Hindi Shayari

Martyrs Day 2020 – शहीद दिवस शायरी – Shahid Diwas Shayari

शहीद दिवस शायरी

भारत में शहीद दिवस 23 March और 30 January के साथ-साथ कई अन्य दिनांक पर भी Shahed Diwas मनाया जाता है। भारत के इतिहास का 23 March के दिन को काला दिन भी कहा जाता है। क्यूंकि भारत के तीन सवतंत्रता सेनानी शिवराम Rajguru, Bhagat Singh और Sukhdev थापर को 23 March के दिन ब्रिटिश सरकार के द्वारा फाँसी की सजा दी गयी थी। इन तीनों सवतंत्रता सेनानियों ने बिना हिचकिचाए एवं बिना झिझक के देश की आजादी के लिए अपने प्राणों का बलिदान दे दिया था।

इस 23 मार्च के दिन को बलिदान दिवस के नाम से भी जाना जाता है। इसके साथ 30 January को महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) को गोली मारकर हत्या कर दी हाई थी। Mohandas Karamchand जी ने भी भारत देश को आजादी दिलाने के लिए अनेकों आंदोलन चलाये थे। इसलिए आज हम इन सभी सवतंत्रता सेनानियों की एक बार फिर से याद दिलाने के लिए कुछ शहीद दिवस शायरी इन हिंदी में प्रस्तुत कर रहे है।

Shahid Diwas Shayari in Hindi


मुकम्मल है इबादत और मैं वतन ईमान रखता हूँ वतन की शान की खातिर हथेली पर जान रखता हूँ क्यों पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा किसी और का देशभक्त हूँ दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ
Click To Tweet


ना पूछो जमाने को क्या हमारी कहानी है हमारी पहचान तो सिर्फ ये है की हम सिर्फ हिन्दुस्तानी है
Click To Tweet


जब तुम शहीद हुए थे तो ना जाने कैसे तुम्हारी माँ सोई होगी एक बात तो तय है तुम्हे लगने वाली गोली भी सौ बार रोई होगी
Click To Tweet


फौजियों के लिए शहीद दिवस पर शायरी मेरी जिंदगी में सरहद की कोई शाम आए काश मेरी जिंदगी मेरे वतन के काम आए ना खौफ है मौत का ना आरजू है जन्नत की ख्वाईश बस इतनी सी है जब भी जिक्र हो शहीदों का तो मेरा भी नाम आए
Click To Tweet


लिख रहा हूँ मैं अंजाम जिसका कल आगाज आएगा मेरे लहू का हर कतरा इंकलाब लाएगा मैं रहू या ना रहूँ पर एक वादा है तुमसे मेरा की मेरे बाद वतन पे मरने वालो का सैलाब आएगा
Click To Tweet

बलिदान शायरी

Jo desh ke liye…


यहाँ आरती है अज़ान है, हिन्दू हैं मुसलमान हैं गर्व है मुझे इस देश पर क्यूंकि ये मेरा हिन्दुस्तान है
Click To Tweet


आओ झुक कर सलाम करे उनको जिनके हिस्से मे ये मुकाम आता है खुसनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है जय हिन्द जय शहीद
Click To Tweet


लड़े वो वीर जवानों की तरह ठंडा खून भी फौलाद हुआ मरते – मरते भी कई मार गिराए तभी तो देश आजाद हुआ
Click To Tweet


लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा, मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि, मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा।
Click To Tweet


जब देश में थी दिवाली….. वो खेल रहे थे होली… जब हम बैठे थे घरो में…… वो झेल रहे थे गोली… क्या लोग थे वो अभिमानी… है धन्य उनकी जवानी… जो शहीद हुए है उनकी… ज़रा याद करो कुर्बानी… ए मेरे वतन के लोगो… तुम आँख में भर लो पानी… देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet


मन को खुद ही मगन कर लो, कभी-कभी शहीदों को भी नमन कर लो। देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet


वतन की मोहब्बत में खुद को तपाये बैठे है, मरेगे वतन के लिए शर्त मौत से लगाये बैठे हैं। देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet


मुझे तन चाहिए, ना धन चाहिए, बस अमन से भरा यह वतन चाहिए जब तक जिन्दा रहूं,इस मातृ-भूमि के लिए और जब मरू तो तिरंगा कफ़न चाहिये। देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet

Shahidi Shayari Image

शहीद दिवस पर शायरी इन हिन्दी

Mera rang de basanti…

शहीदी शायरी

Senkdo parinday asmaan…

आप इस Best Shaheed Diwas Shayari Collection को Instagram एवं Facebook के जरिये अपने Friends और Relatives के साथ साँझा कर सकते है। इसके साथ ही आप इन Sahidi Shayari या इन शेरो शायरी को Internet के माध्यम से हिंदी के साथ-साथ अन्य भाषाओँ में भी पढ़ सकते है।

Shayari on Shaheed Diwas


वतन वालो वतन ना बेच देना ये धरती ये चमन ना बेच देना शहीदों ने जान दी है वतन के वास्ते शहीदों के कफन ना बेच देना
Click To Tweet


तिरंगे में लिपटी लाशो में दी थे नाम एक था अली तो एक था श्याम हिंदुस्तान-ए-मोहब्बत में दोनों ने दी थी जान फिर भी हमने उनको बांट दिया कहकर हिंदू और मुसलमान
Click To Tweet


इतनी सी बात हवाओ को बताये रखना रौशनी होगी चिरागो को जलाये रखना लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने ऐसे तिरंगे को हमेशा अपने दिल मे बसाये रखना
Click To Tweet


जशन आज़ादी का मुबारक हो देश वालो को, फंदे से मोहब्बत थी हम वतन के मतवालो को !!
Click To Tweet

Balidan Shayari in hindi

२ लाइन शायरी

Tere vaade par…


ज़माने भर मे मिलते है आशिक कई मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता नोटों मे लिपट कर, सोने मे सिमटकर मरे है कई मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता देश के शहीदो को नमन जय हिन्द जय शहीद
Click To Tweet


चलो फिर से आज वो नजारा याद कर ले शहीदों के दिल में थी जो ज्वाला वो याद कर ले जिसमे बहकर आजादी पहुंची थी किनारे पे देशभक्तों के खून की वो धरा याद कर ले
Click To Tweet


इतनी सी बात हवाओ को बताए रखना रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने ऐसे तिरंगे को हमेशा अपने दिल में बसाए रखना
Click To Tweet


कभी कड़ाके की ठंड में ठिठुर के देखना कभी तपती धुप में चल के देखना कैसे होती है हिफाजत अपने देश की जरा सरहद पर जाकर देखना
Click To Tweet


शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले, वतन पर मरने वालों का यही बाकी निशां होगा, अमर शहीद भगत सिंह, सुखदेव व राजगुरु के बलिदान दिवस पर, कोटि-कोटि नमन
Click To Tweet


करता हूँ भारत माता से गुजारिश कि तेरी भक्ति के सिवा कोई बंदगी न मिले, हर जनम मिले हिन्दुस्तान की पावन धरा पर या फिर कभी जिंदगी न मिले। देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet


ऐ वतन ऐ वतन हमको तेरी क़सम, तेरी राहों मैं जां तक लुटा जायेंगे; फूल क्या चीज़ है तेरे कदमों पे हम, भेंट अपने सरों की चढ़ा जायेंगे। देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet


खून से खेलेंगे होली अगर वतन मुश्किल में है, सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है। देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet

2 Line Shaheed Divas Shayari

भगत सिंह शायरी

Itni si baat hawao…


यहाँ आरती है अज़ान है, हिन्दू हैं मुसलमान हैं गर्व है मुझे इस देश पर क्यूंकि ये मेरा हिन्दुस्तान है
Click To Tweet


प्रेम गीत कैसे लिखूँ, जब चारो तरफ गम के बादल छाये है नमन है उन वीर शहीदों को, जो तिरंगा ओढ के आए है
Click To Tweet


अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ भुला नहीं सकते सर कटा सकते है लकिन सर झुका नहीं सकते जय हिन्द जय भारत
Click To Tweet


सीनें में ज़ुनून ऑखों में देंशभक्ति की चमक रखता हुँ दुश्मन के साँसें थम जाए, आवाज में वो धमक रखता हुँ
Click To Tweet


मैं जला हुआ राख नहीं, अमर दीप हूँ जो मिट गया वतन पर मैं वो शहीद हूँ
Click To Tweet


दुश्मन की गोलियों का सामना कर लेंगे हम आजाद है और आजाद ही रहेंगे
Click To Tweet


मिटा दिया है वजूद उनका जो भी इनसे भिड़ा है देश की रक्षा का संकल्प लिए जो जवान सरहद पर खड़ा है
Click To Tweet


सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है
Click To Tweet


जो वादे लिए थे मैंने तुमसे, क्या उन पर कभी तुम चलते हो; फिर बोलो किस मुहं से, मेरा जन्म दिवस मनाते हो। देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet


सैकड़ो परिंदे आसमान पर आज नज़र आने लगे, शहीदो ने दिखाई है राह उन्हें आजादी से उड़ने की। देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet


यदि प्रेरणा शहीदों से नहीं लेंगे तो ये आजादी ढलती हुई साँझ हो जायेगी, और पूजे न गए वीर, तो सच कहता हूँ कि नौजवानी बाँझ हो जायेगी। देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet


सर फ़रोशाने वतन फिर देखलो मकतल में है, मुल्क पर कुर्बान हो जाने के अरमां दिल में हैं। देश के शहीदो को नमन।
Click To Tweet

Leave a Comment