Sehat

प्रेगनेंसी रोकने के घरेलू उपाय इन हिंदी नुस्खे – Home Remedies for Prevention of Pregnancy

प्रेगनेंसी रोकने के घरेलू उपाय इन हिंदी नुस्खे - Home Remedies for Prevention of Pregnancy

Pregnancy rokne ke gharelu upay : अक्सर लोग गर्भ गिराने के उपाय इन हिंदी या फिर प्रेग्नेंसी रोकने के लिए टेबलेट अथवा गर्भवती न होने के तरीके ढूँढ़ते हैं| इसलिए आज हम आपको बताऐंगे की गर्भपात गर्भ गिराने के घरेलु उपाय यानी की गर्भ गिराने के टिप्स क्योंकि अनचाहे गर्भ के टेंशन से बचाएंगे ये घरेलू नुस्खे आइये जानें कुछ Garbhpat Ke Gharelu Nuskhe in hindi यानी अनचाही प्रेगनेंसी से छुटकारा पाने के तरीके|

गर्भपात करने के घरेलू उपाय

अनचाहे गर्भ से मुक्ति के लिए हम आपको कुछ अनचाहे गर्भ के घरेलू उपाय बताएंगे जिससे आप एक माह का गर्भपात कर सकते हैं|

  • कपास की जड़ का छिलका

कपास के पौधे की जड़ से हार्मोन ऑक्सीटोसिन निकलता है, जो कि एक ऐसा हार्मोन है जो प्रसव का कारण बनती है| इससे गर्भपात का एक प्रभावी तरीका का माना जाता है ।

तरीका: कपास की सूखी जड़ लें, छोटे टुकड़े में काट लें, एक कप चाय या गर्म पानी में मिला के इसको पिया जा सकता है, और लगभग 2 बार एक दिन में इसे पीना चाहिए।

  • इलायची से गर्भपात

इलाइची एक स्वाभाविक रूप से प्रेगनेंसी को रोकने के लिए एक प्रभावी उपाय है| इलाइची रातोंरात डूबने के बाद आप इलाइची के पानी को पी सकते हैं। अब इलाइची का छिलका निकालें, पानी को फिल्टर करें और इसे छान कर पी लें| यह गर्भाशय को गर्म करता है और इसलिए गर्भपात में परभावी मन जाता है| आप इसे लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श कर सकते हैं|

  • नीम

नीम एक प्राकृतिक जन्म नियंत्रण के नुस्खे के रूप में जाना जाता है| नीम में शुक्राणु गतिशीलता को कम करने के गुण होते हैं जिससे गर्भपात करने की संभावना बढ़ जाती हैं। यह गर्भावस्था से बचने में मदद करता है|

  • अजवाइन से गर्भपात कैसे करे

अजवाइन प्रेगनेंसी से बचने में बहुत कारगार होता है| दैनिक तोर पर महिला को गरम पानी में अजवाइन के साथ काला नमक और जीरा मिला के छानकर पीना चाहिए इससे प्रेग्नेंट न होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं|

Pregnancy rokne ke gharelu upay

गर्भ रोकने के घरेलू उपाय

  • अजमोद

अजमोद एक प्राकृतिक गर्भनिरोधक है| अनचाहे गर्भधारण को रोकने व बचने के लिए अजमोद एक अत्यंत सर्वोत्तम आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है| इससे आपके मासिक धर्म चक्र को नियंत्रित करने में भी मदद मिलती है | सबसे ख़ास बात इस जड़ी बूटी का कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है और आप इसे हर्बल चाय के रूप में पी सकती हैं।

  • लहसुन से गर्भपात

लहसुन से गर्भपात को भी खाने में ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं क्योंकि वह गरम होता है और गर्भ को ठर्ने नहीं देता|

  • अंजीर

संभोग के बाद आपको सूखे अंजीर खाने चाहिए क्योंकि यह जन्म को नियंत्रित (birth control) करने में कारगर होता है। यह तरीका एक लोकप्रिय व सबसे अच्छा उपाय है।

प्रेगनेंसी रोकने की दवा का नाम

अक्सर लोग प्रेगनेंसी रोकने की टेबलेट (birth control pills) का नाम जानना चाहते हैं| निचे हमने कुछ ऐसी ही दवाइओ के नाम दिए हुए हैं:

  1. मिनी पिल – जिसका पूरा नाम प्रोजेस्टिन ओनली पिल व पीओपी है|
  2. कंबाइंड पिल – जिसका का पूरा नाम, कम्बाइन्ड ओरल कंट्रासेप्टिव पिल या सीओसीपी है|

प्रेगनेंसी रोकने की टेबलेट

गर्भपात वीडियो


Related Search:
garbhpat karne ke gharelu upay pdf download

2 Comments

  • Nice Blog!! Aap ne bahut hi achi jankari di hai yah garbhpat ko rokane ke liye bahut hi fayademand hai.Thanks for sharing this informative blog.