kavita

वन महोत्सव पर कविता 2019 – Van Mahotsav Poem in Hindi – Van Mahotsav Par Kavita

वन महोत्सव पर कविता 2018

वन महोत्सव 2019: वन हमारे लिए बहुत महत्व रखते है| यह प्रकर्ति का मनुष्य के लिए वे तोहफा है जो की हमे जीवन देता है| प्रकर्ति की सुंदरता ही पेड़ और पौधो की हरियाली पर निर्भर रहती है| अगर यह हरियाली चली गई तो हमारी पृथ्वी सुन्दर नहीं रहेगी| भारत में आज के समय भारी मात्रा में वृक्षों को घर और बिल्डिंग या सड़क बनाने के लिए काटा जा रहा है| इससे पेड़ो की मात्रा काम होती जा रही है जिससे प्रदुषण दिन प्रति दिन बढ़रहा है| वन महोत्सव एक ऐसा पर्व है जो की हमे वृक्षारोपण और वनो के प्रति जागरूक करता है| यह पर्व इस साल 1 जुलाई से 7 जुलाई तक है|

आज के इस पोस्ट में हम आपको वन महोत्सव par kavita, वन महोत्सव पर kavita, van mahotsav poem in hindi, van mahotsav day poems, वन महोत्सव डे, poem on Forest Festival in Hindi वन महोत्सव पर कविता इन मराठी, हिंदी, इंग्लिश, बांग्ला, गुजराती, तमिल, तेलगु, आदि की जानकारी देंगे जिसे आप अपने स्कूल के वन महोत्सव पर वृक्षारोपण कविता को प्रतियोगिता, कार्यक्रम या भाषण प्रतियोगिता में प्रयोग कर सकते है| ये कविता खासकर कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए दिए गए है

Van Mahotsav Par kavita in Hindi

वन महोत्सव कब मनाया जाता है: वन महोत्सव सप्ताह भारत में 1 जुलाई 2019 से 7 जुलाई 2019 तक मनाया जाएगा| अक्सर class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7, class 8, class 9, class 10, class 11, class 12 के बच्चो को कहा जाता है वन महोत्सव सप्ताह पर कविता लिखें| आइये देखें poem on van mahotsav, Van Mahotsav Shayari in Hindi, van mahotsav poems in kannada language, Van Mahotsav Wishes, van mahotsav kavita in hindi language, वन महोत्सव फोटो, ppt, Van Mahotsav Quotes in Hindi, in kannada pdf, वन महोत्सव पर निबंध, Van Mahotsav Week , Van Mahotsav Speech in Hindi आदि जिसे आप whatsapp, facebook व instagram पर अपने groups में share कर सकते हैं|

हरियाली का गीत सुनाता सावन आया रे
खुशहाली की बीन बजाता सावन आया रे, सावन आया रे।।

सूखी धरती लगती थी कल जन्म-जन्म की प्यासी
सावन की बूंदों ने आकर उसकी प्यास बुझा दी
वन के वृक्षों से हैं मिलती अनगिनत चीज़ें हमको
वृक्ष बचाने को ही सावन सरसाता है इनको
सावन आया रे,सावन आया रे।।

आओ मिलकर वृक्ष लगाएं वृक्ष की महिमा गाएं
वन-महोत्सव आयोजन कर सबको यही सिखाएं

Van Mahotsav Poems in Hindi

आइये अब हम आपको van mahotsav poems,  वन महोत्सव पर नारे, पोएम ओं वन महोत्सव, Van Mahotsav drawing, van mahotsav poem in hindi, van mahotsav poem in english, van mahotsav poetry, van mahotsav day poems, van mahotsava poem, van mahotsav poem in hindi language, van mahotsav poem in मराठी, वन महोत्सव पोएम, आदि की जानकारी देते है|

वन से अपना जीवन, वन ही अपना प्राण हैं
वन समितियों के माध्यम से, इन्हें बचाना आन है
वन अपने हैं, कब्जा इन पर , कोई व्यक्ति नहीं कर ले
वन्य जीव हैं मित्र ! न इनका कोई भी शिकार कर ले
हर अवैध धंधे पर रखना, अंकुश अपना धर्म है
हो ना अवैध चराई-कटाई, खनन न चोर कोई कर ले
वन से अपना जीवन, वन ही अपने प्राण हैं
हम रक्षक अपने जंगल के, भक्षक को मार भगाएंगे
लकड़ी-बल्ली-बाँस मुफ्त रूप में, हम जंगल से पाएंगे
वन दोहन से प्राप्त राशि का, अंश प्राप्त होगा हमको
अपने जंगल में मंगल हम, मिलकर सभी मनाएंगे
वन से अपना जीवन, वन ही अपने प्राण हैं
वन समितियों के माध्यम से, इन्हें बचाना आन है।।

Van Mahotsav Short Poem

Van Mahotsav Poem in Hindi

वन में वृक्षों का वास रहने दे!
झील झरनों में साँस रहने दे!

वृक्ष होते हैं वस्त्र जंगल के
छीन मत ये लिबास रहने दे!
वृक्ष पर घोंसला है चिडि़या का
तोड़ मत ये निवास रहने दे!

पेड़-पौधे चिराग हैं वन के
वन में बाक़ी उजास रहने दे!

वन विलक्षण विधा है कुदरत की
इस अमानत को खास रहने दे!

वन महोत्सव पोएम इन हिंदी

वन-वन, उपवन–
छाया उन्मन-उन्मन गुंजन,
नव-वय के अलियों का गुंजन!

रुपहले, सुनहले आम्र-बौर,
नीले, पीले औ ताम्र भौंर,
रे गंध-अंध हो ठौर-ठौर
उड़ पाँति-पाँति में चिर-उन्मन
करते मधु के वन में गुंजन!

वन के विटपों की डाल-डाल
कोमल कलियों से लाल-लाल,
फैली नव-मधु की रूप-ज्वाल,
जल-जल प्राणों के अलि उन्मन
करते स्पन्दन, करते-गुंजन!

अब फैला फूलों में विकास,
मुकुलों के उर में मदिर वास,
अस्थिर सौरभ से मलय-श्वास,
जीवन-मधु-संचय को उन्मन
करते प्राणों के अलि गुंजन!

Van Mahotsav Poem in Hindi Class-6th

अगर आप वन महोत्सव के लिए हर साल 2008, 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017 के लिए Few lines on VAN MAHOTSAV in Hindi, Sayings, Slogans, Messages, SMS, Doctors Day Quotes in Hindi, Whatsapp Status, Words Character तथा भाषा Hindi font, hindi language, English, Urdu, Tamil, Telugu, Punjabi, English, Haryanvi, Gujarati, Bengali, Marathi, Malayalam, Kannada, Nepali के Language Font के 3D Image, Pictures, Pics, HD Wallpaper, Greetings, Photos, Free Download जानना चाहे तो यहाँ से जान सकते है|

जीवन का आधार वृक्ष हैं,
धरती का श्रृंगार वृक्ष हैं।

प्राणवायु दे रहे सभी को,
ऐसे परम उदार वृक्ष हैं।

ईश्वर के अनुदान वृक्ष हैं,
फल-फूलों की खान वृक्ष हैं।

मूल्यवान औषधियां देते,
ऐसे दिव्य महान वृक्ष हैं।

देते शीतल छांव वृक्ष हैं,
रोकें थकते पांव वृक्ष हैं।

लाखों जीव बसेरा करते,
जैसे सुंदर गांव वृक्ष हैं।

जनजीवन के साथ वृक्ष हैं,
खुशियों की बारात वृक्ष हैं।

योगदान से इस धरती पर,
ले आते वरदान वृक्ष हैं।

जीव-जगत की भूख मिटाते,
ये सुंदर फलदार वृक्ष हैं।

जीवन का आधार वृक्ष हैं,
धरती का श्रृंगार वृक्ष हैं।

वन महोत्सव पोएम

Van Mahotsav Par Kavita

पवन – पवन का शोर ,
वन में नाचे मोर ।
मेघा बरसे घनघोर ,
वन में नाचे मोर ।।

पंख फैलाएँ रूप सलोना ,
सर पे ताज दिखे अनोखा ।
मोर के सुनहरे – सुनहरे पंख ,
मोर का है अलग रंग ।।

हवा चले और शाम ढले ,
सुबह – सुबह का भोर ।
मेघा बरसे घनघोर ,
वन में नाचे मोर ।।

वन महोत्सव कविता 2019

चल रही है वह

इतने दर्प में
कि चिनगारियाँ छिटकती हैं उससे

दौड़े आ रहे हैं
अगल-बगल के यूकिलिप्टस
और हिमाचल के देवदारु
उसके आतंक में खिंचे हुए

दूर-दूर अमराइयों में
पक्षियों का संगीत गायब हो गया है
गुठलियाँ बाँझ हो गई हैं
उसकी आवाज से

मेरा छोटा बच्चा देख रहा है उसे
कौतुक से
कि कैसे चलती है वह
कैसे अपने आप एक लकड़ी
दूसरी को ठेलकर आगे निकल जाती है
और अपना कलेजा निकालकर
संगमरमर की तरह चमकने लगती है

मेरा बच्चा देख रहा है अचरज से
अपने समय का सबसे बड़ा चमत्कार
तेज नुकीले दाँत
घूमता हुआ पहिया और पट्टा
बच्चा किलकता है ताली बजाकर
मैं सिहर जाता हूँ
अभी वह मेरे सीने से गुजरेगी
मेरे भीतर से एक कुर्सी निकालेगी

राजा के बैठने के लिए
राजा बैठेगा सिंहासन पर
और वन-महोत्सव मनाएगा।

Van Mahotsav Poem in Punjabi

ਉਹ ਜਾ ਰਿਹਾ ਹੈ

ਬਹੁਤ ਸਾਰੇ ਤਰੀਕਿਆਂ ਵਿਚ
ਚਕੱਤੇ ਨਾਲ ਛਿੜਕਦੇ ਹਨ

ਰਾਮ ਆ ਰਿਹਾ ਹੈ
ਸਾਈਡ-ਬੀਜੇਡ ਯੁਕੇਲਿਪਟਸ
ਅਤੇ ਹਿਮਾਚਲ ਦੀ ਦੇਵੀ
ਉਹ ਅਤਿਵਾਦ ਵਿਚ ਡੁੱਬ ਗਿਆ

ਬਹੁਤ ਦੂਰ
ਪੰਛੀਆਂ ਦਾ ਸੰਗੀਤ ਅਲੋਪ ਹੋ ਗਿਆ ਹੈ
ਗੰਦੀਆਂ ਬਰਫ਼ੀਲੀਆਂ ਹੁੰਦੀਆਂ ਹਨ
ਉਸਦੀ ਆਵਾਜ਼ ਦੁਆਰਾ

ਮੇਰਾ ਬੱਚਾ ਉਸਨੂੰ ਦੇਖ ਰਿਹਾ ਹੈ
ਪ੍ਰਸ਼ੰਸਾਯੋਗ
ਇਹ ਕਿਵੇਂ ਚਲਦਾ ਹੈ?
ਇੱਕ ਲੱਕੜ ਦੇ ਮਾਲਕ ਕਿਵੇਂ?
ਦੂਜਾ ਇੱਕ ਅੱਗੇ ਵਧਦਾ ਹੈ ਅਤੇ ਇਸ ਨੂੰ ਸੁੱਟ ਦਿੰਦਾ ਹੈ
ਅਤੇ ਮੇਰਾ ਜਿਗਰ ਬਾਹਰ ਕੱਢਿਆ
ਇਕ ਸੰਗਮਰਮਰ ਵਾਂਗ ਚਮਕਣ ਦੀ ਸ਼ੁਰੂਆਤ

ਮੇਰਾ ਬੱਚਾ ਹੈਰਾਨੀ ਨਾਲ ਦੇਖ ਰਿਹਾ ਹੈ
ਤੁਹਾਡੇ ਸਮੇਂ ਦਾ ਸਭ ਤੋਂ ਵੱਡਾ ਚਮਤਕਾਰ
ਤਿੱਖੇ ਉਦਾਸ ਦੰਦ
ਰੋਲਿੰਗ ਵ੍ਹੀਲ ਅਤੇ ਪਕੜ
ਬੇਬੀ ਤਾਣਾ
ਮੈਂ ਡਿੱਗ ਪਿਆ ਹਾਂ
ਹੁਣ ਉਹ ਮੇਰੀ ਛਾਤੀ ਵਿੱਚੋਂ ਲੰਘੇਗੀ
ਮੇਰੇ ਤੋਂ ਇਕ ਕੁਰਸੀ ਲਵੇਗੀ

ਰਾਜੇ ਲਈ ਬੈਠਣਾ
ਰਾਜਾ ਸਿੰਘਾਸਣ ਉੱਤੇ ਬੈਠੇਗਾ
ਅਤੇ ਤਿਓਹਾਰ ਦੇ ਤਿਉਹਾਰ ਨੂੰ ਮਨਾਉਣਗੇ.

Van Mahotsav poems in English

Trees are for birds.
Trees are for children.
Trees are to make tree houses in.
Trees are to swing swings on.
Trees are for the wind to blow through.
Trees are to hide behind in HIDE AND SEEK.
Trees are to have tea parties under.
Trees are for kites to get caught in.
Trees are to make cool shade in summer.
Trees are to make no shade in winter.
Trees ae for apples to grow on and pears.
Trees are to chop down and call TIMBER-R-R!
Trees make mothers say,
“What a lovely picture to paint!”
Trees make fathers say,
“What a lot of leaves to rake this fall !”

Leave a Comment