीर का 90% हिस्सा ढकते है| अच्छे वस्त्र के कारण आप सामने वाले व्यक्ति पर सकारात्मक प्रभाव डालने में सफल रहते है|
  • कहा जाता है की वस्त्र आपके अंदर की छवि को ब्यान करते है| अगर आप अच्छे कपडे पहनकर मंच संचालन का कार्य करेंगे तो लोग आपको देखकर अधिक प्रभावित हो जायेंगे|
  • मंच संचालन करने से पूर्व आपको अपनी भाषा या अपनी बोली का ख़ास ध्यान रखना पड़ता है| अच्छी लैंग्वेज में बात करने से सामने वाले पर अच्छा प्रभाव पड़ता है|
  • कभी कबार मंच संचालन करते समय कुछ लोग घबरा जाते है और गांव की लैंग्वेज का इस्तेमाल कर देते है जिसका ऑडियंस पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है|
  • अगर आप मंच संचालन करते है तो इस कार्य से पूर्व एक बार दर्पण में अपनी स्क्रिप्ट की प्रैक्टिस कर ले| इससे आप मंच संचालन करते समय घबराएंगे नहीं|
  • अगर आपको मंच संचालन में महारत हासिल करनी है तो आपको रोज़ दर्पण के सामने खड़े होकर प्रैक्टिस करनी होगी जिससे आपके अंदर आत्वविश्वास का संचार होगा और आप स्टेज पर जाकर कभी घबराएंगे नहीं|

Manch Sanchalan Script In Hindi For Republic Day

मंच संचालन की स्क्रिप्ट यानी की मंच सञ्चालन की लिपि को आप आप Hindi, Prakrit, Urdu (उर्दू) , sindhi, Punjabi, in Marathi, Gujarati, Tamil, Telugu, Nepali, सिंधी लैंग्वेज, Kannada व Malayalam hindi language व hindi Font व urdu language के साथ हर साल 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017, 2018 के लिए Anchoring script in Hindi Pdf मिलती है जिन्हे आप Facebook, WhatsApp व Instagram पर post व शेयर कर सकते हैं| जो की ख़ास दिन जैसे की गणतंत्र दिवस, 26 जनवरी, 15 अगस्त, स्वतंत्रता दिवस, annual function, fresher party व farewell party के लिए हैं|

– उत्सव शुरू करने के लिए जनवरी –
हवा में ऐसी चीज रखते हुए, हवाओं को बताओ
यह हल्का होगा, दीपक जल रहा है
हम रक्त से संरक्षित हैं जिसे हमने संरक्षित किया है
हमेशा इस तरह के तिरंगा दिल में रखें

एंकर एक: – Yaha बराबर ए जे upasthit रंग सबी deviyo aur सज्जन, aamantrit अतिथि गण, अध्यापक avam adhyapikaye, humhare स्कूल ke sabhi vidhyarthiyo ko jgantantra दिवस की हार्दिक subhkamnaiye। हम yaha keval 26 जनवरी manane की liye hi hai nhi हाँ, बाल्की हम ए जे सब yaha upasthit रंग hai apne tirange ko सम्मान बालू के टीले के liye, सम्मान हमें हर जवान ko jo सीमा बराबर hai बैठा, Samaan हमें हर क्रांतिकारी ko jiski wajah से हम savatantra हाई,

एंकर 2: – सम्मान देश ke हर हमें नागरिक ko jo apne अंदर ए जे भी, आजादी ke Itne साल बाद, apne दिल मुझे Deshbhakti, देश प्रेम की भावना hai rakhta। मैं (एंकर 1 का नाम) और केवल मेरा पहला नाम (एंकर 2 नाम), और मुझे स्कूल के सभी छात्रों (स्कूल का नाम) पढ़ाने में खुशी हुई।

एंकर 1: अधिकारों को पूरा नहीं किया जाता है
वे स्वतंत्र हैं लेकिन दासता पूरी की जाती है
उन सेनानियों की पूजा करें
जो लोग मृत्यु क्षेत्र में जीवित हैं

-दिप प्रजवलन कार्यकर्म-
एंकर 2: – “तमो मा ज्योतिरगामाया। श्री सरस्वती नामहस्तुब्याम वरदे कामा रुपुनी
ट्वीम अहम प्राहान देवी विद्यालयम चा देही मी ”

एंकर 2: – कुछ चीजें हैं जब मैं किसी तरह का प्यार दिखाने जा रहा हूं। मैं एक ही समय में आपसे मिलने जा रहा हूं, और मैं जीप पर आपसे मिलने जा रहा हूं। (एक गुब्बारे के रूप में सभी नामों का नाम)।
-दिप प्रजवत होन के बाद.-

–दुगा वंदना-

एंकर 1: “वाई देवी सरवा भुट्शू, शाकी रूपेन संस्थान,
नमास्तासमी नामास्टेसी, नमास्तासमी नामो नामाह ”

जयशी के सभी गाने दुर्गा सख्त को भेजे जाते हैं। दुर्गा वो है जो सभी कस्तो का नाश करे हुमहारा एक ऐसा व्यक्ति है जिसने मुझे बहुत सारे दुर्गा का हिस्सा दिया है
एंकर 2: वह क्या है? मैं और साही कहा है kyuki वाही hai deti, वाही hai माँ, वाही hai दोस्त भी, hai वाही Behan Jindagi को, नारी का सम्मान ko कर्ण हाय chahiye sabhi ko करने के लिए। मुझे नहीं पता कि इसका क्या मतलब है, मुझे नहीं पता कि क्या करना है।
एंकर 1: चलो 4 बार आप बात करना चाहते हैं …

जिम्मेदारी वाली महिलाएं उड़ान भर रही हैं, कोई शिकायत नहीं है या कोई थकावट नहीं है।
महिलाओं को दो देश, हमारे देश का गौरव दें

एंकर 2: क्या आप बस शूरुवत है है अगाई दिखेय्या होट क्या क्या चाहते हैं ..

स्क्रिप्ट (डांस के लिय): –

मैं आपको कार्यदिवस की प्रगति के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं कि मैं 6 सप्ताह पहले आपके लिए कर सकता हूं।
हुमहारा पहली बार सामाजिक सभा पर काम कर रहा है। Chaliye करने के लिए, मुझे नहीं पता कि यह कैसे करना है।
{नोट: – आप अपना आवेदन प्रोग्राम में सेट कर सकते हैं।}

-Speech-

मुझे प्रधानचार करने के लिए सम्मानित किया गया है, मेरे पास बहुत काम है और मुझे सिखाने में खुशी है

-Ending-

एंकर 1: – वाह, आपके और मेरे बीच क्या अंतर 26 साल का है। आप vidhyartiyo में क्या कर रहे हैं

एंकर 2: – यदि आप जानना चाहते हैं कि इसका अनुवाद कैसे करें, तो आप इसके लिए भी खोज कर पाएंगे। याही से गरिमा विद्यालय है

एंकर 1: – Ab kyuki हम samapti की aur बुरा rhe hai, मुझे एपी sabhi लो का dhyawad कर्ण चाहता हू jo apne yaha akar manck की शोभा मुझे 4 चाँद लगा diye है। मैंने हमेशा कहा है कि मैं खुद को पहचानने में सक्षम था और साथ ही साथ अपने विनोदी सीखने के कौशल भी दिखा सकता था।
एंकर 2: – मैं स्कूल जाने से पहले और 4 साल पहले आपको बहुत पैसा देने जा रहा हूं।

उनकी नाक सिर्फ एक लड़ाई नहीं है, कोई भी वहां नहीं है
किसके बंधक ऋण हमारे ऊपर उधार दे रहा है
आज हम इस वजह से खुश हैं
सीमा पर युद्ध तैयार है …

भारत माता की जय !!!!

भारत माता की जय !!!!

[सीरमनी का अंत]

Leave a Comment