Hindi Lekh

International Civil Aviation Day Speech 2018 in Hindi & English for Kids & Students Pdf Download

International Civil Aviation Day 2018: अंतराष्ट्रीय नागर विमानन दिवस लोगों के बीच नागर विमानन की जागरूकता फ़ैलाने के लिए यह हर साल 7 दिसंबर को मनाया जाता है | यह दिन अंतराष्ट्रीय नागर विमानन संगठन द्वारा 1994 से मनाया जाता रहा है | इस दिन को मनाने का उद्देश्य समाजिक और आर्थिक विकास में अंतराष्ट्रीय नागर विमानन के महत्व को विश्व स्तर पर लाना व लोगों को इसके प्रति जागरूक करना है | इसी के साथ-साथ अंतराष्ट्रीय हवाई परिवहन सुरक्षा व नियमितता को बढ़ावा देना है | अंतराष्ट्रीय नागर विमानन संगठन विश्व के कई अलग-अलग संगठनों व संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों के साथ मिलकर काम करता है |

इंटरनेशनल सिविल एविएशन डे भाषण

आइये अब हम आपको international civil aviation day, International Civil Aviation Day Essay , international civil aviation day 2018, international civil aviation day speech, International Civil Aviation Day Quotes , इंटरनेशनल सिविल एविएशन डे, international civil aviation day theme, international civil aviation day in hindi, International Civil Aviation Day Image, international civil aviation day – 7 december किसी भी भाषा जैसे Hindi, भारतीय नौसेना दिवस पर निबंध, Urdu, उर्दू, English, sanskrit, Tamil, Telugu, Marathi, Punjabi, Gujarati, Malayalam, Nepali, Kannada के Language Font , 100 words, 150 words, 200 words, 400 words में साल 2007, 2008, 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017 का full collection whatsapp, facebook (fb) व instagram पर share कर सकते हैं|

प्रत्येक वर्ष 7 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन दिवस मनाया जाता है। 1944 में 7 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संधि पर हस्ताक्षर किए गये थे। संयुक्त राष्ट्र की सभा में जो 1996 में हुई इस सभा में तय किया गया कि 07 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी। इस साल के अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन दिवस की थीम है ” साथ में काम करें सुनिश्चित करें कि कोई देश पीछे न छूटे ” । अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन दिवस वायु परिवाहन की सुरक्षा और दक्षता को बढ़ावा देने और हवाई परिवहन में अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन संगठन की भूमिका के बारे में जागरुकता पैदा करना है।

अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (रस। आईसीएओ) – अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन, यह 1 9 44 में शिकागो कन्वेंशन को अपनाने के साथ-साथ दिखाई दिया। संक्षेप में, आईसीएओ एक विशेष निकाय है जिसका लक्ष्य नागरिक जहाजों की उड़ानों को व्यवस्थित करना और विनियमित करना, माल ढुलाई और यात्री यातायात को नियंत्रित करना और नागरिक उड्डयन में समान मानदंडों और मानकों को विकसित करना है। संगठन का मुख्यालय मॉन्ट्रियल, कनाडा में स्थित है। हमारा देश 1 9 70 में आईसीएओ में शामिल हो गया।

आज,192 देश इस संगठन के सदस्य हैं, जिसमें वे सालाना नागरिक उड्डयन के दिन मनाते हैं।

आईसीएओ का ज़िम्मेदारी क्षेत्र व्यापक है। उनकी क्षमता में हैं:

  • उड़ान सूचना क्षेत्रों में वैश्विक हवाई क्षेत्र का विभाजन, जिनकी सीमाएं खाता नेविगेशन क्षमताओं को ध्यान में रखकर निर्धारित की जाती हैं।
  • अंतरराष्ट्रीय माल और यात्री यातायात पर सहयोग का समन्वय।
  • नेविगेशन और मौसम संबंधी जानकारी संचारित करने के लिए दुनिया में हवाई अड्डे के लिए अलग-अलग चार-अक्षर पहचानकर्ता कोड असाइन करना।
  • उड़ान योजनाओं का विकास
  • नक्शे पर नागरिक हवाई अड्डों का पदनाम इत्यादि।

International civil aviation day par bhashan

आईसीएओ अध्यक्ष ने कई रूपरेखा दीपहलुओं के कारण नागरिक उड्डयन एक अलग राज्य और विश्व समुदाय दोनों के सामाजिक-आर्थिक विकास का सबसे महत्वपूर्ण माध्यम है। उदाहरण के लिए, दैनिक हवाई नागरिक जहाज 10 मिलियन से अधिक यात्रियों को परिवहन करते हैं, हर दिन 100 हजार से अधिक उड़ानें दर्ज की जाती हैं। यदि हम और भी वैश्विक स्तर पर विचार करते हैं, तो 1.4 सेदुनियाभर में परिवहन के साधनों के रूप में सालाना आधे से अधिक हवाई परिवहन का उपयोग करते हैं। इन आंकड़ों का स्तर यह समझने में मदद करता है कि वायु परिवहन सालाना 63.5 मिलियन नौकरियां कैसे प्रदान करता है और क्यों 2.7 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर खर्च किए जाते हैं।

International civil aviation day par bhashan

वायु क्षमता निस्संदेह के लिए महत्वपूर्ण हैएक राज्य, लेकिन यह द्वीपों पर स्थित देशों में विशेष रूप से निर्णायक भूमिका निभाता है, या इसके विपरीत, समुद्र तक पहुंच नहीं है। यह नागरिक उड्डयन है जो माल, पर्यटन और व्यापार की मात्रा में वृद्धि करने में मदद करता है, और इस प्रकार उनकी आर्थिक समृद्धि में योगदान देता है।

अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (आईसीएओ) विमानन सुरक्षा के लिए अंतरराष्ट्रीय मानकों के विकास के लिए जिम्मेदार संयुक्त राष्ट्र संघ का एक भाग है. अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस प्रतिवर्ष 7 दिसंबर को मनाया जाता है. वर्ष 1944 में शिकागो में इसी दिन अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे | अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन को नागरिक उड्डयन मामलों में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और एकरूपता सुरक्षित करने के लिए 7 दिसंबर, 1944 को स्थापित किया गया था | इस दिवस को मनाने के पीछे सामाजिक और आर्थिक विकास में अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन के महत्व के वैश्विक जागरूकता उत्पन्न करने और सुदृढ़ करना है, साथ ही अंतरराष्ट्रीय हवाई परिवहन की सुरक्षा, दक्षता और नियमितता को बढ़ावा देने में भी इसकी भूमिका है| 1996 में संयुक्त राष्ट्र महासभा के एक आईसीएओ पहल के अनुसार और कनाडा सरकार की सहायता से, अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस के रूप में 7 दिसंबर की घोषणा की | अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन विश्व मौसम विज्ञान संगठन, अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ, यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन, विश्व स्वास्थ्य संगठन और अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन सहित अन्य संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों के साथ मिलकर काम करता है |

अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन दिवस स्पीच इन हिंदी

दुनिया के सभी देशों में नागरिक उड्डयन के दिन समर्पित समारोह 7 दिसंबर को आयोजित किए जाते हैं। यह अवकाश आधिकारिक तौर पर एक दिन के रूप में मान्यता प्राप्त नहीं है। आज हम सुरक्षित रूप से विमानन कह सकते हैं | प्रत्येक देश के विकास के इतिहास में एक महत्वपूर्ण स्थिति है। आखिरकार, यह नागरिकों और कार्गो परिवहन के परिवहन के साथ-साथ देश के क्षेत्रों की सुरक्षा के कार्यों को भी करता है। सैन्य संघर्ष की स्थिति में, विमानन की उपस्थिति दुश्मन पर एक महत्वपूर्ण लाभ है।

यदि हम और भी वैश्विक स्तर पर विचार करते हैं, तो 1.4 सेदुनियाभर में परिवहन के साधनों के रूप में सालाना आधे से अधिक हवाई परिवहन का उपयोग करते हैं। इन आंकड़ों का स्तर यह समझने में मदद करता है कि वायु परिवहन सालाना 63.5 मिलियन नौकरियां कैसे प्रदान करता है और क्यों 2.7 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर खर्च किए जाते हैं।

वायु क्षमता निस्संदेह के लिए महत्वपूर्ण हैएक राज्य, लेकिन यह द्वीपों पर स्थित देशों में विशेष रूप से निर्णायक भूमिका निभाता है, या इसके विपरीत, समुद्र तक पहुंच नहीं है। यह नागरिक उड्डयन है जो माल, पर्यटन और व्यापार की मात्रा में वृद्धि करने में मदद करता है, और इस प्रकार उनकी आर्थिक समृद्धि में योगदान देता है।

राज्य मुख्यालय-विशेष संवाददाता प्रदेश सरकार ने कहा है कि नई नागर विमानन प्रोत्साहन नीति के तहत किए गए प्रावधानों को लागू करने के लिए संबंधित विभाग अपने स्तर पर जरूरी कार्यवाही करें। नागरिक उड्डयन विभाग ने इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया है। इसमें एयरपोर्टस के बीच इंटर कनेक्टिविटी के लिए सुविधा प्रदान करने, कार्गों हब बनाने व निजी पूंजी निवेश का इस क्षेत्र में उपयोग करने जैसे प्रावधान हैं। नई उड़ान को शुरू करके भारत व दुनिया के बाकी हिस्सों के साथ राज्य के प्रमुख पर्यटन स्थलों को जोड़ कर पर्यटन की पूर्ण क्षमता का उपयोग भी इसके जरिए किया जाएगा। रीजनल कनेक्टिवटी स्कीम के तहत नए रूटस का विकास किया जाएगा। नीति में कहा गया है कि निजी एयरलाइंस व एयर आपरेटरों को प्रोत्साहित किया जाएगा। प्रदेश में नए हवाई अड्डे व एयरस्ट्रिप बनेंगे। इन सबके लिए सरकार निजी निवेशकों को आमंत्रित करेगी। निजी निवेशकों को हवाई अड्डे के निर्माण, एयरलाइंस व हेलीकाप्टर सेवा शुरू करने, एयर कार्गो बनाने, हैलीपैड,एयरस्ट्रिप,ड्राई कार्गो, एयरक्राफ्ट निर्माण हब का रखरखाव , हैंगर बनाने जैसे प्रोजेक्टस के लिए निवेश करने पर प्रोत्साहित किया जाएगा। प्रदेश सरकार इसके लिए प्रदेश के विश्वविद्यालयों,व आईआईटी में एविएशन संबंधी पाठ्यक्रम बढ़ाए जाएंगे। इस तरह की मैनपावर तैयार हो सके। इनका उपयोग नागरिक उड्यन क्षेत्र में होगा। सरकार इन पाठयक्रमों में स्कालशिप योजना को बढ़ावा देगी। प्रदेश में इंदिर गांधी राष्ट्रीय उड़ान व छह अन्य उडान प्रशिक्षण अकादमी में कामिर्शयल पायलट लाइसेंस कोर्स चल रहे हैं। इन्हें खास तौर पर बढ़ावा दिया जाएगा।

International civil aviation day speech in english

International Civil Aviation Day was observed on 7 December 2017 with the theme ‘Working Together to Ensure No Country is Left Behind’.

The main aim of the day is to help generate and reinforce worldwide awareness of the importance of international civil aviation to the social and economic development of States and of the unique role of the International Civil Aviation Organization (ICAO) in helping States to cooperate and realize a truly global rapid transit network at the service of all mankind.

Key Highlights

• The current theme was selected by the International Civil Aviation Organization (ICAO) council for a period of four years from 2015 to 2018.

• Every five years, coinciding with ICAO anniversaries like 2014, 2019,2024 and 2029, the ICAO Council establishes a special anniversary theme for International Civil Aviation Day.

• However, between these anniversary years, the Council representatives select a single theme for the full four-year intervening period.

• The campaign highlights ICAO’s efforts to assist States in implementing ICAO Standards and Recommended Practices (SARPs).

• The main goal of the work is to help ensure that SARP implementation is better harmonized globally so that all states have access to the significant socio-economic benefits of safe and reliable air transport and can address safety, security and emissions-related issues.

Background

• In 1944, participants from 54 nations gathered in Chicago, USA and signed the Convention on International Civil Aviation, also known more popularly as the ‘Chicago Convention’.

• The defining international agreement has since then permitted the global civil aviation system to develop peacefully, in a manner benefiting all nations across the world.

• The International Civil Aviation Day was established in 1994 as a part of ICAO’s 50th anniversary activities.

• In 1996, the United Nations General Assembly officially recognized 7 December as International Civil Aviation Day in the UN system.

• Further, the General Assembly urged all governments as well as relevant national, regional, international and intergovernmental organizations to take appropriate steps to observe the day

Leave a Comment