Hindi Lekh

योग दिवस पर लेख 2020 – Articles on International Yoga Day Pdf Download

योग दिवस पर लेख 2018

इंटरनेशनल योग डे 2020: बहुत से लोग है जो पूरे उम्र तंदरुस्त और स्वस्त रहना चाहते है| ऐसा करने में योग आपकी मदद करता है| प्रति दिन योग करने से आपका शरीर स्वस्त रहता है और बीमारियों से भी बचा रहता है| योग दिवस का हमारे जीवन में बहुत महत्व है| पहला अन्तराष्ट्र्य योग दिवस 21 जून 2015 में पूरे विश्व में मनाया गया था । भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में उनके संबोधन के दौरान अंतरास्ट्रीय योग दिवस मनाने की घोषणा हुई थी| अगर आप प्रति दिन आधा घंटा भी योग करते है तो आपका शरीर एकदम स्वस्त रहता है| आजके इस पोस्ट में हम आपको योग दिवस 21 जून २०१७, योग दिवस निबंध मराठी, योग दिवस मराठी, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2016, आदि की जानकारी देंगे|

योग दिवस कब मनाया जाता है : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस भारत समेत पूरे विश्व भर में 21 जून 2020 को मनाया जाएगा| इस दिन गुरुवार का दिन है|  संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन द्वारा आयोजित 2020 समारोह के लिए International yoga day 2020 theme को ‘शांति के लिए योग’ रखा गया है यानी की ‘Yoga for Peace.’ 

योग दिवस पर भाषण

आइये देखें अक्सर class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7, class 8, class 9, class 10, class 11, class 12 के बच्चो को कहा जाता है अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर लेख लिखें|  International yoga day Hindi essay, International yoga day essay in english, योग दिवस पर कविता, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर विशेष, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर निबंध, International yoga day Speech in Hindi, World yoga day Nibandh International Yoga Day Speech, यानी की विश्व योग दिवस पर निबंध हिंदी में 100 words, 150 words, 200 words, 400 words जिसे आप pdf download भी कर सकते हैं|

बिना किसी समस्या के जीवन भर तंदरुस्त रहने का सबसे अच्छा, सुरक्षित, आसान और स्वस्थ तरीका योग है। इसके लिए केवल शरीर के क्रियाकलापों और श्वास लेने के सही तरीकों का नियमित अभ्यास करने की आवश्यकता है। यह शरीर के तीन मुख्य तत्वों; शरीर, मस्तिष्क और आत्मा के बीच संपर्क को नियमित करना है। यह शरीर के सभी अंगों के कार्यकलाप को नियमित करता है और कुछ बुरी परिस्थितियों और अस्वास्थ्यकर जीवन-शैली के कारण शरीर और मस्तिष्क को परेशानियों से बचाव करता है। यह स्वास्थ्य, ज्ञान और आन्तरिक शान्ति को बनाए रखने में मदद करता है। अच्छे स्वास्थ्य प्रदान करने के द्वारा यह हमारी भौतिक आवश्यकताओं को पूरा करता है, ज्ञान के माध्यम से यह मानसिक आवश्यकताओं को पूरा करता है और आन्तरिक शान्ति के माध्यम से यह आत्मिक आवश्यकता को पूरा करता है, इस प्रकार यह हम सभी के बीच सामंजस्य बनाए रखने में मदद करता है।

सुबह को योग का नियमित अभ्यास हमें अनगिनत शारीरिक और मानसिक तत्वों से होने वाली परेशानियों को दूर रखने के द्वारा बाहरी और आन्तरिक राहत प्रदान करता है। योग के विभिन्न आसन मानसिक और शारीरिक मजबूती के साथ ही अच्छाई की भावना का निर्माण करते हैं। यह मानव मस्तिष्क को तेज करता है, बौद्धिक स्तर को सुधारता है और भावनाओं को स्थिर रखकर उच्च स्तर की एकाग्रता में मदद करता है। अच्छाई की भावना मनुष्य में सहायता की प्रकृति के निर्माण करती है और इस प्रकार, सामाजिक भलाई को बढ़ावा देती है। एकाग्रता के स्तर में सुधार ध्यान में मदद करता है और मस्तिष्क को आन्तरिक शान्ति प्रदान करता है। योग प्रयोग किया गया दर्शन है, जो नियमित अभ्यास के माध्यम से स्व-अनुशासन और आत्म जागरुकता को विकसित करता है।

योग का महत्व पर निबंध

Articles on International Yoga Day Pdf Download

योग के अंतरराष्ट्रीय दिवस को विश्व योग दिवस भी कहते है। 11 दिसंबर 2014 को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रुप में 21 जून को संयुक्त राष्ट्र आम सभा ने घोषित किया है। भारत में योग लगभग 5,000 हजार वर्ष पुरानी एक मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक प्रथा के रुप में देखा गया है। योग की उत्पत्ति प्राचीन समय में भारत में हुयी थी जब लोग अपने शरीर और दिमाग में बदलाव के लिये ध्यान किया करते थे। पूरे विश्वभर में योग अभ्यास की एक खास तारीख की और योग दिवस के रुप में मनाने की शुरुआत भारतीय प्रधानमंत्री के द्वारा संयुक्त राष्ट्र आम सभा से हुयी थी।

सभी के लिये योग बहुत ही जरुरी है और अगर इसे सुबह-सुबह रोजाना करें तो ये सभी के लिये फायदेमंद साबित होगा। इसका आधिकारिक नाम यूएन अंतरराष्ट्रीय योग दिवस है और इसे योगा दिवस भी कहा जाता है। योग, ध्यान, बहस, सभा, चर्चा, विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति आदि के माध्यम से सभी देशों के लोगों के द्वारा मनाये जाने वाला ये एक विश्व स्तर का कार्यक्रम है।

2014 में 11 दिसंबर को संयुक्त राष्ट्र आम सभा के द्वारा हर वर्ष 21 जून को योग का अंतरराष्ट्रीय दिवस या विश्व योग दिवस के रुप में पूरे विश्वभर में योग दिवस को मनाने के लिये घोषित किया गया था। यू.एन. आम सभा के अपने संबोधन के दौरान 2014 में 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र आम सभा में भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा आह्वान के बाद योग दिवस मनाने की घोषणा की गयी थी। पूरे विश्वभर के लोगों के लिये योग के सभी फायदों को प्राप्त करने के लिये अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रुप में हर वर्ष 21 जून को अंगीकृत करने के लिये संयुक्त राष्ट्र आम सभा से उन्होंने आह्वान किया था।

अपने भाषण के दौरान नरेन्द्र मोदी ने यू.एन. की आम सभा से कहा कि “योग भारतीय परंपरा का एक अनमोल उपहार है।” ये मस्तिष्क और शरीर की एकता को संगठित करता है; विचार और कार्य; अंकुश और सिद्धि; मानव और प्रकृति के बीच सौहार्द; स्वास्थ्य और अच्छे के लिये एक पूर्णतावादी दृष्टिकोण है। ये केवल व्यायाम के बारे में ही नहीं बल्कि विश्व और प्रकृति के साथ स्वयं एकात्मकता की समझ को खोजने के लिये भी है। अपनी जीवनशैली को बदलने और चेतना को उत्पन्न करने के द्वारा ये जलवायु परिवर्तन की समस्या से निपटने में मदद कर सकता है। चलिये एक अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को अंगीकृत करने की ओर कार्य करें।

आंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर लेख

International yoga day 2020: अब हम आपको yog diwas par nibandh in hindi, International Yoga Day Wishes in Hindi, अंतराष्ट्रीय योग दिवस पर निबंध, International Yoga Day Shayari in Hindi, speech on International yoga Day, yog divas par nibandh in hindi, 21 june yoga day, योग दिवस का महत्व पर निबंध, yog diwas par nibandh hindi mein, योग दिवस फोटो, अन्तराष्ट्रीय योग दिवस पर निबंध, अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर निबंध, world yoga day 2020, International yoga day essay, International yoga day short essay,योग का महत्व पर निबंध, आंतरराष्ट्रीय योग दिवस, vishwa yoga day, योग दिवस 2017, योग दिवस 21 जून 2017, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2016, जीवन में योग का महत्व निबंध, आदि की जानकारी देते है|

योग प्राचीन समय से मनुष्य को प्रकृति द्वारा दिया गया बहुत ही महत्वपूर्ण और अनमोल उपहार है, जो जीवन भर मनुष्य को प्रकृति के साथ जोड़कर रखता है। यह शरीर और मस्तिष्क के बीच सामंजस्य स्थापित करने के लिए, इन दोनों को संयुक्त करने का सबसे अच्छा अभ्यास है। यह एक व्यक्ति को सभी आयामों पर, जैसे- शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और बौद्धिक स्तर पर नियंत्रण के द्वारा उच्च स्तर की संवेदनशीलता प्रदान करता है। स्कूल और कॉलेज में विद्यार्थियों की बहतरी के साथ ही पढ़ाई पर उनकी एकाग्रता को बढ़ाने के लिए योग के दैनिक अभ्यास को बढ़ावा दिया जाता है। यह लोगों द्वारा किया जाने वाला व्यवस्थित प्रयास है, जो पूरे शरीर में उपस्थित सभी अलग-अलग प्राकृतिक तत्वों के अस्तित्व पर नियंत्रण करके व्यक्तित्व में सुधार लाने के लिए किया जाता है।

योग के सभी आसनों से लाभ प्राप्त करने के लिए सुरक्षित और नियमित अभ्यास की आवश्यकता है। योग का अभ्यास आन्तरिक ऊर्जा को नियंत्रित करने के द्वारा शरीर और मस्तिष्क में आत्म-विकास के माध्यम से आत्मिक प्रगति को लाना है। योग के दौरान श्वसन क्रिया में ऑक्सीजन लेना और छोड़ना सबसे मुख्य वस्तु है। दैनिक जीवन में योग का अभ्यास करना हमें बहुत सी बीमारियों से बचाने के साथ ही भयानक बीमारियों; जैसे- कैंसर, मधुमेह (डायबिटीज़), उच्च व निम्न रक्त दाब, हृदय रोग, किडनी का खराब होना, लीवर का खराब होना, गले की समस्याओं और अन्य बहुत सी मानसिक बीमारियों से भी बचाव करता है।

आजकल, लोगों के जीवन को बेहतर करने के लिएफिर से योग का अभ्यास करने की आवश्यकता है। दैनिक जीवन में योग का अभ्यास शरीर को आन्तरिक और बाहरी ताकत प्रदान करता है। यह शरीर के प्रतिरोधी प्रणाली को मजबूती प्रदान करने में मदद करता है, इस प्रकार यह विभिन्न और अलग-अलग बीमारियों से बचाव करता है। यदि योग को नियमित रुप से किया जाए तो यह दवाईयों का दूसरा विकल्प हो सकता है। यह प्रतिदिन खाई जाने वाली भारी दवाईयों के दुष्प्रभावों को भी कम करता है। प्राणायाम और कपाल-भाति जैसे योगों को करने का सबसे अच्छा समय सुबह का समय है, क्योंकि यह शरीर और मन पर नियंत्रण करने के लिए बेहतर वातावरण प्रदान करता है।

Few Lines on International Yoga Day

आइये देखें articles on international Yoga Day, Short International Yoga Day speech essay in hindi, International Yoga Day Essay In Urdu, 10 lines on International Yoga Day in hindi, short essay on International Yoga Day in hindi font, few lines on International Yoga Day in hindi निबन्ध (Nibandh), लेख एसेज, anuched, short paragraphs, pdf, Composition, Paragraph, Article हिंदी, yoga day theme, some lines on International Yoga Day in hindi.

योग दिवस पर भाषण

Yoga is the best, safest, easy and healthy way to stay healthy throughout life without any problems. This requires only regular practice of body activities and the correct methods of breathing. It has three main elements of the body; Regular contact between body, brain and soul It regulates the activity of all organs in the body and protects the body and mind from troubles due to some bad conditions and unhealthy life-styles. It helps in maintaining health, knowledge and inner peace. By providing good health, it caters to our physical needs, through the knowledge it meets the mental needs and through inner peace it meets the spiritual need, in this way it will maintain the harmony between all of us. Helps in

Regular practice of yoga in the morning provides external and internal relief by keeping us away from troubles from countless physical and mental elements. Various postures of yoga create a sense of goodness, along with mental and physical strength. It stimulates the human brain, improves intellectual level and helps in high concentration in keeping the emotions stable. The feeling of goodness creates the nature of help in humans and thus, promotes social well-being. Improvement in the level of concentration helps in meditation and provides inner peace to the brain. Yoga is the philosophy used, which develops self-discipline and self-awareness through regular practice.

Leave a Comment