kavita

अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस पर कविता- Poem on International Youth Day in Hindi & English for School Students

International youth day 2019: किसी भी देश के विकास में युवाओ का अहम् रोले होता है| आज के समय में पूरे विश्व में 45% जनसँख्या युवा है| किसी भी देश के लिए युवा उसकी रिड की हड्डी होते है| वे देश की अर्थव्यवस्था को समाले रखते है| आज के समय में हर क्षेत्र में ज्यादातर युवाओ का समर्पण है| हर साल पूरे विश्व में 12 जुलाई को विश्व युवा दिवस बड़े धूम धाम से मनाया जाता है| इस दिन का बहुत महत्व है| किसी भी देश के लिए युवा बहुत महत्व रखते है| राष्ट्रीय युवा दिवस पर कविता, युवा दिवस शायरी, आंतरराष्ट्रीय युवा दिवस, राष्ट्रीय युवा दिवस 2017, राष्ट्रीय युवा दिवस 2019, आदि की जानकारी देंगे जिसे आप अपने स्कूल के अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस की कविता को प्रतियोगिता, कार्यक्रम या भाषण प्रतियोगिता में प्रयोग कर सकते है| ये कविता खासकर कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए दिए गए है|

अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस कविता

अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस 2019: अक्सर class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7, class 8, class 9, class 10, class 11, class 12 के बच्चो को कहा जाता है अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस पर कविता लिखें| यहाँ हमने हर साल 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017 व 2019 के अनुसार राष्ट्रीय युवा दिवस निबंध, युवा कविता, International Youth day Quotes in Hindi, inspirational youth day poems, युवा दिवस फोटो, short youth day poem, युवा दिवस पर भाषण, इंटरनेशनल युथ डे पर छोटी कविता प्रदान की है आदि जिसे आप whatsapp, facebook व instagram पर अपने groups में share कर सकते हैं|

जागो हर एक देशवासी,
तुम ही जो बना सकता हैं,
अपने देश को स्वर्ग,
जागो मेरे संगी साथी,
जागो हर एक देशवासी।।

तुम क्यों भटक रहे हो,
अंधकार में यहाँ-वहाँ,
तुम क्यों नहीं निकलते,
ज्ञान की खोज में,
बस तुम इन भौतिक चीज़ो के बारे में,
सोचते रह जाते हो,
आगे बढ़ो तुम्हारी,
इस जहाँ को जरूरत हैं,
जागो मेरे संगी साथी,
जागो हर एक देशवासी।।

तुम मत भूलो कि,
तुम उस देश में रहते हो,जहाँ कई महापुरुषों ने जन्म लिया,
उन्होंने इस समाज के खातिर,
बहुत कुछ हैं किया,
तुम में भी वो शक्ति हैं,
अपने आप को जगाओ,
जागो मेरे संगी साथी,
जागो हर एक देशवासी।।

युवा दिवस तालियों से नहीं,
बहुत हौशलों से मनाओ |
जीवन सम्हालने  की एक,
जीवन में नया रह बनाओ |
मिठाइयां खाने और खिलने,
से नहीं सम्हलती है जिंदगी |
केवल सोचने अनुमान से नहीं,
 बदलती है ये अपनी जिंदगी |
सूरज जैसे ही है चमकना,
चंदा की तरह शीतल करना |

Youth Day Poem in Hindi

आइये अब हम आपको poem on national youth day in hindi, International Youth Day Messages, poem on youth day, youth day poems, international youth day poems, short youth day poems, world youth day poem, youth day poems for school, youth day poems in english, best youth day poems, आदि की जानकारी देंगे|

Poem on International Youth Day in Hindi

जाग युवा जाग
कि तेरे जागने से देश जगेगा
देश जगेगा
और
हर क्षेत्र में विकास करेगा,
भ्रष्टाचार और दुराचार का
अंधियारा छंटेगा,
भारतीय संस्कृति और सभ्यता का सूरज
सारे संसार को
आलोकित करेगा,
हर क्षेत्र में भारत सबकी अगुआई करेगा.

तुम जानते हो
जब-जब
भारत का युवा जगा है
विवेकानंद का उदय हुआ है
विवेकानंद के घट में
विवेक के आनंद का उदय हुआ है
फिर
विवेकानंद ने
सबको
विवेक के आनंद से परिचित कराया है
भारतीय संस्कृति और सभ्यता से
अखिल जगत को परिचित कराया है.
तुम जानते हो
जब-जब
भारत का युवा जगा है
वीर हकीकत का उदय हुआ है
भगतसिंह का उदय हुआ है
लक्ष्मीबाई का उदय हुआ है
फिर
वीर हकीकत ने
भगतसिंह ने
लक्ष्मीबाई ने
सबको
देशभक्ति के साहस से परिचित कराया है
इसी साहस से उन्होंने
अखिल जगत को साहस का पाठ पढ़ाया है.

तुम जानते हो
जब-जब
भारत का युवा जगा है
आर्यभट्ट का उदय हुआ है
आर्यभट्ट ने
1-10 अंकों
और दशमलव का आविष्कार किया है,
वाराहमिहिर का उदय हुआ है
वाराहमिहिर ने
शून्य का आविष्कार किया है,
सी. वी. रमन का उदय हुआ है
सी. वी. रमन ने
रमन इफैक्ट का आविष्कार किया है,
अंतरिक्ष में जाने वाली प्रथम भारतीय महिला
कल्पना चावला का उदय हुआ है
कल्पना चावला ने
भारतीय अमरीकी अंतरिक्ष यात्री के रूप में
देश का मान बढ़ाया है,
पी. वी. सिंधु का उदय हुआ है
पी. वी. सिंधु ने
ओलम्पिक खेलों में
महिला एकल बैडमिंटन का रजत पदक
जीतने वाली पहली खिलाड़ी के रूप में
देश को सम्मान हासिल कराया है,
लता मंगेशकर का उदय हुआ है
भारत कोकिला लता मंगेशकर ने
गायन के क्षेत्र में
अनुपम कीर्तिमान स्थापित किया है,
होमी जहांगीर भाभा का उदय हुआ है
होमी जहांगीर भाभा ने
परमाणु ऊर्जा संस्थान स्थापित किया है.

जाग युवा जाग
कि तेरे जागने से देश जगेगा
देश जगेगा
और
हर क्षेत्र में विकास करेगा.

Poem on International Youth Day in Hindi

अगर आप अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस पर हिंदी कविता के लिए पोएम Sayings, Slogans, Messages, SMS, Whatsapp Status, Words Character तथा भाषा Hindi font, hindi language, English, Urdu, Tamil, Telugu, Punjabi, English, Haryanvi, Gujarati, Bengali, Marathi, Malayalam, Kannada, Nepali के Language Font के 3D Image, Pictures, Pics, HD Wallpaper, Greetings, Photos, Free Download जानना चाहे तो यहाँ से जान सकते है|

युवा शक्ति

उठ जाग अब मेरे देश के नौजवान
तेरे सोने से पूरा जग परेशान
आलस की आंधी में क्यों खो रहा है ।
नशे की नींदों में क्यों इतना सो रहा है ।
तूने ही देश को बुलंदियों पर है लाना
अपनी काबिलियत से है इतिहास रचाना ।
पर तू तो खुद ही हो कमजोर गया ।
न जाने किधर वो तेरा जोर गया ।
लगते थे जोश के जो हर बरस मेले ।
हो गए सब अपने स्वार्थ में अकेले।
नशे की सरिता में क्यों खुद को डुबो रहा है ।
अपनी अमूल्य ताकत को युहीं क्यों खो रहा है ।
अब भी वक़्त है , जाग कर कुछ कर दिखाने का
नाम भारत का आसमान में चमकाने का
देखना नहीं मुड़ कर पीछे , जब तक दिखे ना साहिल
कर जूनून से मेहनत , मिलेगी एक दिन तुझे मंजिल ।
वो कबड्डी की महक और कुश्तियों का कोना ।
क्यों नशे की जिद में तुझे , पड़ा ये सब खोना ।
ताकत और जोश का रच दे फिर से इतिहास ।
न तेरी कमजोरी का उड़ाए , दुनिया उपहास ।
बहन बेटियों की इज्जत का बन तू रखवाला ।
न इनका कर अपमान , बन तू खुद में मतवाला ।
तेरी ताकत के किस्से हो हर ओर, ऐसी ही कर आशा तू
कर कर्म फिर से जिंदादिली के , ऐसी ही कर अभिलाषा तू ।
अब न रह तू अपनी शक्तियों से अनजान
उठा शस्त्र अपने , बन जा महान
उठ जाग मेरे देश के नौजवान
तेरे सोने से पूरा जग परेशान

इंटरनेशनल युथ डे पोएम

नव युवा हे ! चिर युवा तुम

उठो ! नव युग का निर्माण करो ।

जड़ अचेतन हो चुका जग,

तुम नव चेतन विस्तार करो ।

पथ भ्रष्ट लक्ष्य विहीन होकर

न स्व यौवन संहार करो ।

उठो ! नव युग का निर्माण करो ……………

दीन हीन संस्कार क्षीण अब

तुम संस्कारित युग संचार करो ।

अभिशप्त हो चला है भारत !!

उठो ! नव भारत निर्माण करो ।

नव युवा हे ! चिर युवा …………………………

गर्जन तर्जन ढोंगियों का

कर रहा मानव मन क्रंदन ।

सिंहों सी गर्जन अब हुंकार भरो

उठो सत्य प्रति मूर्ति नरेंद्र बनो ।

नव युवा हे ! चिर युवा ……………………

गूँजे हुंकार कि काँप उठे दुष्प्रहरी

न मृगछौना बन शावक केसरी ।

चंहु दिशि गुंजित कर दे

ऐसी सिंह दहाड़ करो ।

नव युवा हे! चिर युवा………….

Leave a Comment