Sarkari Yojana

Agneepath Yojana – अग्निपथ प्रवेश योजना क्या है?

जो भी युवा सेना में भर्ती होने के लिए कड़ी म्हणत कर रहे है उनके लिए एक खुश खबरी है| केंद्र सरकार ने एक नयी योजना का शुभारम्भ किया है जिसका नाम है – Agnipath Recruitment Scheme. इस योजना के अंतर्गत सरकार युवाओ को जो सेना में भर्ती होना चाहते है तीनो सेनाओ के तहत तीन साल के लिए सैनिक के रूप में भर्ती करेगी| इन् सैनिको को अग्निवीर (Agniveer) के नाम से जाना जायेगा| इस योजना का मुख्या उद्देश्य सशक्त बलों की औसत उम्र में कमी करना और रिटायरमेंट और पेंशन का बोझ सरकार पर से हल्का करना है| अग्निपथ प्रवेश योजना क्या है? इसके लिए पूरा पेज पढ़े| 

कैसे चुने जायेंगे सैनिक और कैसे मिलेगा मौका

केंद्र सरकार ने ऐलान किया है की जल्द ही सेना के भर्ती प्रकिया में बदलाव आने वाला है| अग्निपथ प्रवेश योजना एक बहुत बड़ी मुहीम साबित हो सकती है| जो भी छात्र IIT और तकनिकी स्ट्रीम से है और सेना में भर्ती होना चाहते है , उन्हें इस योजना के तहत भर्ती दी जाएगी| इन् सभी सैनिको को पहले कड़ी ट्रेनिंग कराई जाएगी और फिर ३ साल के लिए सेना में भर्ती किया जायेगा| Agnipath Recruitment Scheme अग्निपथ प्रवेश योजना के अंतर्गत भर्ती जम्मू कश्मीर और पूर्वोत्तर के इलाके में की जाएगी| 

यह छात्र तकनिकी में तेज होने के कारन सरकार की आतंकी हमलो को का करने, ख़ुफ़िया जानकारी निकलवाने और अन्य तकनिकी सम्बंधित कार्यो में सरकार की मदद करेंगे| Agneepath Yojana योजना का काम २ साल पहले से शुरू किया गया था और तब इसको टूर ऑफ़ ड्यूटी स्कीम के नाम से शुरू किया गया था| इस योजना को संचालित करने से पहले सरकार सेना के अधिकारियो के साथ सूझ विचार करेगी| मीटिंग में इस योजना के सभी तथ्यों को विचार विमर्श किया जायेगा| 

Also check – Indian Army status

अग्निपथ प्रवेश योजना क्या है?- तीन साल के बाद क्या होगा ? 

इस योजना में सैनिको को बस ३ साल के लिए भर्ती किया जायेगा| किसी विशेष कारण के चलते उनकी नौकरी को ३ साल के बाद भी स्थायी सेवा में शामिल किया जा सकता है परन्तु ये पूरी तरह से उनके कार्य और सेना के अधिकारिओ पर निर्भर करेगा| कुछ अग्रिवीरो को किसी खास ऑफिस में भी भेजा जा सकता है| पर शुरुआत में उनका कार्यकाल सिर्फ ३ वर्ष का ही माना जायेगा| ३ साल के बाद ये सैनिकी कही भी नैकरी कर सकते है| वह किसी भी कॉर्पोरेट सेक्टर में नौकरी कर सकते है| वह आगे अपनी शिक्षा भी कर सकते है| सरकार द्वारा उन्हें किसी भी बात की कोई रोक नहीं होगी| 

Agneepath Yojana Recruitment-  1.25 लाख सैनिकों के पद खाली

कोरोना के कारण न केवल आम जनता बल्कि सेना के कार्यो में भी काफी अंतर् आया है| सेना में आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार १.२५ लाख से अधिक पद खली है| इसलिए इस योजना की शुरआत की गयी है| इस योजना के परिणाम स्वरूप जवानो को भारतीय थल सेना, जल सेना, और वायु सेना में ३ साल के लिए भर्ती किया जायेगा और उन्हें अग्निवीरो के नाम से बुलाया जायेगा| बता दें की भर्ती से पहले इनकी कड़ी ट्रेनिंग कराई जाएगी|

अग्रिवीरो का काम

अग्निपथ प्रवेश योजना Agneepath Yojana के अंतर्गत देश के युवा को जो सेना में भर्ती होना चाहते है मौका मिलेगा की वो ३ साल सेना के लिए कार्य करे| उनका काम एंटी टेरर ऑपरेशन की जाँच करना और आधुनिक तकनिकी की मदद से सेना के लिए कार्य सरल करना होगा| इन् युवाओ को खुफ़िआ मिशन में भी शामिल किया जा सकता है| इसलिए IIT और तकनिकी क्षेत्रों से जुड़े हुए युवाओं को रोजगार के मौके मिलेंगे|