Nibandh

पेरेंट्स डे पर निबंध 2018 – Parents Day Essay in Hindi, English, Marathi & Urdu in school for Students of Class 1-12

Parents Day 2018: हमारे जीवन में सबसे महत्वपूर्ण स्थान हमारे माता और पिता का होता है| वे हमारे लिए भगवान् सामान होते है| माता और पिता हमे जिंदिगी जीने का तरीका बताते है| वे हमे हर मुश्किल परिस्थिति में कठिनाइयों से लड़ना सिखाते है| कई बार ऐसा भी होता है की अपने बालक की ख़ुशी के लिए माता और पिता अपनी खुशियों को त्याग देते है| माता-पिता दिवस पेरेंटिंग के महत्व को दर्शाने के लिए मनाया जाता है। परिवार एक मौलिक मानव संस्थान हैं वे बिना शर्त प्यार और प्रतिबद्धता से बंधे हैं| माता-पिता दिवस की स्थापना 1994 में हुई थी। आज के इस पोस्ट में हम आपको मेरे माता पिता पर निबंध, मेरे माता पिता निबंध, दादा दादी पर निबंध, मेरे आदर्श मेरे माता पिता, मेरा आदर्श व्यक्ति पर निबंध, मेरे जीवन का आदर्श पर निबंध, मेरे आदर्श निबंध, हमारे जीवन में माता – पिता का महत्व, आदि की जानकारी देंगे जिसे आप अपने स्कूल के निबंध प्रतियोगिता, कार्यक्रम या भाषण प्रतियोगिता में प्रयोग कर सकते है| ये निबंध खासकर कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए दिए गए है|

Happy Parents Day Essay in Hindi

पेरेंट्स डे कब मनाया जाता है: बहुत से लोग यह जानना चाहते है की पेरेंट्स डे कब मनाया जाता है| यह दिन हर साल जुलाई के महीने में 4TH रविवार के दिन मनाया जाता है| इस साल 2018 में ये पर्व 22 जुलाई को है| इस दिन सभी बच्चे अपने माता पिता को उनके प्यार और स्नेह के बदले तोहफे देते है| अक्सर class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7, class 8, class 9, class 10, class 11, class 12 के बच्चो को कहा जाता है parents day essay, लेख एसेज, anuched, short paragraphs, pdf, Composition, Paragraph, Article हिंदी, some lines on parents day in hindi, 10 lines on parents day in hindi, Happy Parents Day Quotes in Hindi, Parents Day Poem in Hindi, short essay on parents day in hindi font, Parents Day Speech in Hindi, few lines on mom and dad day in hindi निबन्ध (Nibandh), पेरेंट्स डे का त्यौहार व पेरेंट्स दिवस का महत्व पर निबंध लिखें|

मनुष्य का जीवन अनेक उतार-चढ़ावों से होकर गुजरता है । उसकी नवजात शिशु अवस्था से लेकर विद्‌यार्थी जीवन, फिर गृहस्थ जीवन तत्पश्चात् मृत्यु तक वह अनेक प्रकार के अनुभवों से गुजरता है ।

अपने जीवन में वह अनेक प्रकार के कार्यों व उत्तरदायित्वों का निर्वाह करता है । परंतु अपने माता-पिता के प्रति कर्तव्य व उत्तरदायित्वों को वह जीवन पर्यत नहीं चुका सकता है । माता-पिता से संतान को जो कुछ भी प्राप्त होता है वह अमूल्य है । माँ की ममता व स्नेह तथा पिता का अनुशासन किसी भी मनुष्य के व्यक्तित्व निर्माण में सबसे प्रमुख भूमिका रखते हैं ।

किसी भी मनुष्य को उसके जन्म से लेकर उसे अपने पैरों तक खड़ा करने में माता-पिता को किन-किन कठिनाइयों से होकर गुजरना पड़ता है इसका वास्तविक अनुमान संभवत: स्वयं माता या पिता बनने के उपरांत ही लगाया जा सकता है । हिंदू शास्त्रों व वेदों के अनुसार मनुष्य को 84 लाख योनियो के पश्चात् मानव शरीर प्राप्त होता है । इस दृष्टि से माता-पिता सदैव पूजनीय होते हैं जिनके कारण हमें यह दुर्लभ मानव शरीर की प्राप्ति हुई ।

आज संसार में यदि हमारा कुछ भी अस्तित्व है या हमारी इस जगत में कोई पहचान है तो उसका संपूर्ण श्रेय हमारे माता-पिता को ही जाता है । यही कारण है कि भारत के आदर्श पुरुषों में से एक राम ने माता-पिता के एक इशारे पर युवराज पद का मोह त्याग दिया और वन चले गए ।

कितने कष्टों को सहकर माता पुत्र को जन्म देती है, उसके पश्चात् अपने स्नेह रूपी अमृत से सींचकर उसे बड़ा करती है । माता-पिता के स्नेह व दुलार से बालक उन संवेदनाओं को आत्मसात् करता है जिससे उसे मानसिक बल प्राप्त होता है ।

हमारी अनेक गलतियों व अपराधों को वे कष्ट सहते हुए भी क्षमा करते हैं और सदैव हमारे हितों को ध्यान में रखते हुए सद्‌मार्ग पर चलने हेतु प्रेरित करते हैं । पिता का अनुशासन हमें कुसंगति के मार्ग पर चलने से रोकता है एवं सदैव विकास व प्रगति के पथ पर चलने की प्रेरणा देता है ।

यदि कोई डॉक्टर, इंजीनियर व उच्च पदों पर आसीन होता है तो उसके पीछे उसके माता-पिता का त्याग, बलिदान व उनकी प्रेरणा की शक्ति निहित होती है । यदि प्रांरभ से ही माता-पिता से उसे सही सीख व प्ररेणा नहीं मिली होती तो संभवत: समाज में उसे वह प्रतिष्ठा व सम्मान प्राप्त नहीं होता ।

पेरेंट्स डे निबंध

Parents Day 2018: आइये हम आपको school parents day essay, parents day essay in kannada, parents day essay in marathi, parent day essay, my parents day essay, parents day celebration essay, international parents day essay, parents day essay in hindi, parents day programme essay, annual parents day essay, an unforgettable day parents essay, आदि की जानकारी देते है|

पेरेंट्स डे निबंध

इस जीवन में हर किसी व्यक्ति को एक जीवन साथी या मित्र की आवश्यकता होती है जो उससे हमेशा प्यार करें और जीवन भर उसकी मदद करें। परंतु जीवन में एक बात तो सत्य है हर किसी प्रेम की तुलना में माता पिता का प्रेम सबसे ऊपर होता है। एक पिता के सहज और निर्मल प्रेम को किसी भी अन्य प्रेम से तुलना नहीं किया जा सकता है। माता-पिता वह होते हैं जो अपनी संतान की खुशी के लिए हर दुख हंसते-हंसते सह जाते हैं। मां वह होती है जो 9 से 10 महीने तक अपनी संतान को पेट में रखकर हर दुख कष्ट को सहते हुए जन्म देती है। चाहे बच्चे जितनी भी बुरी हरकते करें कभी भी माता-पिता के मन में उनके प्रति घृणा की भावना उत्पन्न नहीं होती है।

अगर बच्चों का तबीयत खराब हो जाए तो माता-पिता से ज्यादा चिंतित और दुनिया में कोई नहीं होता है। दूसरी ओर पिता और माता रात दिन परिश्रम करते हैं ताकि उनके बच्चे का भविष्य उज्ज्वल हो सके। वह अपने काम के साथ-साथ बच्चों के साथ खेलते हैं उन्हें स्कूल छोड़ने जाते हैं और साथ ही उनका ख्याल भी रखते हैं। माता-पिता बिना किसी मोह माया के अपने बच्चो की परवरिश करते हैं ऐसे में हर एक संतान का यह कर्तव्य है कि वह अपने माता पिता की जीवन भर सेवा करें। माता-पिता की सेवा और देखभाल करने वाला व्यक्ति हमेशा जीवन में सफल होता है।

Short parents day essay

आइये अब हम आपको Parents day special speech in hindi, Parents day essay in marathi, Parents day speech in hindi pdf,essay on Parents day in english, Parents day, पेरेंट्स डे पर कविता, essay in hindi language, पेरेंट्स डे स्पीच इन स्कूल इन हिंदी, international Parents language day speech in hindi, मात्रा पितृ दिवस कब मनाया जाता है, माँ और पिता का महत्व क्या है, Parents Day Quotes in Hindi आदि की जानकारी देते है|

परिवार हर मानव जीवन का एक बड़ा हिस्सा है। हर कोई परिवार के बिना अधूरा है परिवार मानव जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है एक परिवार एक पेड़ की तरह है| पेड़ में कई उपजी हैं एक आदमी की जिंदगी के समान, परिवार में इतने सारे रिश्ते हैं जैसे कि उसके माता-पिता, उसकी पत्नी और उसके बच्चे एक साथ रह रहे हैं।

परिवार हमारे रोजमर्रा के जीवन का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है यह हमारे व्यक्तित्व में सुधार लाने में हमारी मदद करता है यह हमारे जीवन को आकार देने में भी हमारी मदद करता है। यह हमें प्रेम, स्नेह, देखभाल, सच्चाई और आत्मविश्वास का महत्व सिखाता है और हमारे जीवन में सफलता पाने के लिए आवश्यक उपकरण और सुझाव प्रदान करता है।

परिवार एक ऐसी जगह है जहां आप स्वयं हो सकते हैं यह एक ऐसी जगह है जहां आप के लिए स्वीकार किए जाते हैं। यह वह जगह है जहां आप पूरी तरह से तनाव मुक्त होते हैं और हर कोई आपकी मदद करने के लिए है। जब आप समस्याओं से घिरे रहते हैं तो परिवार आपको प्रोत्साहित करता है इससे आपको कठिन समय से बचने में मदद मिलती है और जीवन में खुशी और खुशी मिलती है।

दैनिक जीवन के संचार में न्यायमूर्ति बहुत महत्वपूर्ण है यह हमें दूसरों के साथ मजबूत संबंध बनाने में मदद करता है और हमें एक बहुत ही मज़बूत, बुद्धिमान और पसंद वाले व्यक्ति के रूप में पेश करता है। हर कोई इस तरह के व्यक्ति की एक कंपनी में होना पसंद करता है परिवार हमारे जीवन में शालीनता लाने में मदद करता है जो एक सुखी जीवन जीने के लिए आवश्यक है।

हमारे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण लक्ष्य एक सफल और बेहद फायदेमंद कैरियर बनाना है। हमारे परिवार हमें एक मजबूत भविष्य बनाने में मदद करते हैं यह हमें विभिन्न कैरियर की संभावित संभावनाओं के बारे में महत्वपूर्ण सुझाव देता है यह न केवल हमें सर्वोत्तम चुनने में सहायता करता है बल्कि वित्तीय रूप से शिक्षा के खर्चों को कवर करने में भी हमारी मदद करता है। इस प्रकार यह हमें एक अच्छा भविष्य बनाने में मदद करता है|

परिवार के महत्व को शायद एहसास हो जाता है जब कोई परिवार के सदस्यों के बिना छुट्टी या किसी अवसर को मनाए। परिवार के सदस्यों द्वारा घिरा किए बिना इसे एक समारोह का जश्न मनाने या छुट्टी के लिए जाना बहुत मुश्किल था। उस समय शायद हम महसूस करते हैं कि वे हमारे लिए कितने महत्वपूर्ण हैं। उस समय, हमें हमारे परिवारों के महत्व के बारे में पता चला|

आज, ज्यादातर लोग परिवार के महत्व का एहसास नहीं करते हैं वे अपना अधिकांश समय अपने दोस्तों के साथ बिताते हैं। लेकिन जब वे समस्याओं से घिरे होते हैं, तो उनका परिवार ही उन्हें समस्याओं से छुटकारा दिलाता था। उस समय, जब भी हमारे सबसे अच्छे दोस्त हमारी मदद करने से इनकार करते हैं, यह हमारा परिवार था जो हमारी सहायता करने आया था। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति के लिए अपने परिवार को किसी चीज से अधिक महत्व देना और परिवार के सदस्यों के साथ समय व्यतीत करने का आनंद लेना बहुत महत्वपूर्ण है।

Parents Day celebration in school essay

माता पिता दिवस भारत में जुलाई के 4th रविवार को मनाया जाता है| यह दिन SUNDAY यानी रविवार को पड़ रहा है| आज हम आपके लिए लाये हैं पेरेंट्स डे एस्से इन हिंदी, माँ और पिता दिन पर विचार, पेरेंट्स डे का महत्व व शायरी, पेरेंट्स डे पर स्लोगन, Essay on parents day in Hindi, parents day Nibandh यानी की पेरेंट्स डे पर निबंध हिंदी में 100 words, 150 words, 200 words, 400 words जिसे आप pdf download भी कर सकते हैं|

Parents Day Essay in Hindi

हम जीवन पथ पर चाहे किसी भी ऊँचाई पर पहुँचें हमें कभी भी अपने माता-पिता के सहयोग, उनके त्याग और बलिदान को नहीं भूलना चाहिए । हमारी खुशियों व उन्नति के पीछे हमारे माता-पिता की अनगिनत खुशियों का परित्याग निहित होता है । अत: हमारा यह परम दायित्व बनता है कि हम उन्हें पूर्ण सम्मान प्रदान करें और जहाँ तक संभव हो सके खुशियाँ प्रदान करने की चेष्टा करें ।

माता-पिता की सदैव यही हार्दिक इच्छा होती है कि पुत्र बड़ा होकर उनके नाम को गौरवान्वित करे । अत: हम सबका उनके प्रति यह दायित्व बनता है कि हम अपनी लगन, मेहनत और परिश्रम के द्‌वारा उच्चकोटि का कार्य करें जिससे हमारे माता-पिता का नाम गौरवान्वित हो । हम सदैव यह ध्यान रखें कि हमसे ऐसा कोई भी गलत कार्य न हो जिससे उन्हें लोगों के सम्मुख शर्मिंदा होना पड़े ।

आज की भौतिकवादी पीढ़ी में विवाहोपरांत युवक अपने निजी स्वार्थों में इतना लिप्त हो जाते हैं कि वे अपने बूढ़े माता-पिता की सेवा तो दूर अपितु उनकी उपेक्षा करना प्रारंभ कर देते हैं । यह निस्संदेह एक निंदनीय कृत्य है । उनके कर्मों व संस्कार का प्रभाव भावी पीढ़ी पर पड़ता है । यही कारण है कि समाज में नैतिक मूल्यों का ह्रास हो रहा है । टूटते घर-परिवार व समाज सब इसी अलगाववादी दृष्टिकोण के दुष्परिणाम हैं ।

अत: जीपन पर्यंत मनुष्य को अपने माता-पिता के प्रति कर्तव्यों व उत्तरदायित्वों का निर्वाह करना चाहिए । माता-पिता की सेवा सच्ची सेवा है । उनकी सेवा से बढ़कर दूसरा कोई पुण्य कार्य नहीं है । हमारे वैदिक ग्रंथों में इन्हीं कारणों से माता को देवी के समकक्ष माना गया है ।

माता-पिता की सेवा द्‌वारा प्राप्त उनके आशीर्वाद से मनुष्य जो आत्म संतुष्टि प्राप्त करता है वह समस्त भौतिक सुखों से भी श्रेष्ठ है । ”मातृदेवो भव, पितृदेवो भव” वाली वैदिक अवधारणा को एक बार फिर से प्रतिष्ठित करने की आवश्यकता है ताकि हमारे देश का गौरव अक्षुण्ण बना रहे

Parents Day Essay in English

Every child in this world loves his or her parents. They are most important people in the world to him. He cannot bear to be away from them even for a day. I too love my parents very much. I always feel the happiest when i am with my parents.
Let me tell you something about the people I love so much. My father is a doctor by profession. He was born and brought up in Bangalore. He has had to work hard all his life. Even now he is always ready to serve his patients day and night. Besides being a doctor, my father plays the flute beautifully. He is also a good chess player, and has many other talents as well.

My mother is small and pretty and cooks very well. She is from Delhi. She was earlier working as a secretary in a firm, but left the job once my sister and I started growing up. She has a golden voice. I love it when she sings me to sleep each night.

Both my parents are very loving people. They take out time for us no matter how busy they are. Every evening we all play games together. On Sundays we go for a picnic or a children’s movie. My parents also scold us whenever we do something wrong, but they never hit us. They help us in our studies, and teach us never to lie, steal or hurt people.

I am really proud to be the son of such parents. I hope they will lead long, healthy happy lives, and will be with us for ever.।

Parents Day Essay in Urdu

अगर आप पेरेंट्स डे के लिए हर साल 2008, 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017 के लिए Few lines on Parents day in Hindi, Sayings, Slogans, Messages, SMS, Quotes, Whatsapp Status, Words Character तथा भाषा Hindi, English, Urdu, Tamil, Telugu, Punjabi, Haryanvi, Gujarati, English, Bengali, Marathi, Malayalam, Kannada, Nepali के Language Font के 3D Image, HD Wallpaper, Greetings, Photos, Pictures, Pics, Free Download जानना चाहे तो यहाँ से जान सकते है|

چاہے ہم کسی بھی اونچائی پر زندگی کی اونچائی پر پہنچیں تو ہمیں اپنے والدین، ان کی قربانی اور قربانی کی مدد کبھی نہیں بھولنی چاہئے. ہمارے والدین کی بے شمار خوشی کی تزئین کی ہماری خوشی اور ترقی میں ہے. لہذا، یہ ہماری انتہائی ذمہ داری ہے کہ ہم انہیں مکمل احترام عطا کریں اور جہاں تک ممکن ہو سکے خوش کرنے کی کوشش کریں.

یہ ہمیشہ والدین کے لئے دل کی خواہش ہے کہ بچوں کو ان کے نام کی تعریف کرنے میں اضافہ ہوا ہے. لہذا، ہم سب کو ان کی طرف یہ ذمہ داری ہے کہ ہم اپنے محنت، محنت اور محنت سے بہت مشکل کام کریں، جو ہمارے والدین پر فخر کرتے ہیں. ہمیں ہمیشہ ذہن میں رکھنا چاہئے کہ ہمیں کوئی غلطی نہیں ہونا چاہئے جس کے ساتھ انہیں لوگوں سے پہلے شرمندہ ہونا پڑے گا.

آج کے مادیاتی نسل میں، نوجوان اپنے ذاتی مفادات میں اتنا ملوث ہو جاتا ہے کہ وہ اپنے پرانے والدین کو دور کرنے شروع کر دیتے ہیں، لیکن وہ اس کو نظر انداز کرتے ہیں. یہ بلاشبہ ایک بدنام عمل ہے. ان کے اعمال اور سنسکاروں کا اثر مستقبل کی نسل پر آتا ہے. یہی وجہ ہے کہ معاشرے میں اخلاقی اقدار کم ہوتی ہے. خاندان اور سوسائٹی کے خاتمے اس علیحدگی پسند رویے کا نتیجہ ہے.

لہذا، جاپان تک، اپنے والدین کو اپنے فرائض اور ذمہ داریوں کو انجام دینا چاہئے. والدین کی خدمت ایک حقیقی خدمت ہے. ان کی خدمت کے مقابلے میں کوئی اور فضیلت نہیں ہے. ان ویدی نصوص میں، ماں کو ان وجوہات کی وجہ سے دیوی کے برابر سمجھا جاتا ہے.

جو شخص والدین کی خدمت کی طرف سے موصول ہونے والی نعمتوں سے خود اطمینان حاصل کرتا ہے وہ تمام جسمانی خوشیوں سے بہتر ہے. “مور گوداو بھاو، پادریووا بھو” کے ویدی تصور کو دوبارہ دوبارہ بنانے کی ضرورت ہے تاکہ ہمارے ملک کا فخر برقرار رہ سکے.

Parents Day Essay in Tamil

நாம் உயரத்தின் உயரத்தை எந்த உயரத்தில் எட்டுகிறோமோ, நம் பெற்றோரின் ஆதரவையும், அவர்களின் தியாகத்தையும், தியாகத்தையும் மறந்துவிடக் கூடாது. எங்கள் பெற்றோரின் எண்ணற்ற சந்தோஷத்தை கைவிட்டுவிட்டு எங்கள் மகிழ்ச்சியிலும் முன்னேற்றத்திலும் உள்ளது. ஆகையால், நாம் அவர்களுக்கு முழு மரியாதை அளிப்பதோடு முடிந்தவரை மகிழ்ச்சியை வழங்குவதற்கும் மிகுந்த பொறுப்பு.

பிள்ளைகள் தங்கள் பெயரை மகிமைப்படுத்துவதற்கு பெற்றோருக்கு எப்போதும் இதயப்பூர்வமான ஆசை இருக்கிறது. अत: हम सबका उनके प्रति यह दायित्व बनता है कि हम अपनी लगन, मेहनत और परिश्रम के द्वारा उच्चकोटि का कार्य करें जिससे हमारे माता-पिता का नाम गौरवान्वित हो. மக்களுக்கு முன்பாக அவர்கள் சங்கடப்பட வேண்டிய எந்தத் தவறுகளையும் நாம் செய்யக்கூடாது என்பதை எப்போதும் நினைவில் கொள்ள வேண்டும்.

आज की भौतिकवादी पीढ़ी में विवाहोपरांत युवक अपने निजी स्वार्थों में इतना लिप्त हो जाते हैं कि वे अपने बूढ़े माता-पिता की सेवा तो दूर अपितु उनकी उपेक्षा करना प्रारंभ कर देते हैं. இது சந்தேகத்திற்கு இடமின்றி ஒரு வீரியமான செயல் ஆகும். எதிர்கால தலைமுறையினரின் செயல்கள் மற்றும் ஷான்காரர்களின் விளைவு. இதுதான் சமுதாயத்தில் நெறிமுறை மதிப்புகள் குறைந்து வருகின்றன. குடும்பம் மற்றும் சமூகத்தின் முறிவு இந்த பிரிவினைவாத அணுகுமுறையின் விளைவாகும்.

ஆகையால், ஜப்பான் வரை, மனிதன் தனது பெற்றோரை நோக்கி தனது கடமைகளையும் பொறுப்பையும் செய்ய வேண்டும். பெற்றோர் சேவை என்பது ஒரு உண்மையான சேவையாகும். அவரது சேவையை விட வேறு எந்த நல்லொழுக்கமும் இல்லை. இந்த வேத நூல்களில், அம்மா இந்த காரணங்களுக்காக தேவிக்கு சமமானதாக கருதப்படுகிறது.

பெற்றோரின் சேவையைப் பெற்றுக் கொண்ட அவரது ஆசீர்வாதங்களிலிருந்து சுய திருப்தியைப் பெறுபவர், அனைத்து உடல் நலத்திற்கும் மேலானவர். “

Leave a Comment