Mera Pani Meri Virasat Yojana – Farmer Registration Portal

Mera Pani Meri Virasat Portal

जैसा की आप सब जानते ही है की गर्मी के इस मौसम में बहुत से किसानो की फसल आई दिन खराब हो रही है| किसान भारत की रिड की हड्डी है| गर्मी की वजह से किसानो को सूखा एवं पानी की बहुत कमी हो रही है| ऐसे में धान की खेती करने वाले किसानो को और भी ज्यादा परेशानी का सामना करना पढ़ रहा है| हर एक किसान चाहता है की उसकी खेती अच्छी हो जिससे उसे वित्तीय सहायता मिल पाए| ऐसे में हरयाणा राज्य के कई किसान जो की धान की खेती करते है उन्हें ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता है क्युकी धान के लिए बहुत अधिक मात्रा में पानी की आवश्यकता होती है| ऐसे में अगर बारिश न पड़े तो बहुत परेशानी होती है|

इसी कारणवश हरयाणा सरकार ने मेरा पानी मेरी विरासत योजना की शुरुवात 6 जून को की है जिससे किसानो को धान की खेती के बजाए दूसरी फसल की खेती कर सके| इसी के लिए राज्य सरकार ने एक ऑनलाइन पोर्टल जारी किया है जिसपर किसान रजिस्टर करके ₹7000 per एकड़ की राशि प्राप्त कर सकते है|

Mera Pani Meri Virasat Portal

Mera Pani Meri Virasat Yojana Haryana Registration 7000 रुपये ऑनलाइन आवेदन यहाँ उपलब्ध हैं। इस पृष्ठ से मेरा पानी मेरी वीरता योजना पंजीकरण विवरण प्राप्त करें। राज्य में पानी की बचत करने के लिए, हरियाणा सरकार ने एक नई योजना शुरू की है, जिसका नाम है “मेरा पानी मेरी वीरता योजना”। सरकार ने मक्का, बाजरा, कपास और दलहन के साथ धान (चावल की खेती) को बदलने के लिए यह योजना शुरू की है। यह योजना राज्य में पानी को बचाने में मदद करेगी।

इस योजना के अनुसार, किसानों को अपनी आधी फसल धान के विकल्प के साथ बदलनी होगी। सरकार ने रु। प्रदान करने का निर्णय लिया है। किसानों को प्रति हेक्टेयर 7000 जो अन्य वैकल्पिक फसलों के साथ धान को बदलने का निर्णय लेते हैं। Mera Pani Meri Virasat Yojana पंजीकरण प्रक्रिया, भुगतान स्थिति, दस्तावेज और ऑनलाइन आवेदन विवरण यहाँ दिए गए हैं।

हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना उद्देश्य

हरयाणा एक ऐसा राज्य है जहा underground water की बहुत कमी है| इसलिए धान की खेती करने वाले किसानो को बहुत समस्या होती है क्युकी अन्य खेती की तुलना में धान की खेती में तीन गुना ज्यादा पानी की आवश्यकता होती है और ऐसे में बिना बारिश यह खेती करना मुश्किल है| ऐसे में हरयाणा सरकार ने mera pani meri virasat yojana की शुरुवात करके धान की खेती वाले किसानो को अन्य खेती पर shift करने में प्रेरित करेगी| योजना के अंतर्गत वे सभी किसान जो इस योजना के लिए पंजीकृत है उन्हें सर्कार द्वारा 7 हज़ार रूप[आय प्रति एकड़ वित्तीय सहायता मिलेगी|

मेरा पानी मेरी विरासत योजना विशेषताएं

  • इस योजना के मदद से सरकार water conservation के लिए प्रोत्साहन कर रही है|
  • योजना के अंतर्गत वे सभी लोग आते है जो धान की खेती करते है|
  • योजना का उद्देश्य चावल की खेती करने वाले किसानो को अन्य खेती के लिए प्रोत्साहन कर सके|
  • अन्य फ़सल खेती जैसे कि मक्का, Arhar, उड़द, Cotton, बाजरा, Til और Gram Flour और सब्जी आदि की खेती करने के लिए यह परियोजना प्रोत्साहन कारगी|
  • इस योजना के लिए एक ऑनलाइन पोर्टल भी निकाला है जिसके कारण किसान इस योजना के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते है|

mera pani meri virasat form online apply

  • इस योजना के पंजीकरण के लिए आपको इस योजना के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा|
  • इसके बड़ा आपको किसान रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा|

Mera Pani Meri Virasat Yojana

  • इसके बाद आपको एक फॉर्म ओपन होगा|
  • फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी सही दर्ज करे|

Mera Pani Meri Virasat Yojana online apply

  • अपना नाम, पता, माता पिता का नाम, श्रेणी, मोबाइल नंबर और आदि जानकारी दर्ज करे|
  • इसके बाद आपको अपनी जमीन की पूरी जानकारी दर्ज करे|
  • इसके बाद आपको अपनी बैंक की जानकारी दर्ज करनी होगी|
  • अब सबमिट पर क्लिक करे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *