प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र कैसे खोले

PMBJP Jan Aushadhi Kendra

प्रधानमंत्री जन औषधि योजना की शुरुआत भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 1 जुलाई 2015 को की गई थी परंतु जानकारी के मुताबिक इस योजना की शुरुआत 2008 में ही हो चुकी थी। प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के तहत देश के गरीब एवं कमजोर वर्ग के लोगों को बेहतर क्वालिटी की दवाइयां कम रेट में उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के अंतर्गत सार्वजनिक क्षेत्रों में केंद्रीय फॉर्म के उपकरणों की मदद से फार्मास्यूटिकल विभाग द्वारा जन औषधि केंद्र खोले जा रहे हैं। जन औषधि योजना के अंतर्गत भारत सरकार ने बेहतर क्वालिटी की औषधि एवं दवाइयां जिसे जेनेरिक मेडिसिन भी कहते हैं उन्हें बाजार रेट से कम दाम में भारत की गरीब जनता को प्रदान करने का लक्ष्य रखा है।

इस योजना के अंतर्गत सरकार इसके लिए जन औषधि केंद्र को भी खोल रही है जिसके तहत यह सस्ती जेनेरिक दवाइयां आम जनता को आसानी से उपलब्ध हो सके। इस लेख के माध्यम से हम आपको प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र कैसे खोलें की जानकारी प्रदान करेंगे जिसके माध्यम से आप जन औषधि केंद्र का आवेदन एवं पंजीकरण प्रक्रिया भी जान पाएंगे साथ ही साथ आपको जन औषधि योजना से संबंधित मुख्य लक्ष्य लाभ एवं जन औषधि योजना आवेदन फॉर्म को कैसे डाउनलोड करें, pradhan mantri bhartiya jan aushadhi kendra near me इसकी भी जानकारी प्रदान करेंगे। निवेदन करेंगे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े हैं जिसके माध्यम से आपको यह सभी जानकारी बेहद आसानी से प्राप्त हो सके।

Jan Aushadhi Medicine Price List PDF| Pradhan Mantri Jan Aushadhi Kendra Yojana (PMBJP)

jan aushadhi kendra scheme – jan aushadhi kendra registration

स्पष्ट रूप से कहा जाए तो प्रधानमंत्री जन औषधि योजना भारत के गरीब एवं कमजोर वर्ग के लोगों के लिए लागू की गई थी जिसके मुताबिक उनको कम दाम में सस्ती एवं अच्छी क्वालिटी की जेनेरिक दवाइयां प्रदान की जाएंगी। जन औषधि के माध्यम से लोगों को मार्केट से 60% से लेकर 70% कम दाम में जेनेरिक मेडिसिन प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है जो कि जल्द ही पूरे भारत देश के लगभग सभी गरीब परिवार एवं लोगों को प्रदान की जाएंगी। इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए सरकार द्वारा पूरे देश में 1000 से ज्यादा प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र खोलने का लक्ष्य रखा गया है। यदि आप कम लागत में अपना कोई काम खोलना चाहते हैं तो आपको यह जानकारी दे दें कि आप केवल ₹200000 के निवेश में जन औषधि केंद्र खोल सकते हैं।

इसके अंतर्गत सरकार आम जनता को जन औषधि केंद्र खोलने के लिए प्रोत्साहन करेगी। इस योजना के तहत देखा जाए तो देश भर में लगभग 600 से भी ज्यादा जन औषधि केंद्र खोले जा चुके हैं एवं यदि आप जन औषधि केंद्र खोलते हैं तो उसमें आपको 16% की कमीशन भी सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी। जन औषधि योजना के अंतर्गत सरकार की अहम जिम्मेदारी है कि वह जन औषधि केंद्र खोलने एवं जेनेरिक मेडिसिन को समय पर प्रदान करें। इस योजना के अंतर्गत पहले सरकार के नियम के अनुसार जन औषधि केंद्र सिर्फ सरकार द्वारा चुने गए संस्थानों तक ही सीमित थे परंतु अब कोई भी व्यक्ति जो कि डॉक्टर व्यवसाय फार्मास्यूटिकल एवं एनजीओ से संबंध रखता है वह जन औषधि स्टोर खोल सकता है।

प्रधानमंत्री जन औषधि योजना केंद्र का मुख्य लक्ष्य

  • प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के तहत सरकार द्वारा आम नागरिकों को सभी जेनेरिक मेडिसिन के बारे में बताना एवं नागरिकों को दवाइयों की अच्छी क्वालिटी तथा बहुत सस्ते में प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है।
  • जन औषधि योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा नागरिकों को 60 से लेकर 70% तक की छूट प्रदान होगी जो कि बाजार के मार्केट रेट से कम होगी। इसी के अंतर्गत सरकार 1000 से भी आधा जन औषधि केंद्र खोल रही है।
  • जन औषधि केंद्र खोलने का मुख्य लक्ष्य यह है कि सभी जेनेरिक दवाइयां आम जनता को सस्ते में एवं आसानी से मार्केट में प्राप्त हो सके।
  • इस योजना के अंतर्गत नागरिकों को यह जानकारी दर्शना है कि सरकार द्वारा जो भी जेनेरिक दवाइयां प्रदान की जा रही हैं वह ब्रांडेड दवाइयों की तुलना में कम कीमत पर उपलब्ध कराई जाएंगी एवं इससे यह भी दर्शाया गया है कि ब्रांडेड दवाइयां की तुलना में जेनेरिक दवाइयां भी काम करती है।

भारतीय जन औषधि केंद्र योजना का लाभ

  • प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के अंतर्गत लोगों को जेनेरिक दवाइयां प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है जो कि जन औषधि केंद्र में प्रदान की जाएंगी।
  • इसके अंतर्गत बड़ी से बड़ी तथा घातक बीमारियों के इलाज के लिए जो भी जेनेरिक दवाइयां इस्तेमाल होती है वह दवाइयां जन औषधि केंद्र पर आसानी से उपलब्ध कराई जाएंगी।
  • जानकारी के अनुसार जन औषधि योजना के अंतर्गत जो भी दवाइयां जन औषधि केंद्र में प्रदान की जाएंगी वह मार्केट से 60 से लेकर 70% कम दाम में प्रदान की जाएंगी।
  • जानकारी के अनुसार जन औषधि केंद्र की यह जिम्मेदारी है कि जो भी दवाइयां समय-समय पर प्रदान की जा रही हैं वह आम जनता को मुहैया कराई जा सके।
  • योजना के अंतर्गत कम रेट पर दवाइयां उपलब्ध कराने के साथ ही क्वालिटी का भी पूर्ण रूप से ध्यान दिया गया है एवं यह गारंटी ली गई है कि जन औषधि के तहत जो भी जेनेरिक दवाइयां प्रदान की जाएंगी वह अच्छी क्वालिटी की होंगी एवं असर दायक होंगी।
  • जन औषधि योजना के अंतर्गत जेनेरिक मेडिसिन की सेल पर विक्रेताओं को सरकार द्वारा 16% का कमीशन भी प्रदान किया जाएगा।
  • जन औषधि योजना के अंतर्गत जेनेरिक मेडिसिन की सेल के लिए विक्रेताओं को क्वालिटी पर भी सही रूप से ध्यान देना होगा जो कि जन औषधि के तहत होना आवश्यक है।
  • जन औषधि योजना के अंतर्गत सरकारी हस्पताल एवं डॉक्टरों को भी यह जानकारी दी जाएगी की जो भी क्वालिटी दवाइयां प्रदान की जा रही हैं वह मरीजों को कागज पर लिखकर प्रदान की जाए जो कि जन औषधि के अंतर्गत आनी चाहिए जिसकी मदद से आम जनता को जन औषधि योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त हो सके।

जन औषधि केंद्र कौन खोल सकता है?

how to open jan aushadhi kendra: जन औषधि योजना के अंतर्गत जन औषधि केंद्र चैरिटेबल ट्रस्ट सरकारी अस्पताल मेडिकल प्रैक्टिशनर व्यवसाय फार्मास्यूटिकल डॉक्टर तथा एनजीओ से संबंधित कोई भी व्यक्ति जन औषधि केंद्र स्टोर खोल सकता है इसके लिए उसको आवेदन करना होगा। योजना के अंतर्गत जन औषधि केंद्र खोलने के लिए आवेदक के पास पर्याप्त मात्रा में लगभग 10 से 15 मीटर की जगह एवं दुकान होनी आवश्यक है तथा यह जगह किराए पर भी प्राप्त हो सकती है। योजना के अंतर्गत विकलांग एसटीएससी दिव्यांग आवेदकों को जन औषधि केंद्र खोलने के लिए सरकार द्वारा ₹50000 तक की दवाइयां अग्रिम रुप से प्रधान करी जाएंगी।

जन औषधि केंद्र योजना के तहत सरकार से मिलने वाली मदद

  • प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा ₹200000 तक की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी जिसकी मदद से लोग जन औषधि केंद्र आसानी से खोल पाएंगे।
  • इस योजना के अंतर्गत नक्सल प्रभावित क्षेत्र आदिवासी क्षेत्र तथा पूर्वोत्तर राज्य में सरकार द्वारा 15% इंसेंटिव यानी कि ₹15000 तक की मासिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • पीएम जन औषधि योजना के अंतर्गत औषधि स्टोर खोलने वाले व्यक्तियों को सरकार द्वारा 16% का कमीशन भी प्रदान किया जाएगा तथा इसके अलावा वह अपने स्वयं की सेल से भी इंसेंटिव भी प्राप्त कर सकते हैं।
  • जन औषधि योजना के अंतर्गत भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक पहल को सुचारू रूप से लागू किया गया है जिसके तहत गरीब नागरिकों को चिकित्सा क्षेत्र के संबंध में राहत प्रदान होगी तथा इससे नागरिकों को जेनेरिक दवाई लेने में प्रोत्साहन प्राप्त होगा जिससे उनके पैसे की बचत होगी।

Jan aushadhi kendra online registration

यदि आप प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के अंतर्गत जन औषधि केंद्र खोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा। ऑनलाइन आवेदन करने से संबंधित प्रक्रिया हमने आपको नीचे प्रदान की है जिसको आप स्टेप बाय स्टेप पढ़ सकते हैं एवं ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको जन औषधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • जन औषधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद ड्रॉपडाउन में अप्लाई फॉर प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र के विकल्प को चुनना होगा।
  • इसके बाद आपको अगले पेज पर ऑनलाइन एवं ऑफलाइन आवेदन के विकल्प को चुनना होगा।
  • यदि आप ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो ऑनलाइन आवेदन के विकल्प पर क्लिक करें यदि ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो ऑफलाइन के विकल्प पर क्लिक करें।
  • यदि आप सीधे पंजीकरण प्रक्रिया के लिंग पर जाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप आसानी से पंजीकरण फॉर्म के पेज पर जा पाएंगे।

PM JAN AUSHADHI YOJANA ONLINE REGISTRATION FORM

  • यहां क्लिक करने के बाद आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिखाई देगा पूर्णविराम रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी आपको सही ढंग से भरनी होंगी तथा अपना ईमेल के माध्यम से अकाउंट वेरीफाई करना होगा।
  • इसके बाद आप आसानी से वेबसाइट पर लॉगिन करके आवेदन कर सकते हैं या आप नीचे दिए गए फॉर्म के माध्यम से भी आवेदन कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री जन औषधि योजना का आवेदन फार्म डाउनलोड:

प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र हेल्पलाइन नंबर:

जन औषधि योजना टोल फ्री नंबर: 1800-180-8080

pradhan mantri jan aushadhi kendra medicine list

Pradhan Mantri Jan Aushadhi Medicine Price List