Hindi Shayari Hindi Status Messages

दगाबाज दोस्त शायरी 2018 – Dagabaaz dost shayari in hindi – गद्दार दोस्त पर शायरी स्टेटस फॉर व्हाट्सप्प

दोस्ती सिर्फ एक शब्द ही नहीं है यह दो इंसानो के बीच के रिश्ते को या उनकी मित्रता को दर्शाती है| जीवन में कई बार ऐसा होता है की हमे बहुत से अच्छे लोग आसानी से मिल जाते है पर अच्छे दोस्त बड़ी मुश्किल से मिलते है| हमारे जीवन में बहुत से ऐसे दोस्त आते है जो की आपका पूरा साथ देते है पर कुछ ऐसे भी गद्दार दोस्त होते है जो की आपको सिर्फ अपने मतलब के लिए ही याद करते है|

दगाबाज दोस्त शायरी

आ गया ‘जौहर’ अजब उल्टा ज़माना क्या कहें
दोस्त वो करते हैं बातें जो अदू करते नहीं

आज खुला दुश्मन के पीछे दुश्मन थे
और वो लश्कर इस लश्कर की ओट में था

गद्दार दोस्त शायरी

तो आइये अब हम आपको दोस्ती निभाने की शायरी, धोखेबाज दोस्त शायरी, शायरी दोस्ती की तारीफ, दोस्ती की मिसाल शायरी, पुराने दोस्त पर शायरी, आदि की जानकारी देते है|

ऐ दोस्त तुझ को रहम न आए तो क्या करूँ
दुश्मन भी मेरे हाल पे अब आब-दीदा है

अजब हरीफ़ था मेरे ही साथ डूब गया
मिरे सफ़ीने को ग़र्क़ाब देखने के लिए

Dagabaaz Dost Shayari In Hindi

‘अर्श’ किस दोस्त को अपना समझूँ
सब के सब दोस्त हैं दुश्मन की तरफ़

बहारों की नज़र में फूल और काँटे बराबर हैं
मोहब्बत क्या करेंगे दोस्त दुश्मन देखने वाले

Dagabaz Dost Shayari

दिन एक सितम एक सितम रात करो हो
वो दोस्त हो दुश्मन को भी तुम मात करो हो

दोस्ती जब किसी से की जाए
दुश्मनों की भी राय ली जाए

दगाबाज दोस्त शायरी इन हिंदी

दोस्ती की तुम ने दुश्मन से अजब तुम दोस्त हो
मैं तुम्हारी दोस्ती में मेहरबाँ मारा गया

दोस्तों और दुश्मनों में किस तरह तफ़रीक़ हो
दोस्तों और दुश्मनों की बे-रुख़ी है एक सी

दगाबाज दोस्त

दोस्तों से इस क़दर सदमे उठाए जान पर
दिल से दुश्मन की अदावत का गिला जाता रहा

दुनिया में हम रहे तो कई दिन प इस तरह
दुश्मन के घर में जैसे कोई मेहमाँ रहे

Dhokebaaz Dost Quotes

दुश्मनों के साथ मेरे दोस्त भी आज़ाद हैं
देखना है खींचता है मुझ पे पहला तीर कौन

दुश्मनों की जफ़ा का ख़ौफ़ नहीं
दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं

Dhokebaaz Dost Images

दुश्मनों ने जो दुश्मनी की है
दोस्तों ने भी क्या कमी की है

दुश्मनों से पशेमान होना पड़ा है
दोस्तों का ख़ुलूस आज़माने के बाद

Dagabaaz Dost

दुश्मनों से प्यार होता जाएगा
दोस्तों को आज़माते जाइए

जो दोस्त हैं वो माँगते हैं सुल्ह की दुआ
दुश्मन ये चाहते हैं कि आपस में जंग हो

Dhokebaaz Dost Ki Shayari

ख़ुदा के वास्ते मौक़ा न दे शिकायत का
कि दोस्ती की तरह दुश्मनी निभाया कर

कुछ समझ कर उस मह-ए-ख़ूबी से की थी दोस्ती
ये न समझे थे कि दुश्मन आसमाँ हो जाएगा

Dagabaaz Dost Sms

कू-ए-जानाँ में न ग़ैरों की रसाई हो जाए
अपनी जागीर ये या-रब न पराई हो जाए

तरतीब दे रहा था मैं फ़हरिस्त-ए-दुश्मनान
यारों ने इतनी बात पे ख़ंजर उठा लिया

Dagabaz Dost Sms

उस के दुश्मन हैं बहुत आदमी अच्छा होगा
वो भी मेरी ही तरह शहर में तन्हा होगा

उस के होने से हुई है अपने होने की ख़बर
कोई दुश्मन से ज़ियादा लाएक़-ए-इज़्ज़त नहीं

Dagabaz Dost Sayri

हुस्न आईना फ़ाश करता है
ऐसे दुश्मन को संगसार करो

मैं आ कर दुश्मनों में बस गया हूँ
यहाँ हमदर्द हैं दो-चार मेरे

दगाबाज दोस्त पर शायरी

मैं अपने दुश्मनों का किस क़दर मम्नून हूँ ‘अनवर’
कि उन के शर से क्या क्या ख़ैर के पहलू निकलते हैं

मौत ही इंसान की दुश्मन नहीं
ज़िंदगी भी जान ले कर जाएगी

Dagabaj Dost Sms

Dagabaaz dost shayari in hindi

भूलना चाहो तो भी याद हमारी आएगी,
दिल की गहराई मे हमारी तस्वीर बस जाएगी.
ढूढ़ने चले हो हमसे बेहतर दोस्त,
तलाश हमसे शुरू होकर हम पे ही ख़त्म हो जाएगी….

दोस्तों की कमी को पहचानते है हम,
दुनियाँ के गमों को भी जानते है हम.
आप जैसे दोस्तों के ही सहारे,
आज भी हँस कर जीना जानते है हम…

Shayari For Dagabaaz Dost

सच्चे दोस्त हमे कभी गिरने नहीं देते,
ना किसी कि नजरों मे, ना किसी के कदमों मे…

अपनी दोस्ती का बस इतना सा उसूल है…
ज़ब तू कुबूल है तो तेरा सब कुछ कुबूल है….

Dhokebaaz Dost Hindi

कितना दूर निकल गए रिश्ते निभाते निभाते,
खुद को खो दिया हमने अपनों को पाते पाते,
लोग कहते है दर्द है मेरे दिल में,
और हम थक गये मुस्कुराते मुस्कुराते….

आंसू तेरे निकले तो आंखे मेरी हो,
दिल तेरा धडके तो धडकन मेरी हो,
खुदा करे हमारी दोस्ती इतनी गहरी हो,
के दोस्त तू बने और दोस्ती मेरी हो….

Sms In Hindi

इस पोस्ट में dagabaaz dost shayari, shayri, shayari in हिंदी, गद्दार दोस्त के लिए शायरी, आदि की जानकारी लाए है जिसे आप व्हाट्सप्प या फेसबुक पर शेयर कर सकते है|

यकीन नहीं तुझे अगर, तो आज़मा के देख ले,
एक बार तू, जरा मुस्कुरा के देख ले,
जो ना सोचा होगा तूने, वो मिलेगा तुझको भी,
एक बार आपने कदम, बढ़ा के देख ले…

दिल की बात छुपाना आता नही,
किसी का दिल दुखाना आता नही,
आप सोचते है हम भूल गए आपको,
पर कुछ अच्छे दोस्तो को भूलना हमको आता नही…

Leave a Comment