Hindi Shayari

मुहर्रम शायरी 2019 – Muharram Shayari in Hindi & Urdu with Images for WhatsApp & Facebook

Muharram Shayari in Hindi

मुहर्रम 2019: मुहर्रम या मुहर्रम इस्लामिक धर्म का एक बहुत ही भव्य पर्व है| यह पर्व इस्लामी वर्ष की शुरुआत को दर्शाता है। यह पर्व पूरे विश्व के इस्लामिक धर्म के अनुयाई द्वारा भव्य अंदाज़ में मनाया जाता है। मुहर्रम इस्लामी कैलेंडर का पहला महीना है। इस्लामी समुदाय इस महीने को सबसे व्यस्त महीने मानता है। मुहर्रम का त्यौहार वर्ष का प्रारम्भ इसलया है क्योंकि इस्लाम का कैलेंडर चंद्र कैलेंडर है। सुन्नी मुस्लिम समुदाय मुहर्रम के दसवें दिन है, जिसे अशूरा का दिन कहा जाता है। त्यौहार के दौरान, शिया मुसलमान विभिन्न इरादों के साथ विभिन्न रीती रिवाज़ निभाते हैं।

मुहर्रम शायरी


शमशेर से मोला ने कहा चला मगर ऐस
हो ख़ैबर-ओ-खंडक मैं भी हाल चाल मगर ऐसे
इस मेह्दान में रहे मौत की जाल थल मगर ऐसे
इस दश्त मैं रहे खून की दलदल ऐसे
तू जिस पे उत्तर गए मैं उस का वाली हूँ
वोह सिर्फ अली था मैं हुसैन इब्न ए अली हूँ
Click To Tweet

दश्त ए बाला को अर्श का जीना बना दिया
दश्त-ए-बाला को अर्श का ज़ीना बाना दिया
जंगल को मुहम्मद का मदीना बन्ना दीया
हर ज़र्रे को नजफ का नगीना बना दिया
हुसैन तुम ने मरने को जीना बना दिया
Click To Tweet

Muharram Shayari in Hindi


मुहर्रम उल हरम
अफज़ल है कुल जहाँ से घराना हुसैन का
निबिओं का ताजदार है घराना हुसैन का
एक पल की थी बस हुकूमत यजीद की
सदियन हुसैन रा है जमाना रा हुसैन का
Click To Tweet

Muharram ul haram Shayari


तरीका मिसाल असी कोई दोंड के लिए
सर तन से जुड़ा भी हो मगर मौत न आये
सोचन मैं सबर ओ राजा के जो मफिल
एक हुसैन रा अब अली रा जैन मैं आये
Click To Tweet

मुहर्रम शायरी हिंदी


इश्क मैं किया लुटिया इश्क मैं किया बेचेन
अल ए नबी ने लिख दिया सारा नसीब रीत पर
Click To Tweet

कर्बला को कर्बला के शहंशाह पर नाज़ है
उस नवासे पर मुहम्मद मुस्तफा को नाज़ है
यूँ तू लाकोउन सजदे के मुखुक ने मगर
हुसैन ने वो सजदा किया जिस पर खुदा को नाज़ है
Click To Tweet

Muharram Shayari Allama Iqbal


कर्बला की शाहदत इस्लाम बन गई
खून तो बहा था लेकिन हौशालो की उडान बन गई
Click To Tweet

Muharram Tajiya Gazal Sher E Shayri Urdu Imam Hussain


इमाम का होशाला
इस्लाम बना गया
अल्लाह के लिए उसका फ़र्ज़
आवाम को धर्म सिखा गया
Click To Tweet

Muharram Shayari Sunni


न हिला पाया वो रब की मैहर को
भले जीत गया वो कायर जंग
पर जो मौला के दर पर बैखोप शहीद हुआ
वही था असली सच्चा पैगम्बर
Click To Tweet

अशुरा मुहर्रम और शायरी


कर्बला की उस जमी पर खून बहा
कत्लेआम का मंजर सजा
दर्द और दुखो से भरा था जहा
लेकिन फौलादी हौसले को शहीद का नाम मिला
Click To Tweet

Muharram Shayari Images


Dy Ke Sarr Shabber Nay Islaam Zindaa Kar Diyaa
Karblaa Ko Jis Ke Sajdy Ne Muallah Kar Diyaa,
Click To Tweet

Hasharr Tak Koi Yazeedi Sarr Uthaa Sakta Nahain
Jis Ka Mutlab Zindagi Bharr Deen Chuka Sakta Nahain
Click To Tweet

Muharram Shayari Sunni Hindi


Gali Gali men usi ka Parcham,
Usi ka sajda jabin jabin pe
Falak falak pe lahoo usi ka,
Usi ki majlis zameen zameen hai;
Hussainyat ko mitanay walon,
HUSSAINYAT ab kahan nahi hai
Click To Tweet

Taqat Matam-e-Shabir Se La Ilm Hai Tu!
Ye Wo Jado Hai Jo Aag Pr Bhi Chal Jta Ha!
Jis Dum Krte Hain Mawali Aag Par Matam !
Un Ko Kuch Nahi Hota Or Tu Jal Jta Hai!
Click To Tweet

Muharram Shayari Hindi Me

Muharram 2019 Date in India: आइये आपको बताते हैं की मोहर्रम कितने तारीख को है| इस वर्ष मोहर्रम 31 August के दिन पड़ रही है| आइये अब हम आपको Muharram sher, मुहर्रम स्टेटस, मुहर्रम ताजिया ग़ज़ल शेर ए शायरी उर्दू, shayari video, मुहर्रम शायरी, Muharram Messages for WhatsApp, muharram shayari 2017, Muharram Dp for WhatsApp, मुहर्रम शायरी इन हिंदी, मुहर्रम शायरी इमेजेज, मुहर्रम पर शायरी, मुहर्रम स्पेशल शायरी, कर्बला, मोहर्रम, मोहर्रम मातम, شهر الله المحرم, മുഹറം, Muharram Images Wallpapers, muharram ki qawali, आदि की जानकारी अपने दोस्तों, अम्मी जान, अब्बा जान, family members, Best Friends, Couples, Him/her, Husband/Wife, शोहर, बेगम, Girlfriend/Boyfriend, GF/BF, Sister/Brother, Mother/father, Mom/Dad व college friends, इस्लामिक ग्रुप आदि के साथ शेयर कर सकते हैं| इसके अलावा इनकी इमेज पिक्चर्स, शायरी, फोटोज़, वॉलपेपर को यहाँ से free download भी कर सकते है|


Zinda rehne ke liye SHAH ki aza kafi hai,
humko bas Fatima Zehra ki dua kafi hai,
chahe kitni he mukhalif ho zamane ki hawa,
humko Abbas ke parcham ki hawa kafi hai
Click To Tweet

Phota Tha Jo Kabhi Kisi Naize Ki Nook Sai!
Har Ehaid Par Maheet Wahi Inqilab Hai!
Har Dour Main Hussain Nai Sabit Ye Kar Dia!
Har Dour K Yazeed Ka Khana Kharab Hai!
Click To Tweet

Muharram Shayari in Urdu

Muharram Shayari Allama Iqbal


زنده راجہ صاحب نے کہا کہ، ہاں،
ہمکو فاطمہ زہرہ کی دعا کفی ہا،
مجھے یہ کہنا افسوس ہے کہ،
humko عباس کے ساتھ الجھن ہے
Click To Tweet

آپ نے نیک کی نہیں کیوں کہا؟
ہار عید پیر ماہی واہ انکلیل ہا!
ہار ڈور مین حسین نی سبت تم کار دی!
ہار ڈور کی یزید کا خانہ کھا ہا!
Click To Tweet

मुहर्रम की शायरी


Falak Nashin Ne Diya Wo Kamal Mitti Ko
Shifa Bana Gaya Zehra Ka Laal Mitti Ko
Ye Janti Hai K Hum Log Bu-Turabi Hain
Paray Ga Rakhna Hamara Khayal Mitti Ko
Click To Tweet

न हिला पाया वो रब की मैहर को
भले जात गया वो कायर जंग
पर जो मौला के दर पर बैखोफ शहीद हुआ
वही था असली और सच्चा पैगम्बर।
Click To Tweet

मुहर्रम शायरी सुन्नी हिंदी


Kab Tha Pasand Rasool Ko Rona Hussain Ka
Aaghosh-e-Fatima thi Bichona Hussain Ka
Be Gor-o-Be Kafan Hy Qayamat Se Kam Nahi
Sehra Ki Garm Rait Pr Sona Hussain Ka
Click To Tweet

Dasht-e-Bala Ko Arsh Ka Zeena Bana Diya
Jangal Ko Muhammad Ka Madina Bana Diya
Hr Zarry Ko Najaf Ka Nagina Bana Diya
Hussain Ne Marny Ko Jeena Bana Diya
Click To Tweet

Muharram Shayari 2 Line


आंखों को कोई ख्वाब तो दिखायी दे
ताबीर में इमाम का जलवा दिखायी दे
ए! इब्न-ऐ-मुर्तजा
सूरज भी एक छोटा सा जरा दिखायी दे।
Click To Tweet

सिर गैर के आगे ना झुकाने वाला
और नेजे पे भी कुरान सुनाने वाला
इस्लाम से क्या पूछते हो कौन हुसैन
हुसैन है इस्लाम को इस्लाम बनाने वाला।
Click To Tweet

Shayari on Muharram

ऊपर दी हुई शायरी में शामिल है कर्बला – शायरी हिंदी, मुहर्रम शायरी हिंदी, या हुसैन शायरी, इमाम हुसैन शायरी इन हिंदी, मुहर्रम शायरी इन हिंदी, कर्बला की शायरी, कर्बला शेर व हुसैनी शायरी


क्या जलवा कर्बला में दिखाया हुसैन ने
सजदे में जा कर सिर कटाया हुसैन ने
नेजे पे सिर था और ज़ुबान पे अय्यातें
कुरान इस तरह सुनाया हुसैन ने।
Click To Tweet

करीब अल्लाह के आओ तो कोई बात बने
ईमान फिर से जगाओ तो कोई बात बने
लहू जो बह गया कर्बला में
उनके मकसद को समझो तो कोई बात बने।
Click To Tweet

Muharram Shayari Hindi


Roein Wo Jo Munkir Hain Shahadat-E-HUSSAIN K
Hum Zinda-O-Javaid Ka Matam Nahi Kertay
Click To Tweet

Hy Ishq Apni Jan Se Zyada Aal-E-Rasol Se
Yun Sar-E-Aam Hum Unka Tamasha Nai Krty
Click To Tweet

Muharram 2019

आज के इस पोस्ट में हम आपको muharram shayari hindi me, muharram shayari sunni hindi, muharram shayari hindi mai, muharram shayari images, karbala shayari hindi, muharram ki shayari in hindi, muharram sher o shayari in hindi, hussaini shayari hindi mai, hindi, message, मेसेज, कोट्स, मुबारकबाद, मुबारक हिंदी, समझ collection, मेसेज, कोट्स, स्टेटस, विश (wishes), उद्धरण, कविता, kavita, poem, एसएमएस, साहरी, sayaree, उद्धरण, messages, msg, ,एसएमएस हिंदी फॉण्ट, हिंदी और उर्दू शायरी  आदि जिन्हे आप फेसबुक, व्हाट्सप्प, whatsapp, instagram & facebook पर अपने दोस्त व परिवार के लोगो के साथ साझा कर सकते हैं|


Imam Hussain ki Shaan Mein Shayari in Hindi
Keh Do Gham-E- Husain Manany Walon Ko
Momin Kbhi Shaheed Ka Matam Nhi Krte
Click To Tweet

Aankhon Ko Koi Khwaab
Aankhon ko koi khwaab to dikhayi de Tabeer me
Imam ka jalwa dikhayi de Aye! I
E-Murtuza tere samne
Suraj bhi ek chota sa zarra dikhayi de
Click To Tweet

Muharram Sher o Shayari


Na cheez hun mein, qaabil-e-tauqeer nahin,
Taqreer meri layeq-e-tehreer nahin
Kafir kaho, mushrik kaho, jo kehna hai keh do,
Hindu hun magar dushman-e-Shabbeer nahin.
Click To Tweet

Ghuroor toot gya, koi martaba na mila,
Jafaa kay ba’ad bhi kuchh haasil-e-jafaa na mila
Sar-e-Hussain mila, haan, Yazeed ko, laikin,
Shikast yeh hai kay phir bhi jhuka hua na mila
Click To Tweet

Muharram ki Shayari in Hindi


Ek Din Bade Ghroor Ek din bade ghroor se
kehne lagi zameen
Aya mere naseeb mein parchum Husain ka
Phir chand ne kaha mere seene ke daagh dekh
Hota hai aasmaan pe bhi maatam Husain ka
Click To Tweet

Faatima Ke Laal Nay Ehsaan Easa Kar Diyaa
Karbalaa Ko Jis Ke Sajdy Ne Muallah Kar Diyaa…!!!
Click To Tweet

2 Comments