Hindi Shayari

हालात पर शायरी – Halat Shayari in Hindi

नमस्कार अगर आप हालत ऐटिटूड शायरी को खोज रहे हैं तो आपकी तलाश यहां खत्म हुई |आपको यहां halat से भरे और हलतपूर्ण अपने दोस्तों के साथ इसे share or send भी कर सकते हैं ।  यहाँ आपके दोस्तों के लिए Latest halat Status इन हिन्दी,halat shayari in urdu, image, halat shayari pic, mere halat shayari image पंजाबी का Best Collection हैं  जिसकी आप video या pdf download कर सकते हैं और साथ ही इसे social media पर शेयर कर सकते हैं |

halat shayari 2 line

“हालात सिखाते हैं,
बातें सुनना और सहना
वरना हर व्यक्ति स्वभाव से
बादशाह ही होता है । “

“हालात वो ना रखें जो हौसलों को बदल दें।
बल्कि हौसला वो रखें जो हालातों को बदल दे। “

halat shayari in english

“zindage yoonhe bahut kam hai mohabbat ke lie
rooth kar Waqt ganvane ke zaroorat kya hai “

“Waqt muqarrar kar lete hain chand ko takane ka
jis roz main dekhoon us roz tum dekho “

“bas ek Waqt ka khanjar mere talash mein hai,
jo roz bhes badal kar mere talash mein hai “

halat shayari sad

“वक्त और हालात के साथ
शौक तो बदल सकते हैं ;
लेकिन रिश्ते और दोस्त
बदलना मुश्किल है। “

“हर बार इंसान बुरा नहीं होता,
बल्कि उसका वक़्त बुरा होता है,
किसी को गलत समझने से पहले;
उसके हालात जानने की कोशिश;
जरूर करें। “

halat shayari hindi pic

“हालात ने तोड़ दिया हमें
कच्चे धागे की तरह वरना
हमारे वादे भी कभी ज़ंजीर हुआ करते थे । “

“ऐसा नहीं है कि
सब लोग बदल जाते हैं
कुछ लोग हालात के साँचे में ढल जाते हैं। “

halat shayari girl

“बुरे वक्त में हिम्मत और अच्छे वक्त में
रवैया नहीं बदला करते । “

“छोड़ने वाले छोड़ जाते हैं
मुक़ाम कोई भी हो
निभाने वाले निभा जाते हैं
हालात कैसे भी हों । “

waqt aur halat shayari

“मुश्किलों से कह दो
उलझा न करें हमसे
हमें हर हालात में जीने का
हुनर आता है । “

“फितरत, सोच और हालात में
फर्क होता है
वरना इंसान कैसा भी हो
दिल का बुरा नहीं होता । “

halat badal jate hai shayari

“लोग बुरे नहीं होते,
बस हालात बदल जाते हैं ।
कुछ दृष्टिकोण, कुछ ख्याल बदल जाते हैं । “

“आईना टूट जाने पर चेहरा नहीं बदलता,
अक्स बदल जाते हैं ।
जब ख्यालात मिल नहीं पाते,
लोग बुरे नहीं होते बस हालात बदल जाते हैं । “

halat ke upar shayari

“वक़्त रहता नहीं कहीं टिक कर
आदत इस की भी आदमी सी है “

“सदा ऐश दौराँ दिखाता नहीं
गया वक़्त फिर हाथ आता नहीं “

halat sad shayari in hindi

“इक साल गया इक साल नया है आने को
पर वक़्त का अब भी होश नहीं दीवाने को
इब्न-ए-इंशा “

“अगर फ़ुर्सत मिले पानी की तहरीरों को पढ़ लेना
हर इक दरिया हज़ारों साल का अफ़्साना लिखता है
बशीर बद्र “

halat majburi shayari

“या वो थे ख़फ़ा हम से या हम हैं ख़फ़ा उन से
कल उन का ज़माना था आज अपना ज़माना है
जिगर मुरादाबादी “

“उम्र भर मिलने नहीं देती हैं अब तो रंजिशें
वक़्त हम से रूठ जाने की अदा तक ले गया
फ़सीह अकमल “

halat ki shayari

“गुज़रने ही न दी वो रात मैं ने
घड़ी पर रख दिया था हाथ मैं ने
शहज़ाद अहमद “

“वक़्त बर्बाद करने वालों को
वक़्त बर्बाद कर के छोड़ेगा
दिवाकर राही “

halat e zindagi shayari

“वो वक़्त का जहाज़ था करता लिहाज़ क्या
मैं दोस्तों से हाथ मिलाने में रह गया
हफ़ीज़ मेरठी “

“रोज़ मिलने पे भी लगता था कि जुग बीत गए
इश्क़ में वक़्त का एहसास नहीं रहता है
अहमद मुश्ताक़ “

bure halat shayari

“सफ़र पीछे की जानिब है क़दम आगे है मेरा
मैं बूढ़ा होता जाता हूँ जवाँ होने की ख़ातिर
ज़फ़र इक़बाल “

“तुम चलो इस के साथ या न चलो
पाँव रुकते नहीं ज़माने के
अबुल मुजाहिद ज़ाहिद “

mere halat shayari in hindi

“कोई ठहरता नहीं यूँ तो वक़्त के आगे
मगर वो ज़ख़्म कि जिस का निशाँ नहीं जाता
फ़र्रुख़ जाफ़री “

“हज़ारों साल सफ़र कर के फिर वहीं पहुँचे
बहुत ज़माना हुआ था हमें ज़मीं से चले
वहीद अख़्तर “

“वक्त की धुंध में छुप जाते हैं ताल्लुक,
बहुत दिनों तक किसी की आँख से ओझल ना रहिये।। “

halat se majboor shayari

“आदमी के शब्द नहीं,
वक्त बोलता है।। “

“शाम का वक्त हो और ‘शराब’ ना हो,
इंसान का वक्त इतना भी ‘खराब’ ना हो।। “

majboor halat shayari

“ना हँसना किसी के बुरे वक्त पे दोस्तों,
ये वक्त है जनाब चेहरे याद रखता है।। “

“उलझ गया था तुम्हारे दुपट्टे का कोना मेरी घड़ी से,
वक्त तब से जो रुका है तो अब तक रुका ही पड़ा है।। “

halat par shayari

Halat Shayari

“कभी वक्त निकाल के हमसे बातें करके देखना,
हम भी बहुत जल्दी बातों मे आ जाते है।। “

“उसे शिकायत है कि मुझे बदल दिया वक्त ने,
कभी खुद से भी सवाल करना कि क्या तुम वही हो? “

“वक्त इशारा देता रहा और हम इत्तेफाक समझते रहे,
बस यूँही धोके खाते रहे, और इस्तेमाल होते रहे।। “

halat sad shayari

“वक़्त जब करवटें बदलता है,
फ़ित्ना-ए-हश्र साथ चलता है।।
अनवर साबरी “

“कुछ इस कदर खोये हैं तेरे ख्यालो में,
कोई वक़्त भी पुछता है तो तेरा नाम बता देते हैं।। “

“कौन डूबेगा किसे पार उतरना है ‘ज़फ़र’
फ़ैसला वक़्त के दरिया में उतर कर होगा।।
अहमद ज़फ़र “

sad halat shayari

“जिन किताबों पे सलीक़े से जमी वक़्त की गर्द,
उन किताबों ही में यादों के ख़ज़ाने निकले।। “

“हर वक़्त दिल को जो सताए ऐसी कमी है तू,
मैं भी ना जानू की इतनी क्यूँ लाज़मी है तू।। “

mushkil halat shayari

“वक़्त बर्बाद करने वालों को,
वक़्त बर्बाद कर के छोड़ेगा।।
दिवाकर राही “

“जैसे दो मुल्कों को इक सरहद अलग करती हुई,
वक़्त ने ख़त ऐसा खींचा मेरे उस के दरमियाँ।।
मोहसिन ज़ैदी “

“चेहरा ओ नाम एक साथ आज न याद आ सके,
वक़्त ने किस शबीह को ख़्वाब ओ ख़याल कर दिया।।
परवीन शाकिर “

dil ki halat shayari

“उसकी कदर करने में जरा भी देर मत करना,

जो इस दौर में भी आपको वक्त देता हो।। “

“दिल चाहता है हर वक़्त तेरे सदके उतारता रहूँ,
भला इस कदर भी हसीन होता है महबूब किसी का।। “

mere halat shayari

“कैसे कहूँ कि इस दिल के लिए कितने खास हो तुम,
फासले तो कदमों के हैं पर, हर वक्त दिल के पास हो तुम।। “

buri halat shayari

“पैसा कमाने के लिए इतना वक़्त खर्च ना करो की,
पैसा खर्च करने के लिए ज़िन्दगी में वक़्त ही न मिले।। “