Aastha

वास्तु दोष निवारण के आसान उपाय

Vastu Dosh Nivaran ke Aasaan Upay: वास्तु दोष वह दोष होता है जो की हमारे घर बनवाते समय रह जाता है| यह दोष घर में काफी दुष्परिणाम ला सकता है जो की काफी लम्बे समय तक चल सकते हैं| वटु के मुताबिक़ घर बनवाना आसान तो नहीं होता पर चूँकि यह काफी आवश्यक है इसलिए इसके कुछ सरल उपायों से वास्तुदोष से मुक्ति मिल सकती है| निचे दिए हुए वास्तु दोष निवारण के कुछ सरल उपाय अपनाने से आप घर के वास्तु दोष से छुटकारा पा सकते हैं और आपके घर का वास्तु शास्त्र सही हो सकता है|

यह भी देखें: पित्र दोष का निवारण कैसे करे

वास्तु दोष क्या है?

Vastu Dosh kya hai: वास्तु दोष की आठ दिशाओं की ज्ञात विलक्षण में से एक के अंदर अनुमानित दोष होता है। इन दिशाओं को पञ्च महाभूत की दिए हुए वर्गीकरण के आधार पर गुणों के साथ संपन्न किया गया है। वास्तु दोष का अगर सही समय पर उपाय न किया जाए तो वास्तु दोष के लक्षण काफी हानिकारक हो सकते हैं|

वास्तु दोष निवारण के उपाय

वास्तुदोष को सही समय पर सही कर लिया जाए तो यह काफी लाभदायक होता है क्योंकि यह आपको इस दोष के कारण होने वाली सारी मुसीबतो से बचता है| निचे दी जानकारी में आप दोष और उपाय की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि यह जानकारी व उपाय गुरूजी द्वारा दी गयी है|

  1. श्री गणेश पूजा दैनिक तौर पर करें|
  2. प्रत्येक वर्ष गृह शांति पाठ करवाएं|
  3. नवग्रह, शांतिपाठ और अग्निहोत्र यज्ञ करवाएं|
  4. प्रत्येक मंगलवार को प्रातः 108 बार “ओम नमो भगवती वास्तु देवताय नमः” का जाप करें|
  5. प्रत्येक सोमवार व अमावस्या के दिन रूडी पूजा अवश्य करें|
  6. अगर आपको घर अथवा ऑफिस में में प्रवेश करते ही कोई खाली दिवार दिखती है तो उस पर गणेश जी की एक मूर्ति लगाए या फिर आप श्री यंत्र भी लगा सकते हैं|

वास्तु दोष दूर करने के उपाय

Vastu Dosh Door Karne Ke Upaay: वास्तु से शान्ति के लिए सबसे पहले आपको ये उपाय अपनाने चाहिए|

  • अपने घर में पूजा के लिए एक अलग कक्ष बनाइये जिसमें और कोई कार्य न होता हो|
  • अपने घर में कैक्टस का पौधा बिलकुल न लगाएं क्यूंकि यह घर में दरिद्र लाता है|
  • भगवन हनुमान की मूर्ति दक्षिण-पूर्व में नहीं राखी होनी चाहिए |
  • अपने गृह में पानी के बर्तन के पास दैनिक एक दिया जलाएं|
  • घर के दरवाजे हमेशा अंदर खुलने वाले ही लगवाएं इससे घर का पैसा घर में ही रहता है|
  • यह ध्यान रकहिं की बिस्तर कभी भी घर की बीम के नीचे नहीं होना चाहिए|
  • अपने घर की छत पर पांच कोने कभी न बनवाएं|
  • शौचालय की सीट को सदैव उत्तर-दक्षिण के सामने होना चाहिए|
  • अपने घर के कमरों के पूर्वोत्तर दिशा को सदैव स्वच्छ व व्यवस्तिथ रखें|

वास्तु दोष निवारक यंत्र

वास्तुदोष_निवारण_यंत्र

वास्तुदोष निवारण यंत्र को घर पर लगाने से आपके घर में हमेशा सकारात्मक ऊर्जा रहती है| इस यंत्र के अंदर 13 यंत्र होते है जो की इस प्रकार हैं- वास्तु दोष निवारण यंत्र, बगलामुखी यंत्र, गायत्री यंत्र, महामृत्युंजय यंत्र, महाकाली यंत्र, मंगल यंत्र, कुबेर यंत्र, श्री यंत्र, गणपति यंत्र, वास्तु महायंत्र, केतु यंत्र, राहु यंत्र व शनि यंत्र|

Leave a Comment