Tyohaar

Eid Kitne Tarikh Ko Hai – EID 2018 date in India

जैसा की हम सब जानते ही है की भारत एक धार्मिक देश है| इस देश में बहुत से धर्म है जैसे, हिन्दू, मुस्लिम, सिख और ईसाई धर्म| हर धर्म के अपने रिवाज़ और प्रथा है| त्योहारों की बात करे तो हर धर्म में अलग अलग त्यौहार होते है| इस्लामिक धर्म में बहुत से त्यौहार और रिवाज़ होते है जिसने उनकी श्रद्धा जुडी है| ऐसा ही एक भव्य त्यौहार है ईद| साल में दो बार आने वाला यह त्यौहार बेहद ही ख़ास होता है| इस त्यौहार के समय इस्लामिक धर्म के लोग गले मिलकर ईद की बधाई देते है| ईद के मूके पर दुश्मन भी दोस्त बनकर सारे गीले शिकवे मिटा देते है| आज के इस पोस्ट में हम आपको ईद कितने तारीख को है, ईद कितनी तारीख की है, eid kitne tarikh ko है, ईद कितने तारीख को है, बकरी ईद कितने तारीख को है, ईद कितनी तारीख को है, आदि की जानकारी देंगे|

EID 2018 date in India

अगर आप जानना चाहते हैं की ईद कौन सी तारीख को है या ईद कब मनाई जाएगी तो हम आपक बता दे इन की ईद २०१८ (Eid al-Fitr 2018) यानी की eid mubarak 2018 14 जून २०१८ गुरुवार को शुरू होकर 15 जून २०१८ शुक्रवार को ख़तम होगी| आप सभी को ईद मुबारक आप चाहे तो रमजान मुबारक शायरी हिंदीरमजान मुबारक फोटो भी देख सकते हैं|

Eid kitni Tarikh Ko Hai

आइये अब हम आपको bakra eid kitne tarikh ko है, eid ul fitr kitni tarikh ko hai, eid ul zuha kitne tarikh ko hai, eid kitne tarikh ko h, eid kitni tarikh ko hai 2018, eid ul adha kitni tarikh ko hai, eid milad un nabi kitni tarikh ko है, आदि की जानकारी के बारे में बताते है|

ईद बहुत ही ख़ास त्यौहार है| यह पूरे विश्व के इस्लामिक धर्म के लोगो द्वारा बहुत अच्छे से और श्रद्धा से मनाया जाता है| सब ही इस्लामिक धर्म के लोग रमज़ान के महीने के शुरू होने से ही ईद के इंतज़ार में लग जाते है| रमज़ान के महीने के चौथे जुम्मे के ख़तम होने के बाद ही सब लोग जोर शोर से ही ईद की तैयारी में लग जाते है| इस बार के ईद का त्यौहार बहुत ही ख़ास है| इस बार ईद 14 जून शाम से अगले दिन 15 जून शाम को ख़तम होगा| ईद के समय रात के वक्त आसमान में तारो की टीम तिमाहट जन्नत का रुस्वार करवाती है| यह खुशियों का त्यौहार है|

Eid Kitne Tarikh Ki Hai

Eid kitni Tarikh Ko Hai

ईद अल-फ़ितर में एक विशेष सलात होती है जो की एक इस्लामिक प्रथा है जिसमें दो इकाइयों शामिल हैं और आम तौर पर खुले मैदान या बड़े हॉल में पेश किए जाते हैं। यह केवल जमात में किया जा सकता है और इसमें अतिरिक्त अतिरिक्त छह ताकबीर है जिसका मतलब अल्लाह अकबर” कहकर कानों के हाथों को उठाना जिसका अर्थ है “भगवान महानतम है,

मुसलमानों का मानना ​​है कि कुरान में वर्णित अल्लाह द्वारा उन्हें आदेश दिया जाता है, रमजान के अंतिम दिन तक अपना उपवास जारी रखने के लिए और ईद प्रार्थनाओं की पेशकश करने से पहले जकात अल-फ़ितर का भोजन करने के लिए|

ईद कब की है 2018

ईद के दौरान जकात अल फितर का भोजक करना आवश्यक होता है जो की हर रमज़ान के महीने के अंत में होता है| यह एक प्रकार का भोज होता है जो अल्ला को समर्पित होता है| इस भोज का महत्व इसलिए भी है क्युकी इससे अल्लाह को धन्यवाद दिया जाता है जिन्होंने हमे भोजन दिया और जीने का सही तरीका बताया|

आम तौर पर, अल ईद के दिन मुसलमान मस्जिदों में मण्डली या खेतों, वर्गों आदि जैसे खुले इलाकों में आयोजित एक विशेष ईद प्रार्थना में भाग लेने से पहले एक-दूसरे को नमस्कार करते हैं। मुस्लिमों को अपने सर्वश्रेष्ठ कपड़े पहनने के लिए प्रोत्साहित किया जाता हैजो की ईद के अवसर के लिए आवश्यक है|

ऊपर हमने आपक बताया है बकरा ईद कब की है, मीठी ईद कब की है, Bakra Eid Kitni Tarikh Ko Hai, ईद कब की है 2017, ईद कब है 2018, ईद उल फितर कब है, ईद कितनी तारीख की है, रमजान ईद कब है

Leave a Comment