गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है

गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है – गणतंत्र दिवस पर लेख – 26 जनवरी गणतंत्र दिवस 2018

Posted by

Gantantra diwas kyu manaya jata hai: गणतंत्र दिवस भारत का एक महत्वपूर्ण पर्व हैं जिसे हर वर्ष 26 january को बनाया जाता हैं. इस पर्व को भारत में बहुत जोश और उत्साह से बनाया जाता है| भारत के हर वर्ग और उम्र के भारतीय इसे बहुत उत्साह और उल्लास से मनाते हैं |  गणतंत्र दिवस भारत के तीन राष्ट्रीय अवकाशों मे से एक हैं 26 january का दिन हर भारतीय के लिए बहुत महत्वपूर्ण दिन है . गणतंत्र दिवस से सभी भारतीयों की भावनाएं जुडी हुई हैं. आज हम आपको गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है इसके बारें मे कुछ फैक्ट्स के बारे मे उल्लेख करेंगे |

हम गणतंत्र दिवस क्यों मनाते हैं?

गणतंत्र दिवस का इतिहास – रिपब्लिक डे 2018

भारत राज्य में 26 january को गणतंत्र दिवस के लिए चुना जाना इसलिए महत्त्वपूर्ण है क्योकि इसी दिन वर्ष 1930 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा भारत देश को पूर्ण रूप से स्वराज घोषित कर दिया था | यह तीन राष्ट्रीय दिवस मे से एक हैं जिसमे गाँधी जयंती और स्वतंत्र दिवस भी शामिल है .उस दिन मे 1947 तक जब तक भारत को स्वतंत्रता नई मिली तब तक 26 january को ही स्वतंत्रता दिवस के रूप मे मनाया जाने लगा.

हम गणतंत्र दिवस क्यों मनाते हैं?

आइये जानें why do we celebrate republic day:

15 august 1947 को जब भारत पूर्ण रूप से स्वतंत्राव हो गया तब 15 august को स्वतंत्रता दिवस के रूप मे मनाया जाने लगा.जब भारत स्वतंत्र हो गया तब एक संविधान सभा के गठन हुआ जिसने 1947 मे दिनाक 9 december मे अपना कार्यभार चालु किया.संविधान सभा मे डॉ० भीमराव आंबेडकर, जवाहरलाल नेहरू, डॉ राजेन्द्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल जैसें महान व्यक्तित्व शामिल थें.

यह भी देखें :  Parveen Shakir Ghazal in Urdu | उर्दू में परवीन शकीर ग़ज़ल इन हिंदी

गणतंत्र दिवस का महत्व

गणतंत्र दिवस एक बहुत महत्वपूर्ण उत्सव हैं .इसें हर भारतीय बहुत धूमधाम से मनाता हैं .इस पर्व को मनाने के लिये स्कूल और कॉलेज के विद्यार्थी बेहद उत्साहित रहते है, और इस खास दिन की तैयारी एक महीने पहले से ही शुरू कर दी जाती है.स्कूलों और कॉलेजो मे भिन्न भिन्न प्रकार काईन उत्सव होतें हैं जिस्म राष्ट्रिय नृत्य,गीत और भिन्न प्रकार के एक्ट्स होतें हैं.ध्वजारोहण एक महत्वपूर्ण कार्य हैं जो हर स्कूल, कॉलेज,और अन्य सरकारी कार्यालय में होतें है|

गणतंत्र दिवस पर लेख

गणतंत्राता दिवस के समारोह

गणतंत्र दिवस के दिन 26 january को दिल्ली के लाल किले पर भारत के राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है जो की भारत के प्रधान मंत्री द्वारा फहराया जाता हैं. जिसके बाद सामूहिक रूप से राष्ट्रगान गया जाता हैं. गणतंत्र दिवस विशेष रूप से दिल्ली मे बड़े उत्साह से मनाया जाता हैं .इस पर्व पर हर साल एक भव्य परेड आयोजित होती है जो इंडिया गेट से लेकर राष्ट्रपति भवन (राष्ट्रपति के निवास) तक राजपथ पर राजधानी, नई दिल्ली में आयोजित किया जाता है।भारतीय सेना के विभिन्न रेजिमेंट, वायुसेना, नौसेना आदि सभी भाग लेते हैं|

गणतंत्र दिवस परेड – Republic Day Parade

समारोह मे भाग लेना एक बहुत बड़े सम्मान की बात हैं .इस सम्हारो मे हर जगह से विभिन स्कूलों के बच्चे भाग लेने आतें हैं.-गणतंत्र दिवस की पहली परेड 1955 को दिल्ली के राजपथ पर हुई थी।राजपथ परेड के पहले मुख्य अतिथि पाकस्तिान के गवर्नर जनरल मलिक गुलाम मोहम्मद थे। परेड प्रारंभ करते हुए प्रधानमंत्री अमर जवान ज्योति जलाते हैं जो राजपथ के एक छोरे पर इंडिया गेट पर स्थित हैं| जिसपर प्रधान मंत्री पुष्प माला डालतें है.इसके बाद सब लोग शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए दो मिनट के मौन रखतें हैं| अन्य व्यक्तियों के साथ राजपथ पर स्थित मंच तक आते हैं, राष्ट्रपति बाद में अवसर के मुख्य अतिथि के साथ आते हैं।

यह भी देखें :  पृथ्वी दिवस पर भाषण - पृथ्वी दिवस पर लेख - पृथ्वी दिवस पर विशेष - Speech on World Earth Day in Hindi

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *