news

Gulab Shayari 2022 | Rose Shayari in Hindi – गुलाब शायरी

इस आर्टिकल में, हम शेयर करने जा रहे है, गुलाब शायरी २ लाइन्स, गुलाब पर शायरी रेख़्ता, shayari in hindi gulab ka phool, gulab love shayari in hindi, shayari on gulab jamun in hindi, gulab dard shayari in hindi, gulab par shayari in hindi, gulab ka phool shayari in hindi, gulab jamun shayari in hindi

Gulab Shayari – गुलाब पर शायरी हिंदी में

मैं चाहता था कि उस को गुलाब पेश करूँ,
वो खुद गुलाब था उस को गुलाब क्या देता.
अफ़जल इलाहाबादी

काँटों से घिरा रहता है,
फिर भी गुलाब खिला रहता है

दिन में आने लगे हैं ख़्वाब मुझे
उस ने भेजा है इक गुलाब मुझे
इफ़्तिख़ार राग़िब

तेरे बगैर किसी और को देखा नही मैंने,
सूख गया तेरा गुलाब मगर फेका नहीं मैंने.

गुलाब शायरी डाउनलोड

गुलाब जैसी हो,
गुलाब लगती हो,
हल्का सा जो मुस्कुरा दो,
तो लाजवाब लगती हो.

फूल गुलाब का भेज रहे है आपके लिए,
लबों से छूकर जान इसमें डाल दीजिए.

गुलाब से पूछो कि दर्द क्या होता है,
देता है पैगाम मोहब्बत का और खुद काँटों में रहता है.

ये खूबसूरत प्यारा सा गुलाब मैंने उन्हें दे दिया,
जिन्होंने बिना सोचे मोहब्बत से भरा दिल मुझे दे दिया.

गुलाब पर गजल

उनकी जुल्फों की खूबसूरती और बढ़ गई,
जब एक गुलाब उनके बालो में सज गई.

मेरी बेचैनियों का कुछ यूँ हिसाब रखना,
कि हर हिचकी पर तुम इक गुलाब रखना.

गुलाब पर ये जुल्म क्यों ढाते है लोग,
इश्क़ के इजहार के लिए तोड़ लाते है लोग.

इंसान गुलाब को कब डालियों में छोड़ते है,
मोहब्बत का वास्ता देकर बड़े अदब से तोड़ते है.

Gulab ka Phool shayari in Hindi

Rose Shayari
टूटे हुए इंसान की आँखों से निकलता है आब,
हसीन कितना भी हो बिखर जाता है जैसे गुलाब.

ये सिर्फ एक गुलाब नही,
मेरी प्यार की निशानी है,
रखना इसे आप संभाल के
इस के हर पत्ते में छुपी
हमारे प्यार की कहानी है.

प्यार का तोहफा कुछ इस तरह दिया उसने,
एक गुलाब में सब कुछ कह दिया उसने,
उसका ये हुनर हम भी आजमाएंगे,
देकर लम्हें प्यार के हम भी इश्क जताएंगे.

Rose Status in Hindi

लग गई बद्दुआ हमें उन गुलाबों की,
जिनका कत्ल हमने तुम्हारी खातिर किया था.

काटें तो आने ही थे हमारे नसीब में,
हमने यार भी तो गुलाब जैसा चुना था.

मोहब्बत गुलाब से हो जाए,
तो काटों से नफ़रत क्या?

राहो की कठिनाईयों से
इतना मायूस ना हो ऐ ग़ालिब
आखिर एक गुलाब को
काटों में ही खिलना पड़ता है.

Gulab dard shayari in Hindi

गुलाब शायरी
लफ्जों की तरह तुझे किताबों में मिलेंगे,
बनके महक तुझे गुलाबों में मिलेंगे,
खुद को कभी अकेला न समझना
हर पल हम तेरे दिल में या तेरे ख्वाबो में मिलेंगे.

चेहरा आपका खिला रहे गुलाब की तरह,
नाम आपका रोशन रहे आफताब की तरह,
गम में भी आप हँसते रहे फूलों की तरह
अगर हम इस दुनिया में न रहे आज की तरह.

क्या मैं आपकी तारीफ़ करूँ अल्फाज़ नही मिलते,
हुजूर आप वो गुलाब है जो शाख पर नही खिलते.

गुलाब का फूल शायरी

सफर वही तक है जहाँ तक तुम हो,
नजर वही तक है जहाँ तक तुम हो,
हजारों फूल देखे है इस गुलशन में मगर
खुशबू वही तक है जहाँ तक तुम हो.

ख़ामोश बैठी गजल को अल्फाज़ दे आया,
आज एक गुलाब को गुलाब दे आया.

गुलाब की भीनी खुशबू से
महका मानो हर नजारा है,
आपकी चाहत, आपका साथ
आने वाले कल का सहारा है.

गुलाब शायरी हिंदी
मेरी जिन्दगी गुलाब की तरह खिल जाती,
अगर ‘मोहब्बत’ के बदले ‘मोहब्बत’ मिल जाती.

Gulab Shayari 2 Lines Hindi

लोगो के दामन अब नम दिखाई देते हैं,
फूल अब गुलाबों के कम दिखाई देते हैं.

हम गये थे ले कर जिस के लिए गुलाब,
वो ख़ुद ही गुलाब बन के आई थी जनाब.

Gulab Sad Shayari in Hindi
कितना महफूज़ था गुलाब काटों की गोद में,
लोगो की मोहब्बत में पत्ता-पत्ता बिखर गया.

हर गुलाब की किस्मत में नही होता,
किसी किताब में घर मिलना.

गुलाब से पंखुडिया अलग होने लगी है,
लगता है प्यार में की हुई गलतियाँ अब सुधरने लगी है.


Gulab Motivational Shayari in Hindi

Gulab Love Shayari in Hindi
किताब में सूखे गुलाबों की भी एक कहानी है,
किसी का बड़े प्यार से दिया हुआ निशानी है

गुलाब सी खिली मुस्कान है तेरी,
तुझे प्यार करना आदत है मेरी.

Gulab Status in Hindi
काँटों में गुलाब की तरह खिलना है जिन्दगी,
गैरों से भी अपनों की तरह मिलना है जिन्दगी.

हकीकत में सच हो ऐसा इक ख्वाब चाहिए,
इक गुलाब के हाथों से गुलाब चाहिए.

गुलाब स्टेटस हिंदी

बचपन में देखी हसीन ख्वाब सी हो,
सच कहूँ तो तुम बिल्कुल गुलाब सी हो.

जिन्दगी कुछ यूँ उलझ कर रह गई,
जैसे काँटों के बीच उलझे हो गुलाब.

सूरत तुम्हारी फूल सी किसी बाग़ की,
नाजुक से होठ जैसे पंखुड़ी गुलाब की.

रोज शायरी इन हिंदी

गुलाब की तरह काटों में रहना सीखों,
कमल की तरह कीचड़ में खिलना सीखो,
मदहोशी में होश तो संभाल लेते है कई लोग,
पर जिन्दा रहकर फरिश्तों की तरह रहना सीखो.

दिल की किताब में गुलाब उनका था,
रात की नींद में ख्वाब उनका था,
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा
मर जायेंगे तुम्हारे बिना ये जवाब उनका था.

ना जाने कितनों के दिल टूटे है इन्तजार में,
ना जाने कितने गुलाब सूखे है किताब में.

पैर में लगे कांटे ने बताया कि
इस गली में जरूर कोई गुलाब है.