Nibandh

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध | Independence Day Essay in Hindi, English & Marathi Pdf Download | 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर निबंध

Swatantrata Diwas Par Nibandh

Independence Day  2019: भारत में स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मनाया जाता है। देश को 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजों के अत्याचार से आजादी मिली और तब से अगस्त के महीने में इस दिन को हमारे देश में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। स्वतंत्रता दिवस भारत के नागरिकों के लिए विशेष महत्व रखता है। यह उन्हें स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा स्वतंत्रता जीतने के लिए किए गए रक्तपात और बलिदान की याद दिलाता है। स्वतंत्रता एक दिन में प्राप्त नहीं हुई थी, न ही यह आसान था। यह उनके राजनीतिक नेतृत्व और क्रांतिकारी स्वतंत्रता सेनानियों के मार्गदर्शन में भारत की जनता द्वारा लगातार संघर्ष का परिणाम था। इसमें स्वतंत्रता दिवस का महत्व निहित है, क्योंकि यह हमें उस पीड़ा की याद दिलाता है जो हमारे साथी देशवासियों ने आजादी हासिल करने के लिए और उनके द्वारा किए गए बलिदानों से गुजारी है।

Swatantrata Diwas Par Nibandh

दिन के सम्माननीय मुख्य अतिथि, आदरणीय अध्यापकगण, अभिभावक और मेरे प्यारे मित्रों को सुबह का नमस्कार। मैं आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई देता हूँ। हम सभी यहाँ बड़े भीड़ में इकठ्ठा होने का कारण जानते है। इस महान दिन को उत्कृष्ट तरीके से मनाने के लिये हम सभी उत्साहित है। अपने राष्ट्र का 69वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिये हम सभी यहाँ इकठ्ठा हुए है। सबसे पहले हम अपना राष्ट्रीय झंडा फहराते है फिर उसके बाद स्वतंत्रता सेनानीयों के वीरता युक्त कार्य को सलामी देते है। मुझे भारतीय नागरिक होने पर गर्व महसूस होता है। आप सब के समक्ष स्वतंत्रता दिवस पर भाषण देने का मुझे अच्छा अवसर मिला है। मैं अपने आदरणीय क्लास टीचर को धन्यवाद देना चाहूँगा कि उन्होंने मुझे भारत की आजादी पर आप सबके सामने अपना विचार रखने का मौका दिया।

हम सभी हर साल 15 अगस्त के दिन स्वतंत्रता दिवस मनाते है क्योंकि 14 अगस्त 1947 की रात को भारत को आजादी मिली। भारत की आजादी के तुरंत बाद, नई दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस को पंडित जवाहर लाला नेहरु ने भाषण दिया। जब पूरी दुनिया के लोग सो रहे थे, ब्रिटीश शासन से जीवन और आजादी पाने के लिये भारत में लोग जगे हुए थे। अब, स्वतंत्रता के बाद, दुनिया में भारत सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है। हमारा देश विविधता में एकता के लिये प्रसिद्ध है। इसने कई घटनाओं का सामना किया इसके धर्मनिरपेक्षता को परखने के लिये जबकि भरतीय लोग हमेशा अपनी एकता से जवाब देने के लिये तैयार रहते है।

अपने पूर्वजों के कड़े संघर्षों की वजह से हम अपनी आजादी का उपभोग करने लायक बने है और अपनी इच्छा से खुली हवा में साँस से सकते है। अंग्रेजों से आजादी पाना बेहद असंभव कार्य था लेकिन हमारे बाप-दादाओं ने लगातार प्रयास से इसको प्राप्त कर लिया। हम उनके किये कार्य को कभी भूल नहीं सकते और हमेशा इतिहास के द्वारा उन्हें याद करते रहेंगे। केवल एक दिन में सभी स्वतंत्रता सेनानीयों के कामों को हम याद नहीं कर सकते हालाँकि दिल से उन्हें सलामी दे सकते है। वो हमेशा हमारी यादों में रहेंगे और पूरे जीवन के लिये प्रेरणा का कार्य करेंगे। आज सभी भारतीयों के लिये बहुत महत्वपूर्ण दिन है जिसको हम महान भारतीय नेताओं के बलिदानों को याद करने के लिये मनाते है, जिन्होंने देश की आजादी और समृद्धि के लिये अपना जीवन दे दिया। भारत की आजादी मुमकिन हो सकी क्योंकि सहयोग, बलिदान, और सभी भारतीयों की सहभागिता थी। हमें महत्व और सलामी देनी चाहिये उन सभी भारतीय नागिरकों को क्योंकि वो असली राष्ट्रीय हीरो थे। हमें धर्मनिरपेक्षता में भरोसा रखना चाहिये और एकता को बनाए रखने के लिये अलग नहीं होना है जिससे इसे कोई तोड़ न सके और हम पर फिर से राज न कर पाये।

हमें आज कमस खाना चाहिये कि हम कल के भारत के एक जिम्मेदार और शिक्षित नागरिक बनेंगे। हमें गंभीरता से अपने कर्तव्यों को निभाना चाहिये और लक्ष्य प्राप्ति के लिये कड़ी मेहनत करनी चाहिये तथा सफलतापूर्वक इस लोकतांत्रित राष्ट्र को नेतृत्व प्रदान करना चाहिये।

जयहिन्द, जयभारत।

Independence day essay in english

Independence day essay in english

Introduction

Independence Day, 15th of August, holds a special importance for the citizens of India. It is a day that reminds them of the sacrifices made by the freedom fighters. It instills them with a feeling of patriotism and infuses them with the zest to do something for their country.

A Mark of Respect to the Freedom Fighters

India had been under the British rule for decades. The tyranny of the British kept increasing with time. Many Indians came forward to fight the British and drive them away from the country. Under the leadership of freedom fighters such as Bal Gangadhar Tilak, Shaheed Bhagat Singh, Mahatma Gandhi, Sarojini Naidu, Rani Laxmi Bai and Subhash Chandra Bose, the citizens of India came together and fought for their independence.

They were inspired by these leaders and participated in the freedom struggle selflessly. Several protests were held and many movements were initiated. Many people lost their lives and others went to jail during these events however this did not dither their spirit to fight the British. Independence Day is a way to remind us of their sacrifices and thus holds special importance for the citizens of our country.

Celebrate Independence yet Remain Grounded

Independence Day is also a way to celebrate our freedom. The citizens of India tasted true freedom the day our country attained independence. They celebrated this new found freedom and this day commemorates the same spirit year after year. However, it also reminds us the importance of being close to our roots and remains grounded even as we fly high and feel independent.

Conclusion

The people of India are thankful to those who fought for the independence of their country. They celebrate their freedom each year on the 15th of August which has been marked as Indian Independence Day. The day is indeed special for every Indian. This can clearly be seen by the way this day is celebrated throughout the country.

15 अगस्त पर निबंध हिंदी में

यहाँ मौजूद मेरे प्यारे दोस्तों और आदरणीय अध्यापकों को सुबह का हार्दिक नमस्कार। 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के इस शुभ अवसर को मनाने के लिये हम सब एकत्रित हुए है। ये दिन हमलोग पूरे उत्साह और खुशी के साथ मनाते है क्योंकि इसी दिन ब्रिटीश शासन से 1947 में भारत को आजादी मिली थी। हमलोग यहाँ 69वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाने आये है। सभी भारतीयों के लिये ये बहुत ही महान और महत्वपूर्ण दिन है। कई वर्षों तक अंग्रेजों के क्रूर बर्तावों को भारतीय लोगों ने सहन किया। आज हमलोग लगभग सभी क्षेत्रों में आजाद है जैसे शिक्षा, खेल, परिवहन, व्यापार आदि क्योंकि ये केवल हमारे पूर्वजों के संघर्षों की वजह से संभव हो सका। 1947 से पहले, लोगों पर बहुत पाबंदियाँ थी यहाँ तक कि उनका अपने दिमाग और शरीर पर भी अधिकार नहीं था। वो अंग्रेजों के गुलाम थे और उनके हर हुक्म को मानने के लिये मजबूर थे। आज हम कुछ भी करने के लिये आजाद है उन महान भारतीय नेताओं की वजह से जिन्होंने ब्रिटीश शासन के खिलाफ आजादी पाने के लिये कई वर्षों तक कड़ा संघर्ष किया।

बहुत खुशी के साथ पूरे भारत में स्वतंत्रता दिवस को मनाया जाता है। ये सभी भारतीयों के लिये बेहद महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि ये हमें मौका देता है उन महान स्वतंत्रता सेनानीयों को याद करने का जिन्होंने हमें एक शांतिपूर्ण और खूबसूरत जीवन देने के लिये अपने जीवन की कुर्बानी दे दी। आजादी से पहले, लोगों को पढ़ने-लिखने की, अच्छा खाने की और हमारी तरह सामान्य जीवन जीने की मनाही थी। भारत में आजादी के लिये जिम्मेदार उन कार्यक्रमों का एहसानमंद होना चाहिये। अपने अर्थहीन आदेशों की पूर्ति के लिये अंग्रेजों द्वारा भारतीयों के साथ गुलामों से भी ज्यादा बुरा बर्ताव किया जाता था।

भारत के कुछ महान स्वतंत्रता सेनानी है नेताजी सुभाष चनद्र बोस, गाँधीजी, जे.एल.नेहरु, बाल गंगाधर तिलक, लाला लाजपत राय, भगत सिंह, खुदीराम बोस, चन्द्रशेखर आजाद आदि। ये प्रसिद्ध देशभक्त थे जिन्होंने अपनी जीवन के अंत तक भारत की आजादी के लिये कड़ा संघर्ष किया। हमारे पूर्वजों द्वारा संघर्ष के उन डरावने पलों की कल्पना भी नहीं कर सकते हमलोग। आजादी के वर्षों बाद हमारा देश विकास की सही राह पर है। आज हमारा देश पूरी दुनिया में लोकतांत्रिक देश के रुप में अच्छे से स्थापित है। गाँधी एक महान नेता थे जिन्होंने अहिंसा और सत्याग्रह जैसे आजादी के असरदार तरीकों के बारे में हमें बताया। अहिंसा और शांति के साथ स्वतंत्र भारत के सपने को गाँधी ने देखा।

भारत हमारी मातृभूमि है और हम इसके नागरिक है। हमें हमेशा इसको बुरे लोगों से बचाने के लिये तैयार रहना चाहिये। ये हमारी जिम्मेदारी है कि हम अपने देश को आगे की ओर नेतृत्व करें और इसे दुनिया का सबसे अच्छा देश बनाये।

जय हिन्द।

Independence day essay in hindi language

इस दिन पूरा भारत देश भक्ति के रंग में रंग जाता है, हर तरफ राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है देशभक्ति के गानों से पूरा भारत गूंज उठता है और देश के लोगों में देश प्रेम के लिए नई लहर दौड़ जाती हैं। इस दिन पूरे भारत में राष्ट्रीय अवकाश रहता है जिससे सभी लोग हर्षोल्लास से इस दिवस को मनाते हैं।

सभी लोग इस दिन को अपने अपने अंदाज में मनाते हैं कुछ लोग सैर-सपाटे पर निकल जाते हैं कुछ लोग स्कूलों में जाकर सांस्कृतिक कार्यक्रम देखते हैं वहीं कुछ लोग आजकल गरीबों की मदद भी करते हैं। इस दिन सभी लोग एक दूसरे से प्रेम भाव से मिलते हैं और आजादी की शुभकामनाएं देते हैं।

वीर शहीदों और महान लोगों ने यह आजादी हमें दिलाई उसमें महात्मा गांधी जी, लाला लाजपत राय जी, चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह जैसे हजारों देशभक्तों की कुर्बानी से स्वतंत्रत हुआ।युवाओं में भगत सिंह को बहुत याद किया जाता है।

हमारा देश दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है, इसमें हर धर्म, जाति, भाषा और विभिन्न प्रथाओं को मानने वाले लोग रहते हैं। फिर भी हमारा देश एकजुट रहता है और इस दिन को सभी लोग एक त्यौहार के रूप में मनाते हैं।

हमारे देश में क्षेत्र हैं लगभग 22 भाषाएं बोली जाती हैं फिर भी लोग एक दूसरे को समझते हैं और उनका आदर करते हैं।

इस दिन हमारे देश के हर सीमा पर भी तिरंगा फहराया जाता है और भारत के वीर सैनिकों द्वारा तिरंगे को सलामी दी जाती हैं और उसके सम्मान में परेड भी की जाती है। इससे हमारे सैनिकों में एक नई ऊर्जा का संचार होता है जिससे वे देश की सुरक्षा के लिए और भी लगन से लग जाते हैं।

हमारे देश के राष्ट्रीय ध्वज को तिरंगा इसलिए कहते हैं क्योंकि यह तीन रंगों से बना है। पहले केसरिया रंग की पट्टी आती है जो कि हिम्मत और बलिदान का प्रतीक है, दूसरा रंग सफेद होता है जो कि शांति का प्रतीक होता है और हरा रंग विश्वास और शौर्य का प्रतीक होता है। हमारे देश के झंडे के बीचो-बीच एक चक्कर होता है जिसे अशोक स्तंभ से लिया गया है। जिसमें 24 तीलियां (लाइन) होती हैं और यह नीले रंग का होता है।

भारत का स्वतंत्रता दिवस केवल उत्सव के रूप में नहीं मनाया जाता है इस दिन हमारे देश की सेवा करने वाले और देश के लिए मर मिटने वाले उन वीर शहीदों को भी याद किया जाता है जिसके कारण आज हम इस आजादी को देख पा रहे हैं। उनको स्मरण करने के मात्र ही हमारे शरीर में एक नई ऊर्जा का संचार होता है। उन्हीं के कारण आज हम इस आजाद देश में आजादी से सांस ले पा रहे हैं।

उन वीर शहीदों के लिए एक छोटी सी पंक्ति भी याद आती है जो इस प्रकार है-

ऐ मेरे वतन के लोगों,

ज़रा आंख में भर लो पानी,

जो शहीद हुए हैं उनकी,

ज़रा याद करो क़र्बानी।

इसका मतलब है कि ऐ मेरे देश के सभी वासियों उन वीर शहीदों के लिए जो देश के लिए हंसते-हंसते कुर्बान हो गए आज उनके सम्मान में उनको प्रणाम करो और उनकी कुर्बानी को खाली मत जाने दो।

आज भी देश की चारों सीमाओं पर हमारे वीर सैनिक खड़े हुए हैं हम आजादी का पर्व मनाते रहते हैं लेकिन वे लोग हमारी सुरक्षा के के लिए हिमालय की चोटी से लेकर समुंदर के पानी तक, आसमान से लेकर जमीन तक हमारी सुरक्षा करते हैं। इसीलिए हम देश में हर त्यौहार अमन और चैन से मना पाते हैं। कम से कम हमें इस दिन तो उनका सम्मान करना ही चाहिए।

वह भी शहीद जिन्होंने हमें आजादी दिलाई उनका हम तहे दिल से सम्मान करते हैं उनको याद करते हैं। वे हमेशा ही हमारे दिलों में बसे रहेंगे। वह आज भी हमारे देश के नौजवानों में आज भी एक नई ऊर्जा का संचार करते हैं हमारे देश के नौजवान उनकी जीवनी को पढ़कर उन से प्रेरणा लेते हैं और अपने लक्ष्य को प्राप्त करते हैं।

देश की एकता, स्वतंत्रता और अखंडता की रक्षा के लिए हमें भी हर समय तैयार रहना चाहिए। हमें हर उस व्यक्ति का सम्मान करना चाहिए, हर उस मां का सम्मान करना चाहिए जिनके बेटे देश की सेवा में लगे हुए हैं।

“जय हिंद वंदे मातरम”

Independence day essay in marathi

ऊपर हमने आपको भारत का स्वतंत्रता दिवस, 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस, स्वतंत्रता दिवस निबंध मराठी, पर लेख, पर संस्कृत निबंध, स्वतंत्रता दिवस की जानकारी, the independence day essay, independence day essay in hindi, इंडिपेंडेंस डे एस्स, independence day essay in telugu pdf, for class 1, in tamil, in kannada pdf, in telugu,in kannada wikipedia, in hindi wikipedia, in malayalam, in gujarati, in gujarati language, in odia, english 10 lines, ka essay, essay in urdu, in bengali, in sanskrit language, for class 10, in hindi for class 3, 200 words, topics, for child, आदि की जानकारी दी है जिसे आप निश्चित रूप से आयोजन समारोह या बहस प्रतियोगिता (debate competition) यानी स्कूल कार्यक्रम में स्कूल या कॉलेज में भाषण में भाग लेने में छात्रों की सहायता करेंगे। इन स्वतंत्रता दिवस पर हिंदी स्पीच हिंदी में 100 words, 150 words, 200 words, 400 words जिसे आप pdf download भी कर सकते हैं|

सकाळच्या दिवसाचे सन्माननीय प्रमुख पाहुणे, सन्माननीय शिक्षक, पालक आणि माझ्या प्रिय मित्रांना सकाळी नमस्कार. स्वातंत्र्यदिनानिमित्त मी तुम्हाला सर्वांनी शुभेच्छा देतो. आम्ही सर्व येथे मोठ्या गर्दी जमले कारण कारण माहित. आम्ही या महान दिवशी एक आश्चर्यकारक प्रकारे साजरा करण्यास उत्सुक आहोत. आपल्या देशाच्या 69 व्या स्वातंत्र्य दिन साजरा करण्यासाठी आम्ही सर्व येथे एकत्र आहोत. प्रथम आपण आपल्या राष्ट्रीय झेंडा फडवा, नंतर तेथे स्वातंत्र्यसैनिकांच्या मर्दपणाचे काम सलाम करा. भारतीय नागरिक असल्याचा मला अभिमान वाटतो मला तुमच्या सर्वांसाठी स्वातंत्र्यदिनी भाषण देण्याची संधी होती. मी माझ्या जुन्या वर्ग शिक्षक आभार मानतो मला भारताच्या स्वातंत्र्य सार्वजनिकरित्या त्यांच्या दृश्ये ठेवले करण्याची संधी दिली आहे.

आम्ही 15 ऑगस्ट रोजी दरवर्षी स्वातंत्र्य दिन साजरा करतो कारण 14 ऑगस्ट 1 9 47 च्या रात्री भारताला स्वातंत्र्य मिळते. भारताच्या स्वातंत्र्यानंतर पंडित जवाहरलाल नेहरूंनी नवी दिल्लीतील स्वातंत्र्यदिनानिमित्त भाषण दिले. जेव्हा जगभरातून लोक झोपलेले होते, तेव्हा भारतातील लोक ब्रिटिश राजवटीपासून जीवन आणि स्वातंत्र्य मिळवण्यासाठी जागे होते. आता, स्वातंत्र्यानंतर, भारत जगातील सर्वात मोठा लोकशाही देश आहे. आपला देश विविधतेत त्याच्या ऐक्यासाठी प्रसिद्ध आहे. आपल्या धर्मनिरपेक्षतेचे परीक्षण करण्यासाठी अनेक घटनांचा सामना करावा लागतो, तर भारती लोक नेहमी आपल्या ऐक्याचे उत्तर देण्यास तयार असतात.

आपल्या पूर्वजांच्या कठोर लढ्यामुळे आम्ही आमच्या स्वातंत्र्याचं जतन करण्यास सक्षम झालो आणि आपल्या इच्छेनुसार खुल्या हवेत श्वास घेऊ शकतो. ब्रिटिशांपासून स्वातंत्र्य मिळवणे अत्यंत अशक्य होते, परंतु आमच्या जावईने सतत प्रयत्न केले आम्ही त्यांचे कार्य कधीही विसरू शकत नाही आणि ते नेहमीच इतिहासाच्या माध्यमातून ते लक्षात ठेवतील. आम्ही केवळ एका दिवसात सर्व स्वातंत्र्यसैनिकांची कामे आठवत नाही, जरी ते आपल्या मनाप्रमाणे त्यांना सलाम देऊ शकतात तो नेहमी आपल्या आठवणींमध्ये असेल आणि संपूर्ण जीवनासाठी प्रेरणासाठी काम करेल. आज आम्ही स्वातंत्र्य आणि समृद्धी जमीन थोर भारतीय नेत्यांची यज्ञ लक्षात साजरा आपले जीवन दिलेस सर्व भारतीय अतिशय महत्वाचा दिवस आहे. भारताचे स्वातंत्र्य शक्य आहे कारण सहकार्य, त्याग, आणि सर्व भारतीयांचा सहभाग होता. आम्ही त्या सर्व भारतीय नागरिकांना महत्त्व आणि सलाम देऊ. कारण ते खर्या राष्ट्रीय ध्येयवादी नायक होते. आम्ही ठेवत निधर्मीपणा अवलंबून केले आणि तो तुटलेला शकत नाही ऐक्य राखण्यासाठी आवश्यक आहे भिन्न असू नये आणि आम्ही पुन्हा राज्य करू शकत नाही.

आज आपण कमी अन्न घ्यावे, उद्या आपण भारताचे जबाबदार आणि शिक्षित नागरिक बनू. आम्हाला आमचे कर्तव्ये नीट हाताळणी करणे आणि लक्ष्य साध्य करण्यासाठी कठोर परिश्रम करणे आवश्यक आहे आणि या लोकशाही राष्ट्राला यशस्वीरित्या नेतृत्व करणे आवश्यक आहे.

जयहिंद, जयभरात

Independence day essay for class 2

मेरे सभी आदरणीय अधयापकों, अभिभावक, और प्यारे मित्रों को सुबह का नमस्कार। इस महान राष्ट्रीय अवसर को मनाने के लिये आज हमलोग यहाँ इकठ्ठा हुए है। जैसा कि हम जानते है कि स्वतंत्रता दिवस हम सभी के लिये एक मंगल अवसर है। ये सभी भारतीय नागरिकों के लिये बहुत महत्वपूर्ण दिन है तथा ये इतिहास में सदा के लिये उल्लिखित हो चुका है। ये वो दिन है जब भारत के महान स्वतंत्रता सेनानीयों द्वारा वर्षों के कड़े संघर्ष के बाद ब्रिटीश शासन से हमें आजादी मिली। भारत की आजादी के पहले दिन को याद करने के लिये हम हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाते है साथ ही साथ उन सभी महान नेताओं के बलिदानों को याद करते है जिन्होंने भारत की आजादी के लिये अपनी आहुति दी।

ब्रिटीश शासन से 15 अगस्त 1947 में भारत को स्वतंत्रता मिली। आजादी के बाद हमें अपने राष्ट्र और मातृभूमि में सारे मूलभूत अधिकार मिले। हमें अपने भारतीय होने पर गर्व होना चाहिये और अपने सौभाग्य की प्रशंसा करनी चाहिये कि हम आजाद भारत की भूमि में पैदा हुए है। गुलाम भारत का इतिहास सबकुछ बयाँ करता है कि कैसे हमारे पूर्वजों ने कड़ा संघर्ष किया और फिरंगियो कें क्रूर यातनाओं को सहन किया। हम यहाँ बैठ के इस बात की कल्पना नहीं कर सकते कि ब्रिटीश शासन से आजादी कितनी मुश्किल थी। इसने अनगिनत स्वतंत्रता सेनानीयों के जीवन का बलिदान और 1857 से 1947 तक कई दशकों का संघर्ष लिया है। भारत की आजादी के लिये अंग्रेजों के खिलाफ सबसे पहले आवाज ब्रिटीश सेना में काम करने वाले सैनिक मंगल पांडे ने उठायी थी।

बाद में कई महान स्वतंत्रता सेनानीयों ने संघर्ष किया और अपने पूरे जीवन को आजादी के लिये दे दिया। हम सब कभी भी भगत सिंह, खुदीराम बोस और चन्द्रशेखर आजाद को नहीं भूल सकते जिन्होंने बहुत कम उम्र में देश के लड़ते हुए अपनी जान गवाँ दी। कैसे हम नेताजी और गाँधी जी संघर्षों को दरकिनार कर सकते है। गाँधी जी एक महान व्यक्तित्व थे जिन्होंने भारतीयों को अहिंसा का पाठ पढ़ाया था। वो एक एकमात्र ऐसे नेता थे जिन्होंने अहिंसा के माध्यम के आजादी का रास्ता दिखाया। और अंतत: लंबे संघर्ष के बाद 15 अगस्त 1947 को वो दिन आया जब भारत को आजादी मिली।

हमलोग काफी भाग्यशाली है कि हमारे पूर्वजों ने हमें शांति और खुशी की धरती दी है जहाँ हम बिना डरे पूरी रात सो सकते है और अपने स्कूल तथा घर में पूरा दिन मस्ती कर सके। हमारा देश तेजी से तकनीक, शिक्षा, खेल, वित्त, और कई दूसरे क्षेत्रों में विकसित कर रहा है जोकि बिना आजादी के संभव नहीं था। परमाणु ऊर्जा में समृद्ध देशों में एक भारत है। ओलंपिक, कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स जैसे खेलों में सक्रिय रुप से भागीदारी करने के द्वारा हमलोग आगे बढ़ रहे है। हमें अपनी सरकार चुनने की पूरी आजादी है और दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का उपयोग कर रहे है। हाँ, हम मुक्त है और पूरी आजादी है हालाँकि हमें खुद को अपने देश के प्रति जिम्मेदारीयों से मुक्त नहीं समझना चाहिये। देश के जिम्मेदार नागरिक होने के नाते, किसी भी आपात स्थिति के लिये हमें हमेशा तैयार रहना चाहिये।

Independence day essay in kannada

ಮುಕ್ತ ಭಾರತದ ನಾಗರಿಕರಾದ ನಾವು ನಮ್ಮ ದೇಶವನ್ನು ಪ್ರೀತಿಸುತ್ತೇವೆ ಮತ್ತು ಅದರ ಭಾಗವಾಗಲು ಹೆಮ್ಮೆ ಪಡುತ್ತೇವೆ. ಆಗಸ್ಟ್ 15 ರಂದು ಆಚರಿಸಲಾಗುವ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನಾಚರಣೆ ನಮ್ಮೆಲ್ಲರಿಗೂ ವಿಶೇಷ ಮಹತ್ವದ್ದಾಗಿದೆ. ಇದನ್ನು ದೇಶದ ವಿವಿಧ ಶಾಲೆಗಳು, ಕಾಲೇಜುಗಳು, ಕಚೇರಿಗಳು ಮತ್ತು ಇತರ ಸ್ಥಳಗಳಲ್ಲಿ ಬಹಳ ಉತ್ಸಾಹದಿಂದ ಆಚರಿಸಲಾಗುತ್ತದೆ. ನಮಗೆ ಸ್ವತಂತ್ರ ರಾಷ್ಟ್ರವನ್ನು ನೀಡಲು ಮತ್ತು ನಮಗೆ ನೀಡಿದ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯವನ್ನು ಆನಂದಿಸಲು ತಮ್ಮ ಪ್ರಾಣವನ್ನು ತ್ಯಾಗ ಮಾಡಿದವರ ನೆನಪಿಗಾಗಿ ನಾವು ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನವನ್ನು ಆಚರಿಸುತ್ತೇವೆ. ಆದಾಗ್ಯೂ, ಈ ದಿನದ ಭವ್ಯ ಆಚರಣೆಗೆ ಇವುಗಳು ಮಾತ್ರ ಕಾರಣವಲ್ಲ. ನಾವು ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನವನ್ನು ಆಚರಿಸಲು ವಿವಿಧ ಕಾರಣಗಳು ಮತ್ತು ಅದರ ಪ್ರಾಮುಖ್ಯತೆ ಇಲ್ಲಿವೆ:

ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ಹೋರಾಟಗಾರರಿಗೆ ಗೌರವ ಸಲ್ಲಿಸಿ
ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನಾಚರಣೆಯ ಒಂದು ಪ್ರಮುಖ ಕಾರಣವೆಂದರೆ ಸ್ವತಂತ್ರ ರಾಷ್ಟ್ರದಲ್ಲಿ ನಾವು ಮುಕ್ತವಾಗಿ ಉಸಿರಾಡಲು ತಮ್ಮ ಪ್ರಾಣ ತ್ಯಾಗ ಮಾಡಿದ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ಹೋರಾಟಗಾರರನ್ನು ನೆನಪಿಸಿಕೊಳ್ಳುವುದು. ಆಚರಣೆಯು ಆ ಎಲ್ಲ ಮಹಾನ್ ಆತ್ಮಗಳಿಗೆ ಗೌರವವಾಗಿದೆ. ನಮ್ಮ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ಹೋರಾಟಗಾರರ ವೀರ ಕಾರ್ಯಗಳನ್ನು ನಿರೂಪಿಸಲು ಮತ್ತು ನಮ್ಮ ದೇಶವನ್ನು ಬ್ರಿಟಿಷ್ ಆಳ್ವಿಕೆಯಿಂದ ಮುಕ್ತಗೊಳಿಸಿದ್ದಕ್ಕಾಗಿ ಅವರಿಗೆ ಭಾಷಣಗಳನ್ನು ಮಾಡಲಾಗುತ್ತದೆ. ಅವರ ಹೊಗಳಿಕೆಯಲ್ಲಿ ಹಾಡುಗಳನ್ನು ಹಾಡಲಾಗುತ್ತದೆ ಮತ್ತು ಈ ದಿನ ನಡೆಯುವ ವಿವಿಧ ಸಾಂಸ್ಕೃತಿಕ ಕಾರ್ಯಕ್ರಮಗಳನ್ನು ಸಹ ಅವರಿಗೆ ಸಮರ್ಪಿಸಲಾಗಿದೆ.

ಕೃತಜ್ಞರಾಗಿರಬೇಕು ಮತ್ತು ವಿನಮ್ರರಾಗಿರಬೇಕು
ಬ್ರಿಟಿಷ್ ಆಳ್ವಿಕೆಯಲ್ಲಿ ಸಂಭವಿಸಿದ ಹತ್ಯಾಕಾಂಡ ಮತ್ತು ಆ ಸಮಯದಲ್ಲಿ ಎದುರಿಸಿದ ತೊಂದರೆಗಳನ್ನು ನೋಡಿದ ಜನರು ಹೆಚ್ಚು ವಿನಮ್ರರು. ಅವರು ಜೀವನದ ನಿಜವಾದ ಕಷ್ಟಗಳನ್ನು ನೋಡಿದ್ದಾರೆ ಮತ್ತು ಒಳ್ಳೆಯ ಸಮಯವನ್ನು ಗೌರವಿಸುತ್ತಾರೆ. ಕೃತಜ್ಞತೆ ಮತ್ತು ವಿನಮ್ರ ಮನೋಭಾವದ ಈ ಭಾವನೆ ಯುವ ಪೀಳಿಗೆಯಲ್ಲಿ ಕಾಣೆಯಾಗಿದೆ. ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನಾಚರಣೆಯು ನೈಜ ಜಗತ್ತಿನ ಸಮಸ್ಯೆಗಳ ಬಗ್ಗೆ ಜನರನ್ನು ಪರಿಚಯಿಸಲು ಮತ್ತು ಅವರಿಗೆ ನೀಡಲಾಗಿದ್ದಕ್ಕಾಗಿ ಕೃತಜ್ಞರಾಗಿರಬೇಕು ಎಂದು ನೆನಪಿಸುವ ಒಂದು ಮಾರ್ಗವಾಗಿದೆ.

ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯದ ಆತ್ಮವನ್ನು ಆಚರಿಸಿ
ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ಮತ್ತು ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯದ ನಿಜವಾದ ಮನೋಭಾವವನ್ನು ಆಚರಿಸಲು ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನವನ್ನು ಆಚರಿಸಲಾಗುತ್ತದೆ. ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ಹೋರಾಟಗಾರರ ಪ್ರಯತ್ನಗಳು ಫಲ ನೀಡಿದ್ದರಿಂದ ಮತ್ತು ಅವರು 1947 ರಲ್ಲಿ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯವನ್ನು ಗಳಿಸಿದ್ದರಿಂದ ನಮ್ಮ ದೇಶದ ನಾಗರಿಕರ ಸಂತೋಷಕ್ಕೆ ಯಾವುದೇ ಮಿತಿಯಿಲ್ಲ. ಅವರು ನಿಜವಾದ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯವನ್ನು ಅನುಭವಿಸಿದರು ಮತ್ತು ನಿಜವಾದ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯದ ಈ ಮನೋಭಾವವನ್ನು ಪ್ರತಿವರ್ಷ ಆಚರಿಸಲಾಗುತ್ತದೆ.

ನಮ್ಮ ದೇಶಕ್ಕಾಗಿ ಪ್ರೀತಿಯನ್ನು ಜೀವಂತವಾಗಿರಿಸಿಕೊಳ್ಳಿ
ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನಾಚರಣೆಯಂದು ಇಡೀ ದೇಶವು ದೇಶಭಕ್ತಿಯ ಭಾವದಿಂದ ತುಂಬಿದೆ. ದೇಶದ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯಕ್ಕಾಗಿ ವಿಶೇಷ ದಿನವನ್ನು ಸಮರ್ಪಿಸುವುದು ಮತ್ತು ಅದನ್ನು ವಿವಿಧ ಭಾಗಗಳಲ್ಲಿ ಆಚರಿಸುವುದು ದೇಶದ ಬಗ್ಗೆ ಪ್ರೀತಿ ಮತ್ತು ಗೌರವವನ್ನು ತೋರಿಸಲು ಉತ್ತಮ ಮಾರ್ಗವಾಗಿದೆ. ಇದು ನಮ್ಮ ದೇಶದ ಮೇಲಿನ ಪ್ರೀತಿಯನ್ನು ನಮ್ಮ ಹೃದಯದಲ್ಲಿ ಜೀವಂತವಾಗಿಡುವ ಒಂದು ಮಾರ್ಗವಾಗಿದೆ.

ರಾಷ್ಟ್ರದ ಸೇವೆ ಮಾಡಲು ಯುವ ಪೀಳಿಗೆಗೆ ಪ್ರೇರಣೆ ನೀಡಿ
ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನಾಚರಣೆಯು ಹಿಂದಿನ ತಲೆಮಾರಿನ ಜನರು ಮಾಡಿದಂತೆ ಸಮರ್ಪಕವಾಗಿ ರಾಷ್ಟ್ರ ಸೇವೆ ಮಾಡಲು ಯುವ ಮನಸ್ಸುಗಳನ್ನು ಪ್ರೇರೇಪಿಸುವ ಒಂದು ಮಾರ್ಗವಾಗಿದೆ. ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ಹೋರಾಟಗಾರರ ಕೆಚ್ಚೆದೆಯ ಕಾರ್ಯಗಳು ಮತ್ತು ಅವರ ದೇಶಕ್ಕೆ ಅವರ ಪ್ರೀತಿ ಮತ್ತು ಸಮರ್ಪಣೆ ಯುವ ಪೀಳಿಗೆಯಲ್ಲಿ ದೇಶಭಕ್ತಿಯ ಭಾವವನ್ನು ಮೂಡಿಸುತ್ತದೆ ಮತ್ತು ಅವರು ಯಾವುದೇ ರೀತಿಯಲ್ಲಿ ರಾಷ್ಟ್ರದ ಸೇವೆ ಮಾಡಲು ಪ್ರೇರೇಪಿಸಲ್ಪಡುತ್ತಾರೆ.

ತೀರ್ಮಾನ

ಹೀಗಾಗಿ, ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ಕಾರಣವನ್ನು ವಿವಿಧ ಕಾರಣಗಳಿಗಾಗಿ ಆಚರಿಸಲಾಗುತ್ತದೆ. ನಿಖರವಾಗಿ ಹೇಳುವುದಾದರೆ, ದೇಶಪ್ರೇಮದ ಮನೋಭಾವವನ್ನು ಜೀವಂತವಾಗಿಡಲು ಮತ್ತು ಅದೇ ಸಮಯದಲ್ಲಿ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯದ ಮನೋಭಾವವನ್ನು ಆನಂದಿಸಲು ದಿನವನ್ನು ಆಚರಿಸಲಾಗುತ್ತದೆ. ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನವು ನಮ್ಮ ದೇಶದಲ್ಲಿ ರಾಷ್ಟ್ರೀಯ ರಜಾದಿನವಾಗಿದೆ ಮತ್ತು ಇದು ಹತ್ತಿರದ ಮತ್ತು ಆತ್ಮೀಯರೊಂದಿಗಿನ ಬಾಂಧವ್ಯ ಮತ್ತು ಒಟ್ಟಿಗೆ ದಿನವನ್ನು ಆಚರಿಸುವ ಸಮಯವಾಗಿದೆ.

Leave a Comment