kavita

Poem on Anti Tobacco Day in Hindi – विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर कविता – 31st May World No Tobacco Day Poem in Hindi

Poem on Anti Tobacco Day in Hindi

World No Tobacco Day 2018: हर साल, 31 मई को WHO यानी की विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और उसके साझेदार विश्व तंबाकू दिवस यानी की World No Tobacco Day (WNTD) के लिए प्रचार करते हैं जिसमेतंबाकू के उपयोग से होने वाली स्वास्थ्य सम्बंधित हानियों को उजागर करता है और खपत को कम करने के लिए प्रभावी नीतियों का इस्तेमाल किया जाता है| इस दिन तंबाकू के उपयोग से जुड़े स्वास्थ्य और अन्य जोखिमों को WHO करती है , और तंबाकू की खपत को कम करने के लिए प्रभावी नीतियों की वकालत करते हैं। आइये देखें विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर हिंदी कविता, अंतरराष्ट्रीय तंबाकू निषेध दिवस पर कविता, anti tobacco day poem in hindi आदि |

विश्व तंबाकू निषेध दिवस कब मनाया जाता है

विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2018: विश्व तंबाकू निषेध दिवस 31 मई 2018 को विश्व भर में WHO द्वारा मनाया जाता है| इसके अंतर्गत तम्बाकू के खिलाफ होने वाली बीमारियों के लिए लोगों को जागरूक किया जाता है| इस साल भी ये दिन 31 May 2018, गुरुवार को मनाया जाएगा|

Poem on world no tobacco day in Hindi Font

अक्सर class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7, class 8, class 9, class 10, class 11, class 12 के बच्चो को कहा जाता है विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर कविता लिखें| जिसके लिए हम पेश कर रहे हैं World No tobacco day Par Kavita, World No tobacco day Hindi poem, World No Tobacco Day Essay in Hindi, World anti tobacco day kavita hindi Me. अब हम आपको अंतर्राष्ट्रीय विश्व तंबाकू निषेध दिवस कविता, Shayari on No Tobacco Day in Hindi, World No tobacco day poem in english, world no tobacco day poem, world no tobacco day poem in hindi, World No Tobacco Day Quotes in Hindi, world no tobacco day poems, World No Tobacco Day Images, World No tobacco day poem in telugu, World No tobacco day poem in tamil आदि की जानकारी देंगे|

किसी किराने की दुकान से,
तम्बाकू के पाउच ले आते।
गली-गली में बच्चे दिखते,
खुल्ल्म-खुल्ला गुटखा खाते।

बाली उमर और ये गुट्खा,
कैसे-कैसे रोग बुलाते।
तड़प-तड़पकर निश्छल नन्हे,
हाय मौत को गले लगाते।

ढेरों जहर भरे गुटखों में,
टीबी का आगाज कराते।
और अस्थमा के कंधे चढ़‌,
मरघट तक का सफर कराते।

मर्ज कैंसर हो जाने पर,
लाखों रुपए रोज बहाते।
कितनी भी हो रही चिकित्सा,
फिर भी प्राण नहीं बच पाते।

सरकारी हो-हल्ले में भी,
तम्बाकू को जहर बताते।
पता नहीं क्यों अब भी बच्चे,
गुटखा खाते नहीं अघाते।

वैसे बिलकुल सीधी-सच्ची,
बात तुम्हें अच्छी बतलाते।
जो होते हैं अच्छे बच्चे,
तम्बाकू वे कभी न खाते।

World no tobacco day poem in hindi

31st may world no tobacco day par Kavita

इन वर्ल्ड नो टोबैको डे पोयम्स, तम्बाकू निषेध दिवस पर कविता, world anti tobacco day speech, विश्व तंबाकू निषेध दिवस 31 मई , धूम्रपान विद्यार्थियों और बच्चों के लिए कविता को आप Hindi, English, sanskrit, Tamil, Telugu, Marathi, Punjabi, Gujarati, Kannada, Malayalam, Nepali के Language व Font के अनुसार बधाई सन्देश, Poem के Image आदि जिसे आप whatsapp, facebook व instagram पर अपने groups में share कर सकते हैं| इस साल के साथ वर्ष 2007, 2008, 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017, 2018 का कलेक्शन निचे देखें जिसे आप pdf download भी कर सकते हैं|

सिगार सिगरेट हुक्का बीड़ी तम्बाकू
इतने बुरे हैं जैसे हो कोई डाकू
जो इनको नित खाये ये उसको खा जाएं
ऐसा राक्षस और कौन है आप ही बताएं
फेफड़े आपके काले होकर सड़ेंगे
कैंसर के बुलाये मरीज़ आप बनेंगे
तम्बाकू की लत है मानो आत्महत्या करना
हो स्वस्थ रहना तो इस चक्कर में न पड़ना
-अनुष्का सूरी

Poem on anti tobacco day in english

Let’s check Effects of smoking on liver in Hindi, adverse effects of smoking on lungs in hindi in Urdu, Hindi, Gujarati, Nepali, Bengali, Bangla, Marathi, Malayalam, Kannada, Telugu, Punjabi & Haryanavi which can be downloaded in PDF format for school kids for their presentations or school function assembly and prayer.

I’m lighting up another cigarette,
Blowing out the light, looking degenerate.

In your eyes, I’m doing all the wrong things,
I’m trying to forget the promises you made, stuff that stings.

Don’t think of smoking as a habit of mine,
I’m burying one pain under another and acting fine.

This is your thoughts running in my mind,
I’m just burning them and giving the inferno wind.

I’m in pain, heartbroken and shattered.
Result of being in love like nothing else mattered.

If you feel the pain, then come to me, get close,
Hold me for the first and last time, before I lose.

My eyes are moist, mind’s a mess.
I’m making others laugh, nonetheless.

I’ve lost my life, I draw regret.
I’m lighting up another cigarette.

वर्ल्ड नो टोबैको डे कविता

खैनी, गुटखा, ज़र्दा, पान मसाला…
पैकेट खोल फट से मुँह में डाला ,
सस्ता सा “नशा” ….मगर होती है शान,
हाँ ,मैं भी रखता हूँ ….ऐब में अपना एक नाम ।

धीरे-धीरे उस एक रूपए के Pouch ने ,
ऐसा रस घोला मेरे Mouth में ,
खाली-खाली सा कुछ लगता है ,
जब पैकेट से मुँह नहीं भरता है ।

एक अलग सी महक ….एक अलग सा सुकूँ ,
क्या हर्ज़ है इसमें …जो मैं इसको चबा लूं ?
लड़की,दारु का शौक नहीं मुझे ,
सिर्फ तम्बाकू की लत से ही तो दिन बुझे ।

अब जवानी की उम्र में भी ….गर कोई शौक न किया ,
तो क्या बुढ़ापे में चबायेंगे ….तम्बाकू की पुड़िया ?
इसी अदा पर तो मेरी ……वो नाज्नीने मरा करती हैं ,
जब दांतों तले पान -मसाले की …..महक से वो निखरती हैं ।

खैनी रगड़ कर जैसे ही ……..जुबां के नीचे रखता हूँ ,
त्यौहार मनाने का दुगना मज़ा ……….अपनी धमनियों में भरता हूँ ,
“ज़र्दे” की डिबिया से ……..बढ़ती है मेरे कोट की शान ,
“पान -मसाला ” Serve करते ही …..पार्टी में हो जाती एक पहचान ।

लम्बे-लम्बे से कश ……जब “सिगरेट ” के जलते हैं ,
कॉलेज की कैंटीन में …….लड़कियों के दिल मचलते हैं ,
वो रह-रह के ……धुओं के छल्ले उड़ाना ,
सिगरेट पीने का तरीका …अपने जूनियर्स को सिखाना ।

उम्र चौबीस की ….. जैसे ही मेरी आयी ,
मैं डॉक्टर के पास पहुंचा …. लेने दवाई ,
भूख लगना …… एकदम बंद सा हो गया था,
हर खाने का स्वाद …..बेस्वाद हो गया था ।

मुँह को खोला जब …….तो दाँत गल गए थे ,
जुबान पर तम्बाकू के ………निशान छप गए थे ,
गालों में बच रहा था …..सिर्फ कुछ चमड़ी का नज़ारा ,
माँ रो रही थी कि बचा लो इसे ……….ये मेरा “लाल” है प्यारा ।

“Oral Cancer ” का नाम ……जैसे ही डॉक्टर ने सुनाया ,
मेरे पैरों तले की धरती में ……मानो भूचाल आया ,
अभी तो इतने सपने …..बाकी थे मेरे ,
कैसे छूट गए अधूरे ……वो बिन पढ़े फेरे ।

क्यूँ इस तम्बाकू को …..मैंने गले लगाया ?
अपनी ही कश्ती को ………पानी में डुबाया ,
जीवन जीने की चाह ……एक ओर तलबगार थी ,
दूसरी ओर मृत्यु …..मेरे सर पर सवार थी ।

तीन महीने बिस्तर पर …..मैं तिल -तिल कर मरता रहा ,
अपने अंतिम क्षणों में ……अपनी नासमझी की कीमत भरता रहा ,
बेज़ार पड़ा बिस्तर पर ……..बस यही एक लेख लिख पाया हूँ ,
“Oral Cancer” को मत दो दावत …..जिससे मैं अब तक न उभर पाया हूँ ।

बहुत से सपने टूट गए ……बहुत सी उम्मीदें बह गईं ,
परिवार के लिए न कर सका कुछ ……उसकी सूनी माँग भी भरने से रह गयी ,
जलाओ जब भी मुझे तुम ……..शमशान में ले जाकर ,
एक तस्वीर खींच लेना …..मेरे खुले हुए मुँह की ….जनता को दिखाकर ।।

A Message To All

World no tobacco day poem in hindi

आइये देखें hindi poems on anti smoking, poem on no smoking in hindi, poem on cigarette smoking in hindi, tobacco poem rhyme, Tobacco Poetry Poems, बालगीत, Poems in Hindi on No-Tobacco Day, few lines on World No Tobacco Day in hindi, poem on nasha mukti in hindi, shayari on no tobacco in hindi, poem on drug addiction in hindi व tambaku nished divas par kavita.

फिर एक सिगरेट जला रहा हु,
फिर एक तीली बुझा रहा हु.

तेरी नज़र में मै बिगड़ रहा हु.
मैं तो तेरे वादे भुला रहा हु.

समझना मत इसको मेरी आदत,
मैं तो बस एक दर्द को दुसरे से दबा रहा हु.

ये तेरी यादो के सिलसिले है,
मैं तेरी यादे जला रहा हु.

मैं घायल, इतना टूट चूका हु,
के ग़म के किस्से सुना रहा हु.

अगर तुम्हे भी ग़म है तो पास आओ,
पहली और आखरी बार गले लगाओ.

है मेरी आँखें तो आज नम,
मगर मैं सबको हंसा रहा हु.

खो कर अपनी जिंदगी..
फिर एक सिगरेट जला रहा हु.

English Font

Phir ek cigaret jala raha hu,
Phir ek teeli bujha raha hu.

Teri nazar me main bigad raha hu,
Main to tere vaade bhula raha hu.

Samajhna mat isko meri aadat,
Main to bas ek dard ko dusre se daba raha hu.

Ye teri yaado ke silsile hai,
Main teri yaade jala raha hu.

Main ghaayal, itna tuut chuka hu,
Ke gham ke kisse suna raha hu.

Agar tumhe bhi gham hai to paas aao,
Pehli aur aakhri baar gale lagao.

Hai meri aankhen to aaj nam,
Magar main sabko hansa raha hu,

Kho kar apni ZINDAGI..
Phir ek cigaret jala raha hu

World no tobacco day poem in Urdu

क्यों मौत बुला रहे हो?

क्यों कश लगा रहे हो,
धुआं उड़ा रहे हो।
अपने आप अपनी,
क्यों मौत बुला रहे हो।।

क्यूं यार मेरे खुद ही,
खुद का गला दबा रहे हो।

अनमोल जिंदगी है,
बर्बाद न कीजिए।
उसके बदले सुबह-शाम,
दूध पीजिए।।

औरों को बुरी लत का,
नशेड़ी बना रहे हो।

40 की उम्र पार करते,
खांसी सताएगी।
दम उखड़ जाएगी,
जिंदगी रुलाएगी।।

फोकट में यार अपनी,
सेहत गला रहे हो।।

Poem on anti tobacco day in Punjabi

  1. “तंबाकू छोड़ना इस दुनिया का सबसे आसान कार्य है। मैं जानता हूँ क्योंकि मैंने ये हजार बार किया है।”- मार्क तवैन
  2. “तंबाकू मारता है, अगर आप मर गये, आप अपने जीवन का बहुत महत्वपूर्ण भाग खो देंगे।”- ब्रुक शील्ड
  3. “तंबाकू का वास्तविक चेहरा बीमारी, मौत और डर है- ना कि चमक और कृत्रिमता जो तंबाकू उद्योग के नशीली दवाएँ बेचने वाले लोग हमें दिखाने की कोशिश करते हैं।”-डेविड बिर्न
  4. “ज्यादा धुम्रपान करना जीवित इंसान को मारता है और मरे सुअर को बचाता है।”- जार्ज डी प्रेंटिस
  5. “सिगरेट छोड़ने का सबसे अच्छा तरीका है तुरंत इसको रोकना- कोई अगर, और या लेकिन नहीं।”- एडिथ जिट्लर
  6. “सिगरेट हत्यारा होता है जो डिब्बे में यात्रा करता है।”- अनजान लेखक
  7. “तंबाकू एक गंदी आदत है जैसे कथन के लिये मैं समर्पित हूँ।”- कैरोलिन हेलब्रुन

विश्व तंबाकू निषेध दिवस थीम – World No Tobacco Day Theme 2018

विश्व तंबाकू निषेध दिवस को पूरे विश्व भर में प्रभावशाली तरीके से मनाने के लिये, अधिक जागरुकता के लिये लोगों में एक वैश्विक संदेश फैलाने के लिये केन्द्रिय अंग के रुप में हर साल एक खास विषय का डबल्यूएचओ चुनाव करता है। विश्व तंबाकू निषेध दिवस के उत्सव को आयोजित करने वाले सदस्यों को इस विषय पर दूसरे प्रचारक वस्तुएँ जैसे ब्रौचर, पोस्टर, फ्लायर्स, प्रेस विज्ञप्ति, वेबसाइट्स आदि भी डबल्यूएचओ के द्वारा उपलब्ध कराया जाता है।

1987 से लेकर 2014 के विषय (थीम) वर्ष के आधार पर दिये गये हैं:

वर्ष 1987 का थीम था “प्रथम धुम्रपान रहित ओलंपिक (1988 ओलंपिक शीत ऋतु- कैलगैरी)।”

वर्ष 1988 का थीम था “तंबाकू या स्वास्थ्य: स्वास्थ्य को चुनें।”

वर्ष 1989 का थीम था “तंबाकू और महिलाएँ: महिला धुम्रपान करने वाली: जोखिम को बढ़ाती हुयी।”

वर्ष 1990 का थीम था “बचपन और युवा बिना तंबाकू के: बिना तंबाकू के बड़ा होना।”

वर्ष 1991 का थीम था “सार्वजनिक स्थल और परिवहन: तंबाकू मुक्त बेहतर होता है।”

वर्ष 1992 का थीम था “तंबाकू मुक्त कार्यस्थल: सुरक्षित और स्वास्थ्यकर।”

वर्ष 1993 का थीम था “स्वास्थ्य सेवा: एक तंबाकू मुक्त विश्व लिये हमारी खिड़की।”

वर्ष 1994 का थीम था “मीडिया और तंबाकू: संदेश को सभी ओर भेजो।”

वर्ष 1995 का थीम था “आपकी सोच से ज्यादा होता है तंबाकू की कीमत।”

वर्ष 1997 का थीम था “तंबाकू मुक्त विश्व के लिये एकजुट हों।”

वर्ष 1998 का थीम था “तंबाकू के बिना बड़ा होना।”

वर्ष 1999 का थीम था “डिब्बे को पीछे छोड़ो।”

वर्ष 2000 का थीम था “तंबाकू मारता है, बेवकूफ मत बनो।”

वर्ष 2001 का थीम था “दूसरों से प्राप्त धुँआ मारता है।”

वर्ष 2002 का थीम था “तंबाकू मुक्त खेल।”

वर्ष 2003 का थीम था “तंबाकू मुक्त फिल्म, तंबाकू मुक्त फैशन।”

वर्ष 2004 का थीम था “तंबाकू और गरीबी, एक पापमय वृत।”

वर्ष 2005 का थीम था “तंबाकू के खिलाफ स्वास्थ्य पेशेवर।”

वर्ष 2006 का थीम था “तंबाकू: किसी भी रुप या वेश में मौत।”

वर्ष 2007 का थीम था “अंदर से तंबाकू मुक्त।”

वर्ष 2008 का थीम था “तंबाकू मुक्त युवा।”

वर्ष 2009 का थीम था “तंबाकू स्वास्थ्य चेतावनी।”

वर्ष 2010 का थीम था “महिलाओं के लिये व्यापार पर जोर के साथ लिंग और तंबाकू।”

वर्ष 2011 का थीम था “तंबाकू नियंत्रण पर डबल्यूएचओ रुपरेखा सम्मेलन।”

वर्ष 2012 का थीम था “तंबाकू उद्योग हस्तक्षेप।”

वर्ष 2013 का थीम था “तंबाकू के विज्ञापन, प्रोत्साहन और प्रायोजन पर बैन।”

वर्ष 2014 का थीम था “तंबाकू पर ‘कर’ बढ़ाओ।”

वर्ष 2015 का थीम था “तंबाकू उत्पादों के अवैध व्यापार को रोकना।”

Related Search:
slogan, alcohol tobacco, telugu, hindi, say no to plastic drawing, biodiversity, negative impact, danger epidemic, stop child labour, nasha mukti, dhumrapan, 31 may, school, high school, india, easy, today, handmade, drawing, painting, packaging, tobacco free, tambaku, tobaco, drug abuse, cancer, drug addiction, tobacco use, simple, tobacco consumption, tobacco promotion, vyasan mukti, world health days, tobacco control, tobacco kills, smoke free, tobacco effect, ban tobacco, non smoking, national smokeout, nished, stop tobacco, competition, smoking clipart, life day, disadvantage

Leave a Comment