Informational

Vigyapan Lekhan(Advertisement in Hindi)

आपने अक्सर देखा होगा कि जब भी हम Television देखते है या mobile पर online कुछ देखते है तो कुछ अंतराल पर बीच बीच में कुछ Adsआते है । कभी कभी तो हम एक ही ad को बार -बार देख कर bore भी हो जाते है । रास्ते में भी आते जाते हम बड़े – बड़े होर्डिंग्स या बैनर पर भी ads दिखाई देते है ।

लेकिन क्या आपने कभी सोच है की ये विज्ञापन kya hai , kaise banaye जाते है और इनका use कहा होता है ? अगर आपको इन सभी सवालों के जवाब चाहिए तो इसके लिए आप इस vigyapan in Hindi के लेख को पढ़ सकते है । यहाँ हम आपको विज्ञापन से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी देने जा रहे है ।

What is Advertisement in Hindi ?  विज्ञापन क्या है ?

जब एक विशेष माध्यम के जरिए किसी service या product की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए उसका प्रचार – प्रसार किया जाता है जिससे की अधिक से अधिक लोगों को उसके बारे में जानकारी मिले, प्रचार के इस माध्यम को विज्ञापन कहा जाता है । Advertisementएक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे दर्शकों का ध्यान किसी विशेष वस्तु की तरफ खींचा जाता है । Television या radio के through प्रसारित विज्ञापन को Broadcast Advertising भी कहा जाता है । इसे On Air Advertisement भी कह सकते है ।

विज्ञापन का अर्थ

विज्ञापन शब्द को दो शब्दों से मिलकर बनाया गया  है । ‘वि’ और ‘ज्ञापन’ । जहां ‘वि’ का शाब्दिक अर्थ है ‘विशेष’ और ‘ज्ञापन’ का अर्थ है ‘सार्वजनिक सूचना’ । विज्ञापन प्रणाली को विक्रय कला के नाम से भी जाना जा सकता है । ये Selling Art का एक जनसंचार माध्यम है ।

Types of Advertisement in hindi (विज्ञापन के प्रकार)

types-of-advertisement-in-hindi

TV पर movie , serial या sports देखते समय या मोबाईल में You-tube का use करते समय हमे Advertisement dekhne को मिलते है । किसी चीज का प्रचार करने के साथ कुछ ads हमे Moral message भी देते है । इस प्रकार विज्ञापन के कई रूप होते है । चलिए vigyapan के इन रूपों को हम विस्तार से जानते है ।

Persuasive Advertisement (अनुनय विज्ञापन )

जब किसी न्यू प्रोडक्ट को मार्केट में launch किया जाता है और उस प्रोडक्ट के competion में कई प्रोडक्ट पहले से मार्केट में मौजूद हो । ऐसी स्तिथि में company चाहती की है की वह customer को product ट्रायल के लिए motivate कर सके । तब अपनी वस्तु का नाम ग्राहक के mind में सेट करने के लिए इस ज्ञापन का इस्तेमाल किया जाता है ।

Informative Advertisement (सूचनाप्रद विज्ञापन )

इस प्रकार के ज्ञापन का उपयोग किसी भी प्रकार की सूचना को लोगों तक पहुँचाने या business manifesto को ध्यान में रखकर किया जाता है । इसका उद्देश्य लोगों के जीवन स्तर को और high करना , लोगों को शिक्षा की ओर अग्रसर करना तथा cultural , intellectual और spritual उन्नति करना होता है ।  Informative Advertising में product lauch , upgrade  तथा संशोधन (modification) आदि  को शामिल किया जाता है ।

Institutional Advertisement (संस्थानिक विज्ञापन )

इस प्रकार के विज्ञापन Commercial Organization द्वारा प्रकाशित किए जाते है ।  इन विज्ञापन का उद्देश्य ग्राहकों में विश्वास पैदा करना होता है । विज्ञापन में जन-कल्याण पर जोर डाला जाता है । राष्ट्रहित के लिए बड़ी बड़ी industry , ऑर्गनिऐएशन के रूप में पब्लिक opinion का निर्माण करती है ।

Industrial Advertisement (औद्योगिक विज्ञापन)

कच्चे माल (raw material) और मशीनी उपकरण (equipment) की बिक्री को बढ़ाना इस ज्ञापन का काम है । इस प्रकार के ज्ञापन में सामान्य वर्ग को आकर्षित ना करके किसी प्रोडक्ट के manufactures , बड़ी संथाओ के व्यक्तियों को आकर्षित करना होता है ।

Financial Advertisement (वित्तीय विज्ञापन)

इस ज्ञापन का संबंध मुख्य रूप से Finance से होता है । इसमें एक company द्वारा दूसरी company को अपने शेयर खरीदने के लिए  प्रेरित किया जाता है । इसमें कंपनी के खर्च(expenses) और आय(income) दोनों को दिखाया जाता है ।

Classified Advertisement (वर्गीकृत विज्ञापन)

इस तरह के ads बहुत छोटे और सस्ते होते है । शोक संदेश , विवाह संबंधित जानकारी, वर चाहिए , वधू चाहिए , नौकरी , खरीदने – बेचने से संबंधित जानकारी देने के लिए इस ad का उपयोग किया जाता है ।

How to Make Advertisement in Hindi (विज्ञापन कैसे बनाए)

Traffic एक ऐसी चीज है जिस पर हमारा online business निर्भर करता है । अनलाइन Business मेसफल होने के लिए traffic का ज्यादा से ज्यादा होना बहुत जरूरी है । Advertising एक ऐसा माध्यम है जिससे ट्रैफिक को बढ़ाया जाता है ।

विज्ञापन लेखन कोई Rocket साइंस नहीं है । यह एक आसान प्रक्रिया है जिसे लिखते समय कुछ tactics का ध्यान रखा जाए तो एक बहुत ही अच्छा विज्ञापन तैयार किया जा सकता है ।

Medium Of Advertisement in Hindi (विज्ञापन के माध्यम )

यदि आप अपने किसी उत्पाद(product) का प्रचार (ad) करना चाहते है तो आपको पता होना चाहिए कि किन माध्यमों के जरिए अपने प्रोडक्ट का प्रचार कर सकते है । इसके बहुत सारे माध्यम(medium) है जो कुछ इस प्रकार है ।

  1. Television – T. V. प्रचार का सबसे अच्छा और popular माध्यम है । यह बेस्ट होने के साथ एक expensive medium भी है । इसमें per second के हिसाब से charge किया जाता है । टी. वी. पर आने वाले cricket matches या popular daily serial जिनकी TRP high हो उनके बीच आने ads का हाई charge किया जाता है ।
  2. Radio Advertisement-इसमें हवा में रेडियो waves के जरिए ads को प्रचारित किया जाता है । इसमें visual content तो नहीं होता लेकिन इसमें audience के साथ direct संपर्क बनाया जाता है ।
  3. Print Advertisement-प्रिन्ट मीडिया के दो basic medium है Newspaper और magazines । Newspapers एक बड़े पैमाने पर audience को attract करता है जबकि magazines एक बहुत ही छोटे customer segment को attract करती है । magazines के comparison में अखबार एक affordable साधन है ।
  4. Online Advertisement-Internet के Support से Online Ads को प्रचारित किया जाता है । इसमें अलग – अलग search engines के द्वारा Ads को दिखाया जाता है जैसे – Google , Justdial ,OLX आदि ।
  5. Billboard Advertisement-बड़े बड़े शहरों में Road Side बड़े बड़े बैनर या होर्डिंग के जरिए Ads दिखाए जाते है इसे billboard Advertising कहते है ।
  6. Shop Advertisement- इसे इन स्टोर Advertising भी कहा जा सकता है । इसमें shopping Malls या दुकानों के अंदर किए जाने वाले प्रचार को माना जाता है ।

Advertisement Format in Hindi ( हिंदी विज्ञापन लेखन ) करते समय ध्यान रखने योग्य बातें –

  • हमे दर्शकों को ये दिखाना होगा की ये advertisement किस प्रकार से उनके लिए उपयोगी है ।
  • Viewers के emotional पहलू को ध्यानमें रखा जाना चाहिए।
  • Product की quality का ध्यान रखना चाहिए ।
  • Ads में वास्तविक तथ्यों को ही दिखाए , imaginary facts ना डालें ।

Advantages And Disadvantages Of Advertisement

Advantages

  1. इसके जरिए  market में Product की demand को बढ़ाया जाता है । जिससे organization को benefit होता है ।
  2. Advertisement Brand Build-Up करने में बहुत उपयोगी है । जिन Brands का Advertisement किया जाता जाता है लोग उनको ज्यादा prefer करते है ।
  3. Customer को Product के बारे में knowledge देते है ।
  4. किसी भी प्रोडक्ट की new launching में सहायता करता है ।
  5. मौजूदा ग्राहक(existing customer) को बनाए रखते है और उनके confidence को भी बढ़ाते है ।

Disadvantages

  1. Advertising एक अतिरिक्त खर्च होता है जिसे product की कीमत में जोड़कर वसूल किया जाता है जिससे उसकी कीमत बढ़ जाती है ।
  2. कभी कभी ये customer को भ्रमित भी करते है क्युकी customer यह निश्चित नहीं कर पता की वह किस उत्पाद को purchase करे और किसे नहीं ।
  3. इसका खर्च (expense) इस्तेमाल केवल बड़े business द्वारा ही किया जा सकता है । क्युकी छोटे बिजनस इसका खर्च वहन नहीं कर सकते ।

 

 

 

 

Leave a Comment