Aastha Hindi Lekh Informational Tyohaar

Republic Day 2018 – My India My Pride – Innovative India – मेरा भारत महान – 26 january 2018

भारत की सभ्यता 4000 से भी अधिक वर्ष पुरानी हैं, यहाँ अलग-अलग कई रिवाजों और परंपराओं का मिश्रण हैं, जो देश के समृद्ध संस्कृति और विरासत के प्रतिबिंबित हैं। हमारे राष्ट्र का इतिहास अपनी उन्नति की एक झलक देता है |

हमारा देश वर्षो के उपनिवेशवाद (colonialism) के दौर से गुजर कर वैश्विक परिदृश्य में आज के समय में सबसे सफल अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। किसी भी अन्य चीज़ से ज्यादा, इस तरह के विकास की परिणति के पीछे हमारे देश के नागरिकों के राष्ट्रवादी उत्साह योगदान बल है। देश का यह परिवर्तन देश और विदेश में हर भारतीय के दिल में राष्ट्रीय गौरव की भावना पैदा करता है|

About India – भारत के बारे में सामान्य जानकारी

हमारा देश भारत विश्व की सबसे पुरानी सभ्यताओं में से एक माना जाता है| हमारा देश का अत्यंत गौरवशाली इतिहास रहा है और आगे भी हिन्दुस्तान के उज्जवल भविष्य के लिए हमारे देश के सभी नागरिक व भारत सरकार कर्मठ है| हिन्दुस्तान अपनी बहुरूपदर्शक विविधता और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के लिए पूरे विश्वभर में प्रसिद्ध है। अंग्रेजो से आजादी मिलने के बाद से हमने सामाजिक व आर्थिक प्रगति को हासिल किया है। भारत देश, दुनिया का 7वां सबसे बड़ा देश है जिसमे अलग-अलग हिस्से हैं जो की विभिन्न संस्कृति होने के बावजूद भी एक साथ प्रेम व घनिष्टता से रहते हैं| यहाँ विशाल हिमालय पर्वत और गहरे समुद्र, पवित्र नदियाँ भी हैं जो की भारत को सबसे अलग बनाती हैं साथ ही यह देश को एक विशिष्ट भौगोलिक इकाई भी देता है। उत्तर दिशा में हिमालय से दक्षिण में कन्याकुमारी तक देश की सीमा है, जो पूर्व में बंगाल की खाड़ी और पश्चिम में अरब सागर के बीच हिंद महासागर तक फैला हुआ है।

INDIAN PRIDE

भारत के 69वें गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में आज हम अपने देश के सुनहरे इतिहास की याद व साथ ही उज्जवल भविष्य के लिए कामना करते हुए देश को गौरान्वित करने वाली शख्सियतों के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे जिससे आपके अंदर भी देशभक्ति की भावना जाग उठेगी|

69वें गणतंत्र दिवस पर ख़ास

भारत में गणतंत्र दिवस 2018, 26 जनवरी, शुक्रवार को मनाया जाएगा। वर्ष 2018 में, भारत अपने 69 वें गणतंत्र दिवस का जश्न मना रहा है। वर्ष 1950 में भारत द्वारा अपना प्रथम गणतंत्र दिवस मनाया गया था। इस साल REPUBLIC DAY के आयोजन पर निम्नलिखित खासियत होगी|

  • इस साल हमर देश अपने गणतंत्र दिवस पर सभी 10 आसियान देशों (दक्षिण पूर्व एशियाई राष्ट्रों के संघ) – 10 ASEAN countries (Association of South East Asian Nations) के महान नेताओं के साथ मनाएगा। भारतीय इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है कि republic day के आयोजन पर 10 मुख्य अतिथि उपस्तिथ होंगे। यह इसलिए भी अत्यंत महत्त्वपूर्ण हैं क्योंकि क्योंकि इसी वर्ष दक्षिण पूर्व एशियाई समूह (Southeast Asian bloc) के गठन के 50 वर्ष पूरे हुए हैं जिसे 8 अगस्त 1967 पर स्टाफिट किया गया था| साथ ही भारत ने 2017 में इस समूह के अंतर्गत अपने 25 वर्षो की साझेदारी पूरी कर ली है जो की 1992 में शुरू हुई थी।
  • ऐसा पहली बार होगा की सिर्फ भारतीय ध्वज (Indian Flag) ही नहीं बल्कि ASEAN देशो के झंडे भी फहराए जाएंगे|
  • निर्भय मिसाइल” और रक्षा विकास और अनुसंधान संगठन की ओर से “अश्विनी रडार प्रणाली” भी प्रदर्शित की जाएगी।
  • विमान कैरियर (आईएसी) विक्रांतIAC Vikrant को भी भारतीय नौसेना द्वारा प्रदर्शित किया जाएगा जो की वर्ष 2020 में शुरू किया जाएगा।
  • ऐसा पहली बार होगा की 26 जनवरी की परेड में झांकी पर “ऑल इंडिया रेडियो” द्वारा प्रधान मंत्री मोदी के “मन की बात” को भी दर्शाया जाएगा |
  • अन्य झांकी में Income Tax Department द्वारा काले धन के ऊपर जानकारी दी जाएगी|

गणतंत्र दिवस 2018 पर मुख्य अतिथि

गणतंत्र दिवस 2018 पर मुख्य अतिथि

  1. प्रधान मंत्री हुन सेनकंबोडिया 
  2. सुल्तान और विद्यमान प्रधान मंत्री हस्सनल बोलकियाब्रुनेई
  3. राष्ट्रपति जोको विडोडोइंडोनेशिया 
  4. प्रधान मंत्री प्रयुथ चान-ओचाथाईलैंड
  5. प्रधान मंत्री गुगुएन झुआन फुकवियतनाम
  6. प्रधान मंत्री थोंग्लौं सिसोलिथलाओस
  7. प्रधान मंत्री नजीब रजाकमलेशिया
  8. राष्ट्रपति हित कयावम्यांमार
  9. राष्ट्रपति रॉड्रिगो रियो डूटेटेफिलीपींस
  10. राष्ट्रपति हलिमा याकूबसिंगापुर

Indian president

Indian president

इस वर्ष भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद अपनी पहली speech (भाषण) देंगे जिसमें वो देश की उपलब्धियों के साथ आने वाले समय में भारत में विकास को और देश को मज़बूत राष्ट्र बनाने के बारे में बताएंगे|

Indian Pride – Freedom & Revolutionaries

भारत की आज़ादी में कई महान स्वतंत्रता सेनानियों और क्रांतिकारियों का साथ है जिन्होंने अपनी जान की परवाह न करते हुए हमारे देश को आज़ाद करवाने में अपना पूरा ज़ोर लगा दिया| इन शहीदों को हमर शत-शत नमन जिनकी वजह से हम आज खुले आसमान में सांस ले रहे हैं| आइये जानें कुछ महँ व्यक्तियों के बारे में जो की असल मायने में भारत का गौरव हैं:

महात्मा गाँधी

महात्मा गाँधी सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विश्व के सबसे प्रतिष्ठित पुरुषों में से एक थे| जिनके अहिंसा के पाठ को अभी भी हम सब ने जीवित रखा है | बापू ने अपना सब कुछ छोड़ दिया, अपने कानून कैरियर; अपना घर और अपना धनी परिवार भी और सदैव न्याय के लिए लड़ते रहे| उनके लोगों की भलाई के लिए ब्रिटिशों के खिलाफ अहिंसा का रास्ता उठाया जिसके कारण हम आज आज़ाद हैं|

शहीद भगत सिंह

भगत सिंह भारत के इतिहास में स्वतंत्रता आंदोलन के सबसे प्रभावशाली क्रांतिकारी थे। जब कभी हम शहीदों के बारे में सोचते हैं जिन्होंने अपनी मातृभूमि के गौरव और सम्मान के लिए अपना जीवन दिया था, सबसे पहले हमारी ज़ुबान पर “शहीद” भगत सिंह का नाम आता है। लाला लाजपत राय की मृत्यु, जेल में 116 दिन तक अनशन और वर्ष 1929 में विधानसभा में बम ब्लास्ट करने तक भगत सिंह सत्याग्रह और गांधीजी की गांधीवादी विचारधारा में विश्वास नहीं रखते थे।

चंद्र शेखर आजाद

चंद्र शेखर आजाद हमारे देश के सबसे बड़े स्वतंत्र सेनानियों व क्रांतिकारी में से एक थे| जो की हर हाल में भारत को आज़ाद कराने के लिए प्रतिबद्ध थे। उन्होंने गांधी जी के आंदोलन में पहले भाग लेने के पश्चात में आजादी के संघर्ष के लिए हथियारों का इस्तेमाल किया। आज़ादी के लिए उनकी दिलेरी को कभी भूला नहीं जाएगा|

नेताजी सुभाष चंद्र बोस

भारत की तरफ से एक और महान स्वतंत्रता सेनानी थे नेताजी सुभाष चंद्र बोस जो की भारतीय राष्ट्रीय सेना (Indian National Army) के संस्थापक थे जिसे “आजाद हिंद फौज” के नाम से भी जाना जाता था। बोस एक क्रांतिकारी थे | कुछ समय बाद वहवे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए और बाद में उसके अध्यक्ष भी बने। “तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हे आज़ादी दूंगा” नेताजी द्वारा कहे हुए कुछ मशहूर शब्द थे जिससे लाखो हिन्दुस्तानियों में आज़ादी के लिए जान लड़ाने के लिए जोश आया| अगर सुभाष बाबू की इतनी जल्द नृत्यु न हुई होती तो हमें पहले ही आज़ादी मिल गयी होती|

सरदार वल्लभभाई पटेल

सरदार वल्लभभाई पटेल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक प्रमुख नेता थे जिन्हे “लोह पुरुष” (Iron man of India) के नाम से भी जाना जाता था| उन्होंने आजादी के लिए भारत के संघर्ष में एक प्रमुख भूमिका निभाई थी । जब महात्मा गांधी जेल में थे तब वल्लभभाई पटेल ने सत्याग्रह में भाग लिया और नागपुर में सत्याग्रह का नेतृत्व किया था जिससे अंग्रेजो को घुटने टेकने पड़े।

रानी लक्ष्मी बाई

हिन्दुस्तान की आज़ादी की लड़ाई में सिर्फ मर्द ही नहीं महिलाओ ने भी साथ दिया था| राष्ट्र गौरव रानी लक्ष्मी बाई ने हमारे लिए अपनी जान की बाज़ी लड़ा दी थी| “खूब लड़ी मर्दानी वो तो झाँसी वाली रानी थी” ये शब्द वाकई काफी सुँदरता से लक्ष्मी बाई के जीवन का वर्णन करता है|

एनी बेसेंट

एनी बेसेंट एक ब्रिटिश कार्यकर्ता थे जो की हिन्दुस्तान के स्वशासन में विश्वास रखती थीं। प्रथम विश्व युद्ध के दौरान, उन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए प्रचार किया था। इसी के फलस्वरूप उन्हें कांग्रेस के राष्ट्रपति के रूप में चुने गया। भारत की आज़ादी में उनका भी एक भूमिका है|

Indian Pride – Organizations

भारत में इतिहास के समय से लेकर अभी के समय तक कई ऐसे संगठन व संस्था बनी है जिन्होंने हमारे देश का लोहा पूरे विश्व भर में मनवाया है | ऐसी कुछ Indian organisations की जनकारी हमने नीचे दी हुई है|

Pride of India – ISRO

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन या इसरो (Indian Space Research Organisation – ISRO), हमारे राष्ट्र की राष्ट्रीय अंतरिक्ष एजेंसी है। यह भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम, डॉ विक्रम साराभाई द्वारा प्रक्षेपित किया गया था जिनको father of Indian Space Programme भी कहा जाता है|

Pride of India- ISRO

इसरो भारत के विभिन्न स्थानों में स्थित अपनी प्रतिष्ठानों व प्रयोगशालाओं के माध्यम से अपने अंतरिक्ष कार्यक्रम को अंजाम देता है। श्री माधवन नायर ISRO के चेयरमैन है जो की वर्ष 1998 में पद्मा भूषण सम्मान से सम्मानित हैं| ISRO के Mars Orbiter Mission (MOM) के “मंगलयान” से पूरा विश्व भर भारत के अंतरिक्ष अभियानों का लोहा माना है| हाल ही में PSLV-C34 राकेट ने 20 मिसाइल का सफल प्रक्षेपण किया है|

Pride of indian army

भारतीय सेना का प्रतिष्ठित इतिहास बहुत साल पुराना है। Indian Army हमारे देश का गौरव है! यह हमारी सेना की हिम्मत और कठिन परिश्रम ही है जिसकी वजह से आज हम बेफिक्र जी रहे हैं| ऐसा इसलिए है क्योंकि हमारी जीवन के लिए हमारे सैनिक अपनी जान की परवाह किये बिना सीमा पर दिन-रात तैनात है| भारतीय सेना पर हम सभी को गर्व है|

Pride of indian army

भारतीय सैनिक अपने देश कि नागरिकों की सुरक्षा के लिए आखिरी श्वास तक लड़ते हैं। भारतीय सेना बाहरी आक्रमण और आंतरिक उलटाव से राष्ट्रीय हितों में हर हालात में रक्षा करती है। भारतीय सेना कई बार पाकिस्तान को धुल चटाई और जब भी किसी ने हमारे देश की तरफ आँख उठा के देखा है हमारे सेना ने हमेशा उसे मुँह तोड़ जवाब दिया है|

इंडियन आर्मी दुनिया के सबसे ऊँचे बैटल ग्राउंड सियाचिन (Siachen) पर तैनात है जहाँ पर सांस लेना भी मुश्किल होता है वहां भी तैनात है| यहाँ तापमान -50 डिग्री तक चला जाता है|

“When you go home, tell them of us and say, For Their Tomorrow, We Gave Our Today”. Click To Tweet
Related Search:
india flag photo, i love my india status, republic day parade starts from, maa tujhe salam, republic day images, 26 january 2018,Khadi the pride of India, my pride my india, my pride my india poem, my india my pride poster, my india my pride images, slogans, my india my pride speech, my india my pride article, my country my pride india essay, my country my pride india, my india my pride song, poem on my country my pride india, my india my pride poem in english, my flag my pride india mp3, poems, paragraph,  my country my pride india speech, essay on my pride my india, my pride my india poem in hindi, my pride my india quotes, album free download

Leave a Comment