पित्र दोष क्या है इसका निवारण कैसे करे – Pitra Dosh 2018

Pitr Dosh Kya hai iska Nivaran Kaise Kare: पितृ दोष, नौवें घर में स्तिथ है इस घर का अत्यंत महत्व है क्योंकि यह घर पिता के घर के रूप में भी जाना जाता है। यदि सूर्य और राहु इस घर में संयोजन रूप में स्तिथ होते हैं तो पितृ दोष जन्मतिथि में बनता हैं। जो लोग अपने पितरो के लिए मान या श्रद्धा नहीं करते हैं उनको “पितृ दोष” के से जूझना पड़ता है|अगर किसी की भी कुंडली में पितृ दोष हो तो उसको इसके दुष्प्रभाव झेलने पड़ते हैं| कुंडली में पितृ दोष योग अत्यथिक परेशानी का कारण बन सकता है| पितृ दोष के लक्षण गरीबी, बीमारी और आर्थिक मुसीबत ला सकती हैं| इसलिए आज हम आपको बताएंगे पित्र दोष क्या है इसका निवारण कैसे करें जिसमे शामिल होगा पितृदोष कैसे दूर करें पितृ दोष निवारण उपाय|

पित्र दोष क्या है?

Pitra Dosh kya hai: पित्र दोष दिवंगत पूर्वजों द्वारा दिए हुए श्राप के कारण दुर्भाग्य को संदर्भित करता है जिसके परिणामस्वरूप लोगों के जीवन में दुष्प्रभाव होते हैं। पित्र दोष के कारण परिवार में कई तरह की मुसीबत आ सकती हैं जो की काफी गंभीर समस्या का रूप ले सकती हैं।

पित्र दोष के कारण होने वाली समस्याएं

  • सन्तान सम्बंधित समस्या

अगर कोई पितृदोष से पीड़ित हो जाए तो उसकी सन्तानो से सम्बंधित काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसका सबसे खतरनाक स्वरुप यह भी होता है की पीड़ित की संतान शारीरिक व मानसिक रूप से पीड़ित हो सकती है।

  • घर में कलेश

पितृ दोष के कारण ही घर में कलेश रहते हैं। पति-पत्नी के सम्बन्धो में काफी समस्याएं आजाती हैं व घर में अशांति का माहौल बना रहता है|

  • क़र्ज़ के निचे दबे रहना

इससे पीड़ित लोग ज़्यादातर क़र्ज़ के निचे दबे रहते हैं और वे चाहे कितने भी प्रयास कर लें फिर भी क़र्ज़ से मुक्ति पाने में असमर्थ रहते हैं।

  • सपनों में साँप दिखना

अगर परिवार में कोई भी “पितृदोष” से पीड़ित हो तो उसको अपने सपनों में साँप दीखता है या उनके सपने उनके पूर्वजों भोजन या कपड़े की मांग करते दिख सकते हैं|

पितृ दोष दूर करने के उपाय

Pitra Dosh Door Karne Ke Upaay: आइये अब कुछ पितृदोष से मुक्ति के उपाय जाने जिसमे हम आपको पितृदोष की शांति के उपाय बताएंगे| बस निचे दिए हुए उपायों का इस्तेमाल कर आप पितृ दोष से छुटकारा पा सकते हैं|

  • जो लोग समय पर अपने पूर्वजो का श्राद्ध नहीं कर पाते हैं उनको “त्रपण्डी श्राद्ध” को पूरा करने से इस दोष से मुक्ति मिल सकती है|
  • उस तारीख श्राद्ध करें जिस दिन आपके पूर्वजों का देहांत हुआ हो।
  • बरगद के पेड़ को पानी देने से भी इस दोष से मुक्ति मिलती है|
  • पूर्वजो के श्राद के 15 दिनों तक उनको जल चढ़ाना चाहिए|
  • अमावस्या पर ब्राह्मणों को भोजन करवाने से भी आपको पुण्य मिलता है|
  • मंदिर व पूजा स्थल अथवा अन्य धार्मिक स्थानों में हर “अमावस्या” और “पूर्णिमा” पर भोजन या खाद्य सामग्री प्रदान करें|

पितृ दोष निवारण मंत्र

पितृ दोष के निवारण के लिए पितृ गायत्री मंत्र को काफी महत्वपूर्ण माना गया है| इसके उच्चारण से काफी अच्छे परिणाम देखने को मिलते हैं|

पितृ दोष निवारण मंत्रपितृ गायत्री मंत्र

पित्र दोष निवारण टेम्पल्स

पितृ दोष से शान्ति के लिए सबसे महत्त्वपूर्ण मंदिर त्रिम्बकेश्वर मंदिर को मन गे है जो की नाशिक में है| वहां जाकर हर किसी को पितृदोष से शान्ति मिलती है|

Related keyword:

पितृ दोष में जामन

loading...

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *