राहत इंदौरी शायरी इन हिंदी – Rahat Indori Shayari in Hindi

Posted by

उर्दू भाषा के विशव प्रसिद्ध शायर डॉ राहत इंदोरी हमारे समय के सबसे प्रतिष्ठित कवि, शायर और हिंदी फिल्म गीतकार में से एक हैं। वो एक महान शायर हैं| उनके गीत अब तक 13 से अधिक बॉलीवुड फिल्मों में इस्तेमाल किया गया है, । वह मुशैरा के विश्व स्तर पर ज्ञात शायर हैं | निचे राहत इन्दोरी की मशहूर शायरियां व साथ ही कुछ मशहूर कवितायेँ, ग़ज़ल व् कविता New, Best, Latest, Two Line, Hindi, Urdu, Shayari, Sher, Ashaar, Collection, Shyari, नई, नवीनतम, लेटेस्ट, हिंदी, उर्दू, शायरी, शेर, ‎नज़्म, अशआर, संग्रह के कुछ अंश पेश की गयी हैं|

राहत इंदौरी शायरी


जागने की भी, जगाने की भी, आदत हो जाए
काश तुझको किसी शायर से मोहब्बत हो जाए
दूर हम कितने दिन से हैं, ये कभी गौर किया
फिर न कहना जो अमानत में खयानत हो जाए||
Click To Tweet

अब हम मकान में ताला लगाने वाले हैं
पता चला हैं की मेहमान आने वाले हैं||
Click To Tweet

Ab hum makaan ke tala lagaane wale hain
Pata chala hain ki mehaman aane wale hain
Click To Tweet

आँखों में पानी रखों, होंठो पे चिंगारी रखो
जिंदा रहना है तो तरकीबे बहुत सारी रखो
राह के पत्थर से बढ के, कुछ नहीं हैं मंजिलें
रास्ते आवाज़ देते हैं, सफ़र जारी रखो||
Click To Tweet

Rahat indori shayari in hindi

rahat indori shayari in hindi font इस प्रकार है :


घर के बाहर ढूँढता रहता हूँ दुनिया
घर के अंदर दुनिया-दारी रहती है
Click To Tweet

हम से पहले भी मुसाफ़िर कई गुज़रे होंगे
कम से कम राह के पत्थर तो हटाते जाते
Click To Tweet

मैं ने अपनी ख़ुश्क आँखों से लहू छलका दिया
इक समुंदर कह रहा था मुझ को पानी चाहिए
Click To Tweet

Rahat indori shayari in hindi images

Collection of Rahat Indori's best Shayari

राहत इंदौरी शायरी इन हिंदी


गुलाब, ख्वाब, दवा, ज़हर, जाम  क्या क्या हैं
में आ गया हु बता इंतज़ाम क्या क्या हैं
फ़क़ीर, शाह, कलंदर, इमाम क्या क्या हैं
तुझे पता नहीं तेरा गुलाम क्या क्या हैं||
Click To Tweet

ख़याल था कि ये पथराव रोक दें चल कर
जो होश आया तो देखा लहू लहू हम थे
Click To Tweet

मैं आ कर दुश्मनों में बस गया हूँ
यहाँ हमदर्द हैं दो-चार मेरे
Click To Tweet

मैं आख़िर कौन सा मौसम तुम्हारे नाम कर देता
यहाँ हर एक मौसम को गुज़र जाने की जल्दी थी
Click To Tweet

Rahat indori shayari in urdu

ङा राहत इंदौरी शायरी इन उर्दू इस प्रकार है :

Rahat Indori Shayari in Hindi

Rahat indori ki shayari

राहत इन्दौरी की शायरी इस प्रकार है :

Rahat Indori best shayari aukat me rahe


सूरज, सितारे, चाँद मेरे साथ में रहें
जब तक तुम्हारे हाथ मेरे हाथ में रहें
शाखों से टूट जाए वो पत्ते नहीं हैं हम
आंधी से कोई कह दे की औकात में रहें||
Click To Tweet

Rahat indori shayari lyrics


हर एक हर्फ़ का अंदाज़ बदल रखा हैं
आज से हमने तेरा नाम ग़ज़ल रखा हैं
मैंने शाहों की मोहब्बत का भरम तोड़ दिया
मेरे कमरे में भी एक “ताजमहल” रखा हैं||
Click To Tweet

कभी महक की तरह हम गुलों से उड़ते  हैं
कभी धुएं की तरह पर्वतों से उड़ते हैं
Click To Tweet

Rahat indori shayari in hindi pdf download

Rahat indori shayari in hindi pdf इस प्रकार है :


ये केचियाँ हमें उड़ने से खाक रोकेंगी
की हम परों से नहीं हौसलों से उड़ते हैं
Click To Tweet

मिरी ख़्वाहिश है कि आँगन में न दीवार उठे
मिरे भाई मिरे हिस्से की ज़मीं तू रख ले
Click To Tweet

न हम-सफ़र न किसी हम-नशीं से निकलेगा
हमारे पाँव का काँटा हमीं से निकलेगा
Click To Tweet

मैं पर्बतों से लड़ता रहा और चंद लोग
गीली ज़मीन खोद के फ़रहाद हो गए
Click To Tweet

Rahat indori 2 line shayari

Rahat indori shayari 2 line इस प्रकार है :


मज़ा चखा के ही माना हूँ मैं भी दुनिया को
समझ रही थी कि ऐसे ही छोड़ दूँगा उसे
Click To Tweet

नए किरदार आते जा रहे हैं
मगर नाटक पुराना चल रहा है
Click To Tweet

रोज़ पत्थर की हिमायत में ग़ज़ल लिखते हैं
रोज़ शीशों से कोई काम निकल पड़ता है
Click To Tweet

Rahat indori shayari on love


वो चाहता था कि कासा ख़रीद ले मेरा
मैं उस के ताज की क़ीमत लगा के लौट आया
Click To Tweet

ये हवाएँ उड़ न जाएँ ले के काग़ज़ का बदन
दोस्तो मुझ पर कोई पत्थर ज़रा भारी रखो
Click To Tweet

ये ज़रूरी है कि आँखों का भरम क़ाएम रहे
नींद रक्खो या न रक्खो ख़्वाब मेयारी रखो
Click To Tweet

बोतलें खोल कर तो पी बरसों
आज दिल खोल कर भी पी जाए
Click To Tweet

दोस्ती जब किसी से की जाए
दुश्मनों की भी राय ली जाए
Click To Tweet

एक ही नद्दी के हैं ये दो किनारे दोस्तो
दोस्ताना ज़िंदगी से मौत से यारी रखो
Click To Tweet

Rahat indori shayari in hindi two line


रोज़ तारों को नुमाइश में ख़लल पड़ता है
चाँद पागल है अँधेरे में निकल पड़ता है
Click To Tweet

शाख़ों से टूट जाएँ वो पत्ते नहीं हैं हम
आँधी से कोई कह दे कि औक़ात में रहे
Click To Tweet

उस की याद आई है साँसो ज़रा आहिस्ता चलो
धड़कनों से भी इबादत में ख़लल पड़ता है
Click To Tweet

राहत इंदौरी शायरी लिरिक्स

Rahat indori shayari lyrics in hindi


जवानिओं में जवानी को धुल करते हैं
जो लोग भूल नहीं करते, भूल करते हैं
अगर अनारकली हैं सबब बगावत का
सलीम हम तेरी शर्ते कबूल करते हैं
Click To Tweet
राहत इन्दौरी शेर

आँख में पानी रखो होंटों पे चिंगारी रखो
ज़िंदा रहना है तो तरकीबें बहुत सारी रखो
Click To Tweet

अब तो हर हाथ का पत्थर हमें पहचानता है
उम्र गुज़री है तिरे शहर में आते जाते
Click To Tweet

बहुत ग़ुरूर है दरिया को अपने होने पर
जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियाँ उड़ जाएँ
Click To Tweet

बीमार को मरज़ की दवा देनी चाहिए
मैं पीना चाहता हूँ पिला देनी चाहिए
Click To Tweet
ऊपर हमने दर्शाये हैं Collection of Rahat Indori’s best Shayari जिसमे शामिल हैं उनके Mehfil- 2 Liners, Urdu Sher, Shayri, कविता आदि | ये message shayaris in hindi language and hindi font, शायरी, मेसेज, समझ collection, कोट्स, स्टेटस, विश (wishes), उद्धरण, कविता, kavita, poem, एसएमएस, साहरी, sayaree, उद्धरण, messages, msg, एसएमएस हिंदी फॉण्ट, आदि जिन्हे आप फेसबुक, व्हाट्सप्प पर अपने दोस्त व परिवार के लोगो के साथ साझा कर सकते हैं| इनके अलावा आप Anwar Jalalpuri ShayariFiraq Gorakhpuri Shayari भी देख सकते हैं

Related Search:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *