बाबा रामदेव योग इन हिंदी

Baba Ramdev Yoga in Hindi: बाबा रामदेव हमारे देश एक प्रसिद्ध योगी हैं जो की पूरे विश्व भर में अपने योग में क्रांतिकारी बदलाव के लिए प्रसिद्ध हैं। उनके योग में विभिन्न योगों का तरीका है जो की अच्छे स्वास्थ्य को प्राप्त करने और शरीर में विभिन्न बीमारियों का इलाज या नियंत्रित करने में सहायता करता है।आज हम आपको बाबा रामदेव के योग व बाबा रामदेव का योगासन से होने वाले फायदे की जानकारी हिंदी में जिसमे शामिल होगा tips in hindi, yoga book in hindi pdf जिसे आप free download कर सकते हैं |

रामदेव बाबा के उपाय

बाबा के कुछ मशहूर योग हैं:

  • कपालभाति प्राणायाम
  • अनोलोम विलोम प्राणायाम
  • उद्येठ प्राणायामा
  • बाहरी प्राणायाम
  • भ्रामरी प्राणायाम
  • भस्त्रिका प्राणायाम

बाबा रामदेव योग आसन व उनके फायदे

बाबा रामदेव ने अपने योग में बहुत सारे आसान व तरीके बताये हैं जिन्हे कोई भी घर बैठे आसानी से कर सकता है| हमने नीच सारे आसनो को उनकी विधि समय व तरीके बताएं हैं जिनसे आप बिना किसी मुश्किल से घर पर ही कर सकते हैं|

कपालभाति प्राणायाम

Kapalbhati pranayam in hindi: सामान्य श्वास के साथ आरामदायक आसन में बैठो। सामान्य रूप से श्वास, अंदर और बाहर छोड़ें| शरीर को आराम से तनाव से दूर रखें । शुरुआत के रूप में, शरीर की ताकत के अनुसार बल बहुत कम होना चाहिए। जब तक आप आराम से प्रदर्शन नहीं कर सकते तब तक इस अभ्यास को जारी रखें। जब भी थका हुआ लगता है सामान्य श्वास के साथ एक ब्रेक ले लो और फिर फिर से शुरू। “एक स्ट्रोक प्रति सेकेंड” बनाने के लिए अपना अभ्यास अनुकूलित करें कपाल्भती के लिए आदर्श आवृत्ति एक बार प्रति सेकंड है|

अनुलोम विलोम प्राणायाम

  • सबसे पहले अपनी आँखें बंद करें और पद्मासन में बैठें और अपने हाथों को अपने घुटनों पर रखें।
  • सीधे हाथ के अंगूठे से सीढ़ी नाक का छिद्र बंद करें। बाएं नथुने के माध्यम से धीरे धीरे श्वास करें,
  • ऑक्सीजन जितना हो सके उतना ही श्वास लें, यह आपके फेफड़ों को हवा में भर देगा।
  • अब अपने अंगूठे को अपने सीधी नाक से हटा दें, क्योंकि आप अपने अंगूठे को सीधे नथुने से हटाते हैं।
  • जब आप बाएं नथुने को बंद करने के लिए अपनी मध्य उंगली का इस्तेमाल करते हैं, तो हमारे सीधी नाक के साथ श्वास और सही नथुने से अंगूठे को हटा दें, फिर श्वास छोड़ें।
  • 5 मिनट के लिए इस प्रक्रिया को दोहराएं।
  • अपने सांस लेने में ध्यान केंद्रित रखें|

उद्घित प्राणायाम

  • पद्मसाना पर बैठें और अपनी आँखें बंद करलें|
  • आपकी रीढ़ एकदम सीधी होनी चाहिए। अपने फेफड़ो में श्वांस भर लें, और श्वास छोड़ने तक अपनी नाक के माध्यम से गहराई से साँस लें।
  • सांस छोड़ते वक्त लम्बे सुर में ॐ का जाप करें|
  • रोज़ सुबह ये आसान 5 मिनट तक करें|

बाह्य प्राणायाम

इसके नाम से ही स्पष्ट होता है की इस प्राणायाम को करते समय श्वास बाहर की जाती है इसीलिये इसे बाह्य प्राणायाम कहते है, बाह्य मतलब बाहर। इसे कपालभाति प्राणायाम के बाद किया जाना चाहिए।

भ्रामरी प्राणायाम

इस प्राणायाम में श्वास लेते एवं छोड़ते समय मक्खी के गुनगुनाने जैसी आवाज़ निकलती है, इसीलिये इसे भ्रामरी प्राणायाम कहते है। भ्रामरी संस्कृत शब्द ‘भ्रमर’ से लिया गया है जिसका अर्थ काली भारतीय मक्खी से होता है। इसका परिणाम दिमाग पर होता है और यह प्राणायाम आपके दिमाग को शांत रखता है।

भस्त्रिका प्राणायाम

इसमें तेज़ी से साँस ली जाती है इस में दोगुनी तेज़ी से साँस छोड़ी जाती है। भस्त्रिका प्राणायाम युवाओ के लिए काफी लाभदायक है। जिस इंसान को ह्रदय विकार है उन्होंने धीरे-धीरे भस्त्रिका प्राणायाम का अभ्यास अवश्य करना ही चाहिए।

योग से फायदा Benefits of Yoga in Hindi

योग से आपके शरीर में यह फायदे रहते हैं:

  • शरीर फिट व चुस्त रहता है|
  • वजन घटना
  • तनाव से राहत
  • आंतरिक शांति
  • बेहतर प्रतिरक्षा
  • अधिक जागरूकता आती है
  • ऊर्जा में वृद्धि
  • बेहतर लचीलापन और आसन
  • बेहतर अंतर्ज्ञान

बाबा रामदेव योग वीडियो इन हिंदी

रामदेव बाबा योगासन video हमने निचे दी हुई है जिससे आप घर बैठे योग सीख सकते हैं|

ऊपर दिए हुई जानकारी में हमने आपको बताया है की बाबा रामदेव के योग को कैसे घर रहे कर आप आसानी से कर पाएंगे साथ ही आप स्वस्थ भी रख पाएंगे| आशा है आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा होगा, ज़्यादा जानकारी के लिए पढ़ते रहे हमारी वेबसाइट|

सम्बंधित सर्च:
बाबा रामदेव के प्राणायाम और योगासन video download
बाबा रामदेव योग वीडियो डाउनलोड

loading...

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *