Mukhyamantri Dalit Sashaktikaran Yojana

Mukhyamantri Dalit Sashaktikaran Yojana
Spread the love

तेलंगाना सरकार ने हाल ही में एक नई परियोजना को शुरू करने का निर्णय लिया है जिसका नाम दलित सशक्तिकरण योजना है। इस योजना को दलित बंधु टीम के नाम से जाना जाएगा। इस योजना को तेलंगाना के मुख्यमंत्री श्री चंद्रशेखर राव द्वारा तेलंगाना के नागरिकों के लिए शुरू किया है। इस योजना से संबंधित मुख्य निर्णय राज्य सरकार की कैबिनेट मीटिंग में लिए गए थे। इस कैबिनेट मीटिंग में इस योजना से संबंधित सभी जानकारी को सुचारु रुप से लागू करने का निर्णय लिया है। तेलंगाना दलित सशक्तिकरण योजना के साथ ही कई सारे नई परियोजनाओं को भी लागू किया जाएगा। इस योजना की शुरुआत कब की जाएगी इसका निर्णय मुख्यमंत्री द्वारा किया जाएगा परंतु जानकारी के मुताबिक यह योजना जल्द से जल्द लागू की जाएगी।

dalit sashaktikaran yojana in hindi 2021

तेलंगाना के मुख्यमंत्री जी द्वारा दलित सशक्तिकरण योजना 2021 के संबंध में जानकारी दी गई है। मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव द्वारा यह बताया गया है कि इस योजना के संबंध में हजार करोड रुपए का बजट तय किया गया है। इस योजना को लागू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में दलित जाति से संबंधित लोगों को सशक्त बनाना है एवं उनको वित्तीय सहायता प्रदान करना है। हाल ही में दलित जन प्रतिनिधियों की बैठक में सुझाव दिया गया कि दलित परिवारों को सीधे वित्तीय सहायता दी जानी चाहिए ताकि वे अपना काम चुन सकें और विकास कर सकें। रायथु बंधु योजना की तरह, दलित बंधु योजना के लाभार्थियों को सीधे उनके बैंक खातों में सहायता मिलेगी। सीएम ने निर्देश दिए कि दलित परिवार की प्रोफाइल तैयार कर उनका जीवन बेहतर बनाया जाए. उन्होंने कहा कि दलितों की समस्याएं एक समान नहीं होंगी और वे ग्रामीण, अर्ध शहरी से लेकर शहरी क्षेत्रों तक अलग-अलग हैं। इन श्रेणियों पर वर्गीकरण किया जाए और दलित बंधु योजना लागू की जाए।

mukhymantri dalit sashaktikaran yojana का फंड आवंटन

मुख्यमंत्री द्वारा यह कहा गया है कि पूरे राज्य में दलित सशक्तिकरण योजना को पहले के अनुसार लागू किया जाएगा। पहले इसका मुख्य बजट 12:00 सौ करोड रखा गया था परंतु हुजूराबाद निर्वाचन क्षेत्र जोकि पायलट परियोजना को लागू करने के लिए चुना गया है इससे संबंधित पूरे विधानसभा क्षेत्र में पात्र परिवारों के लिए दलित सशक्तिकरण योजना को लागू किया जाएगा एवं इसके दिशा निर्देश भी प्रदान किए जाएंगे। इस संबंध में मुख्यमंत्री जी द्वारा निर्वाचन क्षेत्र में अतिरिक्त 1500 से 2000 करोड रुपए का बजट नियुक्त किया गया है। इस बजट से संबंधित विवरण मुख्यमंत्री द्वारा जल्द ही प्रदान किया जाएगा। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि पायलट विधानसभा क्षेत्र में जमीनी स्तर के आधार पर इस योजना को लागू किया जाएगा एवं इसकी समीक्षा की जाएगी। इसकी मदद से इस योजना को पूरे राज्य में लागू करना आसान हो जाएगा। पायलट प्रोजेक्ट के अनुसार कलेक्टर के साथ चयनित अधिकारी इस योजना के संबंध में लोगों को जानकारी प्रदान करेंगे एवं जल्द ही उनके लिए एक वर्कशॉप भी आयोजित की जाएगी।

mukhymantri dalit sashaktikaran yojana के मुख्य तत्व

  • इस योजना के संबंध में कहा गया है कि तेलंगाना दलित बंधु योजना के तीन मुख्य चरण होंगे।
  • पहले चरण में योजना के कार्यान्वयन की निगरानी की जाएगी।
  • दूसरे चरण में परिवारों का मूल्यांकन किया जाएगा।
  • तीसरे चरण में सरकार की भागीदारी एवं लाभार्थियों के लिए एक सुरक्षा पूर्ण प्लेटफार्म तैयार किया जाएगा।
  • सीएम द्वारा अधिकारियों को यह जानकारी भी दी गई कि योजना के तहत हर परिवार को लगभग 10 लाख रुपए तक की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • यदि किसी उन्होंने के कारण लाभार्थी की मृत्यु हो जाती है तो दलित बंधु योजना के तहत लाभार्थी के परिवार को फंड में से मदद प्रदान की जाएगी।
  • वे सभी दलित परिवार जिन्होंने इस योजना के लिए आवेदन करा होगा उन्हें आपातकालीन स्थिति में वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

mukhymantri dalit sashaktikaran yojana का उद्देश्य

  • दलित संरक्षण योजना का मुख्य उद्देश्य दलित परिवारों को उनकी वर्तमान स्थिति में उत्तर प्रदान करना है।
  • इस योजना की मदद से जमीनी स्तर पर प्रभावी ढंग से दलित परिवारों की मदद की जाएगी।
  • किसी कारणवश कुछ सरकारी अधिकारियों की नियुक्ति भी की जाएगी जो कि जमीनी स्तर पर परिवारों को इस योजना के संबंध में जानकारी प्रदान करेंगे एवं इसके लाभ एवं आवेदन प्रक्रिया के संबंध जानकारी प्रदान करवाएंगे।
  • इन अधिकारियों की नियुक्ति करने के लिए मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों को यह जिम्मेदारी सौंपी है।

तेलंगाना दलित सशक्तिकरण योजना का कार्यान्वयन

  • तेलंगाना दलित सशक्तिकरण योजना को क्षेत्र स्तर पर प्रभावी ढंग से लागू किया जाएगा।
  • इस योजना को अधिकारिक ढंग से लागू करने के लिए कुछ अधिकारियों की नियुक्ति की जाएगी जो जमीनी स्तर पर दलित परिवारों से मिलेंगे एवं उनको इस योजना का लाभ बताएंगे।
  • अधिकारियों का चयन इस आधार पर किया जाएगा कि वह इस योजना के संबंधित लाभ परिवारों को दर्शा सकें एवं इसे नियमित तरीके से चयन कर सके।
  • चयनित अधिकारी इस योजना को तन मन लगाकर लागू करेंगे।
  • कोई भी सरकारी तेलंगाना दलित संरक्षण योजना को पूरा डाटा एवं सही आंकड़ों के बिना लागू नहीं कर सकेंगे।

mukhyamantri dalit sashaktikaran yojana की आवश्यकता

  • तेलंगाना दलित बंधु योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा तेलंगाना राज्य के दलित परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • वे सभी परिवारों की आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं उनको सरकार द्वारा वित्तीय मदद प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना की सहायता से सरकार राज्य के दलित परिवारों को शशक बनाएगी एवं उन्हें आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ावा देगी।

तेलंगाना दलित बंधु योजना की कैबिनेट बैठक

25 जुलाई 2021 को मुख्यमंत्री श्री केसीआर की अध्यक्षता में दलित सशक्तिकरण के क्रियान्वयन, पायलट प्रोजेक्ट के चयन एवं अधिकारी तंत्र के कर्तव्यों पर एक उच्च स्तरीय बैठक हुई। इस बैठक में निम्नलिखित अधिकारी उपस्थित थे:-

  • शासन के मुख्य सचेतक एवं विधायक श्री बाल्का सुमन्
  • विधायक श्री बीरम हर्षवर्धन रेड्डी
  • विधायक श्री कोप्पुला महेश्वर रेड्डी
  • सरकार के मुख्य सलाहकार श्री राजीव शर्मा
  • मुख्य सचिव श्री सोमेश कुमार
  • डीजीपी श्री एम महेंद्र रेड्डी
  • मुख्यमंत्री प्रमुख सचिव श्री एस नरसिंह राव
  • सचिव सुश्री स्मिता सभरवाली
  • सचिव श्री भूपाल रेड्डी
  • सचिव श्री राजशेखर रेड्डी
  • प्रमुख सचिव (वित्त) श्री रामकृष्ण राव
  • अनुसूचित जाति कल्याण विभाग प्रमुख सचिव श्री राहुल बोज्जाज
  • अनुसूचित जाति कल्याण विभाग के निदेशक श्री करुणाकरी