Essay in Hindi - निबंध Hindi Lekh

Holi Safety Tips – How to Play Holi ? – Essay on Safe Holi

Holi Safety Tips

भारत में अनेकों पर्व मनाये जाते है। जिसमे से एक पर्व होली है। यह भारत का प्रसिद्ध त्यौहार है जिसे लोग हर साल बड़े जोश के साथ मानते है। लेकिन वह इस त्यौहार को मानते समय कुछ सावधानियों को भूल जाते है और उन्हें इसका ख़ामियाजा भुगतना पढ़ता है। इसलिए आज हम इस Holi Aayi Re Nibandh के माध्यम से Best Holi Safety Tips in Hindi जैसे की Holi Tips for Skin, Playing Holi Safely और Holi Tips for Eyes आदि के बारे में जानकारी प्रस्तुत कर रहे है। हम आपको  होली खेलने के कुछ सुरक्षित तरीके इसके साथ ही Instructions के बारे में भी बताएंगे।

प्रस्तावना | Preface

हर वर्ष होली को पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। यह फागुन यानि मार्च के महीने में मनायी जाती है। होली को मानाने के पीछे एक कथा भी है। “प्राचीन काल में हिरण्यकश्यप नाम का असुर था और उसकी होलिका नाम की एक बहन थी। हिरण्यकश्यप अपने आप को भगवान् मानता था। यही बात उसने अपने पुत्र प्रह्लाद को मानने के लिए कहा। लेकिन उसका पुत्र भगवान् विष्णु जी का परम भक्त था और उस्सने यह बात नहीं मानी तो हिरण्यकश्यप ने पुत्र प्रह्लाद को मृत्यु दंड की सजा दी। उसकी बहन को आग से न जलने का वरदान प्राप्त था। उसने अपनी बहन को कहा कि वह उसे आज से जलाकर भस्म कर दे। होलिका पुत्र प्रह्लाद अपनी गोद में लेकर लकड़ी से बनी चिता में बैठ गयी। किन्तु भगवान् विष्णु जी की कृपा से पुत्र प्रह्लाद बच गए और होलिका में जलकर भस्म हो गयी।” इस प्रकार बुराई पर अच्छाई की जीत हुई और इस दिन के बाद से प्रति वर्ष होली मनायी जाने लगी। होली पर्व सही मायने में भारतीय संस्कृति का प्रतीक माना जाता है एवं होली का त्यौहार अनेकता में एकता को भी दर्शाता है।

Top 10 Holi Safety Tips and Tricks

10 Holi Safety Tips and Tricks

  • होली पर Organic Colors का इस्तेमाल न करें। होली खेलने के दौरान Ecofriendly रहे। जिससे प्रकृति को किसी भी प्रकार की हानि न हो।
  • उत्सव के पहले और बाद में पानी पीकर हाइड्रेटेड रहें। पानी हानिकारक रसायनों को त्वचा में अवशोषित होने से बचाता है और अतिरिक्त विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने में भी मदद करता है।
  • भोजन के माध्यम से होली के रंगों को अपने सिस्टम में जाने से बचाने के लिए खाने के लिए अपनी उंगलियों का उपयोग करने से बचें। वर्ष के इस समय के दौरान बदलती मौसम की स्थिति आपको सर्दी और खांसी के प्रति अधिक संवेदनशील बना सकती है। ऐसे पेय और भोजन से बचें जो बहुत ठंडे हों। इसके बजाय गुनगुने पानी का Use करें।
  • अगर आप अस्थमा के शिकार हैं या धूल और पराग से एलर्जी है तो सूखे रंगों से बाहर खेलने से बचें।
  • Use Natural Colors for child बच्चों के लिए हल्दी, गेंदे के फूल या हर्बल रंगों का उपयोग करके घर पर रंग बनाने की कोशिश करें या फिर हर्बल फार्मूले खरीदें। हल्के लाल या गुलाबी रंगों का अधिक प्रयोग करें, जो देखने में अच्छे लगते हैं और आसानी से Remove किए जा सकते हैं। चमकीले बैंगनी, हरे, पीले और नारंगी रंगों से बचें क्योंकि इनमें हानिकारक तत्व होने की संभावना अधिक होती है।
  • रंग से छुटकारा पाने के लिए कठोर साबुन का उपयोग करने से बचें। अपनी त्वचा के लिए एक हल्के साबुन और अपने बालों के लिए कंडीशनर के बाद शैम्पू का उपयोग करें। मिट्टी को हटाने के लिए मिट्टी के तेल, पेट्रोल और स्प्रिट के इस्तेमाल से बचें, क्योंकि वे त्वचा को और शुष्क कर देंगे।
  • होली का आधिकारिक पेय, भांग, जब बड़ी मात्रा में सेवन किया जाता है, तो रक्तचाप में वृद्धि और हृदय गति में वृद्धि हो सकती है। मॉडरेशन में पिएं और इसे शराब के साथ मिलाने से बचें।
  • जलन या खुजली का अनुभव करने वाले किसी भी अंग से तुरंत रंग धो लें। एक सुखदायक कैलामाइन लोशन या मुसब्बर जेल का इस्तेमाल करें और धूप से बचें क्योंकि यह जलन बढ़ाता है।
  • हमारे प्राकृतिक संसाधनों का सम्मान करें और बहुत अधिक पानी बर्बाद करने से बचें। दूर से पानी के गुब्बारे फेंकने से बचें क्योंकि वे किसी को घायल कर सकते हैं।
  • जीवन के सभी रूपों का सम्मान करें और सड़क के जानवरों और पालतू जानवरों पर रंग डालने से बचें। यह उनके लिए बेहद हानिकारक है और क्रूरता की मात्रा है।

होली खेलने के सुरक्षित उपाय | Important Safety Measures that can be taken to make Holi a Safe Festival

eco safe holi

त्वचा के लिए होली टिप्स | Holi Tips for Skin

अपने चेहरे, हाथ, पैर और त्वचा के किसी भी उजागर हिस्से पर एक सामान्य मात्रा में मॉइस्चराइजिंग लोशन या तेल लगाएँ। अपनी त्वचा को सूरज की क्षति से बचाने के लिए वाटरप्रूफ सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें। बहुत सारे मॉइस्चराइज़र या बेसन (बेसन) और दही या क्रीम (मलाई) के होममेड फेस पैक के साथ उत्सव के बाद अपनी त्वचा को फिर से जीवंत और फिर से जीवंत करें। एक तेल मालिश (नारियल, जैतून या सरसों का तेल), बहुत सारा पानी और एक अच्छी मात्रा में आराम आपको बाद की तुलना में जल्दी में होना चाहिए।

आँखों के लिए होली टिप्स | Holi Tips for Eyes

धूप का चश्मा लगाकर अपनी आंखों की सुरक्षा करें और बाहर की तरफ निकलने से पहले कॉन्टैक्ट लेंस हटा दें। यदि रंग आंखों में प्रवेश करता है, तो उन्हें तुरंत ठंडे पानी से पानी के छपते मारकर साफ़ करें और आँखों में गुलाब जलकर कुछ समय आराम करें।

कपड़ों के लिए होली टिप्स | Holi Tips for clothes

आपकी त्वचा आपका सबसे बड़ा अंग है और इसे सिंथेटिक रंगों से बचाना महत्वपूर्ण है, जिसमें अक्सर काले रंग में लेड ऑक्साइड, लाल रंग में मरकरी सल्फाइड, चांदी में एल्युमिनियम ब्रोमाइड और हरे रंग में कॉपर सल्फेट होता है। ये आसानी से त्वचा में प्रवेश कर सकते हैं जिससे विभिन्न स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए, ऐसे कपड़े पहनें जो आपके शरीर को अधिक से अधिक कवर कर सके।

कानों के लिए होली टिप्स | Holi Tips for Ears

होली के खेलने के दौरान होली के रंगों का कानों में प्रवेश न होने दे और इसको रोकने के लिए आप Ear Plugs या Cotton का उपयोग भी कर सकते है।

बालों के लिए टिप्स | Holi Tips for Hairs

होली के रंगों के कारण बाल भंगुर, घुंघराले और बेहद शुष्क हो सकते हैं। स्कैल्प और बालों की तेल से मालिश करके अपने बालों को हानिकारक रसायनों, गंदगी और धूल से बचाएं। होली खेलने के लिए निकलने से पहले एक टोपी या टोपी पहनें।

निष्कर्ष | Conclusion

होली का यह त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत प्रतीक है। इस Festival से हमें यह सीख मिलती है कि कभी भी किसी को अहंकार नहीं करना चाहिए क्योंकि अहंकार मनुष्य की सोचने की छमता को कम कर देता है और सभी को बुराइयों को छोड़कर अच्छाई को अपने जीवन में अपनाना चाहिए इसके साथ ही सभी को होली का त्यौहार अपने मित्र व परिवार के साथ शान्तिपूर्वक मनाना चाहिए।

Leave a Comment