Hindi Lekh

Few Lines about World Population Day in Hindi- Paragraph on World Population Day in Punjabi & Marathi

Few Lines about World Population Day

विश्व जनसंख्या दिवस दुनिया भर में जनसंख्या संबंधी मुद्दों के बारे में ज्ञान फैलाने के उद्देश्य और उद्देश्यों के साथ हर साल 11 जुलाई को मनाया जाता है। यह 30 वर्षों से देखा गया है और मुद्दे अभी भी बढ़ रहे हैं। जब पहली विश्व जनसंख्या देखी गई थी तो यह 5.25 बिलियन लोग ग्रह पृथ्वी को साझा कर रहे थे लेकिन आज जनसंख्या 7.7 बिलियन के निशान को पार करने के लिए है।

प्यू रिसर्च सेंटर द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत वर्ष 2100 में 1450 मिलियन लोगों को समायोजित करने की कोशिश करेगा। वर्ष 1950 और 2100 प्यू रिसर्च सेंटर के बीच तुलनात्मक तुलना का दावा है कि भारत 2100 तक चीन से आगे निकल जाएगा। इसके अलावा, दुनिया के 10 सबसे बड़े देशों में से पांच का अनुमान है। अफ्रीका में होना है। प्यू रिसर्च सेंटर ने वर्ष 2100 तक दुनिया के 10 सबसे अधिक आबादी वाले देशों की सूची बनाई।

Few Lines on Population Day in Hindi

World population day theme 2020: इस साल की विश्व जनसंख्या दिवस 2020 थीम है “Family Planning is a Human Right” यानी की “पारिवारिक योजना एक मानव अधिकार है”| आज हमारे द्वारा दिए गए वर्ल्ड पॉपुलेशन डे पर कुछ संक्षिप्त निबंध (short essays) और लंबे निबंध (long essays), Posters on World Population Day with Slogans, lines writing in school, ये विश्व जनसंख्या दिवस पर भाषण, विश्व जनसंख्या दिवस पर स्पीच, विश्व जनसंख्या दिवस पर नारे, जागतिक लोकसंख्या दिवस निबंध, विश्व जनसंख्या दिवस पर कविता, एस्से ओं वर्ल्ड पापुलेशन डे, Pictures of world population day, best lines on world population day, विश्व जनसंख्या निश्चित रूप से आयोजन समारोह या बहस प्रतियोगिता (debate competition) यानी स्कूल कार्यक्रम में स्कूल या कॉलेज में निबंध में भाग लेने में छात्रों की सहायता करेंगे। इन वन महोत्सव पर हिंदी स्पीच हिंदी में 100 words, 150 words, 200 words, 400 words जिसे आप pdf download भी कर सकते हैं|

  • आज 11 जुलाई को पूरी दुनिया में विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। विश्व जनसंख्या दिवस, विश्व आबादी से जुड़े मुद्दों और जागरुकता को लेकर मनाया जाता है। यूं तो मानव ने हर क्षेत्र में तेजी से प्रगति की है और यह प्रक्रिया लगातार जारी है।
  • नए-नए तकनीकि अविष्कार ने मानव जीवन को बिल्कुल बदल कर रख दिया है, लेकिन इस अंधाधुंध विकास के बीच के कई समस्याएं भी चुनौती के रूप में सामने खड़ी हुई हैं।
  • इनमें एक समस्या है तेजी से बढ़ती जनसंख्या। इसको नियंत्रित करने के लिए लंबे समय से प्रयास जारी हैं, लेकिन बावजूद इसके जनसंख्या में वृद्धि लगातान बढ़ती जा रही है। खासकर विकासशील देशों में जनसंख्या विस्फोट गहरी चिंता का विषय है।
  • विश्व जनसंख्या दिवस की शुरूआत 11 जुलाई 1989 में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम द्वारा की गई थी। उस वक्त विश्व की जनसंख्या लगभग 5 अरब थी।
  • इस जनसंख्या की ओर ध्यान देते हुए 11 जुलाई 1989 को वर्ल्ड पॉपूलेशन डे की घोषणा की गई।
  • इस दिवस का उद्देश्य ये है कि विश्व का हर नागरिक इस ओर ध्यान दे और जनसंख्या नियंत्रण में अपना योगदान दे।
  • इस दिन बढ़ती जनसंख्या के समाधान और इस ओर जागरुकता फैलाने के लिए राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कई क्रियाकलाप किए जाते हैं।
  • इनमें शैक्षणिक जानकारी सत्र, निबंध लेखन प्रतियोगिता, विभिन्न विषयों पर लोक प्रतियोगिता, पोस्टर वितरण, सेमिनार और चर्चा शामिल हैं।
  • इन क्रियाकलापों द्वारा परिवार नियोजन और गर्भ से जुड़ी तमाम जानकारियों से लोगों को जागरुक किया जाता है।

Paragraph On Population Day in Hindi

भारत चीन के बाद दुनिया में दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है और अगले पांच वर्षों में – 2024 तक – भारत चीन से आगे निकल जाएगा। उच्च जनसंख्या एक समस्या है जिसके बारे में लगातार सरकारें जागरूक रही हैं और ऐसा नहीं है कि इसे संबोधित करने के लिए कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। यह अनुमान लगाने के लिए कि यह समस्या कितनी गंभीर है, हमें इस तथ्य को जानना चाहिए कि भारत में विश्व की आबादी का 16 प्रतिशत से अधिक है, लेकिन इसका भूमि क्षेत्र दुनिया के भूमि क्षेत्र का केवल 2.4% है। संयुक्त राष्ट्र ने विश्व भर में जनसंख्या से संबंधित मुद्दों के बारे में जानकारी फैलाने के लिए विश्व जनसंख्या दिवस को एक महत्वपूर्ण घटना के रूप में मान्यता दी है। हर साल के विपरीत, इस वर्ष कोई विशिष्ट विषय नहीं है, लेकिन दिन का उद्देश्य मातृ स्वास्थ्य की ओर ध्यान आकर्षित करना है।

Short Paragraph – 11 जुलाई वर्ल्ड पॉपुलेशन डे

11 जुलाई को सालाना पूरे विश्व में विश्व जनसंख्या दिवस के रुप में एक महान कार्यक्रम मनाया जाता है। पूरे विश्व में जनसंख्या मुद्दे की ओर लोगों की जागरुकता को बढ़ाने के लिये इसे मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की संचालक परिषद के द्वारा वर्ष 1989 में इसकी पहली बार शुरुआत हुई। लोगों के हितों के कारण इसको आगे बढ़ाया गया था जब वैश्विक जनसंख्या 11 जुलाई 1987 में लगभग 5 अरब (बिलीयन) के आसपास हो गयी थी।

2012 विश्व जनसंख्या दिवस उत्सव के थीम (विषय) के द्वारा पूरे विश्व भर में ये संदेश “प्रजनन संबंधी स्वास्थय सुविधा के लिये सार्वभौमिक पहुँच” दिया गया था जब पूरे विश्व की जनसंख्या लगभग 7,025,071,966 थी। लोगों के चिरस्थायी भविष्य के साथ ही ज्यादा छोटे और स्वस्थ समाज के लिये सत्ता द्वारा बड़े कदम उठाये गये थे। प्रजनन संबंधी स्वास्थ देख-रेख की माँग और आपूर्ति पूरी करने के लिये एक महत्वपूर्णं निवेश किया गया है। जनसंख्या घटाने के द्वारा सामाजिक गरीबी को घटाने के साथ ही जननीय स्वास्थ्य बढ़ाने के लिये कदम उठाये गये थे।

Paragraph on World Population day in English

यद्यपि आपको इस कारण के बारे में पता होना चाहिए कि हमने क्यों यहां सबको इकट्ठा किया है लेकिन उन सभी के लिए जो अभी भी यहाँ मौजूद होने के बारे में सोच रहे हैं मैं जल्दी ही इस मीटिंग के उद्देश्य को आपके साथ साझा करूँगा। असल में हमें इस साल संयुक्त राष्ट्र द्वारा शुरू किए गए विश्व जनसंख्या दिवस के जश्न के लिए स्थानीय एजेंसियों से एक पत्र प्राप्त हुआ है। यह दिन हर साल 11 जुलाई को लोगों के अधिकारों के प्रचार के लिए मनाया जाने वाला एक वार्षिक उत्सव है और साथ ही उन्हें अपने परिवार की बेहतर तरीके से योजना बनाने में मदद करने के लिए मनाया जाता है। यह लोगों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए घटनाओं, गतिविधियों और सूचनाओं का समर्थन करता है ताकि वे अपने अधिकारों का उपयोग कर सकें और अपने परिवार के बारे में उचित निर्णय ले सकें।

हमारा संगठन पूरे शहर में उत्साहपूर्वक विश्व जनसंख्या दिवस का जश्न मनाने के लिए प्रसिद्ध है। मुझे यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि स्थानीय और साथ ही राज्य सरकार ने हमें अपने अधिकारों के बारे में जागरूकता फैलाने और पारिवारिक नियोजन के बारे बात करने के लिए हमारी प्रशंसा की है।

5 lines – जनसँख्या दिवस

  • विश्व जनसंख्या 11 जुलाई को मनाया जाता है और आज इसे दुनिया भर में मनाया जा रहा है। इसका उद्देश्य वैश्विक जनसंख्या मुद्दों के बारे में जागरूकता फैलाना है।
  • लोगों को परिवार के नियोजन, मातृ स्वास्थ्य, गरीबी के महत्व जैसे विभिन्न मुद्दों से अवगत होना चाहिए। आंकड़ों के मुताबिक 2016 तक विश्व की आबादी 7 अरब तक पहुंच गई है जो वाकई विश्व के लिए एक गंभीर मुद्दा है।
  • ईश्वर की कृपा से हमें पृथ्वी पर कई संसाधनों का आशीर्वाद मिला है लेकिन क्या हम वास्तव में उन संसाधनों को बनाए रखने में सक्षम हैं या हम इस तरह के संसाधनों को संभाल सकते हैं। नहीं हम इतना सब कुछ नहीं कर सकते।
  • अच्छे भविष्य के लिए हमें इस बढ़ती आबादी को नियंत्रित करने की जरूरत है।
  • इस दिन का जश्न मनाने के उद्देश्य को भी स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों से जोड़ा जाता है क्योंकि हर साल महिलाएं प्रजनन अवधि में प्रवेश कर रही हैं और प्रजनन स्वास्थ्य के प्रति ध्यान देना जरूरी है। लोगों को परिवार नियोजन, गर्भ निरोधकों और सुरक्षा उपायों के उपयोग के बारे में पता होना चाहिए जो सेक्स से संबंधित मुद्दों को रोक सकते हैं।

 

Leave a Comment