Hindi Shayari

Manch Sanchalan Shayari – मंच संचालन के लिए शायरी – मंच संचालन शायरी – Anchoring Shayari in hindi

मंच संचालन की कला बहुत ही आसान होती हैं| मंच संचालक का कार्य वहा पर बैठे लोगो का मनोरंजन करना होता है| मंच संचालन में सबसे अहम् कार्य वहा पर आये हुए लोगो का सत्कार से स्वागत करना होता है| स्वागत आप सीधे धन्यवाद करके भी कहा सकते है या कुछ शायरी या कविता के ज़रिये हम वह के महमानो का स्वागत कर सकते है| मनोरंजन शायरी या स्वागत में शायरी सुनाकर आप लोगो का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर सकते है| आज के इस पोस्ट में हम आपको स्वागत में शायरी, मंच संचालक शायरी इन हिंदी, मंच संचालक इंग्लिश शायरी, आदि की जानकारी देंगे|

मंच संचालन के लिए शायरी

हमारे द्वारा दर्शाई हुई Manch Sanchalan shayari in hindi language and Manch Sanchalan ki shayari in hindi font, अतिथि स्वागत शायरी, मंच संचालन हिंदी शायरी, एंकरिंग मेसेज, Status for Manch Sanchalan, Messages, Status, Quotes, समझ collection, कोट्स, स्टेटस, विश (wishes), उद्धरण, कविता, kavita, poem, एसएमएस, साहरी, sayaree, उद्धरण, messages, msg, मैसेज, एसएमएस हिंदी फॉण्ट, टाइटिल, मंच सञ्चालन गीत आदि जिन्हे आप अपने school व college functions, party, ceremony पर एंकरिंग करते समय प्रयोग कर सकते हैं| साथ ही आप Manch Sanchalan Script in Hindi व कैसे करे मंच संचालन भी देख सकते हैं|

ये नन्हे फुल तब महकते हैं
जब खुदा की नीली छत्रियां तनती हैं
इन नन्हे मुन्हे फरिश्तो क लिए
जोरदार तालियाँ तो बनती हैं

ये नन्हे फुल तब महकते हैं

जब खुदा की नीली छत्रियां तनती हैं

इन नन्हे मुन्हे फरिश्तो क लिए

जोरदार तालियाँ तो बनती हैं

उस ने वादा किया है आने का रंग देखो ग़रीब ख़ाने का

वो आए घर में हमारे ख़ुदा की क़ुदरत है कभी
हम उन को कभी अपने घर को देखते हैं

मंच संचालन हेतु शायरी

तुम आ गए हो तो कुछ चाँदनी सी बातें हों
ज़मीं पे चाँद कहाँ रोज़ रोज़ उतरता है

तुम जो आए हो तो शक्ल-ए-दर-ओ-दीवार है और
कितनी रंगीन मिरी शाम हुई जाती है

मंच संचालन शायरी

सुनता हूँ मैं कि आज वो तशरीफ़ लाएँगे
अल्लाह सच करे कहीं झूटी ख़बर न हो

तुम आ गए हो ख़ुदा का सुबूत है ये भी
क़सम ख़ुदा की अभी मैं ने तुम को सोचा था

मंच संचालन हेतु शानदार ताली शायरी

सौ चाँद भी चमकेंगे तो क्या बात बनेगी
तुम आए तो इस रात की औक़ात बनेगी

शुक्रिया तेरा तिरे आने से रौनक़ तो बढ़ी
वर्ना ये महफ़िल-ए-जज़्बात अधूरी रहती

Manch Sanchalan Ki Shayari

मंच संचालन के लिए शायरी

क़दम क़दम पे बिछे हैं गुलाब पलकों
के चले भी आओ कि हम इंतिज़ार करते हैं

स्कूल मंच संचालन शायरी

रौनक़-ए-बज़्म नहीं था कोई तुझ से पहले
रौनक़-ए-बज़्म तिरे बा’द नहीं है कोई

Manch Sanchalan Shayari In Hindi

मीठी बात और चेहरे पर मुस्कान,
ऐसे लोग ही है हमारी महफ़िल के शान.

दिल को सुकून मिलता हैं मुस्कुराने से.
महफ़िल में रौनक आती है दोस्तों (आप) के आने से,

मंच संचालन की शायरी

हमारी महफ़िल में लोग बिन बुलायें आते हैं,
क्योकि यहाँ स्वागत में फूल नहीं पलकें बिछाये जाते हैं.

2 Lines Anchoring Shayari

शब्दों का वजन तो हमारे बोलने के भाव से पता चलता हैं,
वैसे तो, दीवारों पर भी “वेलकम” लिखा होता हैं.

स्वागत शायरी

आये वो हमारी महफ़िल में कुछ इस तरह, कि हर तरफ़ चाँद-तारे
झिलमिलाने लगे, देखकर दिल उनको झूमने लगा, सब

2 Line Manch Sanchalan Poetry

कौन आया कि निगाहों में चमक जाग उठी,
दिल के सोये हुए तरानों में खनक जाग उठी,
किसके आने की खबर ले कर

ताली शायरी

मंच संचालन शायरी

ये कौन आया, रौशन हो गयी महफ़िल किसके नाम से
मेरे घर में जैसे सूरज निकला है शाम से.

Taali Shayari in Hindi

हार को जीत की इक दुआ मिल गई,
तप्त मौसम में ठंडी हवा मिल गई,
आप आये श्रीमान जी यूँ लगा
जैसे तकलीफों को कुछ दवा मिल गई.

Anchoring Shayari in hindi

मंच संचालन की शायरियां (ताली शायरी) आप Hindi, Prakrit, Urdu (उर्दू) , sindhi, Punjabi, in Marathi, Gujarati, Tamil, Telugu, Nepali, सिंधी लैंग्वेज, Kannada व Malayalam hindi language व hindi Font व urdu language में जानना चाहे जिसमे की Manch Sanchalan Two Lines Shayari के साथ हर साल 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017, 2018 के लिए शायरियां मिलती है जिन्हे आप Facebook, WhatsApp व Instagram पर post व शेयर कर सकते हैं|

सबके दिलों में हो सबके लिए प्यार,
आने वाला हर पल लाये खुशियों का बहार,
इस उम्मीद के साथ भुलाके सारे गम
इस आयोजन का करें वेलकम.

देर लगी आने में तुम को शुक्र है फिर भी आए तो
आस ने दिल का साथ न छोड़ा वैसे हम घबराए तो

मंच सञ्चालन शायरी

सौ चाँद भी आ जाएँ तो महफ़िल में वो बात न रहेगी,
सिर्फ आपके आने से ही महफ़िल की रौनक बढ़ेगी.

अजीज के इन्तजार में ही पलके बिछाते हैं,
महफ़िलो की रौनक खास लोग ही बढ़ाते हैं.

एंकरिंग शायरी

उसने वादा किया है आने का,
रंग देखो गरीब खाने का.

जो दिल का हो ख़ूबसूरत ख़ुदा ऐसे लोग कम बनाये हैं,
जिन्हें ऐसा बनाया है आज वो हमारी महफ़िल में आये हैं.

Clapping Shayari in hindi

भ्रमर परागों पर बैठेगें, धरी रहेगी रखवाली, खुश्बू
ख़ुद उड़ने को आतुर, क्या कर लेगा जी माली, हम तो…

ये भी ख्वाबों के हसीं झूले झूलें, वक़्त की गर्द में
अपने सपने न भूलें, एक बार ऐसी तालियाँ बजाइये, 

Leave a Comment