Aastha Tyohaar

प्रदोष व्रत तिथि 2018 – पूजा विधि, कथा, शुभ महुर्त एवं पूजा समय – प्रदोष व्रत कैलेंडर 2018

भारत देश रीती और प्राताओ का देश हैं|यह हर धर्म की अलग अलग रीति और प्रथा हैं जिनकी लोग इज़्ज़त करते है| आप हिन्दू धर्म को ही ले लीजिए | हिन्दू धर्म में बहुत से व्रत और पूजा हैं जिन्हे लोग सच्ची आस्था और विशवास से मानते हैं| कहा जाता हैं की हर देवी और देवता की पूजा और व्रत विधि अलग अलग होती है| हिन्दू धर्म में साबी भगवानो में से शिव की सबसे ज्यादा आराधना और पूजा होती हैं| कहा जाता हैं की भगवान् शिव संकट हर्ता हैं| अगर आप महादेव की आराधना करते हैं तो आपके जीवन संकट रहित हो जाएगा| प्रदोष व्रत इन्ही व्रतों में से एक होता हैं| इस व्रत को भगवान् शिव को प्रसन्न करने के लिए करा जाता हैं| आज के इस आर्टिकल में हम आपको प्रदोष व्रत विधि, प्रदोष पूजा तिथि, शिव पूजा व्रत सामग्री, प्रदोष व्रत करने का शुभ मूहर्त आदि की जानकारी देंगे|

प्रदोष व्रत तिथि 2018

आज के समय में हर काम सही दिन और मूहर्त में होना आवश्यक है| ऐसे ही हिन्दू धर्म में सभी व्रत और पूजा किसी शुभ समय और शुभ दिन में होनी आवश्यक हैं| तो आइये अब हम आपको प्रदोष व्रत पूजा का शुभ दिन और शुभ मूहर्त के बारे में बताते हैं जिसमे आप यह व्रत रख सकते हैं| आप चाहे तो हिंदी पंचांग कैलेंडर डाउनलोड भी कर सकते हैं|

 तारीख  दिन  व्रत  पक्ष  प्रदोष पूजा का समय
 14th जनवरी 2018  रविवार  प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  17:41 to 20:24
 29th जनवरी 2018  सोमवार  सोम प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  17:53 to 20:33
 13th फरवरी 2018  मंगलवार  भौम प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  18:05 to 20:41
 27th फरवरी 2018  मंगलवार  भौम प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  18:15 to 20:46
 14th मार्च 2018  बुधवार  प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  18:24 to 20:50
 29th मार्च 2018  वीरवार  प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  18:33 to 20:54
 13th अप्रैल 2018  शुक्रवार  प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  18:41 to 20:57
 27th अप्रैल 2018  शुक्रवार  प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  18:49 to 21:01
 13th मई 2018  रविवार  प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  18:59 to 21:06
 26th मई 2018  शनिवार  शनि प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  19:07 to 21:11
 11th जून 2018  सोमवार  सोम प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  19:14 to 21:17
 25th जून 2018  सोमवार  सोम प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  19:18 to 21:20
 10th जुलाई 2018  मंगलवार  भौम प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  19:18 to 21:21
 24th जुलाई 2018  मंगलवार  भौम प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  19:12 to 21:18
 09th अगस्त 2018  वीरवार  प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  19:02 to 21:11
 23rd अगस्त 2018  वीरवार  प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  18:48 to 21:02
 07th सितंबर 2018  शुक्रवार  प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  18:32 to 20:50
 22nd सितंबर 2018  शनिवार  शनि प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  18:14 to 20:38
 06th अक्टूबर 2018  शनिवार  शनि प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  17:57 to 20:26
 22nd अक्टूबर 2018  सोमवार  सोम प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  17:40 to 20:14
 05th नवंबर 2018  सोमवार  सोम प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  17:29 to 20:07
 20th नवंबर 2018  मंगलवार  भौम प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  17:21 to 20:03
 04th दिसंबर 2018  मंगलवार  भौम प्रदोष व्रत  कृष्ण पक्ष  17:19 to 20:04
 20th दिसंबर 2018  वीरवार  प्रदोष व्रत  शुक्ल पक्ष  17:24 to 20:09

प्रदोष व्रत के नियम

हिन्दू धर्म के अनुसार सभी व्रत सही विधि और विधान के साथ संपन्न करने चाइए तभी उसको करने के पीछे का मकसत पूरा होता हैं| ऐसे ही प्रदोष पूजा और व्रत को करने की एक विधि हैं जो की पुराने जमाने से चली आ रही है|

प्रदोष व्रत २०१८ प्रदोष व्रत कसे करावे

  • सबसे पहले आपको त्रयोदशी वाले दिन प्रातकाल उठना होता हैं|
  • इसके बाद नित्यकर्मों से वंचित रहकर भगवान् शिव के नाम का जाप करना होता हैं|
  • इसके बाद आपको पूरे दिन अन्न का त्याग करके व्रत रखना होगा|
  • इसके बाद सूर्यास्त होने से एक घंटा पहर स्नान करके साफ़ वस्त्र डारन करने होते हैं|
  • इसके बाद आपको पूजा स्थान की शुद्धि के लिए वहा गंगाजल वितरित करना होगा|
  • इसके बाद आपको उस जगह को गाय का गोबर से लेपकर एक मंडप तैयार करना होगा|
  • उस मंडप में पांच रंगो से रंगोली बनाकर कुशा के आसन पर बैठना होगा|
  • इसके बाद पूजा की पूरी तैयारी होने के बाद उत्तर पूर्वी दिशा की ओर मुख करके बैठना होगा|
  • बैठने के बाद आपको शिव की पूजा करनी आरम्भ करनी होगी ओर ऊँ नम: शिवाय मंत्र का 100 बारी जाप करना होगा|

प्रदोष व्रत में क्या खाना चाहिए

अगर आप प्रदोप व्रत रखना चाहते है तो आपको इस व्रत से जुडी साड़ी बात ओर सभी नयम के बारे में पता होना आवश्यक हैं| आपको इस बात की भी जानकारी होना आवश्यक है की इस व्रत में क्या खाना चाहिए| आपको बता दे इस व्रत में नमक, मिर्च, चावल ओर अन्न को ग्रहण नहीं करना चाहिए| इसमें आपको पूरे दिन व्रत के दौरान फलाहार या उपवास में खाने वाले आहार दिन में सिर्फ एक बार खाना होगा|

प्रदोष व्रत खोलने का समय

तो आइये अब हम आपको बताते हैं की इस व्रत की समाप्ति ओर उद्यापन कब ओर कैसे करे|

प्रदोष व्रत तिथि 2018

 

  • सबसे पहले आपको बता दे की इस व्रत का उद्यापन त्रयोदशी वाले दिन ही होता हैं|
  • आप इस व्रत को 11 ओर 26 त्रयोदशी तक रखकर इसकी समाप्ति काने के लिए हवन कर सकते हैं|
  • आपको उद्यापन से एक दिन पूर्व श्री गणेश का पूजन करना होगा औररात्रि को जागरण करना होगा|
  • प्रातकाल जल्दी उठकर मंडप को गेंदे के पुष्प से सजाना होगा|
  • इसके बाद आपको 108 बार ऊँ उमा सहित शिवाय नम मंत्र का उचारण करना होगा|
  • हवन समाप्त होने के बाद शिव की आरती होती हैं और उसके बाद शान्ति पाठ किया जाता हैं|
  • इसके बाद आपको दो ब्रह्माणों को भोजन करवाकर उन्हें वस्त्र दान देने होंगे|

Leave a Comment