माँ पर कविता हिंदी में

माँ पर कविता हिंदी में

Posted by

Maa par Kavita Hindi mein: माँ से बड़ा इस दुनिया में कोई नहीं है| माँ ही हमें दुनिया में लाती है, यही कारण है की किसी ने सही कहा है की माँ बेटे से सुन्दर रिश्ता इस पूरी दुनिया में किसी का नहीं है| माँ है तो हमारा अस्तित्व है अगर माँ नहीं है तो हम भी कुछ नहीं है| वही हमको सीख देती है, खुद भूकी रहकर हम को खिलाती है| और यह तो माँ का दिल है जो की खुद कष्ट में रह सकती है पर अपने बच्चे को हर मुश्किल से बचाती है| यही कारण है की आज हम आपके लिए लाये हैं माँ पर हिंदी कविताएं 2017, माँ पर कविता हिंदी में यानी Mothers Day Poem in Hindi जो सब माताओ को समर्पित है|

यह भी देखें: मानवता पर हिंदी कविता

माँ पर हिंदी कविता

बचपन में माँ कहती थी बिल्ली रास्ता काटे, तो बुरा होता है रुक जाना चाहिए… बचपन में माँ कहती… Click To Tweet माँ पर हिंदी कविता

माँ पर कुछ पंक्तियाँ

घुटनों से रेंगते-रेंगते, कब पैरों पर खड़ा हुआ, तेरी ममता की छाँव में, जाने कब बड़ा हुआ.. काला टीका दूध… Click To Tweet

Short hindi poem on Maa for class 1, 2, 3, 4, 5

अपने आंचल की छाओं में, छिपा लेती है हर दुःख से वोह एक दुआ दे दे तो काम सारे पूरे हों… अदृश्य है… Click To Tweet

यह भी देखें :  सुमित्रानंदन पंत की कविता बादल - Sumitranandan Pant Poems Badal

माँ पर मार्मिक कविता

होती है बड़ी प्यारी मां, होती है सबसे न्यारी मां। सुख सारे देकर हमको, दुःख सारे ढोती है मां। ममता… Click To Tweet

माँ पर श्लोक

हालातों के आगे जब साथ न जुबाँ होती है, पहचान लेती है ख़ामोशी में हर दर्द वो सिर्फ “माँ” होती है। Click To Tweet तेरे ही आँचल में निकला बचपन, तुझ से ही तो जुड़ी हर धड़कन, कहने को तो माँ सब कहते पर मेरे लिए तो है तू… Click To Tweet न जाने क्यों आज अपना ही घर मुझे अनजान सा लगता है, तेरे जाने के बाद ये घर-घर नहीं खली मकान सा लगता है। Click To Tweet एक दुनिया है जो समझाने से भी नहीं समझती, एक माँ थी बिन बोले सब समझ जाती थी। Click To Tweet उसकी दुवाओं में ऐसा असर है कि सोये भाग्य जगा देती है, मिट जाते हैं दुःख दर्द सभी, माँ जीवन में चार… Click To Tweet

माँ की याद कविता

[bctt tweet=”माँ भगवान का दूसरा रूप
उनके लिए दे देंगे जान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *