kavita

मदर्स डे पर कविता 2018 – मातृ दिवस कविता – Mother’s Day Poem in Hindi – मदर डे पोएम

मातृ दिवस 2018 – मातृ दिवस प्रत्येक बच्चे, बच्चों और छात्रों के लिए साल का सबसे सुखद और अत्यधिक यादगार दिन है। मातृ दिवस वर्ष का एक विशेष दिन है जो भारत की सभी माताओं के लिए समर्पित है। मातृ दिवस हर साल मई के महीने में दूसरे रविवार को मनाया जाता है। इस साल 2018 में, यह 13 मई (दूसरे रविवार) को बहुत खुशी और खुशी के साथ मनाया जाएगा। बच्चे इस दिन बहुत खुश हो जाते हैं और अपनी माताओं का सम्मान करने के लिए घर पर या स्कूल में अपनी मां के लिए कविता समर्पित करते है| आज के इस पोस्ट में हम आपको माँ पर मार्मिक कविता, माँ पर कुछ पंक्तियाँ, माँ के ऊपर छोटी कविता, माँ पर गीत, मदर’स डे पोएम, आदि की जानकारी देंगे|Happy Mothers Day ????

मातृ दिवस कविता

Happy Mother Day 2018: आइये अब हम आपको mother’s day poem short, मदर्स डे पर निबंध, mother’s day poem from a child, mother’s day poem in marathi, मदर डे स्पीच इन स्कूल इन हिंदी, mother day poem in punjabi language, Mother Day Quotes in Hindi, mother’s day poem in urdu, mother’s day poem for preschoolers कक्षा class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7, class 8, class 9, class 10, class 11, class 12 के बच्चो के लिए जानकारी देते है|

अपने आंचल की छाओं में,
छिपा लेती है हर दुःख से वोह
एक दुआ दे दे तो
काम सारे पूरे हों…

अदृश्य है भगवान,
ऐसा कहते है जो…
कहीं ना कहीं एक सत्य से,
अपरिचित होते है वोह…
खुद रोकर भी हमें
हसाती है वोह…
हर सलीका हमें
सिखलाती है वोह…

परेशानी हो चाहे जितनी भी,
हमारे लिए मुस्कुराती है वोह…
हमारी खुशियों की खातिर
दुखो को भी गले लगाती है वो…
हम निभाएं ना निभाएं
अपना हर फ़र्ज़ निभाती है वोह…
हमने देखा जो सपना
सच उसे बनती है वो…

दुःख के बादल जो छाये हमपर
तो धुप सी खिल जाती है वोह…
ज़िन्दगी की हर रेस में
हमारा होसला बढाती है वोह…
हमारी आँखों से पढ़ लेती है
तकलीफ और उसे मिटाती है वोह…
पर अपनी तकलीफ कभी नही जताती है वोह…

शायद तभी भगवान से भी ऊपर आती है वोह…
तब भी त्याग की मूरत नही माँ कहलाती है ‘वोह’….

Poem on Mother’s Day in Hindi

अक्सर class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7, class 8, class 9, class 10, class 11, class 12 के बच्चो को कहा जाता है Happy Mothers Day poem in hindi pdf, Mothers Day poem in hindi language, मेरी माँ कविता, मदर डे पर शायरी, Mothers Day Kavita, Mother’s Day short poem in hindi, मदर डे पर कविता लिखें| जिसके लिए हम पेश कर रहे हैं Mothers Day kavita hindi Me.

मां
तुम जो रंगोली दहलीज पर बनाती हो
उसके रंग मेरी उपलब्धियों में चमकते हैं
तुम जो समिधा सुबह के हवन में डालती हो
उसकी सुगंध मेरे जीवन में महकती है
तुम जो मंत्र पढ़ती हो वे सब के सब
मेरे मंदिर में गुंजते हैं
तुम जो ढेर सारी चूडियां
अपनी गोरी कलाई में पहनती हो
वे यहां मेरे सांवले हाथों में खनकती है …

मां
तुम्हारे भाल पर सजी गोल बिंदिया
मेरे कपाल पर रोज दमकती है
तुम्हारे मुख से झरी कहावतें
अनजाने ही मेरे होंठों पर थिरक उठती है
लेकिन मां
मैं तुम जैसी कभी नहीं बन सकी
तुम जैसा उजला रंग भी मैंने नहीं पाया

लेकिन तुम
मेरे विचार और संस्कार में
खामोशी से झांकती हो
क्योंकि तुमसे जुड़ी है मेरी पहचान
यह मैं जानती हूं, यह तुम जानती हो…..

Mother Day Poem in Hindi

ये पोएम व कविता को आप Hindi, English, sanskrit, Tamil, Telugu, Marathi, Punjabi, Gujarati, Kannada, Malayalam, Nepali के Language व Font के अनुसार बधाई सन्देश, Poem के Image, Wallpapers, Photos, Pictures अपने परिवार, दोस्तों, friends, girlfriend, boyfriend, पति-पत्नी, रिश्तेदार, बॉस, टीचर आदि को मातृ डे विशेष पिक्स, फोटो, इमेजेज, वॉलपेपर आदि जिसे आप whatsapp, facebook व instagram पर अपने family group, व्हाट्सप्प ग्रुप में share कर सकते हैं|

मातृ दिवस कविता

माँ भगवान का दूसरा रूप
उनके लिए दे देंगे जान

हमको मिलता जीवन उनसे
कदमो में है स्वर्ग बसा

संस्कार वह हमे बतलाती
अच्छा बुरा हमे बतलाती

हमारी गलतियों को सुधारती
प्यार वह हमपर बरसती.

तबियत अगर हो जाए खराब
रात-रात भर जागते रहना

माँ बिन जीवन है अधुरा
खाली-खाली सुना-सुना

खाना पहले हमे खिलाती
बादमे वह खुद खाती

हमारी ख़ुशी में खुश हो जाती
दुःख में हमारी आँसू बहाती

कितने खुश नसीब है हम
पास हमारे है माँ

होते बदनसीब वो कितने
जिनके पास ना होती माँ….

Mother Day Poem in English

Itni dur tum kyu ho maa
Pass kyu nahi ho maa

Dur dur tak dikhe na maa
Rokar kise dikahau maa

Dard kisse chipau maa
Kaise ye batau maa

Dekh kar tum samjh khud jati
Rone kabhi na mujhe deti

Tab rone ko kona dhudhnti
Tum peeche peeche aa jati

Sath mere baithi rahti
Jab tak me phir has na deti

Mujhe hasa kar hi tum jati
Aansu ko aane na deti

Akele kone me rona tab accha lagta tha
Tumhara peeche aana tab bhata na tha

Ab soona sa har kona hai
Koi nahi yaha ab hai

Chahu jitna ro lu me ab
Hasane wala na koi hai

Bhare bhare aankho se maa
Tum shayad dikti na hogi

Yahi sochkar me toh ab
dinbhar roti rahti

Ek baar phir aa jao maa
Aasoo ab na chipaungi

Bhar bahr kar teri godh me
Jeebhar kar me roungi

Itni door tum kyu ho maa
Pass mere kyu nahi ho maa

A Mother’s Day Poem From Daughter

Mother's Day Poem in Hindi

माँ की ममता करुणा न्यारी,
जैसे दया की चादर
शक्ति देती नित हम सबको,
बन अमृत की गागर

साया बन कर साथ निभाती,
चोट न लगने देती
पीड़ा अपने उपर ले लेती,
सदा सदा सुख देती

माँ का आँचल सब खुशियों की,
रंगा रंग फुलवारी
इसके चरणों में जन्नत है,
आनन्द की किलकारी

अदभुत माँ का रूप सलोना,
बिलकुल रब के जैसा
प्रेम के सागर सा लहराता,
इसका अपनापन ऐसा….

Mother’s Day Par Kavita

प्यारी प्यारी मेरी माँ
प्यारी-प्यारी मेरी माँ
सारे जाग से न्यारी माँ.

लोरी रोज सुनाती है,
थपकी दे सुलाती है.
जब उतरे आँगन में धूप,
प्यार से मुझे जगाती है.

देती चीज़ें सारी माँ,
प्यारी प्यारी मेरी माँ.

उंगली पकड़ चलाती है,
सुबह-शाम घुमाती है.
ममता भरे हुए हाथों से,
खाना रोज खिलाती है.

देवी जैसी मेरी माँ,
सारे जाग से न्यारी माँ….

Mother’s Day Poem From Son

कोई अौर झुलाता है झूले मैं तो भी रो जाता हूँ,
मैं तो बस अपनी माँ की थपकी पाकर ही सो पाता हूँ।

कुछ ऐसा रिश्ता है मेरा मेरी माँ से
दर्द वो ले लेती है सारे और मैं बस मुस्कुराता हूँ।

यूँ तो जमाने के नजरों मैं मैं बड़ा हो गया हूँ,
पर दूर जब माँ से होता हूँ तो रो जाता हूँ।

चारदिवारी से घिरा वो कमरा बिन तेरे घर नहीं लगता माँ,
मैं हर रोज अपने ही कमरें मैं मेहमान हो जाता हूँ।

जब भी ज़माना मुझे कमजोर करने की कोशिश करता है,
याद करके तुझे माँ मजबूत बन जाता हूँ।

जब सोचता हूँ कुर्बानियां तेरी माँ
आंसुओं के समंदर में खो जाता हूँ।

मैं रात-रात भर जागता ही रहता हूँ माँ,
अब तेरे आँचल में छुप कर कहाँ सो पाता हूँ।

मदर डे पोएम इन हिंदी

बाजुओं में खींच के आजाये गी जैसे क़ाएनात
अपने बच्चे के लिए ऐसे बाहें फेलाती है माँ

ज़िन्दगी के सफ़र मै गर्दिशों की धुप में
जब कोई साया नहीं मिलता तब बहुत याद आती है माँ

प्यार कहते हैं किसे और ममता क्या चीज़ है
कोई उन बच्चों से पूछे जिनकी मर जाती है माँ

सफा-ए-हस्ती पे लिखती है असूल-ए-ज़िन्दगी
इसलिए तो मक़सद-ए-इस्लाम कहलाती है माँ

जब ज़िगर परदेस जाता है ए नूर-ए-नज़र
कुरान लेके सर पे आ जाती है माँ

लेके ज़मानत में रज़ा-ए-पाक की
पीछे पीछे सर झुकाए दूर तक जाती है माँ

काँपती आवाज़ में कहती है बेटा अलविदा
सामने जब तक रहे हाथों को लहराती है माँ

जब परेशानी में फँस जाते हैं हम परदेस में
आंसुओं को पोंछने ख्वाबों में आ जाती है माँ

मरते दम तक आ सका न बच्चा घर परदेस से
अपनी सारी दुआएं चौखट पे छोड़ जाती है माँ

बाद मरने के बेटे की खिदमत के लिए
रूप बेटी का बदल के घर में आ जाती है माँ….

Small poem on mothers day in english

So Blessed by You, Mom
A mother who always cares,
A mother who’s always there.
A mother who always prays,
A mother who always stays.
When things get rough,
When life gets tough,
When all is just too much to bear,
God’s Word she shares.
God’s light she shines.
So blessed God made this mother mine

Very short poem on mothers day in hindi

I see you’re tired when I get home.
You feel some days you’re all alone.
But what you’re doing is priceless, dear,
And one day you’ll look back–one year.
Far from now when these kids are grown,
You’ll remember the days you spent at home.
Wiping noses, washing dishes,
Having tea parties, getting kisses.
Playing ball and tying shoes,
Dressing dolls and kissing boo-boo’s,
Then you’ll look at me with tearful eyes,
and know you got the better prize.

Related Search:
in punjabi ,in bengali ,in hindi pdf m&m mother’s day poem , from the cat a ,by maya angelou a ,for my sister ,2015 ,for grade 1 mother’s day english poem ,m.o.t.h.e.r pre-k mothers day poem ,in arabic , in spanish ,in french , in heaven a ,from son , in nepali mother’s day teapot poem ,from the dog ,in gujarati the mother’s day poem ,from husband , for deceased mom ,template ,for grandma ,2016 ,for wife ,for a teacher , for a friend mother’s day a poem , no charge ,from daughter in hindi a ,that will make her cry a short mother’s day poem ,to my daughter a happy mother’s day poem a ,from the cat ,for 2nd graders ,to my sister 5th grade mothers day poem ,to all mothers ,to mom ,4th grade

Leave a Comment