sarkari yojana

कृषि सा सजुली योजना 2023 – Krishi Sa Sajuli Yojana Application Form, Eligibility and Benefits

Mukhya Mantri Krishi Sa Sajuli Yojana

किसानों को विभिन्न लाभ प्रदान करने के लिए राज्य और केंद्र दोनों सरकारें विभिन्न प्रकार की योजनाएं शुरू करती हैं। इन योजनाओं के माध्यम से किसानों को मौद्रिक और सामाजिक सुरक्षा लाभ प्रदान किया जाता है। हाल ही में असम सरकार ने मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना शुरू की है। इस योजना के माध्यम से, सरकार कृषि उपज की मांग को पूरा करने और किसानों के लिए उच्च आय सुनिश्चित करने के लिए सीमित भूमि में कृषि उत्पादकता बढ़ाने का इरादा रखती है। इस लेख में मुख्यमंत्री कृषि सा जुली योजना 2023 के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी शामिल होगी।

मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना 2023

असम सरकार ने मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना शुरू की है। इस योजना के माध्यम से विभिन्न फसलों की उत्पादकता बढ़ाने के लिए विभिन्न फसलों की खेती के लिए कृषि मशीनीकरण को बढ़ावा दिया जाएगा। इस योजना से कृषि तंत्र में भी सुधार होगा। इसके अलावा इस योजना से किसानों के श्रम और समय की भी बचत होगी। मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना के माध्यम से वैज्ञानिक खेती की तकनीक किसानों के खेत में हस्तांतरित की जाएगी। इस योजना के लागू होने से किसान आत्म निर्भर बनेंगे। इसके अलावा इस योजना से किसानों के जीवन स्तर में भी सुधार होगा। इस योजना के माध्यम से प्रत्येक किसान को कृषि उपकरण खरीदने के लिए 5000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। यह सहायता प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के माध्यम से प्रदान की जाएगी।

मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना का उद्देश्य

मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की आय में वृद्धि करना है। इस योजना के माध्यम से, सरकार कृषि उपकरण खरीदने के लिए 5000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करने जा रही है। सरकार किसानों को वैज्ञानिक कृषि उपकरण खरीदने के लिए प्रेरित करने जा रही है जिससे उनका उत्पादन और उत्पादकता बढ़ेगी। इस योजना से किसानों का मुनाफा भी बढ़ेगा। साथ ही किसानों की मेहनत और समय की भी बचत होगी। यह योजना किसानों को आत्म निर्भर बनाएगी। साथ ही किसानों के जीवन स्तर में भी सुधार होगा।

मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना के लाभ और विशेषताएं

  • असम सरकार ने मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना शुरू की है।
  • इस योजना के माध्यम से विभिन्न फसलों की उत्पादकता बढ़ाने के लिए विभिन्न फसलों की खेती के लिए कृषि मशीनीकरण को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • इस योजना से कृषि तंत्र में भी सुधार होगा।
  • इस योजना के लागू होने से किसानों की आय में वृद्धि होगी।
  • इसके अलावा इस योजना से किसानों के श्रम और समय की भी बचत होगी।
  • मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना के माध्यम से वैज्ञानिक खेती की तकनीक किसानों के खेत में हस्तांतरित की जाएगी।
  • इस योजना के लागू होने से किसान आत्म निर्भर बनेंगे।
  • इसके अलावा इस योजना से किसानों के जीवन स्तर में भी सुधार होगा।
  • इस योजना के माध्यम से प्रत्येक किसान को कृषि उपकरण खरीदने के लिए 5000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • यह सहायता प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के माध्यम से प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ करीब 5 लाख किसानों को मिलेगा
  • यह योजना कृषि उत्पादन आयुक्त की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय अनुश्रवण समिति की देखरेख में क्रियान्वित की जायेगी.

योजनान्तर्गत हितग्राहियों का चयन

  • संबंधित वेबसाइट से आवेदन आमंत्रित करने के लिए कृषि विभाग प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से विज्ञापन प्रकाशित करेगा
  • यह आवेदन एईए द्वारा लाभार्थियों के बैंक खाते के विवरण के साथ उनके मोबाइल नंबरों के साथ एकत्र किया जाएगा
  • लाभार्थी का चयन जीपी/वीडीपी वार किया जाएगा
  • गाँव पंचायतों को सभी लाभार्थियों की एक सूची बनाकर संबंधित एडीओ द्वारा संकलित करना आवश्यक है और इस सूची को जांच के बाद जिला स्तरीय समिति के समक्ष रखा जाएगा।
  • एईए/एडीओ के किसानों की सूची डीएलसी द्वारा अनुमोदित की जाएगी
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के किसानों का चयन राज्य आरक्षण अधिनियम के अनुसार किया जाएगा जो अनुसूचित जाति के लिए 7% अनुसूचित जनजाति (पी) के लिए 10% और अनुसूचित जनजाति (एच) के लिए 5% है।
  • लाभार्थी सूची के अनुमोदन के बाद, बैंक खाते के विवरण और मोबाइल नंबर के विवरण के साथ सूची कृषि निदेशक को भेजी जाएगी

मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना का क्रियान्वयन

  • योजना को लागू करने के लिए कृषि निदेशक वित्तीय सहायता प्रदान करेंगे
  • यह सहायता स्वीकृत की जाएगी और मांग पत्र प्रस्तुत करने पर कृषि निदेशक को जारी की जाएगी
  • लाभार्थियों की सूची तैयार करने में समन्वय के लिए कदम उठाना कृषि निदेशक की जिम्मेदारी है
  • योजना की धनराशि अलग खाते में रखी जायेगी
  • यह योजना डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर मोड पर संचालित की जाएगी
  • सभी अनुमोदित लाभार्थियों की सूची प्राप्त करने के बाद निदेशक को लाभार्थी के बैंक खाते में राशि स्थानांतरित करने के लिए ASFAC को अनुरोध भेजने की व्यवस्था करनी होगी।
  • उसके बाद, राशि लाभार्थी के बैंक खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी
  • प्रति लाभार्थी को 5000 रुपये की वित्तीय सहायता एक ही किस्त में प्रदान की जाएगी
  • लाभार्थियों को एक वचन देना आवश्यक है जिसमें वे घोषणा करेंगे कि निधि का उपयोग केवल कृषि उपकरणों की खरीद के लिए किया जाएगा।
  • यदि धनराशि का उपयोग किसी अन्य उद्देश्य के लिए किया जाता है तो किसान के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी
  • यह सुनिश्चित करना जिला कृषि अधिकारी की जिम्मेदारी है कि किसानों को प्रदान की जाने वाली वित्तीय सहायता केवल कृषि उपकरण खरीदने पर ही खर्च की जाए।

योजना के तहत प्रशासनिक आकस्मिकता

  • कुल आवंटित राशि का 3% प्रशासनिक व्यय के रूप में स्वीकृत किया जाएगा
  • इस योजना को सफल बनाने के लिए प्रचार-प्रसार किया जाएगा
  • जागरूकता पैदा करने वाली गतिविधियों पर खर्च की गई राशि जिसमें आईईसी सामग्री का वितरण, विज्ञापनों का प्रकाशन, जागरूकता अभियान चलाना आदि शामिल हैं, को प्रशासनिक राशि के तहत कवर किया जाएगा।

पात्रता मापदंड

  • इस चीज का लाभ सिर्फ छोटे और सीमांत किसानों को ही मिलेगा
  • आवेदक की आयु 21 वर्ष से अधिक होनी चाहिए
  • आवेदक को लगातार कम से कम तीन वर्षों की खेती में शामिल होना चाहिए
  • इस योजना का लाभ केवल निवासी किसान ही उठा सकेंगे
  • केसीसी कार्ड धारक इस योजना का लाभ पाने के पात्र हैं
  • आवेदक के पास एक जीवित बैंक खाता होना चाहिए
  • इस योजना का लाभ एक परिवार का एक ही किसान उठा सकता है
  • काश्तकार किसानों/बटाईदारों को भी खेती के न्यूनतम क्षेत्र, मान लीजिए 1 एकड़/3 बीघा के अधीन माना जाएगा

आवश्यक दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • आवास प्रामाण पत्र
  • आयु प्रमाण
  • बैंक खाता विवरण
  • राशन पत्रिका
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • उपक्रम आदि

मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको पीडीएफ डाउनलोड करना होगा
  • मुख्यमंत्री कृषि सा सजुली योजना
  • अब आपको इस पीडीएफ का एक प्रिंट आउट लेना होगा
  • उसके बाद आपको सभी आवश्यक विवरण जैसे नाम, पिता का नाम, गांव, ग्राम पंचायत, एडीओ सर्कल, फसलों का विवरण, जिला राजस्व सर्कल आदि भरना होगा।
  • उसके बाद, आपको इस फॉर्म को अपने नजदीकी कृषि विभाग में जमा करना होगा
  • इस प्रक्रिया का पालन करके आप कृषि साजौली योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं।

About the author

vibhay

Leave a Comment