National Productivity Day India

राष्ट्रीय उत्पादकता दिवस

National Productivity Day 2020: राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद 12 से 18 फरवरी तक राष्ट्रीय उत्पादकता सप्ताह मनाने जा रही है । इस साल National Productivity Council अपना 62 वाँ स्थापना दिवस मनाने जा रही है । इस वर्षगांठ को हीरक जयंती के रूप में भी मनाया जाता है । National Productivity Week 2020 की थीम है – “शून्य अपशिष्ट लक्ष्य” । इस सप्ताह के दौरान निबंध, भाषण, पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है । इस प्रतियोगिताओं का मुख्य उद्देश्य उत्पादकों की तरफ जागरूकता बढ़ाना होता है । National productivity day observed its foundation day asProductivity Day” . इससे संबंधित पूरी जानकारी को आप National Productivity Day Wikipedia पर जाकर विस्तार से जान सकते है ।

National Productivity Day in Hindi

  • केन्द्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ( Ministry of Commerce and Industry of India ) द्वारा बताया गया की एन पी सी अपने 62वें स्थापना दिवस के उपलक्ष में उत्पादकता सप्ताह का आयोजन कर रही है ।
  • देश के महान विशेषज्ञ देश से जुड़ी आर्थिक चुनौतियों ,उसके लाभ और उसके परिणाम के संबंध में इस समारोह के दौरान विशेष चर्चा करेंगे ।
  • इस प्रकार की चर्चाओं का आयोजन देश भर में किया जाएगा ।
  • हरित उत्पादकता का मुख्य उद्देश्य एक नए नजरिए के साथ अपने पर्यावरण की सुरक्षा के साथ – साथ उत्पादकता में वृद्धि करना , और समाज के आर्थिक विकास को आगे ले जाना है ।

national productivity day theme 2020: साल 2020 की उत्पादकता सप्ताह की थीम रखी गई है “शून्य अपशिष्ट लक्ष्य” जिसके तहत Recycling के जरिए शून्य अपशिष्ट के लक्ष्य को प्राप्त करना शामिल किया गया है ।

  • 2020 : Zero Waste Goal – शून्य अपशिष्ट लक्ष्य
  • 2019 : Circular Economy for Productivity & Sustainability – उत्पादकता और स्थिरता के लिए परिपत्र अर्थव्यवस्था।
  • 2018 : Industry 4.0 Leapfrog Opportunity for India – भारत के लिए उद्योग 4.0 लीपफ्रॉग अवसर।
  • 2017 : From Waste to Profits-through Reduce, Recycle and Reuse – अपशिष्ट से लाभ के माध्यम से-कम करें, रीसायकल और पुन: उपयोग करें

राष्‍ट्रीय उत्‍पादकता सप्‍ताह

राष्ट्रीय उत्पादक परिषद भारतीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय का महत्वपूर्ण संगठन है जो मुख्य रूप से उत्पादकता आंदोलन को बढ़ावा देने का काम करता है । उत्पादकता बढ़ाने के लिए समाधान देना , प्रतियोगिता , लाभ बढ़ाना , अच्छी गूढ़वत्ता को सुनिश्चित करना इस सभी के लिए NPC काम करता है । इस संगठन की स्थापना 1958 में की गई जो कि एक गैर-सरकारी संगठन है । इस साल 62th स्थापना दिवस के अवसर पर उत्पादकता सप्ताह का आयोजन 12 फरवरी से होने जा रहा है । जिसके तहत कुछ प्रमुख बिंदुओं की तरफ ध्यान दिया जाना है ।

  • दिन -प्रतिदिन जनसंख्या में लगातार वृद्धि हो रही है और अनुमान है की 2050 तक ये 10 अरब तक पहुँच जाएगी।
  • ऐसे में प्राकतिक संसाधनों के साथ , साफ पानी , ईधन आदि की आपूर्ति होना असंभव है ।
  • बढ़ती जनसंख्या के साथ बढ़ती हुए बेरोजगारी की समस्या को कैसे हल किया जाएगा ।

राष्ट्रीय उत्पादकता सप्ताह आयोजन

इस सप्ताह का आयोजन पूरे देश में किया जाता है । देश में नई दिल्ली के अलावा 23 स्थानीय उत्पादकता परिषद (Local productivity council)  है जो इसके लिए काम करती है। प्रमुख राज्यों की राजधानियों या औधयोगिक क्षेत्र में कार्यरत NPC के कोलकाता, चेन्नई, गुवाहाटी, भुवनेश्वर और चंडीगढ़ सहित 13 स्थानीय कार्यशालाएँ है जहाँ राष्ट्रीय उत्पादकता सप्ताह का आयोजन किया जाता है हर साल की तरह इस साल भी 12 फरवरी 2020 को “उत्पादकता दिवस” मनाया जाएगा। 12 फरवरी से आरंभ होकर एक सप्ताह के लिए 18 फरवरी 2020 तक पूरे देश में मनाया जाएगा जिसमे उत्पादकता को बढ़ाने के लिए कार्यकर्मों का आयोजन होगा ।

  • 12 फरवरी 2020 – बुधवार :- रुद्रपुर में उत्पादकता उपकरण और तकनीकों पर प्रशिक्षण कार्यक्रम ।
  • 12 और 13 फरवरी 2020 – बुधवार और गुरुवार :- रुद्रपुर उत्तराखंड में ऊर्जा संरक्षण और लेखा परीक्षा पर प्रशिक्षण कार्यक्रम। कानपुर , उत्तर प्रदेश में एचएएल और आयुध फैक्ट्री  में कमजोर प्रबंधन पर प्रशिक्षण कार्यक्रम
  • 14 फरवरी 2020 –  शुक्रवार:-  कानपुर में 3R अवधारणाओं के माध्यम से अपशिष्ट को कम करने हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम।
  • 17 फरवरी 2020 सोमवार:-कानपुर में उत्पादकता और स्थिरता के लिए परिपत्र अर्थव्यवस्था पर प्रशिक्षण कार्यक्रम।
  • 18 फरवरी 2020 मंगलवार:-कानपुर में  उत्पादकता समापन पर कार्यक्रम

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *