Sarkari Yojana

Bihar CM Jal Jivan Hariyali Campaign 2019 – बिहार जल जीवन हरियाली योजना

गाँधी जयंती की 150वीं वर्षगांठ पर बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार जी ने जल-जीवन-हरियाली अभियान (Jal Jeevan Hariyali Campaign) की शुरुआत कर रहे है | सरकार ने मौसम में आ रहे बदलाव को देखते हुए राज्य में जल-जीवन-हरियाली योजना (Jal Jivan Hariyali Yojana  in Bihar) को लॉन्च करने की सोची है | राजस्व और भूमि सुधार विभाग राज्य के सभी सार्वजनिक जल निकायों जैसे तालाबों, आहर-पाइन और कुओं की पहचान करके उनकी पूरी रिपोर्ट ड्रोन या हेलीकॉप्टर के माध्यम से तैयार करेगें |

Jal Jivan Hariyali Campaign Bihar 

जल-जीवन हरियाली अभियान (Jal Jeevan Hariyali Campaign) को लेकर राज्य सरकार ने लोगों में जागरूकता पहले से ही शुरू कर दी गई है | जल-जीवन हरियाली योजना के अंतर्गत सरकार तालाबों, आहर-पाइन की उड़ाही, पौधे लगाना, रेन वाटर हार्वेस्टिंग और जहां सूखा पड़ता है वहाँ पर नदियों का पानी पहुंचाना जैसे काम एक साथ करेगी | और सरकार इस योजना की मदद से आने वाले समय में लोगों को ज्यादा से ज्यादा सोलर लाइट इस्तेमाल करने के लिए भी सरकार प्रोत्साहित करेगी |

Bihar Jal Jivan [Jeevan] Hariyali Campaign 

हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए प्रधानमंत्री जल जीवन अभियान के जैसे ही बिहार जल-जीवन हरियाली अभियान है | जिसके लिए केंद्रीय सरकार ने अलग से जल शक्ति मंत्रालय भी बनाया है, जो पीएम जल जीवन अभियान के लिए वित्त का आवंटन और पूरी देख-रेख करेगा | बिहार सरकार के अनुसार बिहार राज्य हाल के दशकों में बाढ़ और सूखे से हर साल शिकार होता जा रहा है | जिसके लिए भविष्य में कुछ टोस कदम उठाना जरूरी है | इसलिए जिन भी तालाबों, कुओं को राजस्व और भूमि सुधार विभाग चिन्हित करेगा तथा उन पर किए गए लोगों द्वारा अवैध कब्जे को भी सरकार दिसंबर तक खत्म करेगी और उन्हें अतिक्रमण मुक्त कराया जायेगा |

Important points under Jal Jivan Hariyali Campaign Bihar

  • जल-जीवन हरियाली कैंपेन (Important points under Jal Jivan Hariyali Campaign in Bihar) जो की बिहार में शुरू होगा इसके लिए सरकार बहुत से जरूरी कार्यों को ध्यान में रख कर काम करेगी |
  • सबसे पहले राज्य सरकार पूरे प्रदेश में हर जिले की सैटेलाइट मैपिंग करेगी |
  • राजस्व और भूमि सुधार विभाग द्वारा पहचान किए गए तालाबों, आहर-पाइन और कुओं जिन पर अवैध कब्जा है उनको सरकार अतिक्रमण मुक्त कराएगी।
  • सड़कों के किनारे कई लाइन में पेड़ लगाये जाएंगे और बांधों, सार्वजनिक जगहों और निजी जगहों पर भी वृक्षारोपण किया जायेगा।
  • सोलर लाइट को बढ़ावा देने के लिए सरकारी इमारतों पर सोलर पैनल लगाये जायेंगे, साथ ही साथ दो नये सोलर प्लांट भी लगाये जायेंगे |
  • पेड़-पौधों को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों पर कारवाई की जाएगी।
  • वर्षा के जल संचयन के लिए जगह-जगह पर वॉटर हार्वेस्टिंग प्लांट बनाये जायेंगे और लोगों को भी इस अभियान का हिस्सा बनने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि राज्य में वर्षा हर साल कम होती जा रही है या फिर वर्षा कहीं पर ज्यादा हो रही है और कहीं पर कम, भूजल स्तर नीचे जा रहा है | इसीलिए बिहार राज्य में जल-जीवन-हरियाली अभियान चलाना जरूरी हो गया है सरकार प्रदेश का हरित आवरण क्षेत्र 17 प्रतिशत या इससे ज्यादा करने के लक्ष्य पर भी काम करेगी।