शिवाजी महाराज शायरी – Best Shivaji Maharaj Shayari

शिवाजी महाराज शायरी

Shivaji Maharaj Achi Shayari 2020: शिवाजी महाराज एक महान देशभक्त तथा एक राष्ट्र निर्माता, एवं कुशल प्रशासक होने के साथ ही वह Resolute और बहुत अधिक Intelligent भी थे। शिवाजी महाराज को Shivaji Raje Bhosle और Chhatrapati Shivaji Maharaj के नाम से भी जाना जाता है। शिवाजी महाराज का जन्म 19 February 1630 को शिवनेरी दुर्ग Maharashtra में हुआ था।

आज हम इस Article में Shivaji Maharaj Shayari के माध्यम से Best Shivaji Maharajanche Vichar, Top शेरो शायरी के बारे में जानकारी प्रदान कर रहे है और इसके साथ ही आप शिवाजी स्टैटस और Shivaji Maharaj Shayari in Marathi Images की Latest Video और New Photos Download करके आप अपने Friends और Relatives को FB, Whatsapp पर सांझा कर सकते है।

Shivaji Maharaj Sher Shayari in Hindi

“ओम” कहने से मन को शक्ति मिलती है,
“साईं” कहने से मन को शक्ति मिलती है,
“राम” बोलने से पापों से मुक्ति मिलती है,
“जय शिवराय” की बात
हमें सौ बाघों की ताकत मिलती है …

महाराष्ट्र के मराठा राजा,
कह रहा है सब मेरे अपने,
आज भी, गाना बजाने वाले गाते हैं,
लपेट लो
वह एकमात्र “राजा शिव छत्रपति” हैं

राजाधिराज छत्रपति शिवरई दुर्गापति गज अश्वपति
भूपति प्रजापति सुवर्णरतनश्रीपति
astavadhanajagrta
ऑक्टोपियन लूटता है
न्यायपालिका संघ में
शस्त्रागार विशेषज्ञ
राजनीति में उछाल
पुरंदापताप पुरंदर
क्षत्रियला कुलवत्सनां सिंहासनविश्वरा
राजाधिराज महाराज अमीर
सामान्य चैट चैट लाउंज श्री छत्रपति
श्री शिवाजी महाराज की जय ।।

अखंड हिंदुस्तान के आराध्य देवी और प्रेरणादायक स्थान,
अमीर छत्रपति शिवाजी राजे महाराज को,
त्रि-मन मुजारा …
सभी शिव भक्तों को,
जय शिवा जी … !!

बहादुरी मेरी आत्मा है!
विचार और विवेक मेरी पहचान है!
क्षत्रिय मेरा धर्म है!
छत्रपति शिवराय मेरे भगवान हैं!
हाँ मैं मराठी हूँ!
जय शिवराय !!

राजा तुच ने सख्त लड़ाई करके किला जीत लिया,
दुश्मनी के कभी-कभी होने वाले हमले,
जीजाऊ पोते, संरक्षण में पैदा हुए
यह शिवराय सलाम आपको लाखों-करोड़ों देगा …!

बिजली की तलवार की तरह,
हिंदुस्तान ने छाती पीट ली,
अफ्ज़खान बैग में बाघ के नाखून
मुट्ठी भर मावल के साथ हजारों शैतान भाग गए!
जब वे स्वर्ग में चढ़े, तब देवों ने उन्हें प्रणाम किया।
उन में से एक “मरदा मराठा शिवबा” बन गया …

“वयस्क प्रताप पुरंदर”
“पराक्रमी सरदार” “क्षत्रियकुलवंत”
“पर Sinhasanadhis”
“महाराजधिराज” “महाराज”
“धनी” “श्री छत्रपति” “शिवाजी” “महाराज” “जय”

शिवनेरी में गर्जन की गर्जना … झनझनाहट की ध्वनि शुरू हो गई … सारा वातावरण खुश हो गया …
भगवा गर्व से फूटने लगा … सह्याद्री ने आसमान की ऊँचाई से दिल्ली को देखना शुरू किया।
बहुत अच्छा दिन था .. सह्याद्रि के चारों ओर एक गर्जना गूंज उठी “ओह मेरे राजा का जन्म हुआ था …
मेरे शिवबा का जन्म … दलितों के देवता से हुआ … दर्शन के द्रष्टा से पैदा हुआ … ओह मेरे राजा का जन्म हुआ … ”
सभी को शिव जयंती की शुभकामनाएं …

वे ही जीवित थे
वह एक जीवित महाराष्ट्र था
लेकिन अपने ही परिवार को भूल जाना
जनता से हाथ मिलाते हुए।
यह “आपका शिव” था
जय शिवराय

Chhatrapati Shivaji Maharaj Shayari Marathi

ना शिवशंकर… तो कैलाशपती
ना लंबोदर… तो गणपती
नतमस्तक तया चरणी
ज्याने केली स्वराज्य निर्मिती
देव माझा एकच तो
।। राजा शिवछत्रपती ।।

राजे असंख्य झाले आजवर या जगती,
पण
शिवबासमान मात्र कुणी न जाहला..
गर्व ज्याचा असे या महाराष्ट्राला,
एकची तो राजा शिवाजी जाहला..

जब हौसले बुलन्द हो, तो पहाङ भी एक मिट्टी का ढेर लगता है
Jai Shivaji… Jai Bhavani…
Jay Shivaji Maharaj

#लोक_म्हणतात_हे
#विश्व_देवाने_बनवल_आहे
#पण
#मी_म्हणतो_आम्हा_मराठ्यांना_
छञपतींनी_बनवल.
#जगदंब_जगदंब…….
#जय_भवानी_जय_शिवराय

सबके हात में एक तलवार होती है
लेकिन वही साम्राज्य स्थापित करता है जिसमें इच्छाशक्ति होती है

स्वताच्या मनगाटावर विश्वास आसणार्याला दुसर्याच्या सामर्थ्याची भीती कधीच वाटत नाही
आणि आशा सामर्थ्याला हरवण्याचे धाडस नियती सुध्दा करत नाही
छत्रपति शिवाजी महाराज

राजाधीराज छत्रपती शिवराय दुर्गपती गजअश्वपती भूपती प्रजापती सुवर्णरत्नंश्रीपती अष्टावधान
जागृत अष्टप्रधान वेष्टीत न्यायालंकार मंडीत शस्त्रास्त्रशांस्त्र पारंगत राजनीती धुरंधर पौढप्रताप
पुरंदर क्षत्रीयकुलावतंस सिँहासनाधीश्वर राजाधिराज महाराज श्रीमंत श्री छत्रपती श्री शिवाजी महाराज कि जय…
छत्रपती शिवाजी महाराजच्या जयंतीच्या,
सर्व मित्र मैत्रिणीँना हार्दिक शुभेच्छा..

शिवाजी या नावाला कधी
उलट वाचलं आहे का?
जीवाशी असा शब्द तयार होतो..
जो आयुष्यभर जीवाशी
खेळला तो शिवाजी!
अरे! गर्वच नाही तर
माज आहे मला,
मराठी असल्याचा…

सिंहाची चाल,
गरुडा ची नजर,
स्रीयांचा आदर,
शत्रूचे मर्दन,
असेच असावे मवाळ्यांचे वर्तन,
हीच छत्रपती शिवाजी महाराजांची शिकवण…..
जय शिवराय
जय शंभुराजे

जागवल्याशिवाय जाग येत
नाही…….
ओढल्याशिवाय काडी पेटत
नाही……..
तसे,
”छत्रपतींचे” नाव
घेतल्याशिवाय माझा दिवस
उगवत नाही…!!
शिवजयंतीच्या हार्दिक
शुभेच्छा
|| जय शिवराय ||

Shivaji Maharaj Shayari in English

Thousands of hearts start
beating hard with
enthusiasm.
Body triggers adrenaline
with shudder…
Blood heats up each and
every vein wilddly.
Mind inspirates killing
instinct and soul sets on
fire
Just by hearing one name…
CHHATRAPATI SHIVAJI MAHARAJ

Only the timid and the weak leave things to
destiny but the strong and the self-confident
never bank on destiny of luck.
jay Shiva ji Maharaj

On the page of history
In the mind of Ryot
On clay particles and on a scale of faith
The king is the ruler
King Shiv Chhatrapati
Manajara
Jai Shiv Ji

First nation
Then guru,
Then parents,
Then God.
So first let’s not see the nation myself .. !!

Shvaji Maharaja sarkha Raja Hone Nahi,
Shivaji Maharaja na Manacha Mujara,
Jai Bhavani, Jai Shivaji, Jai Maharashtra.

Vel aala tar pran deu
Pan swabhiman amcha zukat nahi
Sahyadri putra amhi ugach kunachya vatela jat nahi
Aalch jar koni adava
Ubha chirlyashivay sodat nahi
Shivaji Maharaj

Look at the threat of the saffron flag,
Maratha is on fire ..
Are you scared,
You are the tiger of Shiva…
Jai Shivaji!

If I could travel the world
I would simply travel “Sahyadri”
I’ve heard that there’s soil is sacred by
touch of feet of
Chhatrapati Shivaji Maharaj

Adorable goddess and inspirational place of united Hindustan
The rich Chhatrapati Shivaji Raje Maharaj
Triva Mana Mujra
To all Shiva devotees, Shiv Jayanti’s Shivaay Mubarak !!!

Other learned from their own mistakes
but my king learned from Other mistakes too.
CHHATRAPATI SHIVAJI

Where Shiva devotees stand
There is a good deal of goodness out there…. !!
Oh, the fear of dying
Adarsh Our Raja Shiv Chhatrapati …… !!
“!!! Jai Shivarai !!! ”

Oh cut off even though we don’t have it,
The abduction of saffron blood,
And tear our chest,
Yet the idols will only appear …
Jai Shivarai!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *