Sehat

बिरनी काटने का इलाज – ततैया के काटने का घरलू इलाज – सूजन का घरेलु उपचार- दर्द से तुरंत आराम

बिरनी काटने का इलाज

हमारे साथ बहुत बार ऐसा होता है की हम कही बहार हो तब हमे कोई कीड़ा काट जाता है | ज्यादातर कीड़ो के काटने से ज्यादा दर्द नहीं होता पैर कुछ कीड़े ऐसे होते है जिनके काट खाने से हमें बहुत दर्द होता है| कुछ कीड़े ऐसे होते है की जिनके काटने से हमें इन्फेक्शन हो जाता है| ऐसे ही कुछ कीड़े होते है ततैया, बर्र, मधुमखी और काला भौरा| इन कीड़ो के काटने से दर्द के साथ साथ इन्फेक्शन हो जाता है क्युकी इनके डंक में ऐसा पदार्थ होता है जिससे बहुत दर्द होता है और वे जगह सूज जाती है| अजा के इस पोस्ट में हम आपको ततैया के काटने पर सूजन का इलाज, पीला ततैया, बर्र का काटना, ततैया क्या है, मधुमक्खी के काटने पर क्या होता है, मधुमक्खी के डंक के उपचार, आदि की जानकारी देंगे|

बिरनी काटने का उपचार

जैसा की हम जानते ही है की ततैया की एक प्रकार का कीट है| यह भी मधुमक्खी की तरह उड़ने वाला जीव है और उसी की प्रजाति का है| इन दोनों प्रजाति में बहुत कम अंतर नहीं होता है| यह भी मधुमक्खी की तरहं शहद इकठा करता है| वे भी मधुमक्खी की तरह छत्ता बनाता है पैर ये उस छत्ता में शहद इकठा नहीं करता है| यह अपना छत्ता लोगो के घरो में बनाता है और अकेले रहता है| ततैये के डंक में जहर होता है जिससे की इनफेवक्शन फैल जाता है| बहुत से लोग आये दिन ततैये के डंक का शिकार होते है| सजने के बाद वे जगह आसानी से सही नहीं होती| इसके लिए अंदर गए जहर को निकालना पड़ता है| साथ ही आप हमारे अन्य स्वस्थ्य सम्बंधित पोस्ट्स जैसे की यूरिक एसिड का घरेलू इलाजवेरीकोज वेन का इलाज भी देख सकते हैं|

ततैया काटने पर सूजन का उपचार

ततैया के काटने का घरलू इलाज

ततैया का डंक उतना ही हानिकारक होता है जितना की मधुमक्खी का| इसके डंक के काटने से अलेर्जी फैलती है| आइये अब हम आपको बताते है ततैये के काटने से क्या क्या लक्षण होते है|

  • ततैया के काटने के बाद काटी हुई जगह पर सूजन आ जाती है|
  • काटी हुई जगह पर बहुत दर्द होना चालु होता है|
  • काटी हुई जगह सूजन से लाल हो जाती है|
  • इसके काटने से सूजन वाली जगह में इन्फेक्शन फैल जाता है|

मधुमक्खी के काटने का इलाज

ततैये का काटना बहुत ही नुकसानदाई होता है| इसके काटने से इन्फेक्शन फैल जाता है जो की हमारे लिए हानिकारक हो सकता है| मधुमखी की तरह ततैया का भी डंक काटने के बाद काटी हुई जगह पर रह जाता है| बहुत से लोग भिन्न प्रकार के उपचारो का उपयोग करते है जिससे की डंक का जहर निकल जाए| अब हम आपको ततैये के काटे जाने पर घरेलु उपचार के बारे में जानकारी देते है|

  • काटने के बाद किसी लोहे की चीज़ को गरम करके काटी हुई जगह पर लगाकर डंक निकालना चाहिए|
  • निम्बू पानी में काला नमक मिलाकर पीने से दर्द का असर कम होता है|
  • जिस स्थान पर काटा गया है उस स्थान पर चुना लगाने से जहर निकल जाता है|
  • एलोविरा के पौधे के जेल को निकालकर काटी हुई जगह पर लगाने से सूजन कम हो जाती है|
  • ततैये के काटने के बाद मिटटी के तेल का उपयोग करना कार्यगर होता है|
  • तुलसी के पत्तो का पेस्ट बनाकर सूजन वाली जगह लगा सकते है|
  • ठंडी बर्फ की सिकाई से काटने का दर्द काम हो जाता है|
  • सेब साइडर सिरका का उपयोग काके काटने का असर कम हो सकता है|

Leave a Comment