Sarkari Yojana

(PMGSY) Pradhanmanti Gram Sadak Yojana – प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना

pradhan-mantri-gram-sadak-yojana

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना 25 दिसम्बर 2000 को उस समय रहे भारत के प्रधान मंत्री Shree Atal Bihari Vajpayee के द्वारा शुरू की गई । Central government द्वारा चालू की गई ये योजना राष्ट्रीय स्तर पर लागू की गई है । देश के पहाड़ी और रेगिस्तानी इलाकों में अनेक ऐसी जगह है जहां यातायात का उचित प्रबंध नहीं है ना ही आने जाने के लिए सड़के है , इस scheme को ऐसे ही  500 से अधिक आबादी वाले गांवों ,छोटे  कस्बों , तलूकों को सड़क से जोड़ने के लिए बनाया गया है । जिससे लोगों को एक जगह से दूसरी जगह आने – जाने मुश्किलों का सामना न करना पड़े। P M Gram Sadak योजना की Information in Hindi में पाने के लिए आगे पढ़िये ।

Union budget 2020 में देश की Finance minister निर्मला सीता रमण ने ग्रामीण सड़कों के लिए 80,000 के खर्च की घोषणा की है । वित्त मंत्री द्वारा इस प्रधान मंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तीसरे चरण ( pmgsy-iii ) के लिए  1.25 लाख सड़कों को upgrade करने के लिए 80 हजार का बजट पास किया गया है ।

 उद्देश्य ( Aim Of P M Gram Sadak Yojana )

  • इस योजना के अंतर्गत 6 साल से कम पुरानी सड़कों की मरम्मत और 6 साल से ज्यादा पुरानी सड़कों को दुबारा बनने का लक्ष्य रखा गया ।
  • जो गाँव 500 से अधिक आबादी वाले है उनको pradhan mantri सड़क योजना द्वारा जोड़ा जाएगा ।
  • जो भी सड़के इस योजना के अंतर्गत बनाई जाएंगी उनकी रख -रखाव की जिम्मेदारी भी इस योजना का एक अंग है । इसकी जिम्मेदारी ग्रामीण विकास मंत्रालय के साथ साथ , राज्य की सरकारों को दी गई है ।

प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना में किन -किन राज्यों को शामिल किया गया है ?

PMGSY के अंतर्गत 500 से अधिक आबादी वाले मैदानी क्षेत्र (बिहार, छत्तीसगढ़ , गुजरात , हरियाणा , मध्य प्रदेश , राजस्थान , उत्तर प्रदेश उत्तराखंड , पश्चिम बंगाल ),250 से अधिक आबादी वाले special category वाले states (अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, त्रिपुरा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और उत्तराखंड) आदि राज्यों को शामिल किया गया है ।

Guildelines of PMGSY – PM Gram Sadak Yojana  के दिशा – निर्देश

  1. CNCPL priority के आधार पर उस जगह का चुनाव किया जाएगा जहा सड़क बनाई जानी है ।
  2. गांवों की पहचान इन्ही रास्तों से की जाएगी । इसमें सभी बस्तियों को जोड़ने क लिए हर मौसम में चलने वाली रोड बनाई जाएगी और उन्हे सबसे पास के बाजारों से जोड़ा जाएगा ।
  3. उन बस्तियों को जिनको पहले all weather Connectivity दी  जा चुकी है उन्हे ये दुबारा नहीं दी जाएगी ।
  4. PCI रेजिस्ट्रैशन के अनुसार Footpath की जांच की जाएगी ।
  5. जिन गांवों में सड़के नहीं है ऐसे गांवों को अधिक प्राथमिकता देकर वह सबसे पहले सड़क बनवाई जाएगी ।
  6. इस स्कीम के तहत उन सड़कों को सही नहीं किया जा सकता जो सड़के तारकोल या सीमेंट की बनी होंगी ।
  7. इस योजना में केवल गाँव की सड़कों को ही शामिल किया गया है । शहरों से जुड़ी सड़कों , State Highways और National Highways को इसमें शामिल नहीं किया गया है । ग्रामीण सड़कों में भी केवल उन सड़कों को रखा जाएगा जिन सड़कों को पहले “अन्य जिला सड़कों-Other District Roads (ODR) या Villege Roads (VR) में  बांटा जा चुका है ।
  8. इस scheme के तहत मैदानी क्षेत्रों में सड़क की चौड़ाई 15-25 मीटर और पहाड़ी या खाड़ी क्षेत्रों में 12 मीटर की Road width की सिफारिश की गई है ।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना टेंडर Contact Number

PMGSY Tender से संबंधित किसी भी तकनीकी पूछताछ (technical query ) के लिए 24 x 7 नीचे दिए गए Help-Desk-Number पर कॉल कर सकते है

  • 0120-4001-002
  • 0120-4200-462
  • 0120-4001-005
  • 0120-6277-787

E- mail Support के लिए [email protected] पर email भी कर सकते है ।

What is the importance of OMMAS (Online Management,Monitoring and Accounting System) in PMGSY ?

योजना को लागू करने, उसके कार्य की निगरानी करने , उसके लक्ष्यों को पूरा करने के लिए इसे अनलाइन प्रबंधन , निगरानी और लेख प्रणाली से जोड़ा गया । देश का सबसे बाद database माना जाने वाला ये प्रबंधन C-DAC पुणे के E-governence ने तैयार किया है ।

ये प्रणाली सड़क बनाने के प्रस्ताव से लेकर सड़क पूरी तरह से बन जाने तक के हर चरण पर अपनी नजर रखती है ।इसमें इस सड़क पर कितना खर्च होगा सबका हिसाब रखा जाता है । OMMAS के द्वारा जारी की गई रिपोर्ट को देखने के लिए  http://omms.nic.in/ लिंक पर जाकर आप देख सकते है ।

Managment of Pradhanmantri Gram Sadak yojana -प्रबंधन

योजना का प्रबंधन करने की जिम्मेदारी National Rural Roads Development Agency (NRRDA)कीहोती है। जिसका एक डायरेक्टर (Director) होता है । This Program was launched in 2000.  योजना के शुरू होने से लेकर present time तक इसके director निम्नलिखित है ।

  • Dr J. Shridhar Sharma (2000-2002)
  • Subramanyam Vijay Kumar (2002-2005)
  • J. K. Mohapatra (2005-2009)
  • Dr. P. K. Anand (2009-2011)
  • Mr. Rajesh Bhushan (2011-2017)
  • Alka Upaddhyaye (2017-till now)

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना कंप्लेंट

इस योजना से जुड़ी कुछ समस्याएँ या complaint है जिनपर हमारी सरकार को ध्यान देना बहुत आवश्यक है

  • DRRP को बनाते समय जिन प्रकियाओं को इसमें शामिल किया गया था उन प्रकियाओं राज्य सरकार (state government ) पूरा नहीं कर पाई जिसका परिणाम ये हुआ की जिन क्षेत्रों इसका लाभ मिलना चाहिए था वे इससे छूट गए या उनको पूरा लाभ नहीं मिल पाया ।
  • जिनराज्यों में इस योजना को लागू किया गया उनमें से किसी ने भी OMMAS को Implement नहीं किया । OMMAS के लागू होने के इतने साल बाद नहीं Ministry Of Rural Development किसी भी निर्णय के लिए mannual (हस्त निर्मित ) रिपोर्ट का इस्तेमाल करती है ।

प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना की जानकारी अपने मोबाईल में पाने के लिए आप इसकी application install कर सकते है । Google Play Store पर gram sadak yojana app आपको Meri Sadak App के नाम से मिलेगी इसके अलावा आप Geo PMGSY App को भी download कर सकते है ।

Chief Minister gram sadak yojana मुख्य मंत्री ग्राम सड़क योजना

साल 2010-2011 में 500 से अधिक जनसंख्या वाले सामान्य वर्ग के गांवों और 250 से अधिक जनसंख्या वाले आदिवासी इलाकों को सड़कों से जोड़ने के लिए mukhyamantri gram सड़क योजना को प्रस्तावित किया गया । साल 2013 तक ऐसे सभी क्षेत्रों को सड़कों से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया ।

CM gram sadak yojana के पहले चरण में  लगभग 27820 सड़कों तथा 11950 पुलों को स्वीकृति दी गई । जिसमे दिसम्बर 2016 तक 17000 किलो मीटर में फैले 6500 सड़कों के लक्ष्य को पूरा कर लिया गया है ।

 

 

Leave a Comment