Hindi Shayari

जख्मी दिल की शायरी – Zakhmi Dil Ki Shayari in Hindi & Urdu – 2 Lines Sher Image, Wallpapers Download

प्यार मोहब्बत में हर इंसान पड़ जाता है जिसमें कि किसी को उसका प्यार नसीब हो जाता है किसी को इतना प्यार नसीब नहीं होता है | कभी-कभी ऐसा होता है कि हम जिससे प्यार करते हैं तो वह हमें छोड़कर चला जाता है जिसकी वजह से हमारा दिल बहुत दुखता है और हमारा दिल टूट जाता है | जिसकी वजह से हमारे कई लव के शायरों ने जख्मी दिल के ऊपर भी कुछ बेहतरीन शायरियां कही है अगर आप उन स्पेशल बेस्ट शायरी हो के कलेक्शन के बारे में जानना चाहते हैं तो यहां से जान सकते हैं |

Zakhmi-Dil Shayari In Urdu – टूटा हुआ दिल शायरी

अगर आप zakhmi dil shayri in hindi, 2 line zakhmi dil shayari, जख्मी दिल शायरी हिंदी में, जख्मी दिल शायरी हिन्दी, जख्मी दिल के शायरी, जख्मी दिल शायरी डाउनलोड, टूटे दिल की शायरी वॉलपेपर तथा टूटा दिल के ऊपर कुछ बेहतरीन शायरियां ke Image, Wallpapers, Photos, Pictures, Pics हिंदी, उर्दू, गुजराती, तमिल, तेलुगु, गुजराती, मराठी, पंजाबी आदि भाषाओ में यहाँ से जान सकते है |

ओ दिल तोड़ने वाले इतना तो बताता जा,
की ये सजा प्यार करने की है या मेरी वफाओं की

हमसे ना कट सकेगा अंधेरो का ये सफर…
अब शाम हो रही हे मेरा हाथ थाम लो

जब कोई ख्वाब अधुरा रह जाते हैं !
तब दिल के दर्द आंसु बनकर बाहर आते हैं

तुम्हारा नाम लेने से मुझे सब जान जाते हैं…
मैं वो खोई हुई इक चीज हूँ जिसका पता तुम हो

तुम्हारे खुश होने के अंदाज से लगता है….
कुछ टुटा है बड़ी खामोशी से तेरे अन्दर

हमें तो प्यार के दो लफ्ज ही नसीब नहीं,
और बदनाम ऐसे जैसे इश्क के बादशाह थे हम

वो मंजर ही मौहब्बत में बड़ा दिलकश गुजरा,
किसी ने हाल ही पूछा था और आँखें भर आई

दुखती रग पर ऊँगली रखकर पूछ रही हो कैसे हों …
तुमसे ये उम्मीद नहीं थी दुनिया चाहे जैसी हों

जख्मी दिल शायरी इमेज – दिल टूटने वाली शायरी

दिल के दर्द तुम्हें कैसे बताऊ
दिल नुमाइश की चीज नहीं है, जो किसी को भी अपना दिल दिखाऊं…

अंजान अगर हो तो गुज़र क्यूँ नहीं जाते…
पहचान रहे हो तो ठहर क्यूँ नही जाते

हालात की दलील देकर उन्होनें साथ छोङ़ा , तो हम आहत नहीं हुए ….,
सोचा हमसे ना सही , चलो किसी से तो वफ़ा निभाई उन्होने

ख्वाबों में हीं मुझसे मिलने आ जाओ तुम
तेरी बहुत शिकायतें करनी है, मुझे तुमसे…

तेरे बाद मुझे किसी से प्यार न मिला
तेरे बाद मेरे प्यार का, कोई हकदार न मिला…

अपनी कमजोरी को, किस खूबसूरती से ढक लेते हैं लोग
कुछ बुरा हो जाए, तो खुदा को दोष देते हैं लोग…

नाराज़ क्यों होते हो चले जाएंगे तुम्हारी ज़िन्दगी से दूर
जरा टूटे दुए दिल के टुकड़े उठा लेने दो

उसके प्यार में हमने जमाना भुला दिया
और उसने भरी महफिल में, हमारा तमाशा बना दिया……

2 Lines Sher Image

जख्मी दिल शेरो शायरी – टूटे दिल की ग़ज़लें

ये किस मोड़ पर, तुम्हे बिछड़ने की सूझी,
मुद्दतों बाद तो संवरने लगे थे….हम

हर मुलाक़ात पर वक़्त का तकाज़ा हुआ ;
हर याद पे दिल का दर्द ताज़ा हुआ

तेरे रोने से उन्हें कोई फर्क नही पड़ता ऐ दिल,,,,.
जिनके चाहने वाले ज्यादा हो वो अक्सर बेदर्द हुआ करते हैं

नमक तुम हाथ में लेकर, सितमगर सोचते क्या हो,,
हजारों जख्म है दिल पर, जहाँ चाहो छिड़क डालो

मुझे भी ज़िन्दगी में तुम ज़रूरी मत समझ लेना,
सुना है तुम ज़रूरी काम अक्सर भूल जाते हो

ये मोहब्बत है या नफरत कोई इतना तो समझाए,
कभी मैं दिल से लड़ता हूँ कभी दिल मुझ से लड़ता है

हमें भुलाकर सोना तो तेरी आदत ही बन गई है, अय सनम;
किसी दिन हम सो गए तो तुझे नींद से नफ़रत हो जायेगी

जाने क्यूँ बरसने से, मुकर जाता है हर बार,
मेरे हिस्से में आया है, जो टुकड़ा बादल का

Jakhmi Dil Ki Shayri In Hindi – दिल टूटने का दर्द

दर्द-ए-दिल कैसे बयाँ करूं तुझसे
तू भी अजनबियों से घिरी है, मैं भी बेगानों के साथ हूँ

हमसे मत पूछिए जिंदगी के बारे में
अजनबी क्या जाने अजनबी के बारे में

होठों ने सब बातें छुपा कर रखीं ……
आँखों को ये हुनर… कभी आया ही नहीं

तूने प्यार सौदा समझ के ही किया होता तो अच्छा होता.
मुनाफे के लिए ही सही तेरा प्यार थोडा तो सच्चा होता

हमें कोई ग़म नहीं था, ग़म-ए-आशि़की से पहले,
न थी दुश्मनी किसी से, तेरी दोस्ती से पहले

ज़िंदगी चैन से गुज़र जाए…
गर तू ज़हन से उतर जाए

हालात ने तोड़ दिया हमें कच्चे धागे की तरह…
वरना हमारे वादे भी कभी ज़ंजीर हुआ करते थे

न जाने क्यों प्यार में, किसी को खुदा बनाते हैं लोग
अब तो वक्त बदलते हीं, गिरगिट की तरह बदल जाते हैं लोग

Zakhmi Dil Ki Shayari in Hindi

Zakhmi Dil Ki Shayari Hindi Me

ये क्या सितम है‍,क्यूं रात भर सिसकता है
वो कौन है जो “दियों” में जला रहा है मुझे

नजर अंदाज करने कि कुछ तो वजह बताई होती,
अब में कहाँ कहाँ खुद में बुराई ढूँढू

हमे पता था की उसकी मोहब्बत में ज़हर हैं ;
पर उसके पिलाने का अंदाज ही इतना प्यारा था की हम ठुकरा ना सके

हाथ ज़ख़्मी हुए तो कुछ अपनी ही खता थी…..
लकीरों को मिटाना चाहा किसी को पाने की खातिर

जिस दिन खुद से दोस्ती हो जायेगी,
इस कमबख्त अकेलेपन से निजात मिल जायेगी

है तमन्ना फिर, मुझे वो प्यार पाने की…….
दिल है पाक मेरा , ना कोशिश कर आज़माने की

कितना नादान है ये दिल कैसे समझाऊ
तू जिसे खोना नहीं चाहता हो तेरा होना नहीं चाहता

हमें ए दिल कहीं ले चल … बड़ा तेरा करम होगा
हमारे दम से है हर गम …न होंगे हम और ना गम होगा

टूटे दिल की शायरी हिंदी में – जख्मी दिल फोटो

अंदर से तो कब के मर चुके है हम,
ए मौत तू भी आजा लोग सबूत मांगते है

हर ज़ुल्म तेरा याद है भूला तो नहीं हूँ,
ऐ वादा फरामोश मैं तुझ सा तो नहीं हूँ

वहां से पानी कि एक बूँद भी न निकली …
तमाम उम्र जिन आँखों को झील लिखते रहे हम

हुनर-ओ-इश्क अब सीख कर आया हूँ………
चलो फिर से खेल दिल का खेलते है

मेरे हिस्से में सिर्फ अँधेरे बचे हैं
उस बेवफा ने चुरा लिया मेरे हिस्से की रोशनी…

हमसे मत पूछिए जिंदगी के बारे में
अजनबी क्या जाने अजनबी के बारे में

एक‬ सफ़र हमने ज़िंदगी का ऐसा भी किया
पांव की जगह दिल को ही दुखा दिया

कभी उनके नाम के पहले हर बार आते थे
पर अब आलम ये हैं कि उनके सपनो में भी नहीं आते

Leave a Comment