बचपन पर शायरी – बचपन की यादें शायरी हिंदी संदेश – Shayari on childhood

बचपन पर शायरी

बचपन की यादें जब कभी याद आती हैं आँखें नाम कर जाती हैं| वो दिन ऐसे होते हैं जो हर कोई चाहता हैं की लौट के आजायें | दोस्तों वो दिन लौट कर वापिस तो नहीं आ सकते पर आप चाहे तो हमारी दी हुई bachpan par shayari (bachpan shayari) पढ़ सकते हैं| आप यह शायरियां किसी अपने को विश कर सकते हैं| इसमें शामिल हैं ,समझ collection , मेसेज, कोट्स, स्टेटस, विश (wishes), शुभकामनायें, STATUS, उद्धरण, एसएमएस, SMS, साहरी, sayaree, pics, images, photos, wallpaper को अपने गर्लफ्रेंड, बॉयफ्रेंड, प्रेमी, प्रेमिका, पति, पत्नी, दोस्त, भाई, बहन, माँ, पिता या छोटे बच्चे के साथ फेसबुक, व्हाट्सप्प या अन्य किसी सोशल साइट्स पर शेयर कर सकते हैं।

बचपन की यादें शायरी हिंदी संदेश

Bachpan shayari in hindi

Bachpan ki behatrin yaade hindi: बचपन शायरी इन हिंदी इस प्रकार हैं|


बचपन भी कमाल का था
खेलते खेलते चाहें छत पर सोयें
या ज़मीन पर
आँख बिस्तर पर ही खुलती थी !!
Copy Tweet
Copied Successfully !

झूठ बोलते थे फिर भी कितने सच्चे थे हम
ये उन दिनों की बात है जब बच्चे थे हम
Copy Tweet
Copied Successfully !

सुकून की बात मत कर ऐ दोस्त
बचपन वाला इतवार अब नहीं आता
Copy Tweet
Copied Successfully !

कितने खुबसूरत हुआ करते थे बचपन के वो दिन
सिर्फ दो उंगलिया जुड़ने से दोस्ती फिर से शुरु हो जाया करती थी
Copy Tweet
Copied Successfully !

आशियाने ? जलाये जाते हैं जब तन्हाई की आग से, ☺️ तो बचपन के घरौंदो की वो मिट्टी याद आती है ? याद होती जाती है जवां बारिश के मौसम में तो, बचपन की वो कागज की नाव ? याद आती है
Copy Tweet
Copied Successfully !

बचपन की शायरी


रोने की वजह भी न थी
न हंसने का बहाना था
क्यो हो गए हम इतने बडे
इससे अच्छा तो वो बचपन का जमाना था.....
Copy Tweet
Copied Successfully !

चले आओ कभी टूटी हुई चूड़ी के टुकड़े से,
वो बचपन की तरह फिर से मोहब्बत नाप लेते हैं..
Copy Tweet
Copied Successfully !

आते जाते रहा कर ए दर्द
तू तो मेरा बचपन का साथी है
Copy Tweet
Copied Successfully !

कितने खुबसूरत हुआ करते थे बचपन के वो दिन ..!!
सिर्फ दो उंगलिया जुड़ने से दोस्ती फिर से शुरु हो जाया करती थी ..!!
Copy Tweet
Copied Successfully !
बचपन की शायरी

Bachpan shayari in two lines

Bachpan shayari 2 line (bachpan 2 line shayari) इस प्रकार हैं|


किसने कहा नहीं आती वो बचपन वाली बारिश...
तुम भूल गए हो शायद अब नाव बनानी कागज़ की...!!
Copy Tweet
Copied Successfully !

अजीब सौदागर है ये वक़्त भी
जवानी का लालच दे के बचपन ले गया !!
Copy Tweet
Copied Successfully !

लगता है माँ बाप ने बचपन में खिलौने नहीं दिए,
तभी तो पगली हमारे दिल से खेल गयी !!
Copy Tweet
Copied Successfully !
बचपन से हर शख्स याद करना सिखाता रहा,
भूलते कैसे है ? बताया नही किसी ने…..

हंसने की भी, वजह ढूँढनी पड़ती है अब;
शायद मेरा बचपन, खत्म होने को है!
Copy Tweet
Copied Successfully !

बचपन की दोस्ती पर शायरी

बचपन की दोस्ती शायरी इस प्रकार हैं|


वो क्‍या दिन थे…
मम्‍मी की गोद और पापा के कंधे,
न पैसे की सोच और न लाइफ के फंडे,
न कल की चिंता और न फ्यूचर के सपने,
अब कल की फिकर और अधूरे सपने,
मुड़ कर देखा तो बहुत दूर हैं अपने,
मंजिलों को ढूंडते हम कहॉं खो गए,
न जाने क्‍यूँ हम इतने बड़े हो गए|
Copy Tweet
Copied Successfully !

वो बचपन की अमीरी न जाने कहां खो गई
जब पानी में हमारे भी जहाज चलते थे…
Copy Tweet
Copied Successfully !
Bachpan shayari in hindi

बचपन का प्यार शायरी


वो बचपन की अमीरी न जाने कहां खो गई
जब पानी में हमारे भी जहाज चलते थे…
Copy Tweet
Copied Successfully !

अब तक हमारी उम्र का बचपन नहीं गया
घर से चले थे जेब के पैसे गिरा दिए
Copy Tweet
Copied Successfully !

दुआएँ याद करा दी गई थीं बचपन में
सो ज़ख़्म खाते रहे और दुआ दिए गए हम
Copy Tweet
Copied Successfully !

भूक चेहरों पे लिए चाँद से प्यारे बच्चे
बेचते फिरते हैं गलियों में ग़ुबारे बच्चे
Copy Tweet
Copied Successfully !

मासूमियत पर शायरी

मासूम बच्चा शायरी इस प्रकार हैं|


कोई मुझको ? लौटा दे वो बचपन का सावन, ? वो कागज की कश्ती वो बारिश ? का पानी।
Copy Tweet
Copied Successfully !

रोने की ? वजह ना थी, ना हँसने का बहाना था. ? क्युँ हो गऐे हम इतने बडे, ? इससे अच्छा तो वो बचपन का ☺️ जमाना था..
Copy Tweet
Copied Successfully !

आओ ? हम चाँद का क़िरदार अपना ले. ? दाग अपने पास रख ले, और ? रोशनी बाँट दें..
Copy Tweet
Copied Successfully !

वो बचपन ☺️ भी क्या दिन थे मेरे..! ? न फ़िक्र कोई..न दर्द कोई..!! बस खेलो, ? खाओ, सो जाओ..! बस इसके सिवा कुछ ? याद नहीं..!
Copy Tweet
Copied Successfully !
bachpan lines in hindi

हम भी ? मुस्कराते थे कभी बेपरवाह ? अन्दाज़ से देखा है आज खुद को कुछ पुरानी ? तस्वीरों में !
Copy Tweet
Copied Successfully !

बच्चों ? के द्वारा नापसंद किये जाने से ? बेहतर है बड़ों के बीच से निकाल ☺️ दिया जाना।
Copy Tweet
Copied Successfully !

बचपन के दिन शायरी


मेरा बचपन भी साथ ले आया
गाँव से जब भी आ गया कोई
Copy Tweet
Copied Successfully !

मोहल्ले वाले मेरे कार-ए-बे-मसरफ़ पे हँसते हैं
मैं बच्चों के लिए गलियों में ग़ुब्बारे बनाता हूँ
Copy Tweet
Copied Successfully !

सातों आलम सर करने के बा'द इक दिन की छुट्टी ले कर
घर में चिड़ियों के गाने पर बच्चों की हैरानी देखो
Copy Tweet
Copied Successfully !
काश वो बचपन लोट आय हिंदी शायरी

ना कुछ पाने की आशा ना कुछ खोने का डर
बस अपनी ही धुन, बस अपने सपनो का घर
काश मिल जाए फिर मुझे वो बचपन का पहर
Copy Tweet
Copied Successfully !

बचपन की यादें शायरी – shayari bachpan ki yaadein


एक हाथी एक राजा एक रानी के बग़ैर
नींद बच्चों को नहीं आती कहानी के बग़ैर
Copy Tweet
Copied Successfully !

खिलौनों की दुकानो रास्ता दो
मिरे बच्चे गुज़रना चाहते हैं
Copy Tweet
Copied Successfully !

जिस के लिए बच्चा रोया था और पोंछे थे आँसू बाबा ने
वो बच्चा अब भी ज़िंदा है वो महँगा खिलौना टूट गया
Copy Tweet
Copied Successfully !

मैं बचपन में खिलौने तोड़ता था
मिरे अंजाम की वो इब्तिदा थी
Copy Tweet
Copied Successfully !

मेरे रोने का जिस में क़िस्सा है
उम्र का बेहतरीन हिस्सा है
Copy Tweet
Copied Successfully !

Bachpan shayari in urdu


असीर-ए-पंजा-ए-अहद-ए-शबाब कर के मुझे
कहाँ गया मिरा बचपन ख़राब कर के मुझे
Copy Tweet
Copied Successfully !

अपने बच्चों को मैं बातों में लगा लेता हूँ
जब भी आवाज़ लगाता है खिलौने वाला
Copy Tweet
Copied Successfully !

मेरी दोस्ती का फायदा उठा लेना, ? क्युंकी मेरी दुश्मनी का नुकसान सह ? नही पाओगे…!
Copy Tweet
Copied Successfully !

कमज़ोर ? पड़ गया है, मुझसे तुम्हारा ताल्लुक, ☺️ या कहीं और सिलसिले मजबूत ? हो गए हैं.
Copy Tweet
Copied Successfully !

सारी दुनियाँ मैं ईद है, ? लेकिन हमारा चाँद आज ? भी गुम है.
Copy Tweet
Copied Successfully !

इक ? चुभन है कि जो बेचैन किए रहती ? है, ऐसा लगता है कि कुछ टूट गया है ? मुझ में.
Copy Tweet
Copied Successfully !

फ़क़त माल-ओ-ज़र-ए-दीवार-ओ-दर अच्छा नहीं लगता
जहाँ बच्चे नहीं होते वो घर अच्छा नहीं लगता
Copy Tweet
Copied Successfully !

बड़ी हसरत से इंसाँ बचपने को याद करता है
ये फल पक कर दोबारा चाहता है ख़ाम हो जाए
Copy Tweet
Copied Successfully !

बच्चा बोला देख कर मस्जिद आली-शान
अल्लाह तेरे एक को इतना बड़ा मकान
Copy Tweet
Copied Successfully !

बच्चों के छोटे हाथों को चाँद सितारे छूने दो
चार किताबें पढ़ कर ये भी हम जैसे हो जाएँगे
Copy Tweet
Copied Successfully !

Bachpan shayari in punjabi

ਬਚਪਨ ‘ਤੇ ਸ਼ਾਇਰ


Bachpan De Din Bade Hi Change
Khushian Chawan De Nal Range
Copy Tweet
Copied Successfully !

Har Pal Sujhdi C Navi Shararat
Har Kise Nal Lainde C Pange
Copy Tweet
Copied Successfully !

Kathe Ho K Sare Beli Aa Kharde C Chhapar De Kandhe
Majhaan Diyan Poochhan Fadke Odon Taariyan Londe C
Hun Tan Ik Hanju Shikwa Kar Janda, Bachpan Wich Tan Dil Khol K Ronde C
Copy Tweet
Copied Successfully !

Chadi Jawani Paiyan Fikraan, Sab Kammi Kaari Pai Gaye
Bachpan Wich Sang Khedan Wale, Hun Tan Milno V Reh Gaye
Copy Tweet
Copied Successfully !
Related Search:
बच्चों पर शायरी

बचपन shayari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *