Informational

Saal ka Sabse Bada Din Kab Hai ? – Longest Day of the Year in Hindi

जैसा की हम जानते है की सर्दियों और गर्मियों में बहुत अंतर होता है| हम सब लोग महसूस करते है की सर्दियों में दिन जल्दी ढल जाता है और गर्मियों में दिन देरी तक ढलता है| इसके पीछे विज्ञान है| बहुत से लोगो का और वैज्ञानिको का यह कहना है की गर्मियों में आसमान में सूर्य का प्रभाव ज्यादा होने के कारण गर्मियों के दिन लम्बे होते है| हमारी पृथ्वी कुल एक वर्ष में यानिकि 365 दिनों में ब्राह्माण का एक चक्कर लगाती है जिसमे उसकी दिशा बदलती रहती है|

Saal Ka Sabse Bada Din

इस साल का भी सबसे गरम व लम्बा दिन 21 june 2018 है| गर्मियों के महीने में धरती का नॉर्थन हेमिस्फेयर सबसे ज्यादा ग्र्राम रहने वाला हेमिस्फेयर है जो की सबसे ज्यादा समय के लिए गरम रहता है| सोल्स्टिस एक ऐसी घटना है जो की साल में दोबार होती है एक बार सर्दियों में और एक बार गर्मियों में| जो लोग भी नार्थ हेमिस्फेयर में रहते है उनको बताना चाहेंगे की साल का सबसे बड़ा दिन 21 जून को आता है और सबसे छोटा दिन 21 दिसंबर को आता है| जैसा की हम जानते ही है की जब सूर्य उत्तर दिशा से निकलता है और दक्षिण में ढलता है तो उसके बीच के समय सामान्य नहीं होता| जैसे जैसे हमारी धरती बरमान के चक्कर लगाती रहती है तो प्रति दिन उसमे कुछ मिली सेकण्ड्स का फरक आने लग जाता है|

साल का सबसे बड़ा दिन

इसके कारण ही गर्मियों में दिन लम्बे और रात छोटी होती है| आज के इस पोस्ट में हम आपको saal ka sabse bada din kab hota है, साल का सबसे बड़ा दिन होता है, saal ka sabse bada din 2017, saal ka sabse bada din kon sa h, साल का सबसे बड़ा और छोटा दिन, साल का सबसे बड़ा दिन कौन सा होता है, saal ka sabse bada din kon sa hota hai, आदि की जानकारी देंगे|

Longest day of the year in Hindi

गर्मियों का प्रभाव सबसे ज्यादा सुब ट्रॉपिकल देशों में देखा जाता है जैसे भारत| इन देशो में गर्मी का स्तर बढ़ता जाता है| समर सोल्स्टिस एक ऐसा दिन है जो की पूरे साल का सबसे गरम और सबसे लम्बा दिन होता है| वैज्ञानिको के अनुसार समर सोल्स्टिस का प्रभाव इसलिए भी ज्यादा होता है क्युकी इस समय सूरज की किरनो का तेज नार्थ होराइजन में बहुत तेज़ होता है जिसके कारण सूर्य का प्रकाश बहुत देर तक कायम रहता है|

Saal Ka Sabse Bada Din Kon Sa Hai

लम्बा दिन एक अलग कथन है समर सोल्स्टिस से| समर सोल्स्टिस एक प्रकार की वार्षिक घटना है जो की हर साल घटती है| यह साल में दो बार घटती है एक गर्मियों में और एक सर्दियों में| गर्मियों के समय नार्थ हेमिस्फर को सबसे तेज़ सूर्य की किरणे मिलती है जो की 23.4 डिग्री होती है| 21 जून नॉर्थन हेमिस्फेयर का ऐसा दिन है जो की सामान्य से लगभग 40 मिनट लम्बा दिन होता है| समर सोल्स्टिस का कोई निचित दिन नहीं होता| यह हर देश में अलग अलग दिन पढता है| भारत में ये 21 जून को आता है| वैज्ञानिको की माने तो साल में 6 दिन ऐसे होते है जो की सबसे बड़े होते है जिसमे समर सोल्स्टिस सबसे गरम और लम्बा दिन माना जाता है|

Leave a Comment