Sarkari Yojana

Krishi Input Anudan Yojana 2022 -23 कृषि इनपुट अनुदान योजना ऑनलाइन आवेदन & पंजीकरण

Contents

कृषि इनपुट योजना बिहार के राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना है जिसकी मदद से राज्य के किसानों को विभिन्न प्रकार के लाभ प्रदान किए जाएंगे। योजना के तहत मैं सभी किसान जिनकी फसलें बारिश या अन्य किसी कारणवश प्रभावित हुई हैं उनको उन फसलों का नुकसान पूर्ण करने के लिए प्रति हेक्टेयर अधिकतम 13500 रुपए की धनराशि वित्तीय सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2021 के तहत बिहार राज्य के सभी डिस्ट्रिक्ट जैसे कि भागलपुर औरंगाबाद गया बक्सर कैमूर जहानाबाद मुजफ्फरपुर पूर्व पंचायत पटना समेत अन्य डिस्ट्रिक्ट शामिल है। इस लेख के माध्यम से हम आपको बिहार इनपुट सब्सिडी स्कीम से संबंधित जानकारी कृषि इनपुट अनुदान कब मिलेगा 2021 प्रदान करेंगे।

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2021

योजना का नामकृषि इनपुट अनुदान योजना
इनके द्वारा शुरू किया गया हैबिहार सरकार द्वारा
लाभार्थीराज्य के किसान
विभागप्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://dbtagriculture.bihar.gov.in/

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना किशोर बाद भारत सरकार द्वारा अधिसूचित प्राकृतिक आपदा एवं राज्य सरकार द्वारा स्थानीय आपदा हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए शुरू की गई है। इस कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के तहत राज्य सरकार उन सभी किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करेगी जिन किसानों की फसलें बाढ़ या अतिवृष्टि से हुई क्षति के कारण तबाह हुए हैं। इसके लिए सरकार द्वारा ₹6800 प्रति हेक्टेयर मदद प्रदान की जाएगी एवं सिंचित क्षेत्रों के लिए ₹13500 प्रति हेक्टेयर की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। साथ ही आप हरिश्चंद्र सहायता योजना की जानकारी प्राप्त कर सकते है|

कृषि इनपुट अनुदान योजना(2020-21) bihar का उद्देश्य

जैसे की हम सब भली भांति जानते हैं कि देश भर में हर साल प्राकृतिक आपदा एवं अन्य कारणों के चलते किसानों की फसल को भारी मात्रा में क्षति पहुंचती है। की वजह से किसानों को भारी मात्रा में नुकसान का सामना करना पड़ता है जिसकी वजह से कई किसान आत्महत्या करने पर मजबूर हो जाते हैं। इन्हीं परेशानियों से किसानों को मुक्त करने हेतु कृषि इनपुट अनुदान योजना 2021 की शुरुआत की गई है। इस योजना के अंतर्गत प्राकृतिक आपदा से क्षति पहुंचने के कारण किसानों को सरकार द्वारा प्रति हेक्टेयर ₹13500 की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी। इस योजना की सहायता से किसानों को प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान की भरपाई प्रदान की जाएगी।

krishi input anudan yojana 2021 last date

योजना के तहत इस वर्ष के अप्रैल महीने से लेकर अब तक जिन किसानों की फसल ओले बारिश एवं अन्य प्राकृतिक आपदा के कारण नष्ट हुई है उनकी भरपाई के लिए बिहार सरकार ने इस योजना को शुरू किया है। की श्रेणी में जो फसलें आती हैं एवं प्राकृतिक आपदा के कारण नष्ट हो गई हैं तो किसानों को इससे संबंधित वित्तीय मदद बिहार सरकार द्वारा बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना के अंतर्गत प्रदान की जाएगी। यदि आप अभी तक इस योजना के तहत आवेदन नहीं कर पाए हैं तो बिहार सरकार आपको इसके लिए एक और मौका प्रदान कर रही है। योजना के तहत बिहार के सभी जिलों को अंतर्गत किया है जो कि गोपालगंज पूर्वी चंपारण मुजफ्फरपुर पश्चिम चंपारण बेगूसराय समस्तीपुर लखीमपुर भागलपुर खगड़िया सुपौल सहरसा मधेपुरा दरभंगा मधुबनी पूर्णिया अररिया एवं किशनगंज है।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना का लाभ

  • योजना के अंतर्गत चिंतित क्षेत्र के लाभार्थियों के लिए ₹6800 प्रति हेक्टेयर एवं सिंचित क्षेत्रों के किसानों के लिए ₹13500 की अनुदान राशि प्रदान करने का निर्णय लिया है।
  • योजना के तहत एक किसान से 2 हेक्टेयर फसल के लिए अनुदान प्राप्त कर सकता है।
  • इस योजना के तहत किसानों को अनुदान के रूप में न्यूनतम हजार रुपए की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी योजना के तहत सब्सिडी की राशि डीबीटी के माध्यम से प्रदान की जाएगी जिसके तहत आपके खाते में पैसा आधार कार्ड के माध्यम से प्रदान किया जाएगा।
  • राज्य के सभी इच्छुक लाभार्थी जो कि इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उनको आवेदन करना होगा।
  • योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपका जिला योजना के अंतर्गत आता है या नहीं।

इनपुट सब्सिडी योजना की पात्रता

  • योजना का आवेदन करने के लिए आवेदन बिहार राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • किसान के पास खेती करने हेतु योग्य भूमि होनी आवश्यक है।
  • किसान के पास खेती के लिए दस्तावेज होने अनिवार्य हैं।
  • किसान को एलपीजी, जमाबंदी, जमीन रसीद, आदि आधिकारिक दस्तावेज प्रदान करने होंगे।
  • आवेदक के पास मोबाइल नंबर एवं पासपोर्ट साइज फोटो होनी आवश्यक है।

कृषि इनपुट अनुदान योजना का आवेदन कैसे करें

बिहार राज्य के भारतीय कृषि इनपुट अनुदान योजना के तहत सब्सिडी प्राप्त करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए आवेदन प्रक्रिया को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

  • सर्वप्रथम आपको कृषि विभाग बिहार सरकार के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर ऑनलाइन आवेदन के विकल्प को चुनना होगा।
  • अब आपको कृषि इनपुट अनुदान के विकल्प पर क्लिक करना होगा प्रोग्राम अब आपके सामने नए पेज पर पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा।
  • अब अपना किसान पंजीकरण संख्या दर्ज करें।

krishi input subsidy

  • सर्च के बटन पर क्लिक करें ।
  • अब महत्वपूर्ण निर्देशों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।
  • आवेदन फॉर्म आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगा।
  • आवेदन फॉर्म में पूछी जानकारी जैसे आपकी आयु, नाम, पता, आधार संख्या, आदि दर्ज करें।

bihar krishi yojana

  • आपको अपनी भूमि से संबंधित जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको खेती से संबंधित उपलब्ध कराई गई जगह का विवरण प्रदान करना होगा।
  • अब ओटीपी के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर दर्ज करें।
  • पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी संख्या आएगी।
  • ओटीपी को आवेदन फॉर्म में दर्ज करें।
  • अब स्वयं घोषणा पत्र का चयन करें। अब आवेदन फॉर्म का ऑनलाइन जमा करें।

पंजीकरण करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम बिहार कृषि मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • अब पंजीकरण के विकल्प पर क्लिक करें।
  • पंजीकरण करें कि विकल्प को चुनें।

krishi input yojana bihar

  • ऑथेंटिकेशन टाइप का चयन करें।
  • आपके सामने पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा।
  • पंजीकरण फॉर्म में कुछ भी जानकारी जैसे आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल, ओटीपी आदि दर्ज करें।
  • अब अपने महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करें।
  • अब पंजीकरण के विकल्प पर क्लिक करें।

पावती प्रिंट करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम कृषि मंत्रालय बिहार सरकार की अधिकारी वेबसाइट पर जाएं।
  • अब पावती प्रिंट के विकल्प पर क्लिक करें।

krishi input anudan yojana

  • अब पावती प्रकार का चयन करें।
  • अपनी कृषि आईडी दर्ज करके डाटा का चयन करें।
  • अब सो के बटन पर क्लिक करें।

लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम कृषि विभाग बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होम पेज पर लॉगिन के बटन पर क्लिक करें।
  • अपनी आवश्यकता अनुसार विकल्प पर क्लिक करें।
  • अपनी लॉगिन आईडी एवं पासवर्ड दर्ज करें।
  • अब लॉगिन के बटन पर क्लिक करें।

आवेदन फॉर्म प्रिंट करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम कृषि विभाग बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • अब आवेदन की स्थिति के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आवेदन फॉर्म प्रिंट के बटन पर क्लिक करें।
  • इनपुट सब्सिडी प्रिंट के विकल्प को चुनें।
  • अपनी रजिस्ट्रेशन संख्या को दर्ज करें।
  • सर्च के बटन पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा|
  • प्रिंट के बटन पर क्लिक करके आवेदन फॉर्म को प्रिंट कर सकते हैं।

आवेदन स्थिति की जानकारी कैसे लें

  • बिहार सरकार की कृषि विभाग के अधिकारी वेबसाइट पर जाएं।
  • होम पेज पर आवेदन की स्थिति के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब इनपुट सब्सिडी के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब अपना एप्लीकेशन नंबर दर्ज करें।
  • अब सर्च के बटन पर क्लिक करें।

लाभार्थी किसान सूची कैसे देखें

  • सर्वप्रथम एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट बिहार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होम पेज पर लाजवंती किसान सूची के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपको पुण्य लाजवंती किसान सूची के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • अपने जिले पंचायत तथा योजना का चयन करें ।
  • अब रिकॉर्ड के बटन पर क्लिक करें।

कृषि अधिकारी लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम बिहार सरकार कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट dbt pm-kisan पर जाएं।
  • होम पेज पर कृषि अधिकारी लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने एक लॉगइन पेज खुल जाएगा।

krishi input anudan yojana bihar

  • अपने डेसिग्नेशन का चयन करें।
  • अपने यूजर आईडी एवं पासवर्ड दर्ज करें।
  • अब कैप्चा कोड को दर्ज करें एवं लॉगइन के बटन पर क्लिक करें।

डीबीटी संपर्क नंबर देखने की प्रक्रिया

  • एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • अब आपके सामने एक होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर डीबीटी संपर्क नंबर के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अपना पीडीएफ फाइल डाउनलोड करें।
  • अपना डीबीटी नंबर का चयन करें।

आधार लिंक बैंक खाते की जांच कैसे करें

  • एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • आप संपर्क करें के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आधार लिंक बैंक खाते की जांच करें कि विकल्प को चुनें।

bihar krishi input anudan yojana

  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • अब अपना आधार नंबर एवं सिक्योरिटी कोड दर्ज करें।
  • ओटीपी के बटन पर क्लिक करें।
  • अब ओटीपी को ओटीपी बॉक्स में दर्ज करें।

सीएससी केंद्र की जांच कैसे करें

  • सर्वप्रथम आपको एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर संपर्क करें के विकल्प पर क्लिक करें।
  • सीएससी केंद्र खोजें के विकल्प को चुनें।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • आपको अपना नाम जिले का नाम, सब स्टेट का नाम, एवं कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • अब सर्च के विकल्प पर क्लिक करना होगा

सहज केंद्र की जांच कैसे करें

  • सर्वप्रथम आपको बिहार सरकार एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • होम पेज पर संपर्क करें के विकल्प को चुनना होगा।
  • अब सहज केंद्र खोजें के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपको एजेंसी ब्लॉक डिस्ट्रिक्ट तथा ग्राम पंचायत का चयन करना होगा।
  • अब सच के बटन पर क्लिक करना होगा।

फीडबैक देने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम बिहार सरकार के एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होम पेज पर फीडबैक के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने फीडबैक का फॉर्म खुल जाएगा।
  • फॉर्म में पूछे हुए सभी महत्वपूर्ण जानकारी भरे।
  • अब संबंधित महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करें।
  • सबमिट के विकल्प पर क्लिक करें।

 

 

कोरोनावायरस महामारी के चलते महाराष्ट्र सरकार ने एक योजना को शुरू किया था जिसका नाम बंधकम कामगार योजना 2022 है। योजना के तहत राज्य के मजदूरों को सरकार द्वारा ₹2000 तक की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। वह सभी लाभार्थियों की योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उनको ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म को भरना होगा। इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि काम घर कल्याण योजना 2022 ऑनलाइन अप्लाई कैसे करें। महाराष्ट्र सरकार ने पंजीकृत श्रमिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए ₹2000 तक की धनराशि देने का निर्णय लिया है। यदि आप योजना का आवेदन, बांधकाम कामगार योजना 2022 लिस्ट, bandhkam kamgar yojana renewal करना चाहते हैं तो आपको कामगार योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

बांधकाम कामगार यादी 1500 – www mahabocw in 2022

इस योजना के तहत महाराष्ट्र राज्य के सभी कंस्ट्रक्शन वर्कर यानी मजदूरों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जिससे कि वह यह करो ना महामारी के समय में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना कर पाए। इस योजना को कई और नामों से भी जाना जाता है जैसे कि मजदूर सहायता योजना या फिर महाराष्ट्र कोरोना सहायता योजना। बांधकर कामगार योजना 2021 के अंतर्गत मजदूरों को ₹2000 तक की धनराशि प्रदान करने हेतु कई सारे नियम एवं गाइडलाइंस को जारी किया गया था।

इस योजना के अंतर्गत राज्य के 12 लाख से ज्यादा मजदूर इस योजना का लाभ उठा पाएंगे। जो भी श्रमिक विभाग के आधिकारिक वेबसाइट से पंजीकृत है तो उनको यह सहायता राशि सीधे उनके बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी।

bandhkam kamgar yojana mahiti

या योजनेंतर्गत महाराष्ट्र राज्यातील सर्व बांधकाम कामगारांना आर्थिक सहाय्य केले जाईल जेणेकरुन त्यांना महामारीच्या काळात कोणत्याही प्रकारची समस्या येऊ नये. ही योजना इतर अनेक नावांनी देखील ओळखली जाते जसे की मजदूर सहायता योजना किंवा महाराष्ट्र कोरोना सहायता योजना. बांधकर कामगार योजना 2021 अंतर्गत, मजुरांना ₹ 2000 पर्यंत निधी देण्यासाठी अनेक नियम आणि मार्गदर्शक तत्त्वे जारी करण्यात आली होती. या योजनेंतर्गत राज्यातील 12 लाखांहून अधिक मजुरांना या योजनेचा लाभ घेता येणार आहे. ज्यांनी कामगार विभागाच्या अधिकृत वेबसाइटवर नोंदणी केली असेल, त्यांना ही मदत रक्कम थेट त्यांच्या बँक खात्यात हस्तांतरित केली जाईल.

kamgar yojana online application

बांधकर कामगार योजना के तहत ₹2000 की आर्थिक मदद प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको इस पोर्टल पर bandhkam kamgar yojana registration करना होगा। यदि आप जानना चाहते हैं कि योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन एवं पंजीकरण कैसे करें तो नीचे दी गई प्रक्रिया को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

  • सर्वप्रथम इस योजना के आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • अब आपको वर्कर रजिस्ट्रेशन के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब वर्कर के लिंक पर क्लिक करें।

Kamgar Kalyan Yojana Registration

  • अब आपके सामने पात्रता मापदंड की सूची खुल जाएगी।
  • आपको यह पता मापदंड की सूची एवं दस्तावेज की जांच करनी होगी।
  • दिए गए विकल्पों पर क्लिक करें।

Kamgar Yojana Registration

  • अब चेक किया और एलिजिबिलिटी के विकल्प पर क्लिक करें।
  • यदि आप इस योजना के आवेदन के लिए एलिजिबल यानी पात्र होंगे तो आपके स्क्रीन पर एक पॉपअप आएगा जिसके बाद आपको ओके के बटन पर क्लिक करना होगा।

Bandhkam Kamgar Kalyan Yojana Registration

  • अब अपना आधार नंबर एवं आधार नंबर से लिंक मोबाइल नंबर दर्ज करें।
  • ड्रॉपडाउन में से अपना डिस्ट्रिक्ट का चयन करें।

Kamgar Kalyan Yojana

  • अब सेंड ओटीपी के विकल्प पर क्लिक करें।
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त हुए ओटीपी को दर्ज करें।
  • अब रजिस्ट्रेशन फॉर्म को ध्यानपूर्वक भरे।
  • अब क्लेम के बटन पर क्लिक करें।

bandhkam kamgar yojana 2021 online form

जो भी इच्छुक लाभार्थी बांधकर काम घर योजना के लिए ऑनलाइन की जगह ऑफलाइन आवेदन करने के इच्छुक हैं तो वह bandhkam kamgar yojana 2021 form pdf आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए हमारे द्वारा नीचे प्रदान किया गया लिंक पर क्लिक करें। अब आपके सामने एक आवेदन फॉर्म पीडीएफ फॉर्मेट में खुल जाएगा। डाउनलोड के बटन पर क्लिक करके इस फॉर्म को डाउनलोड करें। यह एक आधिकारिक आवेदन फॉर्म है जो कि सरकार द्वारा आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से डाउनलोड किया जा सकता है।

maharashtra bandhkam kamgar yojana form pdf download: Click here  

महाराष्ट्र बांधकाम कामगार योजना की पात्रता

यदि आप इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो निम्नलिखित करना अनिवार्य है। नीचे दिए गए पात्रता मापदंडों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

  • आवेदन श्रमिक की आयु 18 वर्ष से 60 वर्ष के बीच में होनी चाहिए|
  • योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए श्रमिक का महाराष्ट्र इमारत एवं उत्तर बांधकाम कामगार कल्याण विभाग में रजिस्टर होना आवश्यक है।
  • योजना का आवेदन से महाराष्ट्र राज्य के स्थाई निवासी ही कर पाएंगे|
  • इस योजना का लाभ उन्हीं श्रमिकों को मिलेगा जिन्होंने पिछले 12 महीने में कम से कम 90 दिन श्रम किया हो

महाराष्ट्र बांधकाम कामगार योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

अगर आप कामगार योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास नीचे दिए गए आवश्यक दस्तावेज होने अनिवार्य हैं।

  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • 90 दिन का श्रम सर्टिफिकेट
  • मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पहचान प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र

कामगार कल्याण योजना  मान्यता प्राप्त कार्यों की सूची (बांधकाम कामगार सूची)

  • इमारतें,
  • सड़कें,
  • सड़कें,
  • रेलवे,
  • ट्रामवेज,
  • हवाई क्षेत्र,
  • सिंचाई,
  • जल निकासी,
  • तटबंध और नौवहन कार्य,
  • बाढ़ नियंत्रण कार्य (तूफान जल निकासी कार्य सहित),
  • पीढ़ी,
  • बिजली का पारेषण और वितरण,
  • वाटर वर्क्स (पानी के वितरण के लिए चैनल सहित),
  • तेल और गैस प्रतिष्ठान,
  • विद्युत लाइनें,
  • तार रहित,
  • रेडियो,
  • टेलीविजन,
  • टेलीफोन,
  • टेलीग्राफ और विदेशी संचार,
  • बांध,
  • नहरें,
  • जलाशय,
  • जलकुंड,
  • सुरंगें,
  • पुल,
  • पुलिया,
  • एक्वाडक्ट्स,
  • पाइपलाइन,
  • टावर्स,
  • जल शीतलक मीनार,
  • ट्रांसमिशन टावर्स और ऐसे ही अन्य कार्य,
  • पत्थर को काटना, तोड़ना और पत्थर को बारीक पीसना।
  • टाइलों या टाइलों को काटना और पॉलिश करना।
  • पेंट, वार्निश आदि के साथ बढ़ईगीरी,
  • गटर और नलसाजी कार्य।,
  • वायरिंग, वितरण, टेंशनिंग आदि सहित विद्युत कार्य,
  • अग्निशामक यंत्रों की स्थापना और मरम्मत।,
  • एयर कंडीशनिंग उपकरण की स्थापना और मरम्मत।,
  • स्वचालित लिफ्टों आदि की स्थापना,
  • सुरक्षा दरवाजे और उपकरणों की स्थापना।,
  • लोहे या धातु की ग्रिल, खिड़कियां, दरवाजों की तैयारी और स्थापना।
  • सिंचाई के बुनियादी ढांचे का निर्माण।,
  • बढ़ईगीरी, आभासी छत, प्रकाश व्यवस्था, प्लास्टर ऑफ पेरिस सहित आंतरिक कार्य (सजावटी सहित)।
  • कांच काटना, कांच पर पलस्तर करना और कांच के पैनल लगाना।
  • कारखाना अधिनियम, 1948 के अंतर्गत नहीं आने वाली ईंटों, छतों आदि को तैयार करना।
  • सौर पैनल आदि जैसे ऊर्जा कुशल उपकरणों की स्थापना,
  • खाना पकाने जैसे स्थानों में उपयोग के लिए मॉड्यूलर इकाइयों की स्थापना।
  • सीमेंट कंक्रीट सामग्री आदि की तैयारी और स्थापना,
  • स्विमिंग पूल, गोल्फ कोर्स आदि सहित खेल या मनोरंजन सुविधाओं का निर्माण,
  • सूचना पैनल, सड़क फर्नीचर, यात्री आश्रय या बस स्टेशन, सिग्नल सिस्टम का निर्माण या निर्माण।
  • रोटरी का निर्माण, फव्वारे की स्थापना आदि।
  • सार्वजनिक पार्कों, फुटपाथों, सुरम्य इलाकों आदि का निर्माण।

2021 update