फसल बीमा लिस्ट जिलेवार सूची @pmfby.gov.in

pradhan mantri fasal bima yojana
Spread the love

फसल बीमा योजना की जानकारी: मध्य प्रदेश सरकार के कृषि कल्याण विकास मंत्रालय द्वारा जारी की गई सूचना के मुताबिक राज्य में खरीफ फसलों को बीमित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा 38000 किसानों को लगभग 4 हजार करोड़ रुपयों की the pradhan mantri fasal bima yojana mp के तहत बीमा राशि प्रदान की जाएगी। इस योजना से संबंधित जो भी लाभार्थी हैं उनको राज्य सरकार द्वारा मुआवजा राशि का भुगतान जल्द ही उनके बैंक खाते में प्रदान कर दिया जाएगा। जानकारी के मुताबिक प्रदेश के जिन जिन किसानों ने फसल बीमा योजना के अंतर्गत अपनी फसलों को बारिश कम बारिश चक्रवात इत्यादि जैसे होने वाली प्राकृतिक दुर्घटनाओं से बचाने के लिए फसलों का बीमा करवाया है उनको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत बीमा राशि प्रदान की जाएगी। यदि आप मध्य प्रदेश अध्यक्ष किसान है एवं आप अपनी खरीफ फसलों को किसी भी प्राकृतिक आपदा या दुर्घटना से बचाना चाहते हैं एवं उस से हो रहे नुकसान की भरपाई लेना चाहते हैं तो आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का आवेदन करके सरकार द्वारा प्रदान की जा रही बीमा धनराशि प्राप्त कर सकते हैं।

जानकारी के अनुसार सभी अधिकृत बीमा कंपनियों द्वारा वर्ष 2019 20k खरीफ फसलों को हुए नुकसान का आकलन कर लिया गया है इसके बाद जो भी किसान योजना से संबंधित पात्र पाए गए हैं उनको सरकार द्वारा 20 लाख से अधिक किसानों को 4000 करोड रुपए तक की बीमा क्लेम प्रदान करने का अनुमान है। यह बीमा राशि सीधा किसानों के बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी।

Pm Fasal Bima Yojana Mp List details

फसल बीमा योजना क्या है: नीचे हमारे द्वारा आपको कुछ आंकलन प्रदान किए गए हैं जिसके मुताबिक आप यह जान सकते हैं कि मध्य प्रदेश राज्य में किन-किन जिलों के किसानों को कितना लाभ प्रदान किया जाएगा। जिलेवार द्वारा खरीफ फसलों के लिए जो पात्र किसान हैं उनकी संख्या एवं स्वीकृत राशि की जानकारी नीचे हमारे द्वारा आपको प्रदान की है।

जिले का नामबीमा क्लेम के पात्र किसानों की संख्याकुल बीमित स्वीकृत राशि
हरदा57 हजार 620 किसानों को109.61 करोड़ रूपये
राजगढ़2 लाख 31 हजार 769 किसानों को427 करोड़ 37 लाख रूपये
खरगोन1 लाख 43 हजार 327 किसानों को118 करोड़ 22 लाख रूपये
मंदसौर1 लाख 34 हजार 409 किसानों को381 करोड़ 60 लाख रूपये
सीहोर1 लाख 6 हजार 347 किसानों को157 करोड़ 34 लाख रूपये
धार1 लाख 5 हजार 161 किसानों को195 करोड़ 47 लाख रूपये
विदिशा1 लाख 2 हजार 113 किसानों को318 करोड़ 53 लाख रूपये
रतलाम1 लाख 259 किसानों को282 करोड़ 80 लाख रूपये
अलीराजपुर5 हजार 46 किसानों को38 लाख रू
बड़वानी67 हजार 878 किसानों को10.91 करोड़ रू
अशोकनगर34 हजार 928 किसानों को47.57 करोड़ रू
बुरहानपुर6 हजार 602 किसानों को4 करोड़ रू
इंदौर88 हजार 700 किसानों को150.44 करोड़ रू
झाबुआ38 हजार 148 किसानों को11.78 करोड़ रू
खंडवा55 हजार 553 किसानों को32.64 करोड़ रू
भिंड4 हजार 609 किसानों को9 लाख़ रू
दतिया5 हजार 84 किसानों को64 लाख रू
गुना32 हजार 584 किसानों को76.37 करोड़ रू
डिंडौरी754 किसानों को0.19 करोड़ रू
बालाघाट7 हजार 873 किसानों को4.07 करोड़ रू
ग्वालियर7 हजार 258 किसानों को1.26 करोड़ रू
श्योपुर12 हजार 268 किसानों3.88 करोड़ रू
मुरैना7 हजार 368 किसानों को85 करोड़ रू
आगर टीकमगढ़1 हजार 215 किसानों14 लाख
दमोह14 हजार 715 किसानों को8.90 करोड़ रू
उमरिया1 हजार 742 किसानों44 लाख रू
छतरपुर1 हजार 010 किसानों को1.60 करोड़ रू
बैतूल82 हजार 774 किसानों को104.49 करोड़ रूपये
शहडोल8 हजार 121 किसानों को2.5 करोड़ रू
होशंगाबाद27 हजार 616 किसानों को47.85 करोड़ रू
सागर93 हजार 336 किसानों को197.57 करोड़ रू
सीधी2 हजार 444 किसानों को0.37 करोड़ रू
सतना16 हजार 528 किसानों को5.10 करोड़ रू
मंडला2 हजार किसानों को1.03 करोड़ रू
सिवनी19 हजार 302 किसानों को13.41 करोड़ रू
जबलपुर1 हजार 314 किसानों को44 लाख रू
छिंदवाड़ा30 हजार 162 किसानों को15.80 करोड़ रू
पन्ना2 हजार 558 किसानों को14 लाख रू

फसल बीमा योजना का उद्देश्य

प्रधानमंत्री कृषि बीमा योजना को शुरू करने का मुख्य कारण कृषि क्षेत्र में टिकाऊ उत्पादन को बढ़ावा देना है। इस योजना द्वारा वे सभी किसानों की प्राकृतिक आपदा द्वारा अपने फसलों का नुकसान झेलते हैं ऐसी घटनाओं से होने वाली फसल हानि से बचने के लिए सरकार द्वारा किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों की आय को स्थिर करना एवं उनको प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान से बचाना है। योजना की मदद से किसानों को नवीन एवं आधुनिक कृषि पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहन करना है। योजना के तहत सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र में प्रदान कर आ जाएगा जो कि किसानों को उत्पादन से संबंधित समस्या से छुटकारा दिलाएगा एवं इससे कृषि क्षेत्र में विकास एवं उन्नति बढ़ेगी।

फसल बीमा योजना मध्यप्रदेश मुख्य दस्तावेज

  • आईडी कार्ड
  • पैन कार्ड
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • वोटर आईडी कार्ड
  • बैंक विवरण
  • फसल का प्रमाण पते का सबूत यदि फसल को किराए पर लिया गया है
  • खेत के मालिक के साथ समझौते का प्रमाण पत्र।

p m fasal bima yojana योजना की पात्रता

  • योजना से संबंधित अधिसूचित पतलू के लिए वित्तीय संस्थानों द्वारा ऋण प्राप्त करने वाले सभी किसान योजना के तहत कवर किए जाएंगे।
  • वे सभी किसान जो कि गैर कर्जदार श्रेणी में आते हैं वैकल्पिक रूप से इस योजना के पात्र हैं।
  • योजना के अंतर्गत खरीफ फसल का नुकसान किसी भी प्राकृतिक आपदा से होता है तो वह कृषि इस योजना के अंतर्गत शामिल है।
  • सभी किसान जिनको व्यापक जोखिम गैर रोकथाम जोखिम के कारण हेतु फसल का नुकसान हुआ है उनको इस योजना के अंदर कवर किया जाएगा।
  • किसी किसान की फसल को सूखा, बाढ़, रोग, भूस्खलन, प्राकृतिक आग, बिजली तूफान, चक्रवात आदि जैसे प्राकृतिक आपदाओं के कारण नुकसान हुआ है उनको इस योजना के अंतर्गत किया जाएगा।

pm fasal bima yojana mp 2021 list – District Wise

यदि आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लिस्ट की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे द्वारा नीचे प्रदान करेगा स्टेप्स को ध्यानपूर्वक पढ़ें। यदि आप मध्य प्रदेश राज्य के निवासी हैं एवं आपने पीएम फसल बीमा योजना के अंतर्गत आवेदन किया है तो आप लाभार्थी सूची में अपना नाम नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके पढ़ सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना सूची की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • LINK: https://pmfby.gov.in/
  • इसके बाद आपको होम पेज पर फार्मर्स कॉर्नर के विकल्प को चुनना होगा।
  • इसके बाद आपको किसान लोगिन के विकल्प को चुनना होगा। इसके बाद आपको अपना किसान यूज़र आईडी एवं पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • अब आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा एवं ओटीपी एवं पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको एप्लीकेशन स्टेटस के विकल्प को चुनना होगा।
  • जैसे आप यह कर लेंगे तो आपके सामने एक लिस्ट जो हो जाएगी जिसमें आप को अपना डिस्ट्रिक्ट का नाम चुनना होगा।
  • इसके बाद आप लिस्ट में अपना नाम चेक कर सकते हैं।